हमें अपनी भविष्य की योजनाओं और परियोजनाओं के बारे में बताएँ?...


play
user

Neha Singh

Tarot Card Reader

0:28

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं अभी आई हूं मैं और तो मैं चाहती हूं मैं चाहती हूं कि मैं और भी जाता हूं कि टूटे हैं तुम्हें करने की कोशिश कर रही हूं और बीमारियों के बारे में सीखना जरूरी है

main abhi I hoon main aur toh main chahti hoon main chahti hoon ki main aur bhi jata hoon ki tute hain tumhe karne ki koshish kar rahi hoon aur bimariyon ke bare mein sikhna zaroori hai

मैं अभी आई हूं मैं और तो मैं चाहती हूं मैं चाहती हूं कि मैं और भी जाता हूं कि टूटे हैं तुम

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  1608
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

J.P. Y👌g i

Psychologist

4:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न है हमें भविष्य की योजना और परिजनों के बारे में बताएं भविष्य की योजना यही होती है कि अपने आप को समर्थन बनाना जितना सतत रूप से आप अगर सामंतवाद बन जाते हैं तो उसके बाद मनुष्य कल्याण के लिए कुछ ना कुछ ऐसी परियोजनाएं बननी चाहिए कि जिससे कि प्रकृति और मनुष्य के संसार को एक स्वर्ग जैसी प्रतिष्ठा होने चाहिए मनुष्य देव स्वरूप में हो जाए अर्थात संपूर्ण ईश्वर ईश्वर का उपभोक्ता बने और जो इस की चरम सीमा की प्रक्रिया भागता है वह प्रकट होनी चाहिए और उन्मूलन आज के संसार में जो दुनिया भर के मतभेद इत्यादि हो रही है यह सब साफ होना चाहिए एक सहज और सरल स्वभाव एक सुविधा युक्त जगत में निर्माण होना चाहिए और सब जगह कल्याण और मंगल दायक सब प्रसन्न रहें ऐसी व्यवस्था होनी चाहिए यही परियोजना प्रमुख बन सकती है और उसी में ही अपने जीवन का प्रयोजन समझ कर के और अपने आप को सुधार कर करके वे मुक्त भाव से निर्णय होना चाहिए इंसान को और स्वतंत्र सत्ता का एहसास करना चाहिए बात मौत हो सकती है सबकी अपनी अपनी इच्छाओं के अनुरूप है यह तो जो जिस रूप से चल रहा है और दूसरी बात एक विशेष पाठशाला होने चाहिए जो अध्यात्मिक से जुड़ी है मनुष्य सदैव अपनी शोभा बिकता में और स्वस्थ पूर्ण जीवन का एहसास करें और स्वस्थ के निकला है और अपने आपको सदैव प्रफुल्लित नवचेतना युक्त ऐसी चीज का स्मरण करते रहना चाहिए और विधान से रहित मनुष्य योजनाओं को बना सकता है तो सन से और धूमधाम से रहित होकर और अपने आपको समाधान में नियुक्त करके प्रचलित होना चाहिए स्वतंत्र होना चाहिए उसके बाद किसी भी लक्ष्य को आप अपने आप में प्रयोग भी करनी चाहिए कि मैं इस लायक हूं और मेरा जीवन का क्या प्रयोजन हो सकता है तो यह हर मनुष्य की अलग-अलग क्षमता और उनकी सोच हो सकती है तो उसकी के अनुसार अच्छा और कल्याण दायक और मंगल दायक विवेचना से एक दृष्टिकोण करना चाहिए अन्यथा मायूसी और दुनिया भर की परेशानी प्रपंच से अपना आपका तो शायद करते हैं उससे बेहतर है क्या कठिन से कठिन संघर्ष हंसते और खिलते हुए पूरा करना चाहिए तो जगत इच्छाओं की शक्ति से अपनी सर्च ना कर रहा है और लोग मानव जीवन एक बहुत खूब दे बन रहा है तो उसी में प्रार्थना करनी चाहिए ईश्वर से कि मेरी भी प्रयुक्ति हो जाए और मेरा क्या प्रयोजन है वह स्वयं सिद्ध करेगा और अपनी इच्छा उसमें भी लेकर नीचे डरता से संकल्प बाद तरीके से इच्छाशक्ति की जागृति होनी चाहिए और आशीर्वाद प्राप्त होना चाहिए हमारे को यह कहूंगा धन्यवाद

prashna hai hamein bhavishya ki yojana aur parijanon ke bare mein bataye bhavishya ki yojana yahi hoti hai ki apne aap ko samarthan banana jitna satat roop se aap agar saamantvaad ban jaate hain toh uske baad manushya kalyan ke liye kuch na kuch aisi pariyojanayen banani chahiye ki jisse ki prakriti aur manushya ke sansar ko ek swarg jaisi prathishtha hone chahiye manushya dev swaroop mein ho jaaye arthat sampurna ishwar ishwar ka upbhokta bane aur jo is ki charam seema ki prakriya bhagta hai vaah prakat honi chahiye aur unmulan aaj ke sansar mein jo duniya bhar ke matbhed ityadi ho rahi hai yah sab saaf hona chahiye ek sehaz aur saral swabhav ek suvidha yukt jagat mein nirmaan hona chahiye aur sab jagah kalyan aur mangal dayak sab prasann rahein aisi vyavastha honi chahiye yahi pariyojana pramukh ban sakti hai aur usi mein hi apne jeevan ka prayojan samajh kar ke aur apne aap ko sudhaar kar karke ve mukt bhav se nirnay hona chahiye insaan ko aur swatantra satta ka ehsaas karna chahiye baat maut ho sakti hai sabki apni apni ikchao ke anurup hai yah toh jo jis roop se chal raha hai aur dusri baat ek vishesh pathashala hone chahiye jo adhyatmik se judi hai manushya sadaiv apni shobha bikta mein aur swasthya purn jeevan ka ehsaas kare aur swasthya ke nikala hai aur apne aapko sadaiv prafullit navachetna yukt aisi cheez ka smaran karte rehna chahiye aur vidhan se rahit manushya yojnao ko bana sakta hai toh san se aur dhumadham se rahit hokar aur apne aapko samadhan mein niyukt karke prachalit hona chahiye swatantra hona chahiye uske baad kisi bhi lakshya ko aap apne aap mein prayog bhi karni chahiye ki main is layak hoon aur mera jeevan ka kya prayojan ho sakta hai toh yah har manushya ki alag alag kshamta aur unki soch ho sakti hai toh uski ke anusaar accha aur kalyan dayak aur mangal dayak vivechna se ek drishtikon karna chahiye anyatha maayusi aur duniya bhar ki pareshani PRAPANCH se apna aapka toh shayad karte hain usse behtar hai kya kathin se kathin sangharsh hansate aur khilate hue pura karna chahiye toh jagat ikchao ki shakti se apni search na kar raha hai aur log manav jeevan ek bahut khoob de ban raha hai toh usi mein prarthna karni chahiye ishwar se ki meri bhi prayukti ho jaaye aur mera kya prayojan hai vaah swayam siddh karega aur apni iccha usme bhi lekar niche darta se sankalp baad tarike se ichchhaashakti ki jagriti honi chahiye aur ashirvaad prapt hona chahiye hamare ko yah kahunga dhanyavad

प्रश्न है हमें भविष्य की योजना और परिजनों के बारे में बताएं भविष्य की योजना यही होती है कि

Romanized Version
Likes  61  Dislikes    views  1227
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जीवन की योजना और परियोजना आप पहले से तय नहीं कर सकते यदि आप पढ़ने में कमजोर है कोई आपको ऊंची पोस्ट मिलेगी आपकी क्या जोड़ियां बनेगी क्या परियोजना बनेगी कुछ नहीं बन सकती अगर आप होशियार हैं पढ़ने में आपके लिए लाइनें खुली हुई है परियोजनाओं की बनेगी योजना बनेगी योजना बनाएंगे उसके साथ तो दिमाग खिलाएंगे काम करेंगे अच्छा नाम तो आएंगे जो आपके प्रोजेक्ट होंगे जॉब की योजना होगी परियोजना होगी उसको लोग हमें देंगे उसको पूछेंगे समझेंगे किसी बैटर यह है कि अभी से आप मत सोचिए कि मैंने क्या प्रयोजन नहीं है क्या परियोजना बन रही है पहले अपनी पढ़ाई पर ध्यान दीजिए अच्छी शिक्षा प्राप्त कर लिया अच्छे नंबरों से पास हुई है उससे आगे के रास्ते को अपने खुल जाएंगे कोई जरूरत नहीं पहले से योजना परियोजना बनाने की वह टाइम आपका आएगा अपने आप रास्ते बन जाएंगे अपने आप रास्ते खुल जाएंगे फिर उसका दवाई बताइए ओपन है क्या करना चाहते हैं किस लाइन में जाना चाहते हैं और क्या-क्या आपकी इच्छा हैं

dekhiye jeevan ki yojana aur pariyojana aap pehle se tay nahi kar sakte yadi aap padhne mein kamjor hai koi aapko uchi post milegi aapki kya jodiyan banegi kya pariyojana banegi kuch nahi ban sakti agar aap hoshiyar hain padhne mein aapke liye linen khuli hui hai pariyojanaon ki banegi yojana banegi yojana banayenge uske saath toh dimag khilaenge kaam karenge accha naam toh aayenge jo aapke project honge job ki yojana hogi pariyojana hogi usko log hamein denge usko puchenge samjhenge kisi better yah hai ki abhi se aap mat sochiye ki maine kya prayojan nahi hai kya pariyojana ban rahi hai pehle apni padhai par dhyan dijiye achi shiksha prapt kar liya acche numberon se paas hui hai usse aage ke raste ko apne khul jaenge koi zarurat nahi pehle se yojana pariyojana banane ki vaah time aapka aayega apne aap raste ban jaenge apne aap raste khul jaenge phir uska dawai bataye open hai kya karna chahte hain kis line mein jana chahte hain aur kya kya aapki iccha hain

देखिए जीवन की योजना और परियोजना आप पहले से तय नहीं कर सकते यदि आप पढ़ने में कमजोर है कोई आ

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  676
WhatsApp_icon
user

Radha Rangoli

Holistic Healer And Energy Therapist

3:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमें अपने भविष्य की योजनाओं और परियोजनाओं के बारे में बताएं देखिए हर इंसान के अपने फ्यूचर प्लान होते हैं हर इंसान अपने बारे में सोचता है कि मैं अपने फिर चलेंगे करूंगा वह करूंगा जो भी योजनाएं बनाता है इस पोस्ट के सरकमस्टेंस पर डिपेंड करता है कि उसने बचपन से क्या देखा उसके लिए क्या एलियन है उसे सब अपनी योजनाएं बनाता है तो आपकी क्या फ्यूचर प्लान है या आपको खुद डिसाइड करने हैं कि आपका क्या बोल है और कैसे उसे चीज करना है तो ही योजनाएं जो भी आप बनाते हो उस पर डिपेंड करता है कि आपका क्या बोल है जो आप का बोल है उसी के हिसाब से आपकी योजनाएं भी बनेगी और कल तो कल होता है सबसे पहले हमें आज जो आज जो वर्तमान समय में आपको अपने गोलपो अच्छी सर्वे के लिए जो चीजें रिक्वायरमेंट उससे करना चाहिए क्योंकि जब तक मेरा आज सुंदर नहीं होगा तब तक मेरा कल सुंदर नहीं हो सकता तो सबसे पहले मुझे मेरा आंख संभालना होगा तभी मैं अपना कल सवार पाऊंगी इसीलिए बहुत जरूरी है कि फ्यूचर की ज्यादा प्लानिंग ना करें लेकिन थोड़ी करें एक गोल बना ले गोल सेट करें गोल सेट को अचीव करने के लिए जो जो रिक्वायरमेंट है वह आप करें और उसी तरह से अपने आप पर पूरा विश्वास रखें क्योंकि विश्वास में सबसे बड़ी शक्ति होती है अगर आप विश्वास रखेंगे तो आप जरूर उस चीज को अचीव कर पाएंगे जो आप अजीत करना चाहते हैं थैंक यू सो मच हमें अपने भविष्य की योजनाएं और परियोजनाओं के बारे में बताएं देखिए सबकी अपनी योजनाएं होती है क्योंकि सबके अपने गौस होते हैं तो आप की क्या योजना है आपका क्या गोल है उस पर डिपेंड करता है कि जो आपका गोल है उसके साथ सब की योजनाएं बनेगी तो सबसे पहले जो हमारे भविष्य में जो भी गोल हमको अजीत करना है उसके लिए जो रिक्वार्मेंट होती वह एक शक्ति उसके बाद जो सेकंड आता है कि आपकी जो इच्छा शक्ति क्या आपको यह करना है तो सबसे पहले आपको वह जगह नहीं है लेकिन उसके लिए आपको जो भी एक वायरमेंट है जो भी टूल्स है उसको अपने लाइफ में लाना है आपको गोल्फ अच्छी करने के लिए इस तरीके से आप कर सकते हैं तो आप अपने भविष्य को बेहतर बनाने के लिए सबसे पहले अपनी इच्छाशक्ति को पर काम करें और जैसी आपकी इच्छा शक्ति आपको फिर होने लगे कि हां अब भी कुछ कहना चाहता हूं फिर अपने गोल को सेट करें फिर उसको अच्छी करने के लिए जो भी रिक्वार्मेंट है उसके ऊपर अपना ध्यान ले जाए और उसे करें उससे ज्यादा जो इंपॉर्टेंट होता है वही होता है कि हमें जो भी चीज हासिल करनी उसके लिए हमें आज ही वर्क करना कि कल क्योंकि फ्यूचर कभी नहीं आता जो कुछ आज है तो पहले हमें आज काम करना पड़ेगा तभी हम कल जाकर वहां पहुंचेंगे जहां जाना चाहते ग्राम आज हमें आज दिल्ली पहुंचना है शाम को तो तभी पूछेंगे ना जवाब दिल्ली के लिए निकलेंगे एग्जांपल अगर मुझे दिल्ली जाना है तो मैं दिल्ली तभी पहुंच पाऊंगी जब मैं दिल्ली के लिए निक लूंगी अगर मैं को दिल्ली के लिए मिलूंगी नहीं तो कोचिंग कैसे शाम को इसीलिए सबसे पहले अपने गोल को सेट करें तभी आप अपने जो भी योजना है जो भी गोल है वहां पहुंच पाएंगे थैंक यू सो मच

hamein apne bhavishya ki yojnao aur pariyojanaon ke bare mein bataye dekhiye har insaan ke apne future plan hote hain har insaan apne bare mein sochta hai ki main apne phir chalenge karunga vaah karunga jo bhi yojanaye banata hai is post ke sarakamastens par depend karta hai ki usne bachpan se kya dekha uske liye kya alien hai use sab apni yojanaye banata hai toh aapki kya future plan hai ya aapko khud decide karne hain ki aapka kya bol hai aur kaise use cheez karna hai toh hi yojanaye jo bhi aap banate ho us par depend karta hai ki aapka kya bol hai jo aap ka bol hai usi ke hisab se aapki yojanaye bhi banegi aur kal toh kal hota hai sabse pehle hamein aaj jo aaj jo vartaman samay mein aapko apne golpo achi survey ke liye jo cheezen requirement usse karna chahiye kyonki jab tak mera aaj sundar nahi hoga tab tak mera kal sundar nahi ho sakta toh sabse pehle mujhe mera aankh sambhaalna hoga tabhi main apna kal savar paungi isliye bahut zaroori hai ki future ki zyada planning na kare lekin thodi kare ek gol bana le gol set kare gol set ko achieve karne ke liye jo jo requirement hai vaah aap kare aur usi tarah se apne aap par pura vishwas rakhen kyonki vishwas mein sabse badi shakti hoti hai agar aap vishwas rakhenge toh aap zaroor us cheez ko achieve kar payenge jo aap ajit karna chahte hain thank you so match hamein apne bhavishya ki yojanaye aur pariyojanaon ke bare mein bataye dekhiye sabki apni yojanaye hoti hai kyonki sabke apne gaus hote hain toh aap ki kya yojana hai aapka kya gol hai us par depend karta hai ki jo aapka gol hai uske saath sab ki yojanaye banegi toh sabse pehle jo hamare bhavishya mein jo bhi gol hamko ajit karna hai uske liye jo rikwarment hoti vaah ek shakti uske baad jo second aata hai ki aapki jo iccha shakti kya aapko yah karna hai toh sabse pehle aapko vaah jagah nahi hai lekin uske liye aapko jo bhi ek vayarament hai jo bhi tools hai usko apne life mein lana hai aapko golf achi karne ke liye is tarike se aap kar sakte hain toh aap apne bhavishya ko behtar banane ke liye sabse pehle apni ichchhaashakti ko par kaam kare aur jaisi aapki iccha shakti aapko phir hone lage ki haan ab bhi kuch kehna chahta hoon phir apne gol ko set kare phir usko achi karne ke liye jo bhi rikwarment hai uske upar apna dhyan le jaaye aur use kare usse zyada jo important hota hai wahi hota hai ki hamein jo bhi cheez hasil karni uske liye hamein aaj hi work karna ki kal kyonki future kabhi nahi aata jo kuch aaj hai toh pehle hamein aaj kaam karna padega tabhi hum kal jaakar wahan pahunchenge jaha jana chahte gram aaj hamein aaj delhi pahunchana hai shaam ko toh tabhi puchenge na jawab delhi ke liye nikalenge example agar mujhe delhi jana hai toh main delhi tabhi pohch paungi jab main delhi ke liye nick lungi agar main ko delhi ke liye milungi nahi toh coaching kaise shaam ko isliye sabse pehle apne gol ko set kare tabhi aap apne jo bhi yojana hai jo bhi gol hai wahan pohch payenge thank you so match

हमें अपने भविष्य की योजनाओं और परियोजनाओं के बारे में बताएं देखिए हर इंसान के अपने फ्यूचर

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  89
WhatsApp_icon
user
2:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी भी व्यक्ति की भविष्य की योजना परियोजना या भविष्य में विकास कोई दूसरा नहीं तक आ सकता वह उसकी सोच ही नहीं कर सकता लेकिन हां इतना जरूर उसका मार्गदर्शन कर सकता आपके जीवन में योजना परियोजना हम ही बता सकते वह आपकी सोच पर निवास करता कि आप पता नहीं किस स्वभाव के हैं आप कैसा काम करना पसंद करते के लिए प्रत्येक व्यक्ति अपने अपने तौर-तरीके से जीता है तो ज्यादातर क्वेश्चन कान से अपने अंदर की खोज और हमें क्या पता कि आप के स्वभाव की हो आपका जीवन कैसे गुजर रहा करो क्या परेशानी है सबके जीवन में एक ही तो सामान अतिक्रमण की परेशानियां लेकिन परेशानियां अलग-अलग तौर तरीके से अलग-अलग रूप अलग-अलग तरीके अलग-अलग रूप से होती हैं पहली बात तो आप कितने में कोई कोई ना कोई टारगेट होगा तो वह उस पुस्तक को किस तरह हासिल करना है तो सबसे पहले बात आपको तो इसमें पूछना चाहिए था हमारे जीवन का यह टारगेट है इसके बारे में हमको बताइए तो आपने जिन पर जब टारगेट नहीं बताया क्या मिले तो उसके बारे में क्या योजना बताएं हां इतना जरूर कहेंगे कोई काम करो तो सोच समझ कर करो उस पर कई बार गहन अध्ययन कर लो उसको सोच के द्वारा ही पहले से दूर दृष्टि दूर दिशा प्रदान करो जिससे हद तक उसका सलूशन निकल आए पुलिस पर आगे बढ़ना और जीवन में कभी बिना विचारे कोई काम न करना और जीवन में हर कदम पर सफलता पाने के लिए एक योजना ही बनाने पड़ते तो जीवन में हर कुछ करने के लिए योजना में ही बनाना पड़ता है योजना का कोई काम सफल हो ही नहीं सकता प्ले योजना बनाना ही प्रत्येक नीत बनानी पड़ती है सबसे पहली बात तो आपकी रुचि किसमें है आपके पास कैसी योग्यता उसी योग्यता के आधार पर आपके पास कैसा अनुभव तो उस अनुभव के आधार पर हम किसी काम को कितनी अच्छी तरीके से कर सकते हैं तो अपने अनुभव के तौर तरीके से किसी काम को कैसे कर सकते हैं उसी जिस काम में निपुण हो अपने अनुभव के तरफ पर आकर उसी काम में आगे बढ़िए इतना और कहना चाहता हूं ना कि जीवन तो एक योजना ही है बिना किसी का भी काम में सफल होने के लिए बिना योजना बना कोई व्यक्ति सफल हो सकता लिए योजना पूरे जीवन भर ही बनाना पड़ता है बनाते बनाते भी चला जाता है

kisi bhi vyakti ki bhavishya ki yojana pariyojana ya bhavishya me vikas koi doosra nahi tak aa sakta vaah uski soch hi nahi kar sakta lekin haan itna zaroor uska margdarshan kar sakta aapke jeevan me yojana pariyojana hum hi bata sakte vaah aapki soch par niwas karta ki aap pata nahi kis swabhav ke hain aap kaisa kaam karna pasand karte ke liye pratyek vyakti apne apne taur tarike se jita hai toh jyadatar question kaan se apne andar ki khoj aur hamein kya pata ki aap ke swabhav ki ho aapka jeevan kaise gujar raha karo kya pareshani hai sabke jeevan me ek hi toh saamaan atikraman ki pareshaniya lekin pareshaniya alag alag taur tarike se alag alag roop alag alag tarike alag alag roop se hoti hain pehli baat toh aap kitne me koi koi na koi target hoga toh vaah us pustak ko kis tarah hasil karna hai toh sabse pehle baat aapko toh isme poochna chahiye tha hamare jeevan ka yah target hai iske bare me hamko bataiye toh aapne jin par jab target nahi bataya kya mile toh uske bare me kya yojana bataye haan itna zaroor kahenge koi kaam karo toh soch samajh kar karo us par kai baar gahan adhyayan kar lo usko soch ke dwara hi pehle se dur drishti dur disha pradan karo jisse had tak uska salution nikal aaye police par aage badhana aur jeevan me kabhi bina vichare koi kaam na karna aur jeevan me har kadam par safalta paane ke liye ek yojana hi banane padate toh jeevan me har kuch karne ke liye yojana me hi banana padta hai yojana ka koi kaam safal ho hi nahi sakta play yojana banana hi pratyek neet banani padti hai sabse pehli baat toh aapki ruchi kisme hai aapke paas kaisi yogyata usi yogyata ke aadhar par aapke paas kaisa anubhav toh us anubhav ke aadhar par hum kisi kaam ko kitni achi tarike se kar sakte hain toh apne anubhav ke taur tarike se kisi kaam ko kaise kar sakte hain usi jis kaam me nipun ho apne anubhav ke taraf par aakar usi kaam me aage badhiye itna aur kehna chahta hoon na ki jeevan toh ek yojana hi hai bina kisi ka bhi kaam me safal hone ke liye bina yojana bana koi vyakti safal ho sakta liye yojana poore jeevan bhar hi banana padta hai banate banate bhi chala jata hai

किसी भी व्यक्ति की भविष्य की योजना परियोजना या भविष्य में विकास कोई दूसरा नहीं तक आ सकता व

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  122
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैंने तो तय किया है कि जो है बच्चों को जो है निश्चित रूप से जुड़ा है जो उनके जो सोचते हैं उसके हिसाब से कम 10 बच्चों को सहायता देने का निश्चय कर लिया

maine toh tay kiya hai ki jo hai baccho ko jo hai nishchit roop se juda hai jo unke jo sochte hain uske hisab se kam 10 baccho ko sahayta dene ka nishchay kar liya

मैंने तो तय किया है कि जो है बच्चों को जो है निश्चित रूप से जुड़ा है जो उनके जो सोचते हैं

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
user
0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भविष्य की योजनाओं और परियोजनाओं के बारे में कोई सलाह दी जाए कोई राय दी जाए इसके पहले यह जानना आवश्यक हो जाता है कि आप वर्तमान में क्या कर रही हैं और आपका पीछे एकेडमी क्या रहा है यदि आप कुछ बता सके तो हम आगे अपनी राय अपना विचार दें

bhavishya ki yojnao aur pariyojanaon ke bare me koi salah di jaaye koi rai di jaaye iske pehle yah janana aavashyak ho jata hai ki aap vartaman me kya kar rahi hain aur aapka peeche academy kya raha hai yadi aap kuch bata sake toh hum aage apni rai apna vichar de

भविष्य की योजनाओं और परियोजनाओं के बारे में कोई सलाह दी जाए कोई राय दी जाए इसके पहले यह जा

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  97
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन आपके लिए बना है आप अगर शिक्षित माध्यम से अगर आप को शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं उसमें आपने एक अपना मिशन जरूर ढूंढा होगा मुझे क्या बनना है आपने अपना भविष्य भी उसमें मिलेगा भविष्य में क्या बनना है हमें क्या करना है क्योंकि हर इंसान अपने ही शिक्षा के क्षेत्र से वह अपने मानसिकता पर ही निर्भर करता है जो भविष्य में आपको आप मुझे पर ले जा सकते

jeevan aapke liye bana hai aap agar shikshit madhyam se agar aap ko shiksha grahan kar rahe hain usme aapne ek apna mission zaroor dhundha hoga mujhe kya banna hai aapne apna bhavishya bhi usme milega bhavishya me kya banna hai hamein kya karna hai kyonki har insaan apne hi shiksha ke kshetra se vaah apne mansikta par hi nirbhar karta hai jo bhavishya me aapko aap mujhe par le ja sakte

जीवन आपके लिए बना है आप अगर शिक्षित माध्यम से अगर आप को शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं उसमें आपने

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  37
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!