अपनी सेवा के शुरुआती दिनों में क्या हर्ष पोद्दार बहुत आइडियलिस्टिक थे और इसीलिए उन्हें मुसीबतों का सामना करना पड़ा?...


user
0:44
Play

Likes  4  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Harssh A Poddar

Indian Police Service | Dy. Commissioner of Police, Nagpur

2:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसी बात नहीं है क्योंकि एक तो आप वकालत पर करके आते हैं क्योंकि मेरी जॉब सी चीज है जो भूल गए और राजस्थान पेंशन करती है - लोथकुंता में हुई थी तो इंटर्नशिप के लिए और फील्ड ऑफिस के बहुत सारे मौके मिले थे फील्ड में क्या सिचुएशन है कब और कैसे भारत सरकार और राज्य सरकार किस प्रकार काम करते हैं इसके बारे में 1 दिन है जिस वजह से मैं अत्यंत इसके बहुत सारे एडिशन हैं और 12 से पुलिस वेरी-वेरी प्रोफेशनल non-compliance उसके प्रति कंप्लायंस रिपोर्ट जो है इस फोर्स में इनका कार्य बहुत आए हैं अब यूज़ ऑफ पावर या फिर जो औरतें रहती है जो कि पुलिस में जिस वजह से किसी लुसेंट हो सकता था तब तक तब तक नहीं आई है और मुझे उम्मीद ही नहीं क्योंकि हमेशा रहे हैं इसका पूरा श्रेय उन्हीं को जाता है और इसकी जोक

aisi baat nahi hai kyonki ek toh aap vakalat par karke aate hain kyonki meri job si cheez hai jo bhool gaye aur rajasthan pension karti hai lothkunta mein hui thi toh internship ke liye aur field office ke bahut saare mauke mile the field mein kya situation hai kab aur kaise bharat sarkar aur rajya sarkar kis prakar kaam karte hain iske bare mein 1 din hai jis wajah se main atyant iske bahut saare edition hain aur 12 se police very very professional non compliance uske prati compliance report jo hai is force mein inka karya bahut aaye hain ab use of power ya phir jo auraten rehti hai jo ki police mein jis wajah se kisi lucent ho sakta tha tab tak tab tak nahi I hai aur mujhe ummid hi nahi kyonki hamesha rahe hain iska pura shrey unhi ko jata hai aur iski joke

ऐसी बात नहीं है क्योंकि एक तो आप वकालत पर करके आते हैं क्योंकि मेरी जॉब सी चीज है जो भूल ग

Romanized Version
Likes  48  Dislikes    views  5858
WhatsApp_icon
user

Reddy Prasad

Politician

0:55
Play

Likes  3  Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
user

Venkatesh

Teacher

0:25
Play

Likes  3  Dislikes    views  92
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  3  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं नहीं

nahi nahi

नहीं नहीं

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  123
WhatsApp_icon
user

Roshan Prasad Jaiswal

Junior Volunteer

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हर्ष पोदार की अपनी सेवा की शुरुआती दिनों में आज पधार बहुत आइडियलिस्टिक परवरिश क्यों ने मुसीबतों का सामना करना पड़ा ऐसा नहीं कर सकते हैं उन्होंने यूपीएससी सिविल सर्विसेज को ही चुना राकेश बंद कब है महाराष्ट्र के मालेगांव में युवाओं को न केवल गलत रास्ते पर जाने से बचाएं हैं बल्कि उन्हें शिक्षित भी कर रहे हैं और अभी हाल ही में महाराष्ट्र में भीमा कोरेगांव हिस्सा की खबर सामने आई थी से महाराष्ट्र का महत्व मराठवाड़ा का इलाका काफी प्रभावित हुआ था और हिंसा फैली थी लेकिन मालेगांव से प्रभावित रहा था यह सबसे बड़ी वजह हर्ष के द्वारा की जाने वाली पहले ही थी देश के प्रतिष्ठित ईयर लॉ कॉलेज से कानून की पढ़ाई लंदन से फॉलो से पहले से मिलने के बाद हायर स्टडी और के लंदन में कार्पोरेट फॉर्म के लिए काम करना क्योंकि इनके लिए बड़ी बात थी और सुनने में कितनी शानदार जिंदगी लगती है ना लेकिन कहानी तो अभी शुरू भी नहीं हुई थी इतना सब करने के बाद भी हर पल अभी तक से संतुष्टि नहीं मिल गई थी इसलिए उन्होंने अपना सपना पूरा करने के लिए वापस इंडिया लौटने का फैसला कर लिया उनका सपना का जन्म से जुड़कर समाज में बदलाव लाना इसे उन्होंने यूपीएससी सेल्फ

harsh podar ki apni seva ki shuruati dino mein aaj padhar bahut aidiyalistik parvarish kyon ne musibaton ka samana karna pada aisa nahi kar sakte hain unhone upsc civil services ko hi chuna rakesh band kab hai maharashtra ke maleganv mein yuvaon ko na keval galat raste par jaane se bachaen hain balki unhe shikshit bhi kar rahe hain aur abhi haal hi mein maharashtra mein bhima koregaon hissa ki khabar saamne I thi se maharashtra ka mahatva marathwada ka ilaka kaafi prabhavit hua tha aur hinsa faili thi lekin maleganv se prabhavit raha tha yah sabse badi wajah harsh ke dwara ki jaane wali pehle hi thi desh ke pratishthit year law college se kanoon ki padhai london se follow se pehle se milne ke baad hire study aur ke london mein karporet form ke liye kaam karna kyonki inke liye badi baat thi aur sunne mein kitni shandar zindagi lagti hai na lekin kahani toh abhi shuru bhi nahi hui thi itna sab karne ke baad bhi har pal abhi tak se santushti nahi mil gayi thi isliye unhone apna sapna pura karne ke liye wapas india lautne ka faisla kar liya unka sapna ka janam se judakar samaj mein badlav lana ise unhone upsc self

हर्ष पोदार की अपनी सेवा की शुरुआती दिनों में आज पधार बहुत आइडियलिस्टिक परवरिश क्यों ने मुस

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  8
WhatsApp_icon
user

PANKAJ KUMAR

WELLNESS COACH

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शुरुआती में किसी भी फिल्म में हर तरह का समस्या का सामना करना पड़ता है जो समस्या का सामना करता है वही इंसान अपने फिल्में और अपने जिंदगी में सफल हो सकता है बिना मेहनत का किसी भी इंसान को कुछ नहीं होता और कभी भी मेहनत करने से पीछे नहीं हटना चाहिए मेहनत करके इंसान अपने जिंदगी में कुछ वह मुकाम पर हासिल कर सकते हैं और वह हर एक इंसान अपनी जिंदगी में कुछ भी करना चाहता है तो उसके पहले उन्हें एक सपना देखना हो जरूरी होता है अगर आप कुछ भी जिंदगी में सपना देखते हैं वह सपना को आपको राइट डायरी पर लिखना होगा तो वह सपनों को पूरा कर सकते हैं ओके थैंक यू

shuruati me kisi bhi film me har tarah ka samasya ka samana karna padta hai jo samasya ka samana karta hai wahi insaan apne filme aur apne zindagi me safal ho sakta hai bina mehnat ka kisi bhi insaan ko kuch nahi hota aur kabhi bhi mehnat karne se peeche nahi hatna chahiye mehnat karke insaan apne zindagi me kuch vaah mukam par hasil kar sakte hain aur vaah har ek insaan apni zindagi me kuch bhi karna chahta hai toh uske pehle unhe ek sapna dekhna ho zaroori hota hai agar aap kuch bhi zindagi me sapna dekhte hain vaah sapna ko aapko right diary par likhna hoga toh vaah sapno ko pura kar sakte hain ok thank you

शुरुआती में किसी भी फिल्म में हर तरह का समस्या का सामना करना पड़ता है जो समस्या का सामना क

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  99
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!