भगवान ने पहना प्रदूषण मास्क। लोगों का कहना है की अगर भगवान सुरक्षित नहीं रहेंगे तो इंसान कैसे सुरक्षित रहेंगे? आपकी क्या राय है?...


play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:40

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान ने पहना प्रदूषण में लोगों का कहना है कि भगवान किस तरह का मास्क सीलिंग पर लगाया और पूजा अर्चना की गई और पूजा लिए मैं भी मास्क पहनकर देवी गया था जो टीवी चैनलों ने इसका रास्ता दिखाया था हो गई थी और अर्जुन रामेश्वर महादेव मंदिर में वाराणसी में पूजा की गई थी और एक संदेश देने की कोशिश की हम मस्त बनाते हैं क्योंकि उसके ऊपर भी बाकी है उसका असर होता है और भगवान को भी इंसानों को सच्चाई वरना जरूरी है इस तरह की बातें दिल में कही गई थी क्योंकि सच है और लोगों को सही अच्छी हवा अच्छी हवा मिले तो लोग अपना काम अच्छे से कर सके और अपना सब पता है उसको अच्छे से इंजॉय कर सके धन्यवाद

bhagwan ne pehna pradushan mein logo ka kehna hai ki bhagwan kis tarah ka mask ceiling par lagaya aur puja archna ki gayi aur puja liye main bhi mask pehankar devi gaya tha jo TV channelon ne iska rasta dikhaya tha ho gayi thi aur arjun rameshwar mahadev mandir mein varanasi mein puja ki gayi thi aur ek sandesh dene ki koshish ki hum mast banate hai kyonki uske upar bhi baki hai uska asar hota hai aur bhagwan ko bhi insano ko sacchai varna zaroori hai is tarah ki batein dil mein kahi gayi thi kyonki sach hai aur logo ko sahi achi hawa achi hawa mile toh log apna kaam acche se kar sake aur apna sab pata hai usko acche se enjoy kar sake dhanyavad

भगवान ने पहना प्रदूषण में लोगों का कहना है कि भगवान किस तरह का मास्क सीलिंग पर लगाया और पू

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  1079
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ajay Pratap Singh

Agriculturist

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दबाने बहना प्रदूषण मार्ग देखें तुम्हारे मंडी प्रभाव प्रभाव पड़ता है किसी व्यक्ति के लिए जागरूक पर्सेंट होते हैं उनको चाहिए लेकिन इसकी संख्या 11 से 12 पर्सेंट प्रोटीन कार्बोहाइड्रेट छोड़ते हैं वह पौधे लेते हैं वर्क सीजन छोड़ता होंगे 32 दिखे पीपल यह केवल ऑक्सीजन 69 मां बाप भगवान की नहीं बात है आकर्षित करने की एक भी देने की प्रदूषण के प्रति सचेत रहें

dabane bahna pradushan marg dekhen tumhare mandi prabhav prabhav padta hai kisi vyakti ke liye jagruk percent hote hain unko chahiye lekin iski sankhya 11 se 12 percent protein carbohydrate chodte hain vaah paudhe lete hain work season chodta honge 32 dikhe pipal yah keval oxygen 69 maa baap bhagwan ki nahi baat hai aakarshit karne ki ek bhi dene ki pradushan ke prati sachet rahein

दबाने बहना प्रदूषण मार्ग देखें तुम्हारे मंडी प्रभाव प्रभाव पड़ता है किसी व्यक्ति के लिए जा

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  149
WhatsApp_icon
user
0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान इंसान से बहुत ऊपर है भगवान सर्व व्यापी है और प्रदूषण जैसी चीजों से उन पर कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है और भगवानी प्रदूषण नहीं बनाया इंसान ने बनाया है तो इंसान को सोचना चाहिए कि वह प्रदूषण से कैसे मिलते ना कि भगवान को क्योंकि भगवान को इन सारी चीजों को कोई फर्क नहीं पड़ता तो इसलिए इंसान को चाहिए कि वह अपने आप को जिम्मेदार समझे और अपनी जिम्मेदारियां बड़ा है और प्रदूषण कम करें वह खुद ही सुरक्षित रहेगा भगवान

bhagwan insaan se bahut upar hai bhagwan surv vyapi hai aur pradushan jaisi chijon se un par koi fark nahi padane vala hai aur bhagvani pradushan nahi banaya insaan ne banaya hai toh insaan ko sochna chahiye ki vaah pradushan se kaise milte na ki bhagwan ko kyonki bhagwan ko in saree chijon ko koi fark nahi padta toh isliye insaan ko chahiye ki vaah apne aap ko zimmedar samjhe aur apni zimmedariyan bada hai aur pradushan kam kare vaah khud hi surakshit rahega bhagwan

भगवान इंसान से बहुत ऊपर है भगवान सर्व व्यापी है और प्रदूषण जैसी चीजों से उन पर कोई फर्क नह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या आपको लगता है कि भगवान को हमें हम भगवान को सुरक्षित किया हम भगवान के लिए कुछ कर सकते हैं हम सिर्फ भगवान अल्लाह ईश्वर जिस रूप में हम उसे मानते हैं एक मुस्लिम हूं मैं उसे अल्लाह के रूप में मानता हूं और मैं इस हिसाब से कहूं तो हम सिर्फ अल्लाह की इबादत कर सकते हैं इसके अलावा कुछ नहीं कर सकते तो यह अपने प्रदर्शन माफ करना शायद अगर आप इसलिए कह रहे हो यह कोरोनावायरस की वजह से की पूरी दुनिया बंद है गुलशन कम हो रहा है तो इसको हम इस तरह की बातें ना लेकर हम हो सकते इसको इस तरह से भी ले सकते हैं कि शायद यह भगवान या अल्लाह जो भी आप मानते यह मैं मुस्लिम हूं तो मैं यह कहूंगा कि अल्लाह की तरफ से कहीं हमें अज़ाब तो नहीं है कि हम अपनी दुनिया में मस्त हो गए हैं हमने दूसरे लोगों के बारे में सोचना बंद कर दिया ऐसा नहीं कि पूरी दुनिया में ऐसे लोग नहीं है लेकिन आज ज्यादा क्वांटिटी या ज्यादा मात्रा इस दुनिया में ऐसे लोगों की है जो सिर्फ अपने में मस्त हैं सिर्फ अपने में मस्त जिन्हें दुनियादारी से कोई मतलब नहीं मेरा पेट भरना चाहिए दुनिया जाए भाड़ और शायद इसीलिए इस सप्ताह के बाद अब देखो कई लोगों के दिलों में चीज को लोगों को कई सारी चीजों के बारे में पता चला लोगों की बुक के बारे में पता चला और कई सारी चीजें हुई तो शायद ईश्वर हमें सीधे रास्ते पर लाने के लिए ईश्वर ने हमें यह एक मौका दिया एक आपदा को इस आज आपको हमारे ऊपर भेज कर और हमें इस को इसी तरीके से लेना चाहिए और हमें उस ईश्वर की भक्ति और धर्म के अनुसार ईश्वर की भक्ति करनी चाहिए ईश्वर की अल्लाह की इबादत करनी चाहिए अपने अपने धर्मों के अनुसार में यह नहीं कहते कि आप किसी एक पर्टिकुलर धर्म को आप सुनाओ आप जिस जमीन को अपना रहे हो हर धर्म सच्ची बात कहता है सही बात कहते हैं वो अलग बात है कि आप अगर हर धर्म को जानिए हर धर्म को समझें और अगर आपको कोई धर्म अच्छा लगता है तो आप उसको अगर मानते हैं तो एक अलग चीज है बट हर धर्म अच्छी बात करता है और अपने अपने धर्म को जाने समझे और उसको फॉलो करें और धर्म को मेरा जो इस सवाल के जवाब को जितने भी लोग सुन रहे हैं उनसे हाथ जोड़कर से एक निवेदन है किसी भी धर्म को जानना तो उस धर्म की धार्मिक किताबों से जाने फेसबुक से व्हाट्सएप से मंत्रियों से नेताओं से बाबाओं से ना जाने ना जाने ना यह हाथ जोड़कर निवेदन है आप लोगों से क्योंकि यह फेसबुक व्हाट्सएप मंत्री नेता यह सब धर्म को अपने हिसाब से इन्होंने बना लिया असल धर्म धार्मिक किताबों में छपी समूह ढूंढना पड़ेगा सच्चा धर्म आपको ही मिले वही तो मैं उसी पर चलो और धर्म हमेशा इंसानियत का पैगाम देता हूं लोगों की मदद का पैगाम देता है अच्छा बनने का पैगाम देता है नेक बनने का पैगाम देता है चाहे वह कोई भी करना और हमेशा दूसरे धर्म का सम्मान करने का पैगाम देता है तो अपने घर में को भी जाने पर अगर आप अपने धर्म को जानेंगे तो दूसरे धर्म का सम्मान वह भी अपने आप करेंगे धन्यवाद

kya aapko lagta hai ki bhagwan ko hamein hum bhagwan ko surakshit kiya hum bhagwan ke liye kuch kar sakte hain hum sirf bhagwan allah ishwar jis roop me hum use maante hain ek muslim hoon main use allah ke roop me maanta hoon aur main is hisab se kahun toh hum sirf allah ki ibadat kar sakte hain iske alava kuch nahi kar sakte toh yah apne pradarshan maaf karna shayad agar aap isliye keh rahe ho yah coronavirus ki wajah se ki puri duniya band hai gulshan kam ho raha hai toh isko hum is tarah ki batein na lekar hum ho sakte isko is tarah se bhi le sakte hain ki shayad yah bhagwan ya allah jo bhi aap maante yah main muslim hoon toh main yah kahunga ki allah ki taraf se kahin hamein azab toh nahi hai ki hum apni duniya me mast ho gaye hain humne dusre logo ke bare me sochna band kar diya aisa nahi ki puri duniya me aise log nahi hai lekin aaj zyada quantity ya zyada matra is duniya me aise logo ki hai jo sirf apne me mast hain sirf apne me mast jinhen duniyaadaari se koi matlab nahi mera pet bharna chahiye duniya jaaye bhad aur shayad isliye is saptah ke baad ab dekho kai logo ke dilon me cheez ko logo ko kai saari chijon ke bare me pata chala logo ki book ke bare me pata chala aur kai saari cheezen hui toh shayad ishwar hamein sidhe raste par lane ke liye ishwar ne hamein yah ek mauka diya ek aapda ko is aaj aapko hamare upar bhej kar aur hamein is ko isi tarike se lena chahiye aur hamein us ishwar ki bhakti aur dharm ke anusaar ishwar ki bhakti karni chahiye ishwar ki allah ki ibadat karni chahiye apne apne dharmon ke anusaar me yah nahi kehte ki aap kisi ek particular dharm ko aap sunao aap jis jameen ko apna rahe ho har dharm sachi baat kahata hai sahi baat kehte hain vo alag baat hai ki aap agar har dharm ko janiye har dharm ko samajhe aur agar aapko koi dharm accha lagta hai toh aap usko agar maante hain toh ek alag cheez hai but har dharm achi baat karta hai aur apne apne dharm ko jaane samjhe aur usko follow kare aur dharm ko mera jo is sawaal ke jawab ko jitne bhi log sun rahe hain unse hath jodkar se ek nivedan hai kisi bhi dharm ko janana toh us dharm ki dharmik kitabon se jaane facebook se whatsapp se mantriyo se netaon se babaon se na jaane na jaane na yah hath jodkar nivedan hai aap logo se kyonki yah facebook whatsapp mantri neta yah sab dharm ko apne hisab se inhone bana liya asal dharm dharmik kitabon me chhapi samuh dhundhana padega saccha dharm aapko hi mile wahi toh main usi par chalo aur dharm hamesha insaniyat ka paigam deta hoon logo ki madad ka paigam deta hai accha banne ka paigam deta hai neck banne ka paigam deta hai chahen vaah koi bhi karna aur hamesha dusre dharm ka sammaan karne ka paigam deta hai toh apne ghar me ko bhi jaane par agar aap apne dharm ko jaanege toh dusre dharm ka sammaan vaah bhi apne aap karenge dhanyavad

क्या आपको लगता है कि भगवान को हमें हम भगवान को सुरक्षित किया हम भगवान के लिए कुछ कर सकते

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  46
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!