मेरी बेटी का पढ़ने में मन नहीं लग रहा है, इसके लिए क्या करना चाहिए?...


user
2:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न है मेरी बेटी का पढ़ने में मन नहीं लग रहा है इसके लिए क्या करना चाहिए तो पढ़ना लिखना एक हर व्यक्ति का अलग-अलग स्टैंड होता है कि वह किस प्रकार पड़ सकता है किस तरह से वह अपनी लाइफ को सिक्योर बना सकता है वह किस तरह से पढ़ने में अपनी रुचि लगा सकता है लगा सकता है लेकिन हर व्यक्ति की तिरूचूली होती किसी की रुचि होती है को आधा घंटा ही पड़ सकता है किसी को खुशी होती है वह घंटा किसी के 20 मिनट लेकिन अगर परिवार उसे टॉर्चर करता है कि नहीं आप पढ़ हो आपको पढ़ने के लिए आपके पास कोई ऑप्शन नहीं होता है किसी व्यक्ति के पास उसी गलती पास कोई ऑप्शन नहीं होता है कि परिवार से ज्यादा टॉर्चर करता है इसलिए वह पढ़ाई दिखाएं कि नहीं करती है कि वह पढ़ाई पढ़ने के लिए बैठी है किताब उसके सामने है लेकिन वह पढ़ नहीं पाती क्योंकि उसका परिवार उसे टॉर्चर कर रहा है लेकिन वह उस बात को इग्नोर कर देती है कि नहीं मैं नहीं पढ़ सकती वह अपने मन में एक बहाना बना लेती है लेकिन पढ़ना अगर वह आप उसे टॉर्चर नहीं करते आप उसे यह कहते हैं कि आराम से पढ़ो अच्छा जो भी हो आधा घंटा 15 मिनट 20 मिनट पढ़ो लेकिन थोड़ा ही कर लो चेक पढ़ो जरूर तो अगर यह हम उसको समझाते हैं उस गलत को समझाते हैं क्या ऐसे पढ़ो थोड़ा कम पढ़ो अच्छा तो कुछ ना कुछ उसका मन पढ़ाई की लेवल की तरफ जाएगा कि वह किस लेवल पर है और किस लेवल की को पढ़ाई कर सकती है और ज्यादा हार्ड पढ़ाई पहले शुरुआती दिनों से करें क्योंकि हॉट पढ़ाई ज्यादा समझ में नहीं आती आप ऐसे चित्र के पास भेजे हैं ऐसे जो कोचिंग सेंटर है उन्हें भेजे जहां अच्छे लोगों की पढ़ाई हो ज्यादा ब्लडिंग ज्यादा हाई लेवल की पढ़ाई ना हो थोड़ी धीमी पढ़ाई हो जहां पर निकाला कि लेवल के पढ़ाई स्टार्टिंग थोड़ा कम जो भी खोज कोचिंग का अलग आप पहले से ही हो पहले दिन से जाकर उसको अच्छी कोचिंग में जो जिसकी हाई क्लास होती है काफी फेमस कोचिंग होती अगर वहां उसको भेजते हैं तो पहले का दिन कोई अगर वहां पर दो यार भाई 3 महीने जाएगी तब उसको समझ में आएगा कि हां यार यह हाई क्वालिटी की पढ़ाई है कैसे करवाते हैं पहले आप उसको नीम कोचिंग भेजो जिसको चिंकी छोटे लेवल की कोचिंग हो उसके पास भेजो ताकि वह आगे जाकर देख सके थोड़ा समझ सके क्योंकि हाई लेवल की पढ़ाई माफी तिहाई लेवल के नहीं होते इसलिए भी धीरे-धीरे समझने लग जाती है तो वैसे कोचिंग भेज दें घर पर भी उसको बोले कि थोड़ा ही पढ़े ज्यादा ना बिल्कुल 10 मिनट पड़े जा 20 मिनट पड़े लेकिन धीरे-धीरे उनका रुटीन जाता है कि अच्छा लगने लगता है नहीं कि वह मिथुन सुरुचि नहीं है नियमित पढ़ो इग्नोर करो अब तुझे फोटो शेयर करो ऐसा नहीं है थोड़ी कम लेवल की पढ़ाई हो ताकि दे दे उसका रोटेशन बनेगा रूटिंग बनने के बाद ही पढ़ाई अच्छे से फोन लग जाए

prashna hai meri beti ka padhne me man nahi lag raha hai iske liye kya karna chahiye toh padhna likhna ek har vyakti ka alag alag stand hota hai ki vaah kis prakar pad sakta hai kis tarah se vaah apni life ko secure bana sakta hai vaah kis tarah se padhne me apni ruchi laga sakta hai laga sakta hai lekin har vyakti ki tiruchuli hoti kisi ki ruchi hoti hai ko aadha ghanta hi pad sakta hai kisi ko khushi hoti hai vaah ghanta kisi ke 20 minute lekin agar parivar use torture karta hai ki nahi aap padh ho aapko padhne ke liye aapke paas koi option nahi hota hai kisi vyakti ke paas usi galti paas koi option nahi hota hai ki parivar se zyada torture karta hai isliye vaah padhai dikhaen ki nahi karti hai ki vaah padhai padhne ke liye baithi hai kitab uske saamne hai lekin vaah padh nahi pati kyonki uska parivar use torture kar raha hai lekin vaah us baat ko ignore kar deti hai ki nahi main nahi padh sakti vaah apne man me ek bahana bana leti hai lekin padhna agar vaah aap use torture nahi karte aap use yah kehte hain ki aaram se padho accha jo bhi ho aadha ghanta 15 minute 20 minute padho lekin thoda hi kar lo check padho zaroor toh agar yah hum usko smajhate hain us galat ko smajhate hain kya aise padho thoda kam padho accha toh kuch na kuch uska man padhai ki level ki taraf jaega ki vaah kis level par hai aur kis level ki ko padhai kar sakti hai aur zyada hard padhai pehle shuruati dino se kare kyonki hot padhai zyada samajh me nahi aati aap aise chitra ke paas bheje hain aise jo coaching center hai unhe bheje jaha acche logo ki padhai ho zyada blooding zyada high level ki padhai na ho thodi dheemi padhai ho jaha par nikaala ki level ke padhai starting thoda kam jo bhi khoj coaching ka alag aap pehle se hi ho pehle din se jaakar usko achi coaching me jo jiski high class hoti hai kaafi famous coaching hoti agar wahan usko bhejate hain toh pehle ka din koi agar wahan par do yaar bhai 3 mahine jayegi tab usko samajh me aayega ki haan yaar yah high quality ki padhai hai kaise karwaate hain pehle aap usko neem coaching bhejo jisko chinki chote level ki coaching ho uske paas bhejo taki vaah aage jaakar dekh sake thoda samajh sake kyonki high level ki padhai maafi tihai level ke nahi hote isliye bhi dhire dhire samjhne lag jaati hai toh waise coaching bhej de ghar par bhi usko bole ki thoda hi padhe zyada na bilkul 10 minute pade ja 20 minute pade lekin dhire dhire unka routine jata hai ki accha lagne lagta hai nahi ki vaah maithun suruchi nahi hai niyamit padho ignore karo ab tujhe photo share karo aisa nahi hai thodi kam level ki padhai ho taki de de uska rotation banega routing banne ke baad hi padhai acche se phone lag jaaye

प्रश्न है मेरी बेटी का पढ़ने में मन नहीं लग रहा है इसके लिए क्या करना चाहिए तो पढ़ना लिखना

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  97
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!