प्यार की शुरुआत कहाँ से होती है?...


user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां प्यार की शुरुआत कहां से होती देखी जना प्यार की शुरुआत कहीं से भी हो सकती है दूसरी बात है मैं आपको बताता हूं कि आप प्यार की शुरुआत से जानना चाहते हम से पैदा होते हैं मां से आपका प्यार की शुरुआत हो जाती है अब देखिए आप क्या अपनी मां से प्यार नहीं करते फिर जवाब धीरे-धीरे पड़े होने लगते हैं तो आपको पता चलता ही मेरे पास धरमपुत्र चलते मेरी बहन है आपके परिवार के सदस्यों की बात का जवाब युवा होने लगते हैं आपको मैं 18 से बोर हो जाती तो आपका अट्रैक्शन अपनी ईमेल साथी की तरफ जाता है जो सिया पर ट्राई करना चाहते अगर आप उसको प्यार की शुरुआत करना चाहते हैं तो उससे मैं मांगता हूं जैसे ही आप बड़े होते हैं आपका हर मांगलिक तोता आपकी इच्छा जागृत होने लगती हैं तो आप सबसे पहले उस पागल को तलाशते हैं जो आप को अच्छा लगने लगे आप उसकी बातें अच्छी लगी है उसकी भावनाएं अच्छी लगे उसकी शक्ल सूरत अच्छी लुटे उसकी बॉडी स्मेल अच्छी लगे उसकी कपड़े पहनने का ढंग और लाए तो इसी तरह से प्यार की शुरुआत होती है इसके प्रारूप आकर्षित हो रहे हैं अगर उसकी बातें अच्छी लग रही है आपको उसकी बॉडी स्ट्रक्चर अच्छा लग रहा है और उसके बात करने का तरीका अच्छा लग रहा है

haan pyar ki shuruat kaha se hoti dekhi pariyojna pyar ki shuruat kahin se bhi ho sakti hai dusri baat hai main aapko batata hoon ki aap pyar ki shuruat se janana chahte hum se paida hote hain maa se aapka pyar ki shuruat ho jaati hai ab dekhiye aap kya apni maa se pyar nahi karte phir jawab dhire dhire pade hone lagte hain toh aapko pata chalta hi mere paas dharamaputra chalte meri behen hai aapke parivar ke sadasyon ki baat ka jawab yuva hone lagte hain aapko main 18 se bore ho jaati toh aapka attraction apni email sathi ki taraf jata hai jo sia par try karna chahte agar aap usko pyar ki shuruat karna chahte hain toh usse main mangta hoon jaise hi aap bade hote hain aapka har manglik tota aapki iccha jagrit hone lagti hain toh aap sabse pehle us Pagal ko talashate hain jo aap ko accha lagne lage aap uski batein achi lagi hai uski bhaavnaye achi lage uski shakl surat achi lute uski body smell achi lage uski kapde pahanne ka dhang aur laye toh isi tarah se pyar ki shuruat hoti hai iske prarup aakarshit ho rahe hain agar uski batein achi lag rahi hai aapko uski body structure accha lag raha hai aur uske baat karne ka tarika accha lag raha hai

हां प्यार की शुरुआत कहां से होती देखी जना प्यार की शुरुआत कहीं से भी हो सकती है दूसरी बात

Romanized Version
Likes  289  Dislikes    views  2735
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Anisha Saurabh

Engineer with dreams

0:53

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मेरे हिसाब से प्यार की शुरुआत कहीं और कभी भी हो सकती है और यह एक बहुत अलग तरह की फीलिंग से इस फीलिंग्स को बस आप ही महसूस कर सकते जिसको यह प्यार हुआ है कभी-कभी इस फीलिंग्स को महसूस करने में काफी समय चला जाता है रियलाइज होने में कि हां मुझे किसी से प्यार हुआ है या नहीं हुआ किसी किसी को बहुत शुरुआती दिनों में यह पता चल जाता है कि हमें मुझे किसी से प्यार हुआ है या मैं किसी की तरफ आकर्षित हूं इसके लिए कोई जरूरी नहीं है कि आप एक चकले कि हां मुझे पहले यह रिश्ता कायम करना है फिर प्यार पर जाना है मेरे हिसाब से यह बिल्कुल जरूरी नहीं है अगर आप किसी से प्यार करते हैं तो सिर्फ प्यार का ही रिश्ते का शुरुआत कर सकते हैं कोई जरूरी नहीं है कि दूसरे रिश्ते के थ्रू इस रिश्ते पर जाएं

dekhiye mere hisab se pyar ki shuruat kahin aur kabhi bhi ho sakti hai aur yah ek BA hut alag tarah ki feeling se is feelings ko bus aap hi mehsus kar sakte jisko yah pyar hua hai kabhi kabhi is feelings ko mehsus karne mein kaafi samay chala jata hai realize hone mein ki haan mujhe kisi se pyar hua hai ya nahi hua kisi kisi ko BA hut shuruati dino mein yah pata chal jata hai ki hamein mujhe kisi se pyar hua hai ya main kisi ki taraf aakarshit hoon iske liye koi zaroori nahi hai ki aap ek chakle ki haan mujhe pehle yah rishta kayam karna hai phir pyar par jana hai mere hisab se yah bilkul zaroori nahi hai agar aap kisi se pyar karte hai toh sirf pyar ka hi rishte ka shuruat kar sakte hai koi zaroori nahi hai ki dusre rishte ke through is rishte par jayen

देखिए मेरे हिसाब से प्यार की शुरुआत कहीं और कभी भी हो सकती है और यह एक बहुत अलग तरह की फील

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  177
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने वीर रस का स्थाई भाव की छवि रस का स्थाई भाव होता है उत्साह रसों के लिए रस की लगभग सभी रसों की मिलती-जुलती परिभाषा बनती है एसडीम रस की परिभाषा मैं आपको बता रहा हूं वीर रस का स्थाई भाव उत्साह है जहां पर उत्साह नामक स्थाई भाव विभाव अनुभव और संचारी भाव की होती है वहां पर वीर रस का एक बहुत अच्छा मैं आपको उदाहरण बताने जा रहा हूं सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है देखना है जोर कितना बाजुए कातिल जो आसानी से सभी बच्चे को याद रख सकते हैं एक और भी उदाहरण बता रहा हूं मैं आपको वीर रस का बुंदेले हरबोलों के मुंह हमने सुनी कहानी थी खूब लड़ी मर्दानी वह तो झांसी वाली जय हिंद आपका दिन शुभ हो

aapne veer ras ka sthai bhav ki chhavi ras ka sthai bhav hota hai utsaah rason ke liye ras ki lagbhag sabhi rason ki milti julti paribhasha banti hai esadim ras ki paribhasha main aapko bata raha hoon veer ras ka sthai bhav utsaah hai jaha par utsaah namak sthai bhav vibhav anubhav aur sanchari bhav ki hoti hai wahan par veer ras ka ek bahut accha main aapko udaharan batane ja raha hoon sarfarorshi ki tamanna ab hamare dil me hai dekhna hai jor kitna bajuye kaatil jo aasani se sabhi bacche ko yaad rakh sakte hain ek aur bhi udaharan bata raha hoon main aapko veer ras ka bundele harbolon ke mooh humne suni kahani thi khoob ladi mardaani vaah toh jhansi wali jai hind aapka din shubha ho

आपने वीर रस का स्थाई भाव की छवि रस का स्थाई भाव होता है उत्साह रसों के लिए रस की लगभग सभी

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  88
WhatsApp_icon
user

Gulnaz

लेवल 1 (बिगिनर)

0:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्यार की शुरुआत दोस्ती से होती है जिस पर आप यकीन कर सकते हैं जिससे आप दोस्ती निभा सकते हैं उन्हीं से आप जो है लेकर सच्चा प्यार कर सकते हैं तो प्यार की शुरुआत जो है दोस्ती से ही हो सकती है

pyar ki shuruat dosti se hoti hai jis par aap yakin kar sakte hai jisse aap dosti nibha sakte hai unhi se aap jo hai lekar saccha pyar kar sakte hai toh pyar ki shuruat jo hai dosti se hi ho sakti hai

प्यार की शुरुआत दोस्ती से होती है जिस पर आप यकीन कर सकते हैं जिससे आप दोस्ती निभा सकते हैं

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  199
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
प्यार की शुरुआत कहां से होती है ; pyar ki shuruvat ; प्यार की शुरुआत ; pyar ki shuruat kaise hoti hai ; yeh rishtey hain pyaar ke ; pyar ki paribhasha kya hai ; pyar ki feeling ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!