Ayodhya Land Dispute: 1986 में अदालत ने अचानक क्यों दिया राममंदिर का ताला खुलवाने का फैसला क्यूँ किया था?...


user

ज्योतिषी झा मेरठ (Pt. K L Shashtri)

Astrologer Jhaमेरठ,झंझारपुर और मुम्बई

0:51
Play

Likes  70  Dislikes    views  2340
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

महेश सेठ

रेकी ग्रैंडमास्टर,लाइफ कोच

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्योंकि यह सही फैसला था ताला खोलने का फैसला राम मंदिर में ताला बंद रखने का कोई औचित्य नहीं था इसलिए सही दिया गया अचानक नहीं दिया गया चल में मंदिर में आस्था है हिंदुओं की मंदिर हिंदुओं का धर्म स्थान है और उसको बंद नहीं रख सकता और वह भी भारत में क्योंकि हिंदुओं की भूमि है तो यह सही किया गया था धन्यवाद

kyonki yah sahi faisla tha tala kholne ka faisla ram mandir mein tala band rakhne ka koi auchitya nahi tha isliye sahi diya gaya achanak nahi diya gaya chal mein mandir mein astha hai hinduon ki mandir hinduon ka dharm sthan hai aur usko band nahi rakh sakta aur vaah bhi bharat mein kyonki hinduon ki bhoomi hai toh yah sahi kiya gaya tha dhanyavad

क्योंकि यह सही फैसला था ताला खोलने का फैसला राम मंदिर में ताला बंद रखने का कोई औचित्य नहीं

Romanized Version
Likes  155  Dislikes    views  2446
WhatsApp_icon
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:37

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अयोध्या लैंड डिस्प्यूट 1986 में अदालत ने क्यों दिया राम मंदिर का ताला खुलवा राजीव गांधी जी की सरकार को पता था कि रामलला को आएंगे चक्र में मेरा बहुत ही फेमस था और उसकी वजह से कांग्रेस को काफी नुकसान होगा चुनाव में भी नुकसान होता था और बीजेपी जो समय अपना प्रभुत्व जमाने के लिए बहुत ही प्रयास करती थी और यह मुद्दे का उपयोग ताला खुलवा दिया कर लो करो आप पूजा राम लला की नेहरू जी के द्वारा की गई धूल का पहला चरण में उन्होंने 1986 और 2019 के बीच में बहुत लंबा 1916 35 साल का और 35 साल के पहले अगर राजीव गांधी ने यह फैसला लिया था तो उनकी दूरदर्शिता का परिचय पर अफसोस है कि उस समय जो आंदोलन कर रहे थे जंक्शन खेलो सुप्रीम कोर्ट ने आज के विभाग का शिया वक्फ बोर्ड को भी बाहर का निर्मोही अखाड़े को भी भारत का विवाद को सुलझाने का जो पहला पहला राजीव गांधी के द्वारा अमोनिया का 80 साल पहले राजीव गांधी का सम्मान

ayodhya land dispute 1986 mein adalat ne kyon diya ram mandir ka tala khulwa rajeev gandhi ji ki sarkar ko pata tha ki ramalala ko aayenge chakra mein mera bahut hi famous tha aur uski wajah se congress ko kaafi nuksan hoga chunav mein bhi nuksan hota tha aur bjp jo samay apna parbhutwa jamane ke liye bahut hi prayas karti thi aur yah mudde ka upyog tala khulwa diya kar lo karo aap puja ram lela ki nehru ji ke dwara ki gayi dhul ka pehla charan mein unhone 1986 aur 2019 ke beech mein bahut lamba 1916 35 saal ka aur 35 saal ke pehle agar rajeev gandhi ne yah faisla liya tha toh unki duradarshita ka parichay par afasos hai ki us samay jo andolan kar rahe the junction khelo supreme court ne aaj ke vibhag ka shiya vakkaf board ko bhi bahar ka nirmohi akhade ko bhi bharat ka vivaad ko suljhane ka jo pehla pehla rajeev gandhi ke dwara ammonia ka 80 saal pehle rajeev gandhi ka sammaan

अयोध्या लैंड डिस्प्यूट 1986 में अदालत ने क्यों दिया राम मंदिर का ताला खुलवा राजीव गांधी जी

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1271
WhatsApp_icon
user

Ajay Pratap Singh

Agriculturist

0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

1986 में ताला खुलवा जाने का आदेश न्यायालय ने दिया क्योंकि उसके ऊपर सुनवाई के लिए बातचीत हकीकत समाचार पत्रों के आधार पर डिसीजन दिया था उसी के दांत खोला गया था

1986 mein tala khulwa jaane ka aadesh nyayalaya ne diya kyonki uske upar sunvai ke liye batchit haqiqat samachar patron ke aadhaar par decision diya tha usi ke dant khola gaya tha

1986 में ताला खुलवा जाने का आदेश न्यायालय ने दिया क्योंकि उसके ऊपर सुनवाई के लिए बातचीत हक

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!