क्या राहुल गांधी को राफेल डील मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को तोड़-मरोड़ कर पेश करने पर आरोपी बनाना उचित था?...


user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यस टर्न ऑन गांधीजी को महत्वपूर्ण जानकारी रहते हैं ना ना ना पूरे ग्रुप देते हैं वाकई में को सुप्रीम कोर्ट ने जब सब क्लीन चिट दे दी है तो मिस सही है यह और आज राफेल क्या जाने से भारत की जवाई सकती है उसमें बदली हुई है भारत का है भारत का डिफेंस मजबूत हुआ है और यह भारतीय जनता इस बार सर पसंद है और भारतीय जनता इस बात के लिए मिस्टर मोदी को बधाई भी दे रही है आपने देखा कि राहुल सामने पूरी अपनी जोर लगाकर पूरे विपक्ष ने इस मुद्दे को छाला था लेकिन जनता ने श्री सिंह ने गलत कर दिया प्रणब उसका उदाहरण है कि 2019 के जो एमपी के चुनाव थे उसमें पूरे विपक्ष को दूरी दूसरे धोना पड़ा श्री से कैंसिल कर दिया गया और जनता एकदम कोने में बैठा दिया इस बात से होता है कि जनता इनकी बातों पर कभी विश्वास नहीं करेगी क्योंकि जनता जानती है चंपा शिक्षित है क्वालिफाइड वर्क है लोग जानते हैं बेसिर पैर की बातें करना हिना राजनीतिज्ञों की आदत है यह सब अपने स्वार्थ के लिए लड़ते हैं अपने स्वार्थ के लिए दिखाते हैं जनहित के मामले में 70 सालों में कांग्रेस ने क्या किया कभी राहुल साहब को यह भी स्वीकार करना चाहिए राहुल साहब कभी अपने भविष्य के बारे में देखे हैं कि कांग्रेस के 70 साल के इतिहास में क्या ऐसी चीजें दिए सिर्फ देशभक्त प्रजा बड़ा सिर्फ देश के नागरिक बुके से गमला में क्यों हो गए उनकी आर्थिक समस्याएं बढ़ती गई उनके समय में क्या ऐसा हुआ उसको बनाया जा सकता हूं क्या भारत का डिफेंसर मजबूत था मैं सिर्फ इनके पास किस शासनकाल में सिर्फ एक अंदाज जी के शासनकाल को ही मजबूत मानता हूं मेरी कोई सशक्त प्रधानमंत्री हुआ था कांग्रेसियों में पुष्पेंद्र राजनीति जिनको देश के श्रेष्ठ 3:00 पीएम अकाउंट किया जाता है कांग्रेस का इतिहास कितना नहीं रहा है कांग्रेस में के राज में जितना अन्याय अधर्म शोषण हुआ है उतना किसी का युवा सिर्फ कांग्रेसियों ने पीछे बड़ी सदस्यों ने अपने घर बने प्रदेश का कोई विकास नहीं कर सकते तो मेरे विचार से राहुल साहब को कभी आप विशेषण करना चाहिए और बिना पूछे कोई बात नहीं करें क्योंकि हम तो यह समझ लेना चाहिए

Yes turn on gandhiji ko mahatvapurna jaankari rehte hai na na na poore group dete hai vaakai mein ko supreme court ne jab sab clean chit de di hai toh miss sahi hai yah aur aaj rafael kya jaane se bharat ki javai sakti hai usme badli hui hai bharat ka hai bharat ka defence majboot hua hai aur yah bharatiya janta is baar sir pasand hai aur bharatiya janta is baat ke liye mister modi ko badhai bhi de rahi hai aapne dekha ki rahul saamne puri apni jor lagakar poore vipaksh ne is mudde ko chaala tha lekin janta ne shri Singh ne galat kar diya pranab uska udaharan hai ki 2019 ke jo mp ke chunav the usme poore vipaksh ko doori dusre dhona pada shri se cancel kar diya gaya aur janta ekdam kone mein baitha diya is baat se hota hai ki janta inki baaton par kabhi vishwas nahi karegi kyonki janta jaanti hai champa shikshit hai qualified work hai log jante hai besir pair ki batein karna heena rajaneetigyon ki aadat hai yah sab apne swarth ke liye ladte hai apne swarth ke liye dikhate hai janhit ke mamle mein 70 salon mein congress ne kya kiya kabhi rahul saheb ko yah bhi sweekar karna chahiye rahul saheb kabhi apne bhavishya ke bare mein dekhe hai ki congress ke 70 saal ke itihas mein kya aisi cheezen diye sirf deshbhakt praja bada sirf desh ke nagarik Buke se gamala mein kyon ho gaye unki aarthik samasyaen badhti gayi unke samay mein kya aisa hua usko banaya ja sakta hoon kya bharat ka difensar majboot tha main sirf inke paas kis shasankal mein sirf ek andaaz ji ke shasankal ko hi majboot manata hoon meri koi sashakt pradhanmantri hua tha congressiyo mein pushpendra raajneeti jinako desh ke shreshtha 3 00 pm account kiya jata hai congress ka itihas kitna nahi raha hai congress mein ke raj mein jitna anyay adharma shoshan hua hai utana kisi ka yuva sirf congressiyo ne peeche baadi sadasyon ne apne ghar bane pradesh ka koi vikas nahi kar sakte toh mere vichar se rahul saheb ko kabhi aap visheshan karna chahiye aur bina pooche koi baat nahi kare kyonki hum toh yah samajh lena chahiye

यस टर्न ऑन गांधीजी को महत्वपूर्ण जानकारी रहते हैं ना ना ना पूरे ग्रुप देते हैं वाकई में को

Romanized Version
Likes  80  Dislikes    views  1613
KooApp_icon
WhatsApp_icon
9 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!