मैं स्कूल जाना चाहता हूँ, कैसे जाऊँ?...


user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. [email protected]

3:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेटा आपने कहा मैं स्कूल जाना चाहता हूं कैसे जाऊं अरे स्कूल तो जिस तरह जाते हैं उसी तरह जाओगे हां आर्थिक समस्या है पारिवारिक समस्या है या कोई अन्य समस्या है तो बताओ बेटा अगर घरवाली नहीं भेजना चाहते तो आप लिखित में यह संदेश अमेठी हम किसी एनजीओ के जरिए या किसी सरकारी विभाग के जरिए आपके घरवालों को छोड़ जाएंगे और आप को स्कूल भेजने के लिए राजी करेंगे अगर कोई आर्थिक मजबूरी है तो आप को स्कूल भेजने के लिए उस आर्थिक समस्या का हल सरकारी विभाग के सामने रखेंगे और कृषि संस्था के सामने रखेंगे आप पढ़ना चाहते हैं आप देश का भविष्य तो आपकी यहां समस्या भी हल की जाएगी अगर आप दीप्ति किसी बीमारी से परेशान है और उसका इलाज आपके घरवाले कर रहे हैं तो कुछ समय आप स्वस्थ हो जाइए और उसके बाद मानसिक रूप से शारीरिक रूप से ठीक हो जाएगी और स्कूल जाएगी और हां किसी प्रताड़ना की शिकार है किसी के द्वारा आपको तकलीफ मिल रही है तो आप किसी तरफ तकलीफ से बाहर निकलिए और बाहर निकल कर अपने भविष्य चमारी है क्योंकि आपका भविष्य भी कोमल है और यह भविष्य अगर अगले 5 साल इसी गति से बना रहा और कुल का जीवन निकल गया तो फिर पूरा जीवन अंधकार में होगा इतनी लेट अजय की पिक्चर चाहिए वह बताइए उस स्त्री का आस-पास के कोई आपके पड़ोसी अच्छे रिश्तेदार अच्छे हैं अगर आप विश्वास करते हैं कि आपकी मदद कर सकेंगे तो उनके सामने रखी है एक बात कहना चाहूंगा यह जीवन का कड़वा सच कह रहा हूं आप जिनको बहुत नजदीकी मानते हैं रिश्तेदार समाज के लोग परिवार के लोग जिनको आप बहुत अच्छा मानते हैं जो आपके बहुत नजदीक है उनसे खराब थी कल्पना करें कि वह आपकी कोई मदद करेंगे तो मैं तो यह कहूंगा कि भूल जाइए क्यों आपकी मदद करेंगे 1000 में से शायद दो से चार लोगों की मदद को तैयार हूं जिन्हें भी यह पता लग गया कि आपको मदद की जरूरत है वह आपसे आपकी तरफ देखना भी बंद कर देंगे आप उनके लिए बोझ महसूस करेंगे लेकिन बेटा हिम्मत मत हारिए हाजी ना हिम्मत विषारी अनाराम जिसका कोई नहीं होता उसका खुदा होता है यारों उसका भगवान होता है भगवान पर विश्वास करो और सबसे बड़ा विश्वास अपने कंटे करो अपनी योग्यता पर करो उम्मीद है आप की पढ़ने की इच्छा पूरी होगी

beta aapne kaha main school jana chahta hoon kaise jaaun are school toh jis tarah jaate hain usi tarah jaoge haan aarthik samasya hai parivarik samasya hai ya koi anya samasya hai toh batao beta agar gharwali nahi bhejna chahte toh aap likhit mein yah sandesh amethi hum kisi ngo ke jariye ya kisi sarkari vibhag ke jariye aapke gharwaalon ko chod jaenge aur aap ko school bhejne ke liye raji karenge agar koi aarthik majburi hai toh aap ko school bhejne ke liye us aarthik samasya ka hal sarkari vibhag ke saamne rakhenge aur krishi sanstha ke saamne rakhenge aap padhna chahte hain aap desh ka bhavishya toh aapki yahan samasya bhi hal ki jayegi agar aap dipti kisi bimari se pareshan hai aur uska ilaj aapke gharwale kar rahe hain toh kuch samay aap swasthya ho jaiye aur uske baad mansik roop se sharirik roop se theek ho jayegi aur school jayegi aur haan kisi prataadana ki shikaar hai kisi ke dwara aapko takleef mil rahi hai toh aap kisi taraf takleef se bahar nikliye aur bahar nikal kar apne bhavishya chamari hai kyonki aapka bhavishya bhi komal hai aur yah bhavishya agar agle 5 saal isi gati se bana raha aur kul ka jeevan nikal gaya toh phir pura jeevan andhakar mein hoga itni late ajay ki picture chahiye vaah bataye us stree ka aas paas ke koi aapke padosi acche rishtedar acche hain agar aap vishwas karte hain ki aapki madad kar sakenge toh unke saamne rakhi hai ek baat kehna chahunga yah jeevan ka kadwa sach keh raha hoon aap jinako bahut najdiki maante hain rishtedar samaj ke log parivar ke log jinako aap bahut accha maante hain jo aapke bahut nazdeek hai unse kharab thi kalpana kare ki vaah aapki koi madad karenge toh main toh yah kahunga ki bhool jaiye kyon aapki madad karenge 1000 mein se shayad do se char logo ki madad ko taiyar hoon jinhen bhi yah pata lag gaya ki aapko madad ki zarurat hai vaah aapse aapki taraf dekhna bhi band kar denge aap unke liye bojh mehsus karenge lekin beta himmat mat hariye haji na himmat vishari anaram jiska koi nahi hota uska khuda hota hai yaaron uska bhagwan hota hai bhagwan par vishwas karo aur sabse bada vishwas apne kante karo apni yogyata par karo ummid hai aap ki padhne ki iccha puri hogi

बेटा आपने कहा मैं स्कूल जाना चाहता हूं कैसे जाऊं अरे स्कूल तो जिस तरह जाते हैं उसी तरह जाओ

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1214
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!