राजनीति में पैसा कैसे आता है?...


play
user

Ghanshyam Mehar

Indian Politician

0:31

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राजनीति में डाटा तो यह तो राष्ट्रीय पार्टियों के जो नेता पार्टी के सदस्य बनते हैं उसके आधार पर आते हैं कुछ और भी आधार होते हैं कोयला MP3

rajneeti mein data toh yeh toh rashtriya partiyon ke jo neta party ke sadasya BA nte hai uske aadhaar par aate hai kuch aur bhi aadhaar hote hai koyla MP3

राजनीति में डाटा तो यह तो राष्ट्रीय पार्टियों के जो नेता पार्टी के सदस्य बनते हैं उसके आधा

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  718
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राजनीति में पैसा कैसे आता है यह जानना चाहते हैं तो राजनीति में पैसा जीतने हम अलग-अलग टैक्स पर करते हैं दूसरे जो है इंडियन बजट में जाता है लेकिन हर डिपार्टमेंट MP MMS की बात करें तो जिओ की स्पीड को डेवलपमेंट में स्थित को डेवलप करने के लिए रिस्पॉन्सिबल होती है तो वह जो बेसिक सैलरी मिलता है तो शादी का कोई शौक नहीं होती है अगर हम बात करें लाइक mp mla इसकी ₹100000 का मन मिलता है तो उससे ज्यादा पैसा कहां से आता है तो अभी जो पैसा आता है वह ब्लैक मनी से अधिक पैसा ब्लैक मनी से जो भी फोन पर यूज होता है एग्जांपल लेकर भी डेवलपमेंट के लिए अगर ब्रिज के लिए फंड्री कुछ हजार करो रूप जैसे नहीं होते हो फोन तो फंड में पूरा का पूरा पैसा वापस ही नहीं लगता हर एक का हिसाब से डिस्ट्रीब्यूशन चैनल होता है फंड की किसी चीज के लिए रिलीज हुआ है कोई प्रोजेक्ट के लिए रिलीज हुआ है तो लाइक जितने भी लीडर है ऊपर से लेकर नीचे तक हर एक जगह पैसा डिस्ट्रीब्यूट होते हुए जाता है जो पैसा बचता है उसे जाकर देखो प्रोजेक्ट कंप्लीट होता है तो यह जो ब्लैक मनी है और एक में सबसे ब्लैक मनी जो आता है जो कि हम गवर्नमेंट की तरफ से आता है वह ब्लैक मनी के तौर पर हर एक पॉलिटिशियन के पास जाता है तो यह सबसे बेसिक मुद्दा है और एक पॉलिटिशंस को पैसा कमाने का

raajneeti mein paisa kaise aata hai yah janana chahte hai toh raajneeti mein paisa jitne hum alag alag tax par karte hai dusre jo hai indian budget mein jata hai lekin har department MP MMS ki BA at kare toh jio ki speed ko development mein sthit ko develop karne ke liye responsible hoti hai toh vaah jo BA sic salary milta hai toh shadi ka koi shauk nahi hoti hai agar hum BA at kare like mp mla iski Rs ka man milta hai toh usse zyada paisa kahaan se aata hai toh abhi jo paisa aata hai vaah black money se adhik paisa black money se jo bhi phone par use hota hai example lekar bhi development ke liye agar bridge ke liye fandri kuch hazaar karo roop jaise nahi hote ho phone toh fund mein pura ka pura paisa wapas hi nahi lagta har ek ka hisab se distribution channel hota hai fund ki kisi cheez ke liye release hua hai koi project ke liye release hua hai toh like jitne bhi leader hai upar se lekar niche tak har ek jagah paisa distribyut hote hue jata hai jo paisa BA chta hai use jaakar dekho project complete hota hai toh yah jo black money hai aur ek mein sabse black money jo aata hai jo ki hum government ki taraf se aata hai vaah black money ke taur par har ek politician ke paas jata hai toh yah sabse BA sic mudda hai aur ek politicians ko paisa kamane ka

राजनीति में पैसा कैसे आता है यह जानना चाहते हैं तो राजनीति में पैसा जीतने हम अलग-अलग टैक्स

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  175
WhatsApp_icon
user

Geet Awadhiya

Aspiring Software Developer

0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ठीक है आजकल राजनीति पैसों में तो होती है और यह पहले भी पैसों से ही होती थी ज्यादातर जो वोट होते हैं वह डायरेक्टली इनडायरेक्टली किसी ना किसी प्रकार राजनेताओं के द्वारा भ्रष्टाचार करके देता है पैसों की हेराफेरी करके खरीदे जाते हैं बहुत ही कम प्रतिशत वोट ऐसे होते हैं जो लोग खुद से खुद की इच्छा से देते हैं

theek hai aajkal raajneeti paison mein toh hoti hai aur yah pehle bhi paison se hi hoti thi jyadatar jo vote hote hai vaah directly indirectly kisi na kisi prakar rajnetao ke dwara bhrashtachar karke deta hai paison ki heraferi karke kharide jaate hai BA hut hi kam pratishat vote aise hote hai jo log khud se khud ki iccha se dete hain

ठीक है आजकल राजनीति पैसों में तो होती है और यह पहले भी पैसों से ही होती थी ज्यादातर जो वोट

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  50
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
fandry डालो ; fandry कैसे लगाते हैं ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!