Ayodhya Case Verdict Live: CJI ने हिंदुओं के हक़ में किया फ़ैसला, मुसलमानों को मस्जिद के लिए दूसरी जगह मिलेगी - आपकी राय?...


user

ज्योतिषी झा मेरठ (Pt. K L Shashtri)

Astrologer Jhaमेरठ,झंझारपुर और मुम्बई

0:33
Play

Likes  82  Dislikes    views  2738
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

निशांत

Social Worker

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अयोध्या केस का अंत होना बहुत जरूरी था यह बहुत दशकों से यह केस चले जा रही थी और इसको भविष्य में लोगों को उलझा कर देश की समस्याओं से भागा जा सारी समाज के लिए यह सबसे अच्छा है किस क्लब फैसला आ गया यह फैसला सही है या गलत है अब यह कोई मुद्दा ही नहीं सकता है क्योंकि का फैसला होना बहुत जरूरी था और एक निर्णायक फैसला नहीं देखने के लिए क्या हुआ अभी जो सबूत पेश की रिपोर्ट में उसने कोर्ट ने अपने क्योंकि यहां पर एक कमेटी की भावनाओं से जोड़ दिया तो यह फैसला सही है या गलत है इससे उनको आगे बढ़ना चाहिए विवाद खत्म हुआ देश तरक्की की ओर बढ़े हम सब भाईचारा बनाकर रखें यह अध्यादेश पर पहली बार हुआ है कि कोई इतना विवादित फैसला विवादित केस का फैसला आए और देश में की सद्भावना बनी रहे यह एक बहुत बड़ी जीत है देश की जीत है यह न किसी धर्मप्रीत है न किसी व्यक्ति विशेष की जीत हुई है देश की जीत और ऐसा मैच और वातावरण देखकर देशवासी सारे बहुत कुछ है पर ऐसा ही होना चाहिए हर मुद्दे पर यह जो हमारे देश में बहुत अच्छी दिखाइए उसके लिए और इसका हमें सब का तहे दिल से सबका शुक्रिया करना चाहिए

ayodhya case ka ant hona bahut zaroori tha yah bahut dashakon se yah case chale ja rahi thi aur isko bhavishya mein logo ko uljha kar desh ki samasyaon se bhaagaa ja saree samaj ke liye yah sabse accha hai kis club faisla aa gaya yah faisla sahi hai ya galat hai ab yah koi mudda hi nahi sakta hai kyonki ka faisla hona bahut zaroori tha aur ek niranayak faisla nahi dekhne ke liye kya hua abhi jo sabut pesh ki report mein usne court ne apne kyonki yahan par ek committee ki bhavnao se jod diya toh yah faisla sahi hai ya galat hai isse unko aage badhana chahiye vivaad khatam hua desh tarakki ki aur badhe hum sab bhaichara banakar rakhen yah adhyadesh par pehli baar hua hai ki koi itna vivaadit faisla vivaadit case ka faisla aaye aur desh mein ki sadbhavana bani rahe yah ek bahut badi jeet hai desh ki jeet hai yah na kisi dharmaprit hai na kisi vyakti vishesh ki jeet hui hai desh ki jeet aur aisa match aur vatavaran dekhkar deshvasi saare bahut kuch hai par aisa hi hona chahiye har mudde par yah jo hamare desh mein bahut achi dikhaaiye uske liye aur iska hamein sab ka tahe dil se sabka shukriya karna chahiye

अयोध्या केस का अंत होना बहुत जरूरी था यह बहुत दशकों से यह केस चले जा रही थी और इसको भविष्य

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  880
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

7:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अयोध्या मामले में जो सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया है इसके ऊपर राजनीति नहीं होनी चाहिए यह बहुत ही जबरदस्त फैसला है यह दुनिया के लिए एक संदेश है कि हिंदुस्तान का लोकतंत्र दुनिया में सबसे सर्वश्रेष्ठ लोकतंत्र है और सबसे मजबूत लोकतंत्र है और हिंदुस्तान के 132 करोड़ देशवासी मिलजुल के रहते हैं इन्हें कोई नहीं तोड़ सकता सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया कि राम जन्मभूमि पर भगवान श्री राम का भव्य मंदिर बनना चाहिए सरकार केंद्र सरकार 3 महीने के अंदर एक ट्रस्ट का गठन करें और ट्रस्ट के माध्यम से वहां मंदिर बनवाए 5 एकड़ जमीन मुस्लिम पक्ष के लोगों को अयोध्या में मिलेगा वहां पर वह मस्जिद बनवा सकते हैं अब हिंदू मुस्लिम सभी लोग खुश हैं और देखिए विपक्ष के जो नेता हैं वह कुछ विवादित बयान देंगे हमें भ्रमित करने की कोशिश करेंगे हम लोगों को भ्रमित नहीं होना है हम लोगों को नए भारत के निर्माण में अपना अपना महत्वपूर्ण योगदान देना है देखिए हम लोग बहुत लड़ लिए बहुत टूट गए टूट लिए हम लोग जब लड़ेंगे तो टूटेंगे और टूटने की जरूरत नहीं है अब दूर के रहने की जरूरत है एकता में बहुत बार होता है वह कहानी आपने सुनी होगी कि एक लकड़ी तोड़ देते हो आप आसानी से दो लकड़ी थोड़ा सा जोर लगाना पड़ता है जब 10:05 लकड़ी का बंडल मिलता है तो उसे आप तोड़ नहीं पाते हो तो हमारी जब एकता बनी रहेगी हमारे देश में तो हमें कोई नहीं तोड़ पाएगा हमारा देश हिंदुस्तान वह देश है जिस में न जाने कितने भाषाएं बोली जाती है कितने धर्म जाति के लोग रहते हैं उसके बाद इतना बड़ा लोकतंत्र दुनिया का सबसे बड़ा डेमोक्रेटिक कंट्री है उसके बाद भी यहां के लोग हमेशा कुछ अच्छा सोचते हैं और अच्छा करने के बारे में सोच कर कार्य करते हैं कहने का मतलब है कि हम लोगों को सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करना चाहिए यह फैसला इतिहास का सबसे बड़ा फैसला है आज तक ऐसा फैसला किसी देश में किसी कोर्ट ने नहीं सुनाया है इस फैसले से हमारे देश में एकता बनी रहेगी अजब एकता बनी रहेगी तो हर इंसान हिंदुस्तान की तरक्की के लिए अपनी जिम्मेदारी को समझेगा जब अपनी जिम्मेदारी को 132 करोड़ देशवासी समझेंगे तो गरीबी खत्म होगी बेरोजगारी खत्म होगी हमारे देश से अशिक्षा खत्म होगा और हमारे देश में कोई ना तो लड़ेगा आनंद झगड़े का यानी शांति स्थापित होगी प्रेम का भाव उत्पन्न होगा जब प्रेम से सब लोग रहेंगे तो सभी लोग सभी धर्मों का आदर करेंगे सत्कार करेंगे अयोध्या में जब मंदिर बनेगा हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई सभी लोग मिलकर बनाएंगे अगर मुस्लिम पक्ष मस्जिद बनवा आएगा तो हम हिंदू भाई भी मिलकर उनका मस्जिद बनवा आएंगे तो और जबरदस्त संदेश जाएगा दुनिया को देखिए आदरणीय प्रधानमंत्री मोदी जी ने हमारे देश को जोड़ने की कोशिश किया हमारे देश को जगाया हमारा देश सो चुका था कांग्रेस ने हमें सुला दिया था यानी हमारे विचारों को भ्रमित करके कांग्रेस ने हमारे विचारधारा को दबा दिया था हमारे देश के गरीबों के विचार को दबा दिया था हमारे देश में आज भी गरीबी है इसकी जिम्मेदार सरकार है जो 70 साल शासन की है कोई ऐसी योजना नहीं लाई जिसके माध्यम से देश में कुछ तरक्की आ सके यह लोग हमेशा तोड़ते रहे हम जब सरकार बनाएंगे तो मंदिर नहीं बनने देंगे धारा 370 हटने नहीं देंगे लो आपका काम खत्म हो रहा है आज हिंदुस्तान कांग्रेस मुक्त होती जा रही है कांग्रेस मुक्त होने का मतलब है कि हमारा देश भ्रष्टाचार से मुक्त हो जाएगा कांग्रेस पार्टी को उसके किए हुए की सजा मिल रही है बस हम लोगों को मिल जुल कर रहना है और अपने देश के न्याय न्याय प्रक्रिया पर विश्वास रखना है कानून की जो प्रक्रिया है उसका रिजल्ट देर से आएगा लेकिन बहुत दुरुस्त आएगा भगवान श्रीराम ही ऐसे भगवान हैं जिन्होंने 14 साल पिता युग में बनवास उसके बाद 493 वर्ष उनका मामला ऐसे चला सुप्रीम कोर्ट में 70 साल चला बताइए तो ऐसे भगवान श्री राम का भव्य मंदिर जब बनेगा तो न्याय शांति प्रेम सभी लोगों के मन में उत्पन्न होगा यानी देश के लोगों में देश के आने वाली पीढ़ी के बच्चों में अपने देश के प्रति अपने धर्म के प्रति और दूसरों के धर्म के प्रति अच्छी भावना है कि जब अच्छी भावना आएगी तो सभी लोग सबका आदर करेंगे सत्कार करेंगे तभी लोग जब सबको रिस्पेक्ट देंगे तो आप जानते ही हैं देश कभी भ्रमित नहीं होगा देश को यह पता चल जाएगा कि कौन सी पार्टी अच्छी है कौन सी पार्टी अच्छी नहीं है कांग्रेस पार्टी जुमलेबाजी करेगी कांग्रेस पार्टी कुछ और टिप्पणी करेगी बयान बाजी करेगी जिससे हम लोग टूटेंगे तो हम लोगों को टूटने की जरूरत नहीं है हम लोगों को कांग्रेस पार्टी के विचार को सुनना है ना तो समझना है हम लोग बस भारतीय जनता पार्टी का समर्थन करेंगे आदरणीय मोदीजी का समर्थन करेंगे मोदी जी इतना मेहनत कर रहे हैं बुजुर्गों कर सूची तो हम लोगों लोगों की भी जिम्मेदारी बनती है कि हम लोग मोदीजी का समर्थन करें मोदी जी ही हमारे हिंदुस्तान को विश्व गुरु बना सकते हैं मोदी जी हैं तो सब कुछ संभव मोदी जी नहीं रहते तो शायद ही धारा 370 और भगवान श्री राम का भव्य मंदिर कभी नहीं बन पाता आने वाली कई पीढ़ियों ने इसका इंतजार किया था लेकिन यह मामला चलता ही रहा चलता ही रहा विपक्ष के लोग कहते थे कि खून खराबा होगा धारा 370 हटे गा तो राम मंदिर बनेगा तो परमाणु बम गिरेगा हिंदुस्तान पर धारा 370 बैठ गया और भगवान श्री राम का भव्य मंदिर भी बनेगा हमारे देश के सभी लोग खुशी हैं चाहे वह हिंदू हो चाहे मुस्लिम कोई टूटना नहीं चाहता है सब लोग जुड़ कर रहना चाहते हैं सब लोग अपने देश में शांति स्थापित करना चाहते हैं और हम सभी लोग अगर ऐसा चाहते हैं शांति सुहाग प्रेम की भावना हमारे देश में बनी रहे तो हम लोगों को प्रधानमंत्री मोदी जी के ऊपर विश्वास करना है और उनका समर्थन करना है और सुप्रीम कोर्ट का जो फैसला आया है हम सभी लोगों को इसका स्वागत करना चाहिए यह फैसला सबके हित के लिए है पूरे देश के हित के लिए है धन्यवाद

dekhiye ayodhya mamle mein jo supreme court ne faisla sunaya hai iske upar raajneeti nahi honi chahiye yah bahut hi jabardast faisla hai yah duniya ke liye ek sandesh hai ki Hindustan ka loktantra duniya mein sabse sarvashreshtha loktantra hai aur sabse majboot loktantra hai aur Hindustan ke 132 crore deshvasi miljul ke rehte hain inhen koi nahi tod sakta supreme court ne faisla sunaya ki ram janmbhoomi par bhagwan shri ram ka bhavya mandir bana chahiye sarkar kendra sarkar 3 mahine ke andar ek trust ka gathan kare aur trust ke madhyam se wahan mandir banwaye 5 acre jameen muslim paksh ke logo ko ayodhya mein milega wahan par vaah masjid banwa sakte hain ab hindu muslim sabhi log khush hain aur dekhiye vipaksh ke jo neta hain vaah kuch vivaadit bayan denge hamein bharmit karne ki koshish karenge hum logo ko bharmit nahi hona hai hum logo ko naye bharat ke nirmaan mein apna apna mahatvapurna yogdan dena hai dekhiye hum log bahut lad liye bahut toot gaye toot liye hum log jab ladenge toh tutenge aur tutne ki zarurat nahi hai ab dur ke rehne ki zarurat hai ekta mein bahut baar hota hai vaah kahani aapne suni hogi ki ek lakdi tod dete ho aap aasani se do lakdi thoda sa jor lagana padta hai jab 10 05 lakdi ka bindlu milta hai toh use aap tod nahi paate ho toh hamari jab ekta bani rahegi hamare desh mein toh hamein koi nahi tod payega hamara desh Hindustan vaah desh hai jis mein na jaane kitne bhashayen boli jaati hai kitne dharm jati ke log rehte hain uske baad itna bada loktantra duniya ka sabse bada democratic country hai uske baad bhi yahan ke log hamesha kuch accha sochte hain aur accha karne ke bare mein soch kar karya karte hain kehne ka matlab hai ki hum logo ko supreme court ke faisle ka swaagat karna chahiye yah faisla itihas ka sabse bada faisla hai aaj tak aisa faisla kisi desh mein kisi court ne nahi sunaya hai is faisle se hamare desh mein ekta bani rahegi ajab ekta bani rahegi toh har insaan Hindustan ki tarakki ke liye apni jimmedari ko samjhega jab apni jimmedari ko 132 crore deshvasi samjhenge toh garibi khatam hogi berojgari khatam hogi hamare desh se asiksha khatam hoga aur hamare desh mein koi na toh ladega anand jhagde ka yani shanti sthapit hogi prem ka bhav utpann hoga jab prem se sab log rahenge toh sabhi log sabhi dharmon ka aadar karenge satkar karenge ayodhya mein jab mandir banega hindu muslim sikh isai sabhi log milkar banayenge agar muslim paksh masjid banwa aayega toh hum hindu bhai bhi milkar unka masjid banwa aayenge toh aur jabardast sandesh jaega duniya ko dekhiye adaraniya pradhanmantri modi ji ne hamare desh ko jodne ki koshish kiya hamare desh ko jagaaya hamara desh so chuka tha congress ne hamein sula diya tha yani hamare vicharon ko bharmit karke congress ne hamare vichardhara ko daba diya tha hamare desh ke garibon ke vichar ko daba diya tha hamare desh mein aaj bhi garibi hai iski zimmedar sarkar hai jo 70 saal shasan ki hai koi aisi yojana nahi lai jiske madhyam se desh mein kuch tarakki aa sake yah log hamesha todte rahe hum jab sarkar banayenge toh mandir nahi banne denge dhara 370 hatane nahi denge lo aapka kaam khatam ho raha hai aaj Hindustan congress mukt hoti ja rahi hai congress mukt hone ka matlab hai ki hamara desh bhrashtachar se mukt ho jaega congress party ko uske kiye hue ki saza mil rahi hai bus hum logo ko mil jul kar rehna hai aur apne desh ke nyay nyay prakriya par vishwas rakhna hai kanoon ki jo prakriya hai uska result der se aayega lekin bahut durast aayega bhagwan shriram hi aise bhagwan hain jinhone 14 saal pita yug mein banvaas uske baad 493 varsh unka maamla aise chala supreme court mein 70 saal chala bataye toh aise bhagwan shri ram ka bhavya mandir jab banega toh nyay shanti prem sabhi logo ke man mein utpann hoga yani desh ke logo mein desh ke aane wali peedhi ke baccho mein apne desh ke prati apne dharm ke prati aur dusro ke dharm ke prati achi bhavna hai ki jab achi bhavna aayegi toh sabhi log sabka aadar karenge satkar karenge tabhi log jab sabko respect denge toh aap jante hi hain desh kabhi bharmit nahi hoga desh ko yah pata chal jaega ki kaun si party achi hai kaun si party achi nahi hai congress party jumlebaji karegi congress party kuch aur tippani karegi bayan baazi karegi jisse hum log tutenge toh hum logo ko tutne ki zarurat nahi hai hum logo ko congress party ke vichar ko sunana hai na toh samajhna hai hum log bus bharatiya janta party ka samarthan karenge adaraniya modiji ka samarthan karenge modi ji itna mehnat kar rahe hain bujurgon kar suchi toh hum logo logon ki bhi jimmedari banti hai ki hum log modiji ka samarthan kare modi ji hi hamare Hindustan ko vishwa guru bana sakte hain modi ji hain toh sab kuch sambhav modi ji nahi rehte toh shayad hi dhara 370 aur bhagwan shri ram ka bhavya mandir kabhi nahi ban pata aane wali kai peedhiyon ne iska intejar kiya tha lekin yah maamla chalta hi raha chalta hi raha vipaksh ke log kehte the ki khoon kharaaba hoga dhara 370 hate ga toh ram mandir banega toh parmanu bomb girega Hindustan par dhara 370 baith gaya aur bhagwan shri ram ka bhavya mandir bhi banega hamare desh ke sabhi log khushi hain chahen vaah hindu ho chahen muslim koi tutana nahi chahta hai sab log jud kar rehna chahte hain sab log apne desh mein shanti sthapit karna chahte hain aur hum sabhi log agar aisa chahte hain shanti suhaag prem ki bhavna hamare desh mein bani rahe toh hum logo ko pradhanmantri modi ji ke upar vishwas karna hai aur unka samarthan karna hai aur supreme court ka jo faisla aaya hai hum sabhi logo ko iska swaagat karna chahiye yah faisla sabke hit ke liye hai poore desh ke hit ke liye hai dhanyavad

देखिए अयोध्या मामले में जो सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया है इसके ऊपर राजनीति नहीं होनी चाह

Romanized Version
Likes  240  Dislikes    views  4799
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

5:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदुओं के हाथ में किया गया फैसला या मुसलमानों की मस्जिद के लिए दूसरी जगह मिलेगी अगर कोर्ट ने यह फैसला किया है तो मैं स्वीकार करना किसने नहीं स्वीकार करना चाहिए कि सुप्रीम कोर्ट ने फैसला किया सुप्रीम कोर्ट निश्चय निश्चय हिंदुस्तान का सबसे बड़ा न्यायालय और जिस न्यायालय से अगर हमें कोई भी फैसला मिले प्रिंसटन दे उसे स्वीकार करना चाहिए पहली बार दूसरी बार जो फैसला विवादों को वादों को खत्म करता हूं और उसका हल निकालता हूं एक न एक दिन तो हल आना चाहिए और वह हर आया तुझको इसलिए स्वीकार करना चाहिए कि किसी भी पक्ष को मन में अपनी आंखों को साफ करते हुए समन्वय की भावना को धर्मनिरपेक्षता की भावना को स्वीकार करते हुए इसे जुगाड़ करना चाहिए अगर राम मंदिर वहां बनता है तो बहुत बहुत खुशी की बात है लेकिन मस्जिद के लिए उनको एक अलग स्थान देने का जो फैसला किया गया है यह भी बहुत प्रशंसनीय फैसला है क्योंकि जमीन के टुकड़े के लिए वर्षों से जो दुर्भावना जो द्वंद जो संघर्ष चना आ रहा था मैं समझता हूं आज का अंत हो गया और दोनों धन के लोगों को अलग-अलग स्थान पर अपने-अपने ढंग के अनुसार आफत आनी चाहिए दूसरी मां कि हर धर्म को चढ़ता है अपने धर्म अनुसार अपने क्रियाओं को अपने कर्मों को अपने आस्थाओं को मनसा देवी तब तो पिन कोड ने किसी प्रकार का भेदभाव ने किया पांच जजों की टीम ने जो फैसला सुनाया उससे सिर्फ न्यायालय का फैसला मानना चाहिए किसी भी कीमत पर किसी प्रकार को इसे अपनी विजेता होने का कहने का अधिकार नहीं है जो कि न्यायालय के कोई भी फैसले से किसी पार्टी का किसी सरकार का या किसी भी समुदाय का कोई नाता नहीं होता मुख्य न्यायालय का फैसला होता इस फैसले पर न्यायालय को यह एहसास होता है कि कोई पार्टी को सरकार इसे अपनी जीत बताती है तो न्यायालय को तुरंत पर रोक लगानी चाहिए बहुत सुंदर फैसला दिया है लेकिन इस फैसले को कैश कराने का अधिकार इस फैसले को अपने पक्ष में जताने का अधिकार किसी भी सरकार किसी भी दल और किसी भी समुदाय विशेष के व्यक्ति को नहीं है इसलिए इस फैसले से हम समस्त भारतवासी जो हैं ऑपरेशन नहीं क्योंकि 2 वर्षों से वाद विवाद चला आ रहा था उसका अंत हुआ और स्टंट को खुशी-खुशी स्वीकार करते हुए और मुस्लिम समुदाय जो है अपनी अलग जमीन पर देखकर अपनी मस्जिद का निर्माण करें उनके आस्था बनाए रखें क्योंकि हर इंसान को केवल 2 गज जमीन मिलती है कोई भी संसार का प्राणी दो गज जमीन वह भी कुछ घंटे के लिए जब वह या तो दफनाया जाता है या वह पिता को समर्पित होता है तो 2 गज जमीन केबल के उसे नसीब होती है फिर 2 गज जमीन के लिए यह सदियों से चला हुआ वाद-विवाद किसलिए आज तो हमारा देश बुद्धिजीवी वर्गों से बुद्धि पढ़े लिखे समाज से धनिष्ठा मात्र कितने चमार से भरा पड़ा है तो फिर यह जुड़वा देता क्यों अंधविश्वास का अंत करते हुए इस फैसले को स्वीकार करना चाहिए और एक बार फिर कह रहा हूं कि इस फैसले पर सरकार ने जैसे निर्भीक जस्ट आपने जस्ट निर्भीक होकर फैसला दिया है इसी तरह फैसला उन्हें देना चाहिए था कि फैसले की जो स्वरूप है यह इसका किसी प्रकार की चिंता किसी जाति किसी व्यक्तिगत समुदाय या संस्था चेन्नई

hinduon ke hath mein kiya gaya faisla ya musalmanon ki masjid ke liye dusri jagah milegi agar court ne yah faisla kiya hai toh main sweekar karna kisne nahi sweekar karna chahiye ki supreme court ne faisla kiya supreme court nishchay nishchay Hindustan ka sabse bada nyayalaya aur jis nyayalaya se agar hamein koi bhi faisla mile prinsatan de use sweekar karna chahiye pehli baar dusri baar jo faisla vivadon ko vaado ko khatam karta hoon aur uska hal nikalata hoon ek na ek din toh hal aana chahiye aur vaah har aaya tujhko isliye sweekar karna chahiye ki kisi bhi paksh ko man mein apni aankho ko saaf karte hue samanvay ki bhavna ko dharmanirapekshata ki bhavna ko sweekar karte hue ise jugaad karna chahiye agar ram mandir wahan banta hai toh bahut bahut khushi ki baat hai lekin masjid ke liye unko ek alag sthan dene ka jo faisla kiya gaya hai yah bhi bahut prashansaniya faisla hai kyonki jameen ke tukde ke liye varshon se jo durbhavana jo dwand jo sangharsh chana aa raha tha main samajhata hoon aaj ka ant ho gaya aur dono dhan ke logo ko alag alag sthan par apne apne dhang ke anusaar afat aani chahiye dusri maa ki har dharm ko chadhta hai apne dharm anusaar apne kriyaon ko apne karmon ko apne asthaon ko manasa devi tab toh pin code ne kisi prakar ka bhedbhav ne kiya paanch judgon ki team ne jo faisla sunaya usse sirf nyayalaya ka faisla manana chahiye kisi bhi kimat par kisi prakar ko ise apni vijeta hone ka kehne ka adhikaar nahi hai jo ki nyayalaya ke koi bhi faisle se kisi party ka kisi sarkar ka ya kisi bhi samuday ka koi nataa nahi hota mukhya nyayalaya ka faisla hota is faisle par nyayalaya ko yah ehsaas hota hai ki koi party ko sarkar ise apni jeet batati hai toh nyayalaya ko turant par rok lagani chahiye bahut sundar faisla diya hai lekin is faisle ko cash karane ka adhikaar is faisle ko apne paksh mein jatane ka adhikaar kisi bhi sarkar kisi bhi dal aur kisi bhi samuday vishesh ke vyakti ko nahi hai isliye is faisle se hum samast bharatvasi jo hain operation nahi kyonki 2 varshon se vad vivaad chala aa raha tha uska ant hua aur stunt ko khushi khushi sweekar karte hue aur muslim samuday jo hai apni alag jameen par dekhkar apni masjid ka nirmaan kare unke astha banaye rakhen kyonki har insaan ko keval 2 gaj jameen milti hai koi bhi sansar ka prani do gaj jameen vaah bhi kuch ghante ke liye jab vaah ya toh dafnaya jata hai ya vaah pita ko samarpit hota hai toh 2 gaj jameen keval ke use nasib hoti hai phir 2 gaj jameen ke liye yah sadiyon se chala hua vad vivaad kisliye aaj toh hamara desh buddhijeevi vargon se buddhi padhe likhe samaj se dhanishtha matra kitne chamaar se bhara pada hai toh phir yah judwa deta kyon andhavishvas ka ant karte hue is faisle ko sweekar karna chahiye aur ek baar phir keh raha hoon ki is faisle par sarkar ne jaise nirbheek just aapne just nirbheek hokar faisla diya hai isi tarah faisla unhe dena chahiye tha ki faisle ki jo swaroop hai yah iska kisi prakar ki chinta kisi jati kisi vyaktigat samuday ya sanstha Chennai

हिंदुओं के हाथ में किया गया फैसला या मुसलमानों की मस्जिद के लिए दूसरी जगह मिलेगी अगर कोर्ट

Romanized Version
Likes  64  Dislikes    views  1249
WhatsApp_icon
user

साकेत कुमार

Senior Software Developer

2:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें सबसे पहले तो भारतवर्ष के सभी राम भक्तों को मेरी शुभकामनाएं आज आपके श्रद्धा की जीत हुई है और भारत के वैश्विक पहचान की जीत हुई है मेरे ख्याल से श्री राम के बिना कोई भारत नहीं है और भारत के बिना श्री राम नि या पहचान एक-दूसरे से जुड़ी हुई पहचान है कुछ लोगों का कहना है कि ये फैसला हिंदुओं की जीत है और मुसलमानों की हार है मैं इससे बिल्कुल भी सहमत नहीं हूं यह भारत की जीत है भारत के लोग जीत है हिंदुओं की जीत है और मुसलमानों की जीत सबसे पहले कोर्ट ने जजमेंट में क्या लिखा है जजमेंट में 14 सौ पन्नों का जजमेंट है उसके कुछ महत्वपूर्ण बिंदु मीडिया में आए हैं कोर्टनिक माना है कि हम आस्था का आस्था पर प्रश्नचिन्ह नहीं लगा सकते इसका मतलब क्या हुआ कि श्री राम जहां आस्था के अनुसार जन्मे हैं उसके कोर्ट क्रंचिंग नहीं लगा सकता तो अगर श्रीराम उस जमीन पर जन्मे है तो उसे ग्राम वही जन्म है कोई दुनिया के किसी भी कोर्ट में यह सवाल नहीं पूछा जा सकता कि मैं कल हमने जीसस जन्मे थे कि नहीं या काबा में मोहम्मद साहब जन्मे थे कि नहीं यह कोर्ट के सीमाओं से बाहर है इसलिए यह फैसला हिंदुओं के पक्ष में ही जाना था खैर बात जमीन के मालिकाना हक की थी और मुसलमान पक्ष जमीन पर अपने मलिकाना हक को साबित नहीं कर पाया इसलिए कोर्ट ने देश की सामाजिक ताने-बाने को देखते हुए एक संतुलित जजमेंट दिया और एक ऐसा जजमेंट जो देश को करीब लाएगा ऐसे समय में ऐसे नाजुक समय में मैं आप सभी से कहना चाहता हूं कि ना तो इस फैसले के प्रति सामूहिक बनाया जाए क्या सब हम सब कुछ सामने आकर एक कंधे से कंधा मिलाकर अब इस मसले को पीछे छोड़ देना चाहिए और भारत के विकास में ध्यान लगाना चाहिए धन्यवाद

dekhen sabse pehle toh bharatvarsh ke sabhi ram bhakton ko meri subhkamnaayain aaj aapke shraddha ki jeet hui hai aur bharat ke vaishvik pehchaan ki jeet hui hai mere khayal se shri ram ke bina koi bharat nahi hai aur bharat ke bina shri ram ni ya pehchaan ek dusre se judi hui pehchaan hai kuch logo ka kehna hai ki ye faisla hinduon ki jeet hai aur musalmanon ki haar hai isse bilkul bhi sahmat nahi hoon yah bharat ki jeet hai bharat ke log jeet hai hinduon ki jeet hai aur musalmanon ki jeet sabse pehle court ne judgement mein kya likha hai judgement mein 14 sau pannon ka judgement hai uske kuch mahatvapurna bindu media mein aaye hain kortanik mana hai ki hum astha ka astha par prashnachinh nahi laga sakte iska matlab kya hua ki shri ram jaha astha ke anusaar janme hain uske court crunching nahi laga sakta toh agar shriram us jameen par janme hai toh use gram wahi janam hai koi duniya ke kisi bhi court mein yah sawaal nahi poocha ja sakta ki main kal humne jesus janme the ki nahi ya Kaba mein muhammad saheb janme the ki nahi yah court ke seemaon se bahar hai isliye yah faisla hinduon ke paksh mein hi jana tha khair baat jameen ke malikana haq ki thi aur muslim paksh jameen par apne malikana haq ko saabit nahi kar paya isliye court ne desh ki samajik tane bane ko dekhte hue ek santulit judgement diya aur ek aisa judgement jo desh ko kareeb layega aise samay mein aise naajuk samay mein main aap sabhi se kehna chahta hoon ki na toh is faisle ke prati samuhik banaya jaaye kya sab hum sab kuch saamne aakar ek kandhe se kandha milakar ab is masle ko peeche chod dena chahiye aur bharat ke vikas mein dhyan lagana chahiye dhanyavad

देखें सबसे पहले तो भारतवर्ष के सभी राम भक्तों को मेरी शुभकामनाएं आज आपके श्रद्धा की जीत हु

Romanized Version
Likes  552  Dislikes    views  7229
WhatsApp_icon
user

Dr Chandra Shekhar Jain

MBBS, Yoga Therapist Yoga Psychotherapist

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जनाब इसे यह नहीं कहते हैं कि हिंदुओं के हटने का फैसला हिंदुओं की हत्या आई हुई भूमि को उन्हें वापस देकर मुसलमानों के पाप से उनको 12 है

janab ise yah nahi kehte hain ki hinduon ke hatane ka faisla hinduon ki hatya I hui bhoomi ko unhe wapas dekar musalmanon ke paap se unko 12 hai

जनाब इसे यह नहीं कहते हैं कि हिंदुओं के हटने का फैसला हिंदुओं की हत्या आई हुई भूमि को उन्ह

Romanized Version
Likes  57  Dislikes    views  1480
WhatsApp_icon
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:30

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अयोध्या केस वर्डिक्ट मेरी राय से कि सुप्रीम कोर्ट ने जो फैसला दिया है वह बहुत ही समुचित और समाधान कारी है क्योंकि रामलला का मतलब राम भगवान का जन्म कहां पर हुआ था संसार और सत्य मुसलमान शासकों ने मस्जिद बनाने का प्रयास किया था लेकिन की खुदाई हुई 1673 किसी समय वहां पर इसलिए जो सुप्रीम कोर्ट ने 16 1145 अनेक आयोग चुनाव अधिक सुनाया जिसमें एक पक्ष को जोड़ा है एविडेंस को मैंने बताया है और उसके ऊपर उन्होंने जोरदार 3 थे उनकी जमीन दिए रामलला मंदिर बनाने के लिए क्योंकि मुस्लिम समुदाय को रामलीला के जन्म स्थान से बहुत लगाव नहीं हो सकता इसलिए है कि वहां पर बाबरी मस्जिद बाबरी मस्जिद रामलला का मंदिर था वह मुस्लिम संप्रदाय को हिंदू जाकर वहां पर और राम मंदिर बना ले और फिर बाद में ऐसा विवाह अच्छी हो कोई भी मुस्लिम कभी भी सहन नहीं करेगा इसलिए ऐसी भावनाएं हैं लेकिन कोई भी धर्म से बिलॉन्ग करते लेकिन जो सुप्रीम कोर्ट ने जो फैसला दिया है पूरे तथ्यों के अनुसार और पूरे की फैसला जो भी है देना हमको हम और आप दोनों ऐसी बातें तो हमें मानना चाहिए करना चाहिए

ayodhya case verdict meri rai se ki supreme court ne jo faisla diya hai vaah bahut hi samuchit aur samadhan kaari hai kyonki ramalala ka matlab ram bhagwan ka janam kahaan par hua tha sansar aur satya muslim shaasakon ne masjid banane ka prayas kiya tha lekin ki khudai hui 1673 kisi samay wahan par isliye jo supreme court ne 16 1145 anek aayog chunav adhik sunaya jisme ek paksh ko joda hai evidence ko maine bataya hai aur uske upar unhone jordaar 3 the unki jameen diye ramalala mandir banane ke liye kyonki muslim samuday ko ramlila ke janam sthan se bahut lagav nahi ho sakta isliye hai ki wahan par babri masjid babri masjid ramalala ka mandir tha vaah muslim sampraday ko hindu jaakar wahan par aur ram mandir bana le aur phir baad mein aisa vivah achi ho koi bhi muslim kabhi bhi sahan nahi karega isliye aisi bhaavnaye hain lekin koi bhi dharm se Belong karte lekin jo supreme court ne jo faisla diya hai poore tathyon ke anusaar aur poore ki faisla jo bhi hai dena hamko hum aur aap dono aisi batein toh hamein manana chahiye karna chahiye

अयोध्या केस वर्डिक्ट मेरी राय से कि सुप्रीम कोर्ट ने जो फैसला दिया है वह बहुत ही समुचित और

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  1338
WhatsApp_icon
user

Masoom

Teacher

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अयोध्या केस वर्डिक्ट लाइव सीबीआई ने हिंदुओं के हक में किया फैसल मस्जिद के दूसरी जगह जमीन मिलेगी आपकी राय बिल्कुल चाहिए कहीं से भी आप से सद्भावना बनी रहे

ayodhya case verdict live cbi ne hinduon ke haq me kiya faissal masjid ke dusri jagah jameen milegi aapki rai bilkul chahiye kahin se bhi aap se sadbhavana bani rahe

अयोध्या केस वर्डिक्ट लाइव सीबीआई ने हिंदुओं के हक में किया फैसल मस्जिद के दूसरी जगह जमीन म

Romanized Version
Likes  44  Dislikes    views  892
WhatsApp_icon
user
0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अयोध्या केस वर्डिक्ट लाइव सीबीआई ने इन देवप्रयाग में क्या फायदा मुसलमान की दूसरी जगह जमीन मिलेगी आपकी राय बिल्कुल सही है कहीं से भी आप से सद्भावना बनी रहे

ayodhya case verdict live cbi ne in devaprayag me kya fayda musalman ki dusri jagah jameen milegi aapki rai bilkul sahi hai kahin se bhi aap se sadbhavana bani rahe

अयोध्या केस वर्डिक्ट लाइव सीबीआई ने इन देवप्रयाग में क्या फायदा मुसलमान की दूसरी जगह जमीन

Romanized Version
Likes  48  Dislikes    views  575
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!