एक IAS अधिकारी एक नई जगह पर कैसे समायोजित होता है जहां वह तैनात है?...


user

Abhishek Kumar Yadav

Expert In Account & Finance, Motivational Speaker

3:02
Play

Likes  136  Dislikes    views  1120
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:00
Play

Likes  684  Dislikes    views  6845
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक नाटक कंपनी जहां चाय समायोजित हो जाती है आप तो अधिकारियों जहां मर्जी है समायोजित होने के दिमाग में होना चाहिए

ek natak company jaha chai samayojit ho jaati hai aap toh adhikaariyo jaha marji hai samayojit hone ke dimag me hona chahiye

एक नाटक कंपनी जहां चाय समायोजित हो जाती है आप तो अधिकारियों जहां मर्जी है समायोजित होने क

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  138
WhatsApp_icon
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

साकर अधिकारी एक नई जगह पर कैसे समायोजित होता है जहां में तैनात है तो देखे यहां पर आईएस ऑफिसर जो बनते हैं तो उनकी ट्रेनिंग में यही चीज सिखाई जाती है किस तरह से उनको अपने जानवर मैंट है उसके जो सराउंडिंग है उसके कोडिंग अपने को ढाल ना होता है किस तरह से उनको वर्किंग होती है कैसे काम करना होता है कैसे माहौल में किस तरह से अपनी अफएमसी दिखानी होती है तो यह सारी चीजें उनकी ट्रेनिंग का पार्ट होता है बाकी धीरे-धीरे एक्सपीरियंस से बोलो लिखता जाता है और उसी को इंप्लीमेंट करते जाते हैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद

sakar adhikari ek nayi jagah par kaise samayojit hota hai jaha me tainat hai toh dekhe yahan par ias officer jo bante hain toh unki training me yahi cheez sikhai jaati hai kis tarah se unko apne janwar maint hai uske jo surrounding hai uske coding apne ko dhal na hota hai kis tarah se unko working hoti hai kaise kaam karna hota hai kaise maahaul me kis tarah se apni afaemasi dikhaani hoti hai toh yah saari cheezen unki training ka part hota hai baki dhire dhire experience se bolo likhta jata hai aur usi ko implement karte jaate hain subhkamnaayain aapke saath hain dhanyavad

साकर अधिकारी एक नई जगह पर कैसे समायोजित होता है जहां में तैनात है तो देखे यहां पर आईएस ऑफि

Romanized Version
Likes  800  Dislikes    views  10294
WhatsApp_icon
user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईएएस अधिकारी का जो पद होता है वह कुछ इस तरीके का होता है कि उनका लोहा सर्विस काला इंसान होता है उसमें हर दो-तीन साल में ट्रांसफर होते हैं उनके हो जाते हैं उनके बाद वह अपने आप को वाकणकर कुलधार लेते हैं और ये उनके बिना जाता है और उनकी ट्रेनिंग होती है किस तरीके से आपको समय-समय पर क्षेत्रों में काम करने लक्ष्मी आपके सामने आएगी और चुनौतियों का सामना आपको जिस करके अपने वातावरण में करना है तो यह कोई नहीं है और कार्यशैली होती है और कार्य का प्रारूप होता है उसी प्रकार का होता है कुछ टाइम बाद उनको ट्रांसफर मिलता है और वह कार्य करते हैं

IAS adhikari ka jo pad hota hai vaah kuch is tarike ka hota hai ki unka loha service kaala insaan hota hai usme har do teen saal me transfer hote hain unke ho jaate hain unke baad vaah apne aap ko vakanakar kuldhar lete hain aur ye unke bina jata hai aur unki training hoti hai kis tarike se aapko samay samay par kshetro me kaam karne laxmi aapke saamne aayegi aur chunautiyon ka samana aapko jis karke apne vatavaran me karna hai toh yah koi nahi hai aur karyashaili hoti hai aur karya ka prarup hota hai usi prakar ka hota hai kuch time baad unko transfer milta hai aur vaah karya karte hain

आईएएस अधिकारी का जो पद होता है वह कुछ इस तरीके का होता है कि उनका लोहा सर्विस काला इंसान ह

Romanized Version
Likes  352  Dislikes    views  3557
WhatsApp_icon
play
user

Dr Devansh Yadav

Additional Deputy Commissioner at ADC Bordumsa, Government of Arunachal Pradesh

1:54

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीतो मटका टर्न को ब्लॉक करता हूं एजीएमयूटी डिस्टेंस फॉर अरुणाचल डिस्टेंस फॉर गोवा इंफॉर्मेशन ऑन ड्यूटी पर यूनियन टेरिटरी ऑफ यूनियन टेरिटरीज एंड ठेर विजन अपने आप में एक अलग स्टेट है या अलग एरिया है मैं मानता हूं कि ऑफिस लाइट लगेगा इतना रखना होता है क्योंकि होता है फैमिली साथ में रहता है तो फैमिली फिर भी सामान का ध्यान रखें अगर मैं बैचलर हूं तो मैं अकेले अपने साथ बहुत लिमिटेड सामान रखता हूं कल ही ट्रांसफर भी होता है तो फिर उसको कैरी करने में प्रॉब्लम नहीं होता है उसके अलावा एक ओपन माइंडेड तो रखना ही होता है वैसे मैंने इस ट्रेनिंग पांडिचेरी में हुई थी उसके बाद कुछ समय के लिए सिरप में अरुणाचल ओपन नहीं होता है कब पोस्टिंग कहां आपसे हमको वहीं पर काम करना है जहां तक विभागों की बात है तो सरकार बाय एंड लार्ज ज्यादा कर अलग-अलग जगह पर एक ही करा कर चलता है यानी कि जो विभाग में अलग-अलग अफसर या फिर जो कलर्स बगैरा होते हैं वह एक ही तरह से फाइल सिस्टम मेंटेन करने का पूरे भारत में उत्तरा से प्रचलन है उसमें बहुत ज्यादा परेशानी नहीं आती है जब तक कि आपकी भाषा तुम मेरे टेस्ट में भी अरुणाचल में जैसे सब जगह हिंदी और अंग्रेजी का बोलने के लिए थोड़ा तमिल सीखा मैंने और उसके अलावा जो इंग्लिश था उसी में सारी फाइलों के काम होते थे तो उसने भी कोई परेशानी नहीं आई ऐड होने के लिए बस एक अपने दिमागी रूप से अपने आपको तैयार करके रखना है कि जहां भी आपको भेजा जाए आपको वहां पर काम करने और अच्छा काम कर

jito matka turn ko block karta hoon AGMUT distance for arunachal distance for goa information on duty par union Territory of union teritrij and ther vision apne aap mein ek alag state hai ya alag area hai manata hoon ki office light lagega itna rakhna hota hai kyonki hota hai family saath mein rehta hai toh family phir bhi saamaan ka dhyan rakhen agar main bachelor hoon toh main akele apne saath bahut limited saamaan rakhta hoon kal hi transfer bhi hota hai toh phir usko carry karne mein problem nahi hota hai uske alava ek open minded toh rakhna hi hota hai waise maine is training pondicherry mein hui thi uske baad kuch samay ke liye syrup mein arunachal open nahi hota hai kab posting kahaan aapse hamko wahi par kaam karna hai jaha tak vibhagon ki baat hai toh sarkar bye and large zyada kar alag alag jagah par ek hi kara kar chalta hai yani ki jo vibhag mein alag alag officer ya phir jo colors bagaira hote hai vaah ek hi tarah se file system maintain karne ka poore bharat mein uttara se prachalan hai usme bahut zyada pareshani nahi aati hai jab tak ki aapki bhasha tum mere test mein bhi arunachal mein jaise sab jagah hindi aur angrezi ka bolne ke liye thoda tamil seekha maine aur uske alava jo english tha usi mein saree filon ke kaam hote the toh usne bhi koi pareshani nahi I aid hone ke liye bus ek apne dimagi roop se apne aapko taiyar karke rakhna hai ki jaha bhi aapko bheja jaaye aapko wahan par kaam karne aur accha kaam kar

जीतो मटका टर्न को ब्लॉक करता हूं एजीएमयूटी डिस्टेंस फॉर अरुणाचल डिस्टेंस फॉर गोवा इंफॉर्मे

Romanized Version
Likes  48  Dislikes    views  2503
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

3:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आशंका है कि एक आईएएस अधिकारी अपनी जगह पर कैसे समय रिपीट होता है जहां 10 आते हैं जब भी कोई अधिकारी किसी भी एंड ट्रांसफर होकर जाते हैं तो एक नई जंग होती है जैसे उसने पिछले स्थानों पर ट्रांसफर हो गया है 2 साल 3 साल में ड्यूटी करके अपने आप को समायोजित किया उन लोगों के बीच में रहकर उनकी समस्याओं को समझकर उनकी जरूरतों को समझकर अंकित बच्चियों को समझ कर और अपने काम को अपने कर्तव्य को अपनी जिम्मेदारियों को अपनी आवश्यकताओं को देखते हुए अपनी समय सीमा इन तथ्यों को देखते हुए उसने इतने स्थान पर अपने आप को स्थापित किया जब भी कोई व्यक्ति कहीं ट्रांसफर ओके जाता है तो निश्चित रूप से उसे फिर से स्थापित करना होता है और यह शुरुआत में थोड़ा तकलीफ जो होते हैं क्योंकि 12 ट्रांसफर होने के बाद इंसान को धीरे-धीरे अध्यक्ष हो जाता है और वह अपनी हर स्थिति हर परिस्थिति में अपने आपको एडजस्ट कर लेते हैं नए लोग मिलते हैं नई विचारधारा मिलती है नहीं पहचानती है नई घटनाएं मिलती हैं और बहुत कुछ नयापन देखने को मिलता है परिणाम स्वरूप उसने अटेंड निर्धारित कर लिया कि मुझे यहां काम करना है तो हर हर चीजों से सुलझने का प्लेटिना का उन्हें हल करने का निर्णय लेता है और उसी में व्यस्त हो जाता है इसलिए समय का पता ही नहीं चलता कि कब ट्रांसफर वर कितने समय गुजर गए और फिर से एक नया ट्रांसफर आ गया यह केवल आईएएस अधिकारी के साथ सभी अधिकारी वर्गों के साथ सभी कर्मचारियों के साथ में ऐसा होता है शुरुआत में थोड़ी समस्याएं होती हैं लेकिन जैसे-जैसे ट्रांसफर होते रहते हैं वैसे वैसे इंसान को एडजस्ट करने की आदत पड़ जाती मैंने अपनी जिंदगी खुद ना इस बात का गवाह की 26 साल 27 साल की नौकरी में मैंने 40 ट्रांसफर लिया इस बात के लिए मैंने कहीं अपने आप को तकलीफ में नहीं पाया कैसे संभव हुआ नए स्थान पर लोगों को तुरंत उनकी चुचियों को समझाऊं कि मनुष्य क्यों को समझा उनकी आदतों को समझा और उस को समझते हुए उनमें बदलाव करने की ठानी कुछ अपने आप को उनके अनुसार ढालने में अपने आप को परिवर्तन करने के लिए समय दिया और अपने सिद्धांत मैंने कोई समझौता नहीं किया यह चित्र आईएएस अधिकारी अपने मूल्यों से कोई समझौता नहीं करता है और बड़ी आसानी से वह अपने आप को एडजस्ट कर देता है

ashanka hai ki ek IAS adhikari apni jagah par kaise samay repeat hota hai jaha 10 aate hain jab bhi koi adhikari kisi bhi and transfer hokar jaate hain toh ek nayi jung hoti hai jaise usne pichle sthano par transfer ho gaya hai 2 saal 3 saal mein duty karke apne aap ko samayojit kiya un logo ke beech mein rahkar unki samasyaon ko samajhkar unki jaruraton ko samajhkar ankit bachiyo ko samajh kar aur apne kaam ko apne kartavya ko apni jimmedariyon ko apni avashayaktaon ko dekhte hue apni samay seema in tathyon ko dekhte hue usne itne sthan par apne aap ko sthapit kiya jab bhi koi vyakti kahin transfer ok jata hai toh nishchit roop se use phir se sthapit karna hota hai aur yah shuruat mein thoda takleef jo hote hain kyonki 12 transfer hone ke baad insaan ko dhire dhire adhyaksh ho jata hai aur vaah apni har sthiti har paristithi mein apne aapko adjust kar lete hain naye log milte hain nayi vichardhara milti hai nahi pahachaanati hai nayi ghatnaye milti hain aur bahut kuch nayapan dekhne ko milta hai parinam swaroop usne attend nirdharit kar liya ki mujhe yahan kaam karna hai toh har har chijon se sulajhane ka pletina ka unhe hal karne ka nirnay leta hai aur usi mein vyast ho jata hai isliye samay ka pata hi nahi chalta ki kab transfer var kitne samay gujar gaye aur phir se ek naya transfer aa gaya yah keval IAS adhikari ke saath sabhi adhikari vargon ke saath sabhi karmachariyon ke saath mein aisa hota hai shuruat mein thodi samasyaen hoti hain lekin jaise jaise transfer hote rehte hain waise waise insaan ko adjust karne ki aadat pad jaati maine apni zindagi khud na is baat ka gavah ki 26 saal 27 saal ki naukri mein maine 40 transfer liya is baat ke liye maine kahin apne aap ko takleef mein nahi paya kaise sambhav hua naye sthan par logo ko turant unki chuchiyon ko samjhau ki manushya kyon ko samjha unki aadaton ko samjha aur us ko samajhte hue unmen badlav karne ki thani kuch apne aap ko unke anusaar dhalne mein apne aap ko parivartan karne ke liye samay diya aur apne siddhant maine koi samjhauta nahi kiya yah chitra IAS adhikari apne mulyon se koi samjhauta nahi karta hai aur badi aasani se vaah apne aap ko adjust kar deta hai

आशंका है कि एक आईएएस अधिकारी अपनी जगह पर कैसे समय रिपीट होता है जहां 10 आते हैं जब भी कोई

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  1278
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक आईएएस अधिकारी कहीं भी जिस जिले में जहां भी जाता है वह अच्छा करने के लिए संस्था समीक्षा का अर्थ होता है कि गाजीपुर जिला का प्रति कुछ करने का दिखाइए सेवा का टाइम

ek IAS adhikari kahin bhi jis jile me jaha bhi jata hai vaah accha karne ke liye sanstha samiksha ka arth hota hai ki gazipur jila ka prati kuch karne ka dikhaiye seva ka time

एक आईएएस अधिकारी कहीं भी जिस जिले में जहां भी जाता है वह अच्छा करने के लिए संस्था समीक्षा

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  196
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!