दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बढ़ता ही जा रहा है। सरकार क्या क़दम उठा रही है और अब तक क्या किया जा चुका है इसके लिए?...


play
user

Ruchi Garg

Counsellor and Psychologist(Gold MEDALIST)

0:32

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी दिल्ली के प्रदूषण से निबटने के लिए सरकार ने बॉडी बन लागू किया है और इससे काफी फर्क भी पड़ा है इसके अलावा जो है दिल्ली में दिवाली पर पटाखे बयान थी और सिर्फ एक ग्रीन पटाखे जला सकते थे इसके अलावा कुछ दिनों के लिए कंस्ट्रक्शन का काम भी बंद रखा गया तो यह सारे से फेसबुक पर प्रदूषण से निबटने के लिए लिए गैरों काफी सहायक भी रहे हैं यह

vicky delhi ke pradushan se nibatane ke liye sarkar ne body ban laagu kiya hai aur isse kaafi fark bhi pada hai iske alava jo hai delhi mein diwali par patakhe bayan thi aur sirf ek green patakhe jala sakte the iske alava kuch dino ke liye construction ka kaam bhi band rakha gaya toh yah saare se facebook par pradushan se nibatane ke liye liye gairon kaafi sahayak bhi rahe hain yah

विकी दिल्ली के प्रदूषण से निबटने के लिए सरकार ने बॉडी बन लागू किया है और इससे काफी फर्क भी

Romanized Version
Likes  747  Dislikes    views  8121
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल्ली में प्रदूषण स्तर बढ़ता जा रहा है सरकार इसके लिए कदम उठा रही है सरकार दिल्ली सरकार ने ऑडी मन का एक प्रोग्राम भी लागू किया था जिसमें सम विषम नंबर वाली कहानी है उसको अलग-अलग दिन चलाने के लिए क्या करें जिससे सड़कों पर वाहन कम हो सके और प्रदूषण का स्तर कम हो सके साथ ही जो सुप्रीम कोर्ट है उसने भी जो नरवाई जलाने के लिए जो खेतों में बचे हुए ऑफिस होते हैं उन्हें चलाने के लिए रोक लगाया था और इस पर सरकारें पर क्या कार्रवाई की जा रही है बीजेपी सरकार ने करवाई बस्ती सिम ना जलाएं जलाने से प्रदूषण होता है लेकिन एक बात भी समझना जरूरी है कि प्रदूषण को रोकने की जिम्मेदारी नहीं है हम प्रदूषण के खिलाफ लड़ाई लड़ी जा रही है उसमें हम शामिल हो अपना योगदान दें हम कोई भी ऐसा काम ना करें जिससे प्रदूषण बढ़ता हो इस बात का ध्यान सभी को रखना चाहिए सब के डांस करने पर ही प्रदूषण से निपटा जा सकता है

delhi mein pradushan sthar badhta ja raha hai sarkar iske liye kadam utha rahi hai sarkar delhi sarkar ne audi man ka ek program bhi laagu kiya tha jisme some visham number wali kahani hai usko alag alag din chalane ke liye kya kare jisse sadkon par vaahan kam ho sake aur pradushan ka sthar kam ho sake saath hi jo supreme court hai usne bhi jo narvai jalane ke liye jo kheton mein bache hue office hote hain unhe chalane ke liye rok lagaya tha aur is par sarkaren par kya karyawahi ki ja rahi hai bjp sarkar ne karwai basti sim na jalaen jalane se pradushan hota hai lekin ek baat bhi samajhna zaroori hai ki pradushan ko rokne ki jimmedari nahi hai hum pradushan ke khilaf ladai ladi ja rahi hai usme hum shaamil ho apna yogdan de hum koi bhi aisa kaam na kare jisse pradushan badhta ho is baat ka dhyan sabhi ko rakhna chahiye sab ke dance karne par hi pradushan se nipta ja sakta hai

दिल्ली में प्रदूषण स्तर बढ़ता जा रहा है सरकार इसके लिए कदम उठा रही है सरकार दिल्ली सरकार न

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  806
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बढ़ता ही जा रहा है सरकार क्या कदम उठा रही है उसका क्या किया जाता है कि दिल्ली में सरकार की तरफ से ऑडियो इन का फार्मूला तय किया गया था वह दिन की उसमें बीच में छुट्टी दी गई थी और उनसे मिले तो 2 दिन के लिए टाल दिया गया था और बाकी फिर बाद में बात होगी उनका फॉर्मूला फिर से एक अच्छा कदम है ट्रैफिक की समस्या से निजात मिलती है और कोलिशन की समस्या से थोड़ी बहुत देखने को आता है लेकिन पराली जलाने का जो मामला है वह पराली लोग रात को जला देते हैं दिन में भले ही न जलाते हो और उसकी वजह से भी दिल्ली की आबोहवा खराब हो रही है और प्रदूषण का स्तर जो दिल्ली का किसी की तरफ से नहीं आ रहा है कंट्रोल में अशोक विहार और आनंद विहार ऑफ कर को 437 के बाबा का जो प्रदूषण पहुंचा है नरेला तरफ भी वही करीबन 500 के अंदर पांच सौ के आसपास और सारे पीएम बहुत ही ज्यादा है लेकिन पहले कि बगैर बगैर कंप्यूटर में थोड़ा कम हुआ है इसलिए हम यह सोचे कि एकदम से प्रदूषण का स्तर बिल्कुल ही खत्म हो जाएगा इतना संभव नहीं है क्योंकि इतनी बड़ी पॉपुलेशन है और इतनी बड़ी सारे बहाने और इतनी सारी इंडस्ट्रीज है तो प्रदूषण का जो अगस्त तक कम करना है तो सबसे पहले तो पराली को पूरा जलाने के लिए बैन करना जरूरी है हरियाणा और पंजाब में जो प्राणी का जो है बिल्कुल बंद करना पड़ेगा और दिल्ली के जितने इंडस्ट्रीज है उसको फिर से कंट्रोल बोर्ड के द्वारा फिर से गौरीगंज करना पड़ेगा और ट्रैफिक के नियम है कि उनकी जगह पर लेकिन फिर भी इलेक्ट्रिक वाहन या सीएनजी वाहन को बढ़ावा दे तो उससे प्रदूषण का स्तर में कुछ कटौती आने की संभावना लगती है बाकी सरकार अपने तरीके से बहुत कोशिश कर रही है लेकिन फिर भी जब तक जनता इसके प्रति जागरूकता नहीं दिखाएगी तब तक से फिलहाल कंट्रोल करना मुश्किल होगा लेकिन आने वाले दिसंबर में प्रदूषण का स्तर कम हो सकता है दिसंबर 2 जनवरी में खत्म होने की वजह से जो हवा की क्षमता होती है धन्यवाद आपका जी

delhi mein pradushan ka sthar badhta hi ja raha hai sarkar kya kadam utha rahi hai uska kya kiya jata hai ki delhi mein sarkar ki taraf se audio in ka formula tay kiya gaya tha vaah din ki usme beech mein chhutti di gayi thi aur unse mile toh 2 din ke liye tal diya gaya tha aur baki phir baad mein baat hogi unka formula phir se ek accha kadam hai traffic ki samasya se nijat milti hai aur kolishan ki samasya se thodi bahut dekhne ko aata hai lekin parali jalane ka jo maamla hai vaah parali log raat ko jala dete hai din mein bhale hi na jalte ho aur uski wajah se bhi delhi ki aabohawa kharab ho rahi hai aur pradushan ka sthar jo delhi ka kisi ki taraf se nahi aa raha hai control mein ashok vihar aur anand vihar of kar ko 437 ke baba ka jo pradushan pohcha hai narela taraf bhi wahi kariban 500 ke andar paanch sau ke aaspass aur saare pm bahut hi zyada hai lekin pehle ki bagair bagair computer mein thoda kam hua hai isliye hum yah soche ki ekdam se pradushan ka sthar bilkul hi khatam ho jaega itna sambhav nahi hai kyonki itni baadi population hai aur itni baadi saare bahaane aur itni saree industries hai toh pradushan ka jo august tak kam karna hai toh sabse pehle toh parali ko pura jalane ke liye ban karna zaroori hai haryana aur punjab mein jo prani ka jo hai bilkul band karna padega aur delhi ke jitne industries hai usko phir se control board ke dwara phir se gauriganj karna padega aur traffic ke niyam hai ki unki jagah par lekin phir bhi electric vaahan ya CIENGI vaahan ko badhawa de toh usse pradushan ka sthar mein kuch katauti aane ki sambhavna lagti hai baki sarkar apne tarike se bahut koshish kar rahi hai lekin phir bhi jab tak janta iske prati jagrukta nahi dikhaegi tab tak se filhal control karna mushkil hoga lekin aane waale december mein pradushan ka sthar kam ho sakta hai december 2 january mein khatam hone ki wajah se jo hawa ki kshamta hoti hai dhanyavad aapka ji

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बढ़ता ही जा रहा है सरकार क्या कदम उठा रही है उसका क्या किया जात

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  1093
WhatsApp_icon
user

vikashsingh

Youtuber

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बढ़ता ही जा रहा है सरकार क्या कदम उठा रहे हैं और अब तक क्या किया जा चुका है इसलिए अब तक बहुत सारी सुविधाएं तो कर चुके हैं सरकारी ने दिल्ली सरकार को या कोई भी सरकार लेकिन यह लडाऊ के वजह से प्रदूषण हारे क्षत्रिय बहुत बेहतर हुआ है कम से कम हुआ है

delhi me pradushan ka sthar badhta hi ja raha hai sarkar kya kadam utha rahe hain aur ab tak kya kiya ja chuka hai isliye ab tak bahut saari suvidhaen toh kar chuke hain sarkari ne delhi sarkar ko ya koi bhi sarkar lekin yah ladaoo ke wajah se pradushan hare kshatriya bahut behtar hua hai kam se kam hua hai

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बढ़ता ही जा रहा है सरकार क्या कदम उठा रहे हैं और अब तक क्या किय

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  160
WhatsApp_icon
user

I T BRAIN

Teacher

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सरकार अपने हिसाब से काम कर रहे हैं प्रदूषण स्तर बढ़ता जा रहा पापुलेशन बढ़ता जा रहा है गाड़ियों की बिक्री पर रोक लगाना चाहिए ऑडिबल तो चली रहा है लेकिन उससे कुछ ज्यादा होने वाला नहीं इलेक्ट्रिक गाड़ियों का प्रयोग ज्यादा से ज्यादा करें तभी कुछ हो सकता है दूसरा जितने भी हैप्पी हैं उद्योग धंधे हैं उनसे भी प्रदूषण होता है तो फिर सब को पूरा कम करना चाहिए आस-पास जो भी स्टेट हैं उनको भी ध्यान देना चाहिए

sarkar apne hisab se kaam kar rahe hai pradushan sthar badhta ja raha population badhta ja raha hai gadiyon ki bikri par rok lagana chahiye audible toh chali raha hai lekin usse kuch zyada hone vala nahi electric gadiyon ka prayog zyada se zyada kare tabhi kuch ho sakta hai doosra jitne bhi happy hai udyog dhande hai unse bhi pradushan hota hai toh phir sab ko pura kam karna chahiye aas paas jo bhi state hai unko bhi dhyan dena chahiye

सरकार अपने हिसाब से काम कर रहे हैं प्रदूषण स्तर बढ़ता जा रहा पापुलेशन बढ़ता जा रहा है गाड़

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  188
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!