समस्या के दौरान प्रेरित रहने के लिए आप अपने आप को क्या कहते हैं?...


user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

समस्याएं आपके सामने आती है तो निश्चित रूप से संबंधित समस्याओं को पेश करते करते आप एक परिपक्व इंसान बन जाएंगे मैं चोर बन जाएंगे आपके पास जीवन का अनुभव जाएगा एक पल जीना कोई जीना नहीं है इस समस्याओं को चुस्ती हुई आप आगे बढ़ते हैं और दूसरों के लिए रास्ता बनाते हैं उसे हम एक्सपीरियंस कहते हैं हम लोग कहते हैं आप भी के उदाहरण यदि महाभारत काल से देखें तो पांडव जीवन में कभी भी सफल नहीं हो पाते कौरवों से नहीं जीत पाते यदि उन्होंने 12 14 वर्ष जो बाहर काटे थे 12 वर्ष वनवास भुगतना वनवास काल में जितनी समस्याओं से भिवानी संघर्ष किया केस किया उसने उनको इतना मजबूत बना दिया कि आपने देखा कि पांडवों ने कौरवों को पर पांडव विजय जबकि गौरव पूरे सूचित जी थे उनके पास देवता उनके पास सकती थी और उसके पश्चात पांडव विजई हुए अगला उदाहरण आप देखिए कि जितने आप समस्याओं से जूझते हैं संघर्ष करते एक नई पीढ़ी के लिए आप एक संदेश देते हैं और जितना आप समस्याओं से भागते हैं उतना ही आप की कायरता द लगती है और उन समस्याओं में कई लोग तो डूब जाते हैं परिणाम स्वरूप ऐसे से टेंशन पाल लेते हैं जिनसे इनकी लाइफ डिस्टर्ब हो जाती है और अगर जाती है सुहाग चिड़चिड़ा हो जाता है इसका मतलब कि जीवन से भागी कायर लोग हैं आप कुछ साहस के साथ समस्याओं से केस करना चाहिए और जब मानव जोर लगाता है तो पत्थर पानी बन जाता है जब मानव विचार कर लेता है तो कोई

samasyaen aapke saamne aati hai toh nishchit roop se sambandhit samasyaon ko pesh karte karte aap ek paripakva insaan ban jaenge main chor ban jaenge aapke paas jeevan ka anubhav jaega ek pal jeena koi jeena nahi hai is samasyaon ko chusti hui aap aage badhte hain aur dusro ke liye rasta banate hain use hum experience kehte hain hum log kehte hain aap bhi ke udaharan yadi mahabharat kaal se dekhen toh pandav jeevan mein kabhi bhi safal nahi ho paate kauravon se nahi jeet paate yadi unhone 12 14 varsh jo bahar kaate the 12 varsh vanvas bhugatna vanvas kaal mein jitni samasyaon se Bhiwani sangharsh kiya case kiya usne unko itna majboot bana diya ki aapne dekha ki pandavon ne kauravon ko par pandav vijay jabki gaurav poore suchit ji the unke paas devta unke paas sakti thi aur uske pashchat pandav vijayi hue agla udaharan aap dekhiye ki jitne aap samasyaon se jujhte hain sangharsh karte ek nayi peedhi ke liye aap ek sandesh dete hain aur jitna aap samasyaon se bhagte hain utana hi aap ki kayarata the lagti hai aur un samasyaon mein kai log toh doob jaate hain parinam swaroop aise se tension pal lete hain jinse inki life disturb ho jaati hai aur agar jaati hai suhaag chidchida ho jata hai iska matlab ki jeevan se bhaagi kayar log hain aap kuch saahas ke saath samasyaon se case karna chahiye aur jab manav jor lagaata hai toh patthar paani ban jata hai jab manav vichar kar leta hai toh koi

समस्याएं आपके सामने आती है तो निश्चित रूप से संबंधित समस्याओं को पेश करते करते आप एक परिपक

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  349
KooApp_icon
WhatsApp_icon
8 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!