आप ऑनलाइन ट्रोल्ज़ से कैसे निपटते हैं?...


user

Rashmin Trivedi

Motivational Speaker | Writer | Life Coach

1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे साथ ऐसा हुआ है व्हाट्सएप में या फेसबुक में कोई ऐसे कमेंट करता है कॉलिंग करता है तो एक बात तो सबसे पहले मैं उसे धन्यवाद देता हूं और दूसरी बात अगर ऐसे करीबी दोस्त है तो उसे हंसने का साइन भेजता हूं या तो कमेंट में जवाब देता हूं मगर मैं उसके आसपास में उसे कोई भी जवाब नहीं देता क्योंकि वह घर पूछे कि पार्टिकुलर मुझे इस बात की इनफार्मेशन दो जो आपने कहा है वह सच है या आपने कहा है उसका प्रूफ क्या है तो मैं इसे इंफॉर्मेशन देता हूं मगर ट्रोलिंग करते हैं जो लोग उनके सामने मेट्रो लिंग कभी नहीं करता हूं और उनकी कभी मजाक नहीं करता हूं कि आदमी के बीच जब दो बातें होती है एक तो वह मजाक की टोन में करता अपनों से कोई दुश्मनी नहीं होती और दूसरा जो व्यक्ति बहुत ज्यादा दुखी है वह दूसरे को कॉलिंग करके हिरण करके उसे मजा लेगा तो कॉलिंग करने की जो पूरी सिस्टम है उसके बारे में हमें यह समझना होगा कि आदमी जब दुखी होता है तो दूसरों को दुखी करके मजा लेता है और ऐसे लोग दया के पात्र हैं उनको माफ कर देना चाहिए और वह ना समझे तो उससे माफी भी मांग कर उनको निपटा लेना इसी तरह से चाहिए और कर भी क्या सकते हैं

mere saath aisa hua hai whatsapp me ya facebook me koi aise comment karta hai Calling karta hai toh ek baat toh sabse pehle main use dhanyavad deta hoon aur dusri baat agar aise karibi dost hai toh use hasne ka sign bhejta hoon ya toh comment me jawab deta hoon magar main uske aaspass me use koi bhi jawab nahi deta kyonki vaah ghar pooche ki particular mujhe is baat ki information do jo aapne kaha hai vaah sach hai ya aapne kaha hai uska proof kya hai toh main ise information deta hoon magar trolling karte hain jo log unke saamne metro ling kabhi nahi karta hoon aur unki kabhi mazak nahi karta hoon ki aadmi ke beech jab do batein hoti hai ek toh vaah mazak ki tone me karta apnon se koi dushmani nahi hoti aur doosra jo vyakti bahut zyada dukhi hai vaah dusre ko Calling karke hiran karke use maza lega toh Calling karne ki jo puri system hai uske bare me hamein yah samajhna hoga ki aadmi jab dukhi hota hai toh dusro ko dukhi karke maza leta hai aur aise log daya ke patra hain unko maaf kar dena chahiye aur vaah na samjhe toh usse maafi bhi maang kar unko nipta lena isi tarah se chahiye aur kar bhi kya sakte hain

मेरे साथ ऐसा हुआ है व्हाट्सएप में या फेसबुक में कोई ऐसे कमेंट करता है कॉलिंग करता है तो एक

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  116
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!