#TumSENAhoPayega: सोशल मीडिया में क्यूँ उड़ाया जा रहा है शिव सेना का मज़ाक़?...


user

Vikas Singh

Political Analyst

3:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि सोशल मीडिया पर शिवसेना का मजाक क्यों उड़ाया जा रहा है देखिए शिवसेना का मजाक इसलिए उड़ाया जा रहा है क्योंकि शिवसेना ने बहुत बड़ी गलती की है भारतीय जनता पार्टी से गठबंधन नहीं कर कर चुनाव बीजेपी और शिवसेना मिलजुलकर लड़ी थी और रिजल्ट भी अच्छे थे बाद में शिवसेना के दो प्रमुख हैं श्रीमान उधव ठाकरे यह महाभारत के गीत राष्ट्र बन गए इनको पुत्र मोह हो गया और यह चाहते थे कि आदित्य ठाकरे शिवसेना महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बने लेकिन भारतीय जनता पार्टी ऐसा बिल्कुल नहीं चाहती थी क्योंकि आदित्य ठाकरे के पास राजनीति का अनुभव बहुत कम है अगर वह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनते तो महाराष्ट्र का विकास अच्छे से नहीं हो पाता जब महाराष्ट्र का विकास अच्छे से नहीं होता तो भारतीय जनता पार्टी का भी बहुत बदनामी होता है नाम जो मिल होता है इसलिए भारतीय जनता पार्टी ने अपना समर्थ वापस ले लिया फिर शिवसेना ने 5050 का फार्मूला रखा ढाई साल आप मुख्यमंत्री रहिए भाई साहब आदित्य ठाकरे मुख्यमंत्री रहेंगे लेकिन भारतीय जनता पार्टी ने इस समय इस फार्मूले को भी ठुकरा दिया और अपना समर्थन वापस ले लिया फिर शिवसेना ने यह बोला कि बीजेपी वालों ने हमें धोखा दिया है कि शिवसेना ने यह बोला कि एनसीपी के साथ हम मिलजुल कर सरकार बना रहे हैं एनसीपी को भी इन लोगों ने बाद में बोला कि ऐसी पी वालों ने भी हमें धोखा दिया है फिर यह कांग्रेस के साथ गठबंधन करके सरकार बना रहे थे लेकिन अभी तक इन्होंने यह नहीं बोला है कि कांग्रेस वालों ने भी हमें धोखा दिया दो-तीन दिन में बोलेंगे लो कि कांग्रेस वालों ने भी हमें धोखा दिया है यानी इनको सभी लोगों ने धोखा दिया है बीजेपी वालों ने धोखा दिया जिस बीजेपी के चलते इनको सभी लोग जानते हैं और उसी पार्टी ने ने धोखा दिया है तो अब तक की सबसे बड़ी गलती उधव ठाकरे साहब ने किया है क्योंकि उधव ठाकरे साहब को पुत्र मोह हो गया है और पुत्र होता है तो महाभारत होता है और महाभारत का रिजल्ट क्या होता है यह तो आपको पता ही है जब बालासाहेब ठाकरे हुआ करते थे जब चुनाव बीजेपी और शिवसेना लड़की थी मिलजुलकर तो बालासाहेब ठाकरे यह बोला करते थे कि जिस पार्टी का के विधायक सबसे अधिक जीतकर आएंगे उसी पार्टी का मुख्यमंत्री बनेगा अगर बीजेपी के अधिक विधायक जीत जाते हैं तो बीजेपी का कोई मुख्यमंत्री बनेगा अगर शिवसेना के विधायक अधिक जीत कर आते हैं तो उस शिवसेना का मुख्यमंत्री बनेगा तो अगर उधव ठाकरे साहब को यह बात याद होती तो वह पंडित जी को अपना समर्थन देकर मुख्यमंत्री बनवाते और महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन कब लागू नहीं होता और तालमेल भी बहुत अच्छा रहता बीजेपी का और शिवसेना का और मिलजुलकर जाबे लोग रहते तो इन लोगों का नाम भी अच्छा होता और शिवसेना के लोगों के प्रति महाराष्ट्र की जनता में सम्मान होता प्यार होता मोहब्बत होता महाराष्ट्र की जनता ने शिवसेना को जान लिया है और शिवसेना को अब कभी भी इतना ज्यादा सीट नहीं मिलेगा अब महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू कर दिया गया है राष्ट्रपति शासन लागू होने के बाद अब वहां का विकास होगा महाराष्ट्र की जनता का तरक्की होगा और वहां पर डेवलपमेंट का कार्यक्षेत्र होगा धन्यवाद

aapka sawaal hai ki social media par shivsena ka mazak kyon udaya ja raha hai dekhiye shivsena ka mazak isliye udaya ja raha hai kyonki shivsena ne bahut badi galti ki hai bharatiya janta party se gathbandhan nahi kar kar chunav bjp aur shivsena miljulakar ladi thi aur result bhi acche the baad mein shivsena ke do pramukh hain shriman udhav thakare yah mahabharat ke geet rashtra ban gaye inko putra moh ho gaya aur yah chahte the ki aditya thakare shivsena maharashtra ke mukhyamantri bane lekin bharatiya janta party aisa bilkul nahi chahti thi kyonki aditya thakare ke paas raajneeti ka anubhav bahut kam hai agar vaah maharashtra ke mukhyamantri bante toh maharashtra ka vikas acche se nahi ho pata jab maharashtra ka vikas acche se nahi hota toh bharatiya janta party ka bhi bahut badnami hota hai naam jo mil hota hai isliye bharatiya janta party ne apna samarth wapas le liya phir shivsena ne 5050 ka formula rakha dhai saal aap mukhyamantri rahiye bhai saheb aditya thakare mukhyamantri rahenge lekin bharatiya janta party ne is samay is formulae ko bhi thukara diya aur apna samarthan wapas le liya phir shivsena ne yah bola ki bjp walon ne hamein dhokha diya hai ki shivsena ne yah bola ki ncp ke saath hum miljul kar sarkar bana rahe hain ncp ko bhi in logon ne baad mein bola ki aisi p walon ne bhi hamein dhokha diya hai phir yah congress ke saath gathbandhan karke sarkar bana rahe the lekin abhi tak inhone yah nahi bola hai ki congress walon ne bhi hamein dhokha diya do teen din mein bolenge lo ki congress walon ne bhi hamein dhokha diya hai yani inko sabhi logon ne dhokha diya hai bjp walon ne dhokha diya jis bjp ke chalte inko sabhi log jante hain aur usi party ne ne dhokha diya hai toh ab tak ki sabse badi galti udhav thakare saheb ne kiya hai kyonki udhav thakare saheb ko putra moh ho gaya hai aur putra hota hai toh mahabharat hota hai aur mahabharat ka result kya hota hai yah toh aapko pata hi hai jab balasaheb thakare hua karte the jab chunav bjp aur shivsena ladki thi miljulakar toh balasaheb thakare yah bola karte the ki jis party ka ke vidhayak sabse adhik jeetkar aayenge usi party ka mukhyamantri banega agar bjp ke adhik vidhayak jeet jaate hain toh bjp ka koi mukhyamantri banega agar shivsena ke vidhayak adhik jeet kar aate hain toh us shivsena ka mukhyamantri banega toh agar udhav thakare saheb ko yah baat yaad hoti toh vaah pandit ji ko apna samarthan dekar mukhyamantri banvaate aur maharashtra mein rashtrapati shasan kab laagu nahi hota aur talmel bhi bahut accha rehta bjp ka aur shivsena ka aur miljulakar jabe log rehte toh in logon ka naam bhi accha hota aur shivsena ke logon ke prati maharashtra ki janta mein sammaan hota pyar hota mohabbat hota maharashtra ki janta ne shivsena ko jaan liya hai aur shivsena ko ab kabhi bhi itna zyada seat nahi milega ab maharashtra mein rashtrapati shasan laagu kar diya gaya hai rashtrapati shasan laagu hone ke baad ab wahan ka vikas hoga maharashtra ki janta ka tarakki hoga aur wahan par development ka karyakshetra hoga dhanyavad

आपका सवाल है कि सोशल मीडिया पर शिवसेना का मजाक क्यों उड़ाया जा रहा है देखिए शिवसेना का मजा

Romanized Version
Likes  236  Dislikes    views  4729
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!