#AYODHYAVERDICT: अवकाश के दिन फ़ैसला नहीं होता, फिर क्यूँ आज के दिन अयोध्या मामले का फ़ैसला किया जा रहा है? क्या है वजह?...


play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:45

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अयोध्या वर्डिक्ट अवकाश के दिन फैसला नहीं होता फिर क्यों आज दिखे अक्सर नहीं होता है औकात के दिन कोई फैसला लेकिन 70 साल से जो विवादित जगह थी उसका फैसला करना और इतनी ही रिंग वहां पर हुई 2010 में भी इलाहाबाद हाई कोर्ट ने जो फैसला दिया था उसके खिलाफ भी याचिका दाखिल की गई और 17 तारीख को होने वाले शनिवार को लोग अक्सर करो मेरठ पुलिस प्रशासन यूपी पुलिस के दीजिए सभी से बात करके ओके बाद में छुट्टी कर दिया गया ताकि कोई कमी समाज आम लोगों के लोगों का

ayodhya verdict avkash ke din faisla nahi hota phir kyon aaj dikhe aksar nahi hota hai aukat ke din koi faisla lekin 70 saal se jo vivaadit jagah thi uska faisla karna aur itni hi ring wahan par hui 2010 mein bhi allahabad high court ne jo faisla diya tha uske khilaf bhi yachika dakhil ki gayi aur 17 tarikh ko hone waale shaniwaar ko log aksar karo meerut police prashasan up police ke dijiye sabhi se baat karke ok baad mein chhutti kar diya gaya taki koi kami samaj aam logo ke logo ka

अयोध्या वर्डिक्ट अवकाश के दिन फैसला नहीं होता फिर क्यों आज दिखे अक्सर नहीं होता है औकात के

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  1209
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Abhay Pratap

Advocate | Social Welfare Activist

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आतंकवादियों अपराधियों को बचाने के लिए रात में फैसला कर सकती है राजनीतिज्ञों के लिए भी आधी रात को कोर्ट खुल सकता है तो धार्मिक और राष्ट्रीय गरमा से जुड़े हुए न्याय के लिए अवकाश व्या और किस तरह की समस्याओं के होने पर भी अगर फैसला दिया जाता है अथवा राष्ट्रीय गरिमा से जुड़ा हुआ है और वरिष्ठ कदम है इस पर किसी तरह का अपराध या विवाद या किसी तरह का किंतु-परंतु का प्रश्न उठाना निंदनीय और आयु के पूरे हैं

aatankwadion apradhiyon ko bachane ke liye raat mein faisla kar sakti hai rajaneetigyon ke liye bhi aadhi raat ko court khul sakta hai toh dharmik aur rashtriya grma se jude hue nyay ke liye avkash vya aur kis tarah ki samasyaon ke hone par bhi agar faisla diya jata hai athva rashtriya garima se juda hua hai aur varishtha kadam hai is par kisi tarah ka apradh ya vivaad ya kisi tarah ka kintu parantu ka prashna uthana nindaniya aur aayu ke poore hain

आतंकवादियों अपराधियों को बचाने के लिए रात में फैसला कर सकती है राजनीतिज्ञों के लिए भी आधी

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  497
WhatsApp_icon
user

Rajesh Rana

Educator, Lawyer

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी राजनीति चल रही है 11 की संविधान को कूड़े के ढेर में डाल दिया गया है और हमारे जितने भी साजिश है वह सरकार के दलाल के तौर पर काम करो सब चाह रहे हैं कि रिटायरमेंट होने के बाद किसी भी कमीशन का उपाध्यक्ष बनाते उसके बाद फिर ईश्वर आपकी जिंदगी बिताई इसी चक्कर में सब जल्दबाजी में उन्हें कोई मतलब नहीं कि संविधान क्या है कानून क्या है किस हिसाब से चलना चाहिए कर इतनी तन्यता है आपके अंदर मंडे 2 से 40 तक पूरे साल काम करके दिखाओ जो तुम्हारी लाखों केस पेंडिंग पड़े सारे सुधर जाए अबॉर्शन करने की व्यवस्था किस बात का है कि रिटायरमेंट के बाद भी कैसे आए और आपकी जिंदगी बिताई करो तब सब बाहर जब आप सरकार के दलाल करेगी सरकार के कहने से चलेंगे अब देखना यह सब किसी न किसी उसके छेद मर जाएंगे कोई जानकारी है चल रही है तब वे संविधान से नहीं चल रहा देश चापलूसी से चल रहा है

vicky raajneeti chal rahi hai 11 ki samvidhan ko koode ke dher mein daal diya gaya hai aur hamare jitne bhi saajish hai vaah sarkar ke dalaal ke taur par kaam karo sab chah rahe hain ki retirement hone ke baad kisi bhi commision ka upadhyaksh banate uske baad phir ishwar aapki zindagi bitai isi chakkar mein sab jaldabaji mein unhe koi matlab nahi ki samvidhan kya hai kanoon kya hai kis hisab se chalna chahiye kar itni tanyata hai aapke andar monday 2 se 40 tak poore saal kaam karke dikhaao jo tumhari laakhon case pending pade saare sudhar jaaye abortion karne ki vyavastha kis baat ka hai ki retirement ke baad bhi kaise aaye aur aapki zindagi bitai karo tab sab bahar jab aap sarkar ke dalaal karegi sarkar ke kehne se chalenge ab dekhna yah sab kisi na kisi uske ched mar jaenge koi jaankari hai chal rahi hai tab ve samvidhan se nahi chal raha desh chaaplusi se chal raha hai

विकी राजनीति चल रही है 11 की संविधान को कूड़े के ढेर में डाल दिया गया है और हमारे जितने भी

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  118
WhatsApp_icon
user
1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड जॉब में पोस्टिंग क्या है अवकाश के दिन फैसला नहीं होता कि क्यों आज के लिए तमाम लेकर फ्रेंड्स मैं आपको बता दूं कि जो अयोध्या का मसला है एक हफ्ते से दिल्ली चल रहे हैं इसलिए इस पर आज के दिन फैसला करने का निश्चय किया गया है इसलिए आज इस मसले का फैसला हुआ है

hello friend job mein posting kya hai avkash ke din faisla nahi hota ki kyon aaj ke liye tamaam lekar friends main aapko bata doon ki jo ayodhya ka masala hai ek hafte se delhi chal rahe hain isliye is par aaj ke din faisla karne ka nishchay kiya gaya hai isliye aaj is masle ka faisla hua hai

हेलो फ्रेंड जॉब में पोस्टिंग क्या है अवकाश के दिन फैसला नहीं होता कि क्यों आज के लिए तमाम

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  743
WhatsApp_icon
user

Ajay Pratap Singh

Agriculturist

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आप यह बात नहीं है कि आकाश के दिन में नहीं दिया जा सकता उनको पकड़ सकती है कहीं भी बैठ सकती है पूरा क्षेत्र अधिकार है लेकिन मैं ऐसा किया जा सकता है और इसके पीछे एक और कारण है कि ग्रुप में आ सकते हैं अगर यू डालेंगे मैंने तुझे तक तो उसके ऊपर हम सुप्रीम कोर्ट करंट हिंदी फिल्म दे सकता है इसलिए जल्दी से जल्दी किया गया

dekhiye aap yah baat nahi hai ki akash ke din mein nahi diya ja sakta unko pakad sakti hai kahin bhi baith sakti hai pura kshetra adhikaar hai lekin main aisa kiya ja sakta hai aur iske peeche ek aur karan hai ki group mein aa sakte hain agar you daalenge maine tujhe tak toh uske upar hum supreme court current hindi film de sakta hai isliye jaldi se jaldi kiya gaya

देखिए आप यह बात नहीं है कि आकाश के दिन में नहीं दिया जा सकता उनको पकड़ सकती है कहीं भी बैठ

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  153
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!