क्या भारत में देश सेवा और विकास के लिए राजनीतिक पार्टीयों का यूँ लड़ना जरुरी है?...


user

Vikas Singh

Political Analyst

1:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे किसी भी देश में विकास और देश सेवा के लिए विपक्षी पार्टियों का होना बहुत जरूरी है और विपक्षी पार्टियों का लड़ना बहुत जरूरी है जो पक्ष विपक्ष लड़ता है तभी देश का विकास होता है अगर कांग्रेस पार्टी ने 70 सालों में काम किया होता तो भारतीय जनता पार्टी को इतना ज्यादा काम नहीं करना पड़ता हमारा देश बहुत आगे होता तो कांग्रेस पार्टी के 70 साल के कामों को भारतीय जनता पार्टी ने अपने 5 साल के काम के कंपैरिजन में दिखाया तो समाज को लगा देशवासियों को लगा कि नहीं यह पार्टी अच्छी है भारतीय जनता पार्टी ने 5 साल में ही बहुत सारा काम कर दिया और कांग्रेस पार्टी ने 70 सालों में हमारे देश को गरीब बना दिया तो पक्ष और विपक्ष दोनों होना बहुत जरूरी है अगर कहीं किसी क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी का ही कोई सांसद विधायक होता है और अगर वह काम नहीं करता है तो वहां पर जनता तुरंत अपना वोट कांग्रेस पार्टी को देती है दूसरी पार्टी को देती है वह जीत वहां से जीत जाता है तो आज 21वीं सदी है कैश वी सदी में जो पार्टी अच्छा काम नहीं करेगी वह सत्ता में नहीं रह पाएगी मैं आप सभी भारत वासियों से निवेदन करता हूं कि हमारे देश में एक ही पार्टी है जो कि हमारे देश को भ्रष्टाचार से मुक्त कर सकती है हमारे देश को गरीबी से मुक्त कर सकती है हमारे देश में कांग्रेस का खात्मा कर सकती है अगर आपको अपने देश को आगे बढ़ाना है तो कांग्रेस मुक्त करना पड़ेगा भारत को और कांग्रेस मुक्त करने के लिए अपना महत्वपूर्ण वोट भारतीय जनता पार्टी को देना होगा आइए सवा सौ करोड़ देशवासी मिलजुलकर भारतीय जनता पार्टी को अपना महत्वपूर्ण वोट दें ताकि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी हमारे देश के प्रधानमंत्री बन सकें और हमारा देश आगे बढ़ सके कांग्रेस मुक्त हो सके धन्यवाद

dekhe kisi bhi desh mein vikas aur desh seva ke liye vipakshi partiyon ka hona bahut zaroori hai aur vipakshi partiyon ka ladna bahut zaroori hai jo paksh vipaksh ladata hai tabhi desh ka vikas hota hai agar congress party ne 70 salon mein kaam kiya hota toh bharatiya janta party ko itna zyada kaam nahi karna padta hamara desh bahut aage hota toh congress party ke 70 saal ke kaamo ko bharatiya janta party ne apne 5 saal ke kaam ke kampairijan mein dikhaya toh samaj ko laga deshvasiyon ko laga ki nahi yah party achi hai bharatiya janta party ne 5 saal mein hi bahut saara kaam kar diya aur congress party ne 70 salon mein hamare desh ko garib bana diya toh paksh aur vipaksh dono hona bahut zaroori hai agar kahin kisi kshetra mein bharatiya janta party ka hi koi saansad vidhayak hota hai aur agar vaah kaam nahi karta hai toh wahan par janta turant apna vote congress party ko deti hai dusri party ko deti hai vaah jeet wahan se jeet jata hai toh aaj vi sadi hai cash va sadi mein jo party accha kaam nahi karegi vaah satta mein nahi reh payegi main aap sabhi bharat vasiyo se nivedan karta hoon ki hamare desh mein ek hi party hai jo ki hamare desh ko bhrashtachar se mukt kar sakti hai hamare desh ko garibi se mukt kar sakti hai hamare desh mein congress ka khatma kar sakti hai agar aapko apne desh ko aage badhana hai toh congress mukt karna padega bharat ko aur congress mukt karne ke liye apna mahatvapurna vote bharatiya janta party ko dena hoga aaiye sava sau crore deshvasi miljulakar bharatiya janta party ko apna mahatvapurna vote de taki pradhanmantri shri narendra modi ji hamare desh ke pradhanmantri ban sake aur hamara desh aage badh sake congress mukt ho sake dhanyavad

देखे किसी भी देश में विकास और देश सेवा के लिए विपक्षी पार्टियों का होना बहुत जरूरी है और व

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  376
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Rahul Bharat

राजनैतिक विश्लेषक

1:60

Likes  2  Dislikes    views  146
WhatsApp_icon
play
user

Dr. KRISHNA CHANDRA

Rehabilitation Psychologist

1:59

Likes  1  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देश सेवा विकास के लिए राजनीतिक पार्टियों भाई युवा चेतना सार्थक है यह राजनीति के नाम पर धब्बा है देश विकास का मुद्दा होना चाहिए देश सर्वोपरि होना चाहिए उसके लिए राजनीतिक पार्टियां राजनीति करें तो ज्यादा अच्छा होता है जैसा कि पहले के समय में राजनीति में होता था लेकिन दुर्भाग्य वह समय जा चुका है आज आपको केवल जातिवाद धर्म बाद और क्षेत्रवाद की राजनीति दिखाई देती है चारों पार्टी के लिए निजी स्वार्थ व्यक्तिगत स्वार्थ की भावना दिखाई देती है सप्ताह ज्ञान के भूखे हैं इसलिए दलबदल करते रहते हैं चारों ओर इसी आधार पर ही राजनीति की जा रही है

desh seva vikas ke liye raajnitik partiyon bhai yuva chetna sarthak hai yah raajneeti ke naam par dhabba hai desh vikas ka mudda hona chahiye desh sarvopari hona chahiye uske liye raajnitik partyian raajneeti kare toh zyada accha hota hai jaisa ki pehle ke samay mein raajneeti mein hota tha lekin durbhagya vaah samay ja chuka hai aaj aapko keval jaatiwad dharm baad aur kshetravad ki raajneeti dikhai deti hai charo party ke liye niji swarth vyaktigat swarth ki bhavna dikhai deti hai saptah gyaan ke bhukhe hain isliye dalabadal karte rehte hain charo aur isi aadhaar par hi raajneeti ki ja rahi hai

देश सेवा विकास के लिए राजनीतिक पार्टियों भाई युवा चेतना सार्थक है यह राजनीति के नाम पर धब्

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1397
WhatsApp_icon
user

Jyoti Mehta

Ex-History Teacher

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरी राशि का आपस में इस तरह से लिखना चाहे वह किसी भी मायने में इस तरह से लड़ना तो सही नहीं कहा जाएगा लेकिन अगर हम इसका दूसरा दूसरा पक्ष देखें तो मुझे लगता है कि जब राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे पर आक्षेप करती है एक दूसरे की कमियां निकलती है और एक दूसरे के लिए मुद्दे उठाती है तभी तो पार्टी को कार्य करने होते हैं वह उसके लिए मजबूर होती है और उन कार्यों को करती है कि जैसे अभी सत्ता में जो सरकार है उसने कई अच्छे कार्य किए हैं लेकिन उसके बावजूद जो पिक है वह बराबर उस पर तंज कस रहा है और कई ऐसे मुद्दे उठा रहा है कि bjp नहीं किया मोदी सरकार ने यह वादा पूरा नहीं किया तो मुझे लगता है कि यह एक मजबूती देता है सरकार को और सरकार को अगर यह मुद्दे सुनाई देते

meri rashi ka aapas mein is tarah se likhna chahen vaah kisi bhi maayne mein is tarah se ladna toh sahi nahi kaha jaega lekin agar hum iska doosra doosra paksh dekhen toh mujhe lagta hai ki jab raajnitik partyian ek dusre par akshep karti hai ek dusre ki kamiyan nikalti hai aur ek dusre ke liye mudde uthaati hai tabhi toh party ko karya karne hote hain vaah uske liye majboor hoti hai aur un karyo ko karti hai ki jaise abhi satta mein jo sarkar hai usne kai acche karya kiye hain lekin uske bawajud jo pic hai vaah barabar us par tanj cas raha hai aur kai aise mudde utha raha hai ki bjp nahi kiya modi sarkar ne yah vada pura nahi kiya toh mujhe lagta hai ki yah ek majbuti deta hai sarkar ko aur sarkar ko agar yah mudde sunayi dete

मेरी राशि का आपस में इस तरह से लिखना चाहे वह किसी भी मायने में इस तरह से लड़ना तो सही नहीं

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!