उम्मीद निराशा की ओर ले जाती है, क्या आप इस बात से सहमत हैं?...


play
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:33

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने बोला की उम्मीद निराशा की ओर ले जाती है यह कहीं ना कहीं से सही बात है देखिए जब हम किसी से उम्मीद करते हैं और वह उम्मीद पर खरा नहीं उतरता है तो उम्मीद निराशा की तरफ हमें ले जाता है लेकिन हम अगर किसी से उम्मीद करते हैं अगर वह उम्मीद पे सही उतरता है तो हमारा कॉन्फिडेंस बढ़ जाता है और हम बहुत खुश होते हमारे देश के सवा सौ करोड़ देशवासियों ने प्रधानमंत्री मोदी जी के ऊपर भरोसा किया और 2014 में उन्होंने कमल का बटन दबाया आज देखिए पूरी जनता पूरा देश हमारे पूरे भारतवासी आज बहुत खुश हैं देखे पुलवामा में हमला हुआ प्रधानमंत्री मोदी जी ने तुरंत बदला लिया 13 दिन बदला लिया और हमारे 40 जवानों को पुलवामा हमले में मारा गया था शहीद हुए थे हमारे जवान और हम लोगों ने 400 आतंकवादियों को एक बार में मार दिया जिससे हमारे देश की जनता बहुत खुश है और मोदी जी के कार्य से बहुत खुश हैं जब मोदी जी जैसे लोगों से उम्मीद की जाती है जब मोदी जी जैसे लोग उम्मीद को पूरा करते हैं तो फिर उम्मीद करने वाले को खुशी मिलती है जब उम्मीद पूरा नहीं होता है तब निराशा की ओर हमारी उम्र बीत जाती है इसलिए आने वाले टाइम में हम सभी लोगों को मिलजुल कर अपना महत्वपूर्ण वोट भारतीय जनता पार्टी को देना होगा ताकि हमारी उम्मीद पूरा हो सके हमारी उम्मीद पर मोदी जी खरा उतर सके और हमारा देश शक्तिशाली बन सके धन्यवाद

aapne bola ki ummid nirasha ki aur le jaati hai yah kahin na kahin se sahi baat hai dekhiye jab hum kisi se ummid karte hain aur vaah ummid par Khara nahi utarata hai toh ummid nirasha ki taraf hamein le jata hai lekin hum agar kisi se ummid karte hain agar vaah ummid pe sahi utarata hai toh hamara confidence badh jata hai aur hum bahut khush hote hamare desh ke sava sau crore deshvasiyon ne pradhanmantri modi ji ke upar bharosa kiya aur 2014 mein unhone kamal ka button dabaya aaj dekhiye puri janta pura desh hamare poore bharatvasi aaj bahut khush hain dekhe pulwama mein hamla hua pradhanmantri modi ji ne turant badla liya 13 din badla liya aur hamare 40 jawano ko pulwama hamle mein mara gaya tha shaheed hue the hamare jawaan aur hum logo ne 400 aatankwadion ko ek baar mein maar diya jisse hamare desh ki janta bahut khush hai aur modi ji ke karya se bahut khush hain jab modi ji jaise logo se ummid ki jaati hai jab modi ji jaise log ummid ko pura karte hain toh phir ummid karne waale ko khushi milti hai jab ummid pura nahi hota hai tab nirasha ki aur hamari umr beet jaati hai isliye aane waale time mein hum sabhi logo ko miljul kar apna mahatvapurna vote bharatiya janta party ko dena hoga taki hamari ummid pura ho sake hamari ummid par modi ji Khara utar sake aur hamara desh shaktishali ban sake dhanyavad

आपने बोला की उम्मीद निराशा की ओर ले जाती है यह कहीं ना कहीं से सही बात है देखिए जब हम किसी

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  453
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Anisha Saurabh

Engineer with dreams

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह पूरी तरह से आप पर निर्भर करता है कि आप किस चीज़ की उम्मीद कर रहे हैं अगर मैं चांद को पाने की उम्मीद लगा बैठा हूं तो मुझे निराशा ही निराशा हासिल होगी लेकिन मैं कुछ बनने की जीवन में आगे बढ़ने की या पढ़ने की या किसी चीज़ की उम्मीद लगा जो कि मिलना पॉसिबल है जो मैं पढ़ सकती हूं अगर मेहनत करूं तो तुम मुझे निराशा कभी हासिल नहीं होगी अगर मैं उस चीज को ना भी पा सकी तो मुझे इतनी तसल्ली जरूर होगी कि मैंने उसके लिए जी तोड़ मेहनत की लेकिन फिर भी वह मुझे नहीं मिला कोई बात नहीं पर मुझे इस बीच में सीखने को बहुत कुछ मिलेगा अगर आप निराशावादी है तो पॉजिटिव चीजों में भी आप निराश हो सकते हैं लेकिन अगर आप आशावादी हैं तो अगर आपके साथ सब कुछ गलत भी हो रहा है तो भी आप पॉजिटिव रख सकते हैं खुद को इसीलिए मैं बोलना चाहूंगी कि कभी भी

dekhiye yah puri tarah se aap par nirbhar karta hai ki aap kis cheez ki ummid kar rahe hain agar main chand ko paane ki ummid laga baitha hoon toh mujhe nirasha hi nirasha hasil hogi lekin main kuch banne ki jeevan mein aage badhne ki ya padhne ki ya kisi cheez ki ummid laga jo ki milna possible hai jo main padh sakti hoon agar mehnat karu toh tum mujhe nirasha kabhi hasil nahi hogi agar main us cheez ko na bhi paa saki toh mujhe itni tasalli zaroor hogi ki maine uske liye ji tod mehnat ki lekin phir bhi vaah mujhe nahi mila koi baat nahi par mujhe is beech mein sikhne ko bahut kuch milega agar aap nirashavaadi hai toh positive chijon mein bhi aap nirash ho sakte hain lekin agar aap aashavadi hain toh agar aapke saath sab kuch galat bhi ho raha hai toh bhi aap positive rakh sakte hain khud ko isliye main bolna chahungi ki kabhi bhi

देखिए यह पूरी तरह से आप पर निर्भर करता है कि आप किस चीज़ की उम्मीद कर रहे हैं अगर मैं चांद

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
user

Priyank Chauhan

Jack of all trades

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उम्मीद स्वयं से तू हमेशा निराशजनक नहीं होती है क्योंकि उम्मीद पर ही दुनिया चलती है तुम कि सभी लोग कुछ ना कुछ मिल लेकर ही काम करते हैं जो भी करते हैं पर अत्यधिक उम्मीद किसी भी चीज से लगाना यह जरूर निराशा के कारण हो सकता है बाद में क्योंकि आपके अनुसार कोई काम नहीं होगा तो फिर आप परेशान होंगे इसका एक उपाय हो सकता है कि जो गीता सार है वैसे काम कीजिए जिंदगी में कर्म कीजिए फल की इच्छा मत कीजिए अलग से कर्म ऐसे किया जाना चाहिए जैसे वह उस समय आपकी ड्यूटी आपको करना ही है और मन लगाकर कीजिए पर फल की इच्छा मत कीजिए करमाकर अच्छा तो फल स्वयं आता ही है

ummid swayam se tu hamesha nirashajanak nahi hoti hai kyonki ummid par hi duniya chalti hai tum ki sabhi log kuch na kuch mil lekar hi kaam karte hain jo bhi karte hain par atyadhik ummid kisi bhi cheez se lagana yah zaroor nirasha ke karan ho sakta hai baad mein kyonki aapke anusaar koi kaam nahi hoga toh phir aap pareshan honge iska ek upay ho sakta hai ki jo geeta saar hai waise kaam kijiye zindagi mein karm kijiye fal ki iccha mat kijiye alag se karm aise kiya jana chahiye jaise vaah us samay aapki duty aapko karna hi hai aur man lagakar kijiye par fal ki iccha mat kijiye karmakar accha toh fal swayam aata hi hai

उम्मीद स्वयं से तू हमेशा निराशजनक नहीं होती है क्योंकि उम्मीद पर ही दुनिया चलती है तुम कि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  125
WhatsApp_icon
user

Avi

Content Writer

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं बात से बिल्कुल सहमत हूं अगर कुछ काम में उम्मीद करते हैं और वह किसी कारण से पूरा नहीं हुआ तो हमें बहुत बुरा लगेगा उम्मीद रखना बहुत जरूरी है लेकिन सिर्फ काम करते वक्त हम जो भी काम कर रहे हैं उसमें हंड्रेड परसेंट उम्मीद रखते करना चाहिए हमारी तरफ से काम हो जाने के बाद परिणाम का उम्मीद कभी नहीं रखना चाहिए

main baat se bilkul sahmat hoon agar kuch kaam mein ummid karte hain aur vaah kisi karan se pura nahi hua toh hamein bahut bura lagega ummid rakhna bahut zaroori hai lekin sirf kaam karte waqt hum jo bhi kaam kar rahe hain usme hundred percent ummid rakhte karna chahiye hamari taraf se kaam ho jaane ke baad parinam ka ummid kabhi nahi rakhna chahiye

मैं बात से बिल्कुल सहमत हूं अगर कुछ काम में उम्मीद करते हैं और वह किसी कारण से पूरा नहीं ह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  124
WhatsApp_icon
user

Tilak Singh

Sch.Topper,Parnassian & Author

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भी उम्मीद निराशा की ओर ले जाती है पहले तो आप देखिए कि उम्मीद किस प्रकार की होती में दो प्रकार के होते हैं एक अपने आप पर एक दूसरों पर यदि आप दूसरों पर जो उम्मीद करते दूसरों कि वह मकाम कर देंगे कभी मत को हमेशा निराशा की ओर ले जाती है दूसरों से उम्मीद करते हैं कि आप हमें ऐसा क्यों ले जाते हैं यानी कि उम्मीद की दोनों ही प्रकार दूसरों पर कविता तो अपने आप से उम्मीद करोगे तो आशा हमेशा यही बात याद रखना

bhi ummid nirasha ki aur le jaati hai pehle toh aap dekhiye ki ummid kis prakar ki hoti mein do prakar ke hote hain ek apne aap par ek dusro par yadi aap dusro par jo ummid karte dusro ki vaah makam kar denge kabhi mat ko hamesha nirasha ki aur le jaati hai dusro se ummid karte hain ki aap hamein aisa kyon le jaate hain yani ki ummid ki dono hi prakar dusro par kavita toh apne aap se ummid karoge toh asha hamesha yahi baat yaad rakhna

भी उम्मीद निराशा की ओर ले जाती है पहले तो आप देखिए कि उम्मीद किस प्रकार की होती में दो प्र

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  176
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीमेल बात तो बिल्कुल सहमत नहीं हूं उम्मीद हो ना हो हो ना कभी भी निराशा की तरह कभी-कभी ऐसा होता है जब आप गलत लोगों से डील करो या आप गलत सिचुएशन में हो तब उम्मीद चले निराशा की तरफ ले जाए लेकिन अगर आप अच्छा काम कर रहे हो आपने उस काम के लिए मेहनत की है और अगर आप उम्मीद रखे हुए हो कि आपको अच्छा रिजल्ट मिलेगा तो मेरे साथ कहीं ना कहीं वह चीज आपके लिए होती है रिजल्ट से जरूर मिलता है कई बार ऐसा जरूर होता है कि हम कोई गलत काम कर रहे होते हैं तरीका कल तुमने अपनाया होता और हम उम्मीद रखते हैं कि जो काम है वह सही होगा तो वह राशि की तरफ ले कर जाएगी गलत काम का नतीजा गलत ही मिलता है हर काम में उस काम को सफल बनाने के लिए कामयाब बनाने के लिए उम्मीद है उसका दामन कभी नहीं छोड़ना चाहिए और निराशा यह सब चलते रहते हैं लेकिन उम्मीद और पॉजिटिव वह कौन

gmail baat toh bilkul sahmat nahi hoon ummid ho na ho ho na kabhi bhi nirasha ki tarah kabhi kabhi aisa hota hai jab aap galat logo se deal karo ya aap galat situation mein ho tab ummid chale nirasha ki taraf le jaaye lekin agar aap accha kaam kar rahe ho aapne us kaam ke liye mehnat ki hai aur agar aap ummid rakhe hue ho ki aapko accha result milega toh mere saath kahin na kahin vaah cheez aapke liye hoti hai result se zaroor milta hai kai baar aisa zaroor hota hai ki hum koi galat kaam kar rahe hote hain tarika kal tumne apnaya hota aur hum ummid rakhte hain ki jo kaam hai vaah sahi hoga toh vaah rashi ki taraf le kar jayegi galat kaam ka natija galat hi milta hai har kaam mein us kaam ko safal banane ke liye kamyab banane ke liye ummid hai uska daman kabhi nahi chhodna chahiye aur nirasha yah sab chalte rehte hain lekin ummid aur positive vaah kaun

जीमेल बात तो बिल्कुल सहमत नहीं हूं उम्मीद हो ना हो हो ना कभी भी निराशा की तरह कभी-कभी ऐसा

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  186
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उम्मीद नहीं राशि की ओर ले जाता है यह चीजें कई बार होती हैं और कई बार नहीं तो उम्मीद निराशा की तरफ उसी वक्त हमें ले जाता है जब हमारे द्वारा किया गया काम गलत है या फिर हमने किसी काम को करने में कुछ कमी छोड़ दी है यानी कि हमने इतनी मेहनत नहीं की जितनी हमें करनी चाहिए थी मान लीजिए कि एक स्टूडेंट एग्जाम में इतनी मेहनत नहीं करता है और जब एग्जाम देकर आता है उसके बाद वह अच्छे रिजल्ट की उम्मीद लगा कर बैठा रहता है लेकिन जब उसने अच्छे से पढ़ाई नहीं करी है तो उसका रिजल्ट भी अच्छा नहीं आएगा तो वह चीजें निराशा की ओर ले जाएंगे तू यह किसी भी व्यक्ति की बेवकूफी ही कही जाएगी कि अगर उसने मेहनत नहीं की और फिर भी वह उम्मीद लगा कर बैठा है कि उसका रिजल्ट या फिर जो भी चीजें हैं वह अच्छी होंगी तो यह कभी भी पॉसिबल नहीं है तो हमें हमेशा अपनी पूरी ताकत लगानी चाहिए जिस भी चीज में हम सफलता पाना चाहते हैं क्योंकि बिना मेहनत के सफलता पाना काफी मुश्किल

ummid nahi rashi ki aur le jata hai yah cheezen kai baar hoti hain aur kai baar nahi toh ummid nirasha ki taraf usi waqt hamein le jata hai jab hamare dwara kiya gaya kaam galat hai ya phir humne kisi kaam ko karne mein kuch kami chod di hai yani ki humne itni mehnat nahi ki jitni hamein karni chahiye thi maan lijiye ki ek student exam mein itni mehnat nahi karta hai aur jab exam dekar aata hai uske baad vaah acche result ki ummid laga kar baitha rehta hai lekin jab usne acche se padhai nahi kari hai toh uska result bhi accha nahi aayega toh vaah cheezen nirasha ki aur le jaenge tu yah kisi bhi vyakti ki bewakoofi hi kahi jayegi ki agar usne mehnat nahi ki aur phir bhi vaah ummid laga kar baitha hai ki uska result ya phir jo bhi cheezen hain vaah achi hongi toh yah kabhi bhi possible nahi hai toh hamein hamesha apni puri takat lagani chahiye jis bhi cheez mein hum safalta paana chahte hain kyonki bina mehnat ke safalta paana kaafi mushkil

उम्मीद नहीं राशि की ओर ले जाता है यह चीजें कई बार होती हैं और कई बार नहीं तो उम्मीद निराशा

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  271
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

0:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आपने कहावत तो सुनी होगी उम्मीद पर दुनिया कायम है अगर हम आशा करना ही बंद कर देंगे वह करना ही बंद कर देंगे तो सरवाइव कैसे करेंगे वह पॉजिटिविटी कहां से आएगी और जो है और एक खुशी कहां से आएगी अगर बिना होके मेरे साथ में कोई भी इंटरेस्ट आता ही नहीं कुछ इसको करने के लिए यह गलत है क्या उसको पर बहुत ज्यादा डिपेंडेंट हो जाए या फिर आप इतना ज्यादा हो जाए कि नहीं यह होगा तभी मैं करूंगा नहीं तो नहीं करूंगा ऐसा नहीं होता तो बैक अप प्लान हमेशा बहुत ज्यादा जरूरी होता है और कहा कि अगर नहीं हुआ तो मैं दूसरा क्या कर सकता हूं उसे ठीक करने के लिए तो आप की ट्रेन कितनी होनी चाहिए अगर कि आप बहुत ही रखें और अगर वह चीज नहीं होती पॉइंट ना हो शायद कुछ और अच्छा होने वाला हो तो रखें उससे बहुत ज्यादा डिपेंड ना हो

dekhiye aapne kahaavat toh suni hogi ummid par duniya kayam hai agar hum asha karna hi band kar denge vaah karna hi band kar denge toh survive kaise karenge vaah positivity kahaan se aayegi aur jo hai aur ek khushi kahaan se aayegi agar bina hoke mere saath mein koi bhi interest aata hi nahi kuch isko karne ke liye yah galat hai kya usko par bahut zyada dependent ho jaaye ya phir aap itna zyada ho jaaye ki nahi yah hoga tabhi main karunga nahi toh nahi karunga aisa nahi hota toh back up plan hamesha bahut zyada zaroori hota hai aur kaha ki agar nahi hua toh main doosra kya kar sakta hoon use theek karne ke liye toh aap ki train kitni honi chahiye agar ki aap bahut hi rakhen aur agar vaah cheez nahi hoti point na ho shayad kuch aur accha hone vala ho toh rakhen usse bahut zyada depend na ho

देखिए आपने कहावत तो सुनी होगी उम्मीद पर दुनिया कायम है अगर हम आशा करना ही बंद कर देंगे वह

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  209
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
इस बात से सहमत ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!