कोई आम चुनाव के लिए लड़ते हैं कि हमारे देश हित के लिए?...


user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोई आम चुनाव के लिए लड़ते हैं कि हमारे देश के हित के लिए समय है जो जो पॉलिटिक्स में कोई देश हित के लिए नहीं लगता है सब अपने अपने पार्टी के हित के लिए याद में स्वयं के लिए लड़ते चुनाव में जो खर्चे होते हैं टिकट लेने की प्रोसेस में दिए उनको काफी डोनेशन देना पड़ता है पार्टी को और उसमें भी यह लाइन रखती है कि किसको कर दिया जाए उसके बाद जो चुनाव होते हैं उसमें उनके खर्चे चुनाव पंच जो डिक्लेअर करता है उससे कहीं ज्यादा होते चुनाव 2017 के आंकड़ों का इस्तेमाल होता है और जो प्रतिस्पर्धी होते हैं वह इसको इन्वेस्टमेंट के रूप में देखते हैं और फिर बाद में 2 सीट उनको मिलती है उसका वह अपने पद का दुरुपयोग करने से बाज नहीं आते अधिकतर लोग करते समय से नहीं होते हैं लेकिन भ्रष्टाचार की गंगोत्री यहीं से शुरू होती है वरना कोई भी अपराधी कोई भी खराब चरित्र का आदमी कोई भी जेल में डालने वाला अपराधी कैसे चुनाव जीत सकता है यह भी एक अपना होती है इसलिए भ्रष्टाचार के चुनाव होता है आत्महत्या डॉट इन सब चुनाव की वजह से होते हैं यही हमारे इंडियन डेमोक्रेसी की जो करता है इसलिए जो चुनाव लड़ते हैं देश के लिए अपने हित के लिए लड़ते हैं मैंने

koi aam chunav ke liye ladte hai ki hamare desh ke hit ke liye samay hai jo jo politics mein koi desh hit ke liye nahi lagta hai sab apne apne party ke hit ke liye yaad mein swayam ke liye ladte chunav mein jo kharche hote hai ticket lene ki process mein diye unko kaafi donation dena padta hai party ko aur usme bhi yah line rakhti hai ki kisko kar diya jaaye uske baad jo chunav hote hai usme unke kharche chunav punch jo declare karta hai usse kahin zyada hote chunav 2017 ke aankado ka istemal hota hai aur jo pratispardha hote hai vaah isko investment ke roop mein dekhte hai aur phir baad mein 2 seat unko milti hai uska vaah apne pad ka durupyog karne se baaj nahi aate adhiktar log karte samay se nahi hote hai lekin bhrashtachar ki gangotri yahin se shuru hoti hai varna koi bhi apradhi koi bhi kharab charitra ka aadmi koi bhi jail mein dalne vala apradhi kaise chunav jeet sakta hai yah bhi ek apna hoti hai isliye bhrashtachar ke chunav hota hai atmahatya dot in sab chunav ki wajah se hote hai yahi hamare indian democracy ki jo karta hai isliye jo chunav ladte hai desh ke liye apne hit ke liye ladte hai maine

कोई आम चुनाव के लिए लड़ते हैं कि हमारे देश के हित के लिए समय है जो जो पॉलिटिक्स में कोई दे

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  1156
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!