JNU के छात्रों की समस्या का हल कब होगा? आपकी क्या राय है?...


play
user
1:02

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जेएनयू में संयुक्त छात्र दल के द्वारा हड़ताल कर दी गई है धरना प्रदर्शन किए जा रहे हैं वहां पर अचानक देशों के अंतर्गत बढ़ोतरी कर दी गई है प्रशासन ने छात्रों को विश्वास में लड़का काम किया और काफी बड़े स्तर पर जिसको लेकर छात्र संघ वहां पर सारे छात्र संघ मिलकर वहां पर इन दिनों प्रदेश में हड़ताल की बातों पर ध्यान दें और जो लगातार इतनी फीस बढ़ा दी है उसको कम करें या फिर छात्रों को संतुष्ट करें तो अब जाकर वहां पर ही आंदोलन समाप्त हो सकता है आंदोलन करने से छात्रों की पढ़ाई का भी नुकसान हो रहा है और प्रबंधन को भी कॉलेज संचालन करने में तकलीफ आ रही है

jnu mein sanyukt chatra dal ke dwara hartal kar di gayi hai dharna pradarshan kiye ja rahe hain wahan par achanak deshon ke antargat badhotari kar di gayi hai prashasan ne chhatro ko vishwas mein ladka kaam kiya aur kafi bade sthar par jisko lekar chatra sangh wahan par saare chatra sangh milkar wahan par in dino pradesh mein hartal ki baaton par dhyan dein aur jo lagatar itni fees badha di hai usko kam karen ya phir chhatro ko santusht karen toh ab jaakar wahan par hi aandolan samapt ho sakta hai aandolan karne se chhatro ki padhai ka bhi nuksan ho raha hai aur prabandhan ko bhi college sanchalan karne mein takleef aa rahi hai

जेएनयू में संयुक्त छात्र दल के द्वारा हड़ताल कर दी गई है धरना प्रदर्शन किए जा रहे हैं वहां

Romanized Version
Likes  47  Dislikes    views  1865
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स टॉपिक है जेएनयू के छात्रों की समस्या का हल कब होगा अब क्या रहा है मेरा राय यही है कि जेएनयू के छात्र जो भी है यह मोमेंट आंदोलन चला रहे हैं या कर रहे हैं यह एक पूर्वाग्रह और किसी से प्रेरित होकर कर रहे हैं इनको हॉस्टल का ₹300 देने में प्रॉब्लम हो मंत्री आई से कुछ अधिक बढ़ाया जा रहा है तो यह गलत है और एकदम एकदम फीस बढ़नी चाहिए रूम रेंट का क्यों ना पड़े हर चीज का रेट आपका बढ़ रहा है अब जिस परिवार से आ रहे हो क्या आप आज के 10 साल पहले आप अपने घर का रूम उसी रेंट पर दे रहे हैं नहीं तो सरकार थोड़ी सी वृद्धि क्या है यह न्यूज़ छात्रों के यह हमेशा जो है राष्ट्रवादी विचारधारा इनके अंदर नहीं है और इसमें जो रवीश कुमार जी दिखाते हैं मैं तो मेरे तरफ से मेरे एक नंबर की चोर है प्रयागराज में आए हुए थे बोलते थे कि आप यह रिकॉर्डिंग रिकॉर्डिंग देखिए तो आप इन लोगों के न्यूज़ चैनल क्या नाम है दूसरी चीज है कि जो इंपॉर्टेंट बात करनी है कि इतना ज्यादा बढ़ा या नहीं जा रहा जिसमें आपको कोई प्रॉब्लम क्रिएट हो और नॉर्मल चीजें हैं यह 50000 की मोबाइल यूज कर रहे हैं लाखों रुपए की मोबाइल यूज कर रहे हैं बाइक फोर व्हीलर गाड़ी से चलना इनको रूम रेंट देने में प्रॉब्लम हो रही है इतना प्रति भी नहीं हो रही तो हमेशा जेएनयू बीजेपी के खिलाफ रहा है आज से नहीं शुरु से रहेगा क्योंकि मानसिकता है कितने गंदे लोग रहते हैं बेटा बताने की जरूरत नहीं है आप लोग उनके लैट्रिंग बाथरुम को चेक करोगे चेक किया गया था कितने गंदे गंदे सामान मिलते हैं यह लोग सती सावित्री लोग अपने आपको बात साबित करती हैं ठीक है बाद में बोलेंगे हम किसी के साथ लिविंग लाइफ रहने का मेरा राइट है तो यह भारत में रहकर भारत के नियमों और उनके कानों को नहीं मानेंगे तो भारत के निवासी कहां आप ऐसे लोग छोड़ देना चाहिए जो भारत के संविधान के रास्ते में कोई प्रॉब्लम होती है एजुकेशन रिलेटेड जानकारी और मेरा रेफरल कोड है गोविंद जी वह बी आई एन डी गोविंद 100 गोविंद

hello friends topic hai jnu ke chhatro ki samasya ka hal kab hoga ab kya raha hai mera rai yahi hai ki jnu ke chatra jo bhi hai yah moment aandolan chala rahe hain ya kar rahe hain yah ek purvagrah aur kisi se prerit hokar kar rahe hain inko hostel ka Rs dene mein problem ho mantri I se kuch adhik badhaya ja raha hai toh yah galat hai aur ekdam ekdam fees badhani chahiye room rent ka kyon na pade har cheez ka rate aapka badh raha hai ab jis parivar se aa rahe ho kya aap aaj ke 10 saal pehle aap apne ghar ka room usi rent par de rahe hain nahi toh sarkar thodi si vriddhi kya hai yah news chhatro ke yah hamesha jo hai rashtrawadi vichardhara inke andar nahi hai aur isme jo ravish kumar ji dikhate hain main toh mere taraf se mere ek number ki chor hai prayagraj mein aaye hue the bolte the ki aap yah recording recording dekhiye toh aap in logon ke news channel kya naam hai dusri cheez hai ki jo important baat karni hai ki itna zyada badha ya nahi ja raha jisme aapko koi problem create ho aur normal cheezen hain yah 50000 ki mobile use kar rahe hain laakhon rupaye ki mobile use kar rahe hain bike four wheeler gaadi se chalna inko room rent dene mein problem ho rahi hai itna prati bhi nahi ho rahi toh hamesha jnu bjp ke khilaf raha hai aaj se nahi shuru se rahega kyonki mansikta hai kitne gande log rehte hain beta batane ki zaroorat nahi hai aap log unke laitring bathroom ko check karoge check kiya gaya tha kitne gande gande saamaan milte hain yah log sati savitri log apne aapko baat saabit karti hain theek hai baad mein bolenge hum kisi ke saath living life rehne ka mera right hai toh yah bharat mein rahkar bharat ke niyamon aur unke kanon ko nahi manenge toh bharat ke niwasi kahaan aap aise log chhod dena chahiye jo bharat ke samvidhan ke raste mein koi problem hoti hai education related jaankari aur mera referral code hai govind ji vaah be I en d govind 100 govind

हेलो फ्रेंड्स टॉपिक है जेएनयू के छात्रों की समस्या का हल कब होगा अब क्या रहा है मेरा राय य

Romanized Version
Likes  124  Dislikes    views  1560
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जमीन के छात्रों की समस्या का हल कब होगा जेएनयू के छात्रों की जो समस्या है वह एक तरफ से चाय पी की जा सकती है सही ठहराया जा सकता है और इस तरह से उसमें थोड़ी सी गुंजाइश सुधारने की एनडीटीवी के जो रवीश कुमार जी हैं पत्रकार वरिष्ठ पत्रकार हैं उनके मत के अनुसार पूरे देश में क्या न्यू एस यूनिवर्सिटी है ऐसा विश्वविद्यालय है कि जहां देश भर से जो गरीब तबके के लोग हैं जो मध्यम वर्ग के लोग उनके बेटे बेटियां वहां पर बहुत ही कम फीस में और हॉस्टल की बेटी बहुत कम है और भोजन के झोंके से वह भी काफी कम है उसकी वजह से वह पढ़ पाते हैं लेकिन सरकारी जो हवाले से जो हो इस तरह का वह भाव रेट बढ़ाने का और जो कारण दिखाए गए वह बहुत ज्यादा है और किसी भी तरह से उसे सिकारिया विद्यार्थी करने के मूड में नहीं है जो कि एक तरह से सही है और उन सब बातों को गौर करते हुए सरकार ने जांच आगे थोड़ा झुक कर और किस को कम किया है कल की न्यूज़ के अनुसार लेकिन विद्यार्थियों ने तहसील चाकसू की जीत हुई है उनकी मांगे आंशिक रूप से स्वीकार की गई है अभी भी इसमें कोई जगह है ताकि दलित तबके के जोगी जाती है या मध्यम बढ़ती जाती है जिनके माता-पिता एक साधारण काम करके और अपने बच्चों को पढ़ा रहे हैं उच्च शिक्षा दे रहे हैं तो वह भी पढ़ सकें उनको भी पढ़ाई कहा कि गरीबी उनके पढ़ाई बीच में बैठा नहीं बननी चाहिए इसलिए इस बैक ग्राउंड पर विद्यार्थियों की मांगे सही है सरकार को भले ही उन्होंने मांग शिकारी है और हॉस्टल फीस वगैरह में जो पहले प्रावधान किया गया था उससे काफी कटौती की है लेकिन अभी भी थोड़ा कटौती और निरहुआ की मध्य मार्ग और किसान और साधारण काम करने वाले बेटे बेटियां इस कॉलेज में अभ्यास करके उच्च शिक्षा पा सके धन्यवाद

jameen ke chhatro ki samasya ka hal kab hoga jnu ke chhatro ki jo samasya hai vaah ek taraf se chai p ki ja sakti hai sahi thahraya ja sakta hai aur is tarah se usmein thodi si gunjaiesh sudhaarne ki NDTV ke jo ravish kumar ji hain patrakar varishtha patrakar hain unke mat ke anusaar poore desh mein kya new s university hai aisa vishwavidyalaya hai ki jahan desh bhar se jo garib tabke ke log hain jo madhyam varg ke log unke bete betiyan wahan par bahut hi kam fees mein aur hostel ki beti bahut kam hai aur bhojan ke jhonke se vaah bhi kafi kam hai uski wajah se vaah padh paate hain lekin sarkari jo hawale se jo ho is tarah ka vaah bhav rate badhane ka aur jo karan dekhiye gaye vaah bahut zyada hai aur kisi bhi tarah se use sikariya vidyarthi karne ke mood mein nahi hai jo ki ek tarah se sahi hai aur un sab baaton ko gaur karte hue sarkar ne jaanch aage thoda jhuk kar aur kis ko kam kiya hai kal ki news ke anusaar lekin vidyarthiyon ne tehsil chaksu ki jeet hui hai unki mange aanshik roop se sweekar ki gayi hai abhi bhi isme koi jagah hai taki dalit tabke ke jogi jaati hai ya madhyam badhti jaati hai jinke mata pita ek sadhaaran kaam karke aur apne bacchon ko padha rahe hain ucch shiksha de rahe hain toh vaah bhi padh sakein unko bhi padhai kaha ki gareebi unke padhai beech mein baitha nahi banani chahiye isliye is back ground par vidyarthiyon ki mange sahi hai sarkar ko bhale hi unhone maang shikaaree hai aur hostel fees vagairah mein jo pehle pravadhan kiya gaya tha usse kafi kathauti ki hai lekin abhi bhi thoda kathauti aur nirahua ki madhya marg aur kisan aur sadhaaran kaam karne waale bete betiyan is college mein abhyas karke ucch shiksha paa sake dhanyavad

जमीन के छात्रों की समस्या का हल कब होगा जेएनयू के छात्रों की जो समस्या है वह एक तरफ से चाय

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  1110
WhatsApp_icon
user
1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आपका प्रश्न है कि जेएनयू के छात्रों की समस्या का हल कब होगा आपकी क्या राय है हमारी अनुभव के अनुसार मैं बताना चाहूंगा कि जेएनयू के छात्रों काफी संघर्ष कर रहे हैं अपनी मांगों को लेकर आगे बढ़ता ही जा रहा है हालांकि बातें हैं कि सरकार उनकी बातों को नजरअंदाज कर रही है यह गलत बात है छात्रों की बातों को उनको नजरअंदाज नहीं करना चाहिए जो कि अगली पीढ़ी के भविष्य हैं अगली पीढ़ी को बढ़ावा देंगे और देश को विकसित करेंगे साथ ही नहीं पूरे विश्व में परचम लहराने का कोशिश और उन्हीं के हाथों में सब कुछ है हालांकि इनकी बातों की शर्तों को मानना चाहिए मगर नहीं मान लेंगे जहां तक की बात है उनकी समस्याएं कब दूर होंगी तुमने आना चाहूंगा कि समस्या में अभी टाइम लगेगा और इस सरकार बहुत कठोर है सुन नहीं रही है मृदुल टाइप की सरकार है मगर सुनाना पड़ेगा और अपना संघर्ष सहित अपनों के साथ सही पर अपना मांगों को हमेशा उपेक्षित रूप से रखना पड़ेगा और इसलिए डर कर भागना नहीं चाहिए अपनी मांगों को रखें कभी ना कभी सरकार जरूर शुरू की गई और उनकी मांगों को जल्द ही पूरा करेगी धन्यवाद

dekhiye aapka prashna hai ki jnu ke chhatro ki samasya ka hal kab hoga aapki kya rai hai hamari anubhav ke anusaar main batana chahunga ki jnu ke chhatro kaafi sangharsh kar rahe hain apni maangon ko lekar aage badhta hi ja raha hai halaki batein hain ki sarkar unki baaton ko najarandaj kar rahi hai yah galat baat hai chhatro ki baaton ko unko najarandaj nahi karna chahiye jo ki agli peedhi ke bhavishya hain agli peedhi ko badhawa denge aur desh ko viksit karenge saath hi nahi poore vishwa me parcham lahrane ka koshish aur unhi ke hathon me sab kuch hai halaki inki baaton ki sharton ko manana chahiye magar nahi maan lenge jaha tak ki baat hai unki samasyaen kab dur hongi tumne aana chahunga ki samasya me abhi time lagega aur is sarkar bahut kathor hai sun nahi rahi hai mridul type ki sarkar hai magar sunana padega aur apna sangharsh sahit apnon ke saath sahi par apna maangon ko hamesha upekshit roop se rakhna padega aur isliye dar kar bhaagna nahi chahiye apni maangon ko rakhen kabhi na kabhi sarkar zaroor shuru ki gayi aur unki maangon ko jald hi pura karegi dhanyavad

देखिए आपका प्रश्न है कि जेएनयू के छात्रों की समस्या का हल कब होगा आपकी क्या राय है हमारी अ

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  86
WhatsApp_icon
user

Dr. Ashwani Kumar Singh

Chairman & Director at VEMS

1:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जेएनयू के छात्रों की समस्या कल कब आपकी 11 जैनियों की सांसों की कोई समस्या ही नहीं उनकी समस्या देश के अन्य विश्वविद्यालयों से बेहतर है और जहां इन विश्वविद्यालयों में छात्रावास का रेंट और खाने का रेट ज्यादा है वहां कम ही क्यों होनी चाहिए अगर कोई गरीब है या उसको खाने पर नहीं तो उसका सारा माफ किया जा सकता लेकिन पूरे के पूरे जेएनयू में ऐसी व्यवस्था क्यों होनी चाहिए ₹5000 के ऑर्डर सकते हैं उनको ₹300 या ₹500 देश में जनता के पैसे की बर्बादी है और कुछ नहीं और उनकी कोई योग्यता होनी चाहिए कि वह 60 साल तक वहां पढ़ाई करते रहेंगे राजस्थान में रहकर मजे चल रहे उड़ाते रहे विचार होना चाहिए और इतना सारा पैसा करने वालों की होनी चाहिए क्या कहीं से उचित नहीं है और इसका शक्ति के साथ सरकार को इसका निराकरण करना चाहिए शुक्रिया शुभ का

jnu ke chhatro ki samasya kal kab aapki 11 jainiyon ki shanson ki koi samasya hi nahi unki samasya desh ke anya vishvavidyalayon se behtar hai aur jahan in vishvavidyalayon mein chhaatravaas ka rent aur khane ka rate zyada hai wahan kam hi kyon honi chahiye agar koi garib hai ya usko khane par nahi toh uska saara maaf kiya ja sakta lekin poore ke poore jnu mein aisi vyavastha kyon honi chahiye Rs ke order sakte hain unko Rs ya Rs desh mein janta ke paise ki barbadi hai aur kuch nahi aur unki koi yogyata honi chahiye ki vaah 60 saal tak wahan padhai karte rahenge rajasthan mein rahkar maje chal rahe udate rahe vichar hona chahiye aur itna saara paisa karne walon ki honi chahiye kya kahin se uchit nahi hai aur iska shakti ke saath sarkar ko iska nirakaran karna chahiye shukriya shubha ka

जेएनयू के छात्रों की समस्या कल कब आपकी 11 जैनियों की सांसों की कोई समस्या ही नहीं उनकी समस

Romanized Version
Likes  189  Dislikes    views  2881
WhatsApp_icon
user

Abhay Pratap

Advocate | Social Welfare Activist

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जेएनयू के छात्रों की कार्यप्रणाली से तो बड़ा दुख होता है जिस तरह से फर्जी आई कार्ड और जेएनयू के छात्रों द्वारा अनेकों तरह की उत्पीड़ित समस्याएं आई है उसके उनकी समस्याएं हल होने का तो कोई समय ही नहीं दिखता हां अगर भी अपने आप में सुधार करें तो उनके पास कोई समस्या ही नहीं

jnu ke chhatro ki Karya Pranali se toh bada dukh hota hai jis tarah se farjee I card aur jnu ke chhatro dwara anekon tarah ki utpidit samasyaen I hai uske unki samasyaen hal hone ka toh koi samay hi nahi dikhta haan agar bhi apne aap mein sudhaar karen toh unke paas koi samasya hi nahi

जेएनयू के छात्रों की कार्यप्रणाली से तो बड़ा दुख होता है जिस तरह से फर्जी आई कार्ड और जेए

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  494
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!