चुनाव क्यों होता है?...


user

Sunil Kumar Pandey

Editor & Writer

1:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लोकतंत्र में चुनाव का अत्यंत महत्वपूर्ण स्थान है क्योंकि लोकतंत्र में जन प्रतियों का चयन चुनाव के माध्यम से होता है अतः हमारे लोकल ही बसी लेकर हाई लेवल तक चुनाव की व्यवस्था है शासन के अंतर्गत प्रधान का चुनाव होता है जबकि जिला के अंतर्गत जिला पंचायत में भी चुनाव होता है इसके बाद यदि हम राज्य स्तर पर आए तो राज्य विधानसभाओं का भी चुनाव होता है और हम किन संसद लोकसभा का भी चुनाव होता है अतः हमारे सारे प्रविधि चाहे वह छोटे हो चाहे बड़े हो चुनाव द्वारा ही उनका चयन होता है मेरी राय में लोकतंत्र में चुनाव अत्यंत आवश्यक है अतः चुनाव के भय से ही जो जनप्रतिनिधि राजनेता होते हैं वह ऐसे कार्य करते हैं जिससे जनसंघ का कल्याण हो क्योंकि उन्हें पता होता है कि भारत में 5 वर्ष बाद पुनः चुनाव होगा यदि हम काम नहीं करेंगे तो जनता हमसे जवाब मांगेगी और चुनावों में हमें पराजित कर देगी इसलिए जनप्रतिनिधि जन उपयोगी कार्य करते हैं जिससे जनता का लाभ हो ऐसी योजना लाते हैं जिसे सब का कल्याण संभव हो धन्यवाद

loktantra me chunav ka atyant mahatvapurna sthan hai kyonki loktantra me jan pratiyon ka chayan chunav ke madhyam se hota hai atah hamare local hi basi lekar high level tak chunav ki vyavastha hai shasan ke antargat pradhan ka chunav hota hai jabki jila ke antargat jila panchayat me bhi chunav hota hai iske baad yadi hum rajya sthar par aaye toh rajya vidhansabhaon ka bhi chunav hota hai aur hum kin sansad lok sabha ka bhi chunav hota hai atah hamare saare pravidhi chahen vaah chote ho chahen bade ho chunav dwara hi unka chayan hota hai meri rai me loktantra me chunav atyant aavashyak hai atah chunav ke bhay se hi jo janapratinidhi raajneta hote hain vaah aise karya karte hain jisse jansandh ka kalyan ho kyonki unhe pata hota hai ki bharat me 5 varsh baad punh chunav hoga yadi hum kaam nahi karenge toh janta humse jawab mangegi aur chunavon me hamein parajit kar degi isliye janapratinidhi jan upyogi karya karte hain jisse janta ka labh ho aisi yojana laate hain jise sab ka kalyan sambhav ho dhanyavad

लोकतंत्र में चुनाव का अत्यंत महत्वपूर्ण स्थान है क्योंकि लोकतंत्र में जन प्रतियों का चयन च

Romanized Version
Likes  136  Dislikes    views  1207
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

SUBHASH RAO

Spoken English Trainer

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चुनाव क्यों होता है बहुत ही अच्छा तरसने वेरी वेरी इंपॉर्टेंट आपको बता दूं कि चुनाव और अभिव्यक्ति की आजादी यह दो चीजें एक लोकतंत्र की स्थापना के लिए अति आवश्यक है इससे ज्यादा आवश्यक है अति आवश्यक है लोकतंत्र की स्थापना के लिए क्योंकि अगर चुनाव नहीं होगा तो जो जनता है आपके सरकार से हो सकता वह भी जाए और चुनाव ना होगा अगर अगर कोई भी व्यक्ति एक बार सत्ता में आने के बाद अगर वह निरंकुश हो जाता है मनमानी करने लगता है ऐसे में बिना चुनाव के कोई व्यक्ति निर्णय भी नहीं ले सकता और रही बात देश की आजादी आजादी इसलिए क्योंकि अगर कोई भी सरकार कुछ भी कोई ना कोई किसी ना किसी जनता के साथ कुछ अन्य करती हैं या फिर किसी भी क्षेत्र में फिर चाहे कार्यपालिका न्यायपालिका चाहे जिस विच्छेद कुछ गलत होता है तू अपनी बातों के जरिए कोई भी व्यक्ति कोई भी इंसान अपनी बात सरकार तक पहुंचा सकता है तो ऐसे में अजय की आजादी होना जरूरी है इसीलिए विपक्ष में काम करता है कि वह विपक्ष में बैठे हैं सरकार का ध्यान केंद्रित करती है वह सत्ता में बैठे लोगों की ध्यान केंद्रित करती हैं यह गलत हो रहा है यह सही हो रहा है अगर विपक्ष भी है तब भी समझ लीजिए सरकार अच्छे चलने चाहिए इसीलिए विपक्ष का यही मुख्य कार्य होता है अभिव्यक्ति की आजादी और गलत या सही कार्यों में ध्यान आकर्षित कर आना तो चुनाव एक महत्वपूर्ण चीजें बिना चुनाव की कोई भी व्यक्ति रंग बिना चुनाव की कोई भी व्यक्ति निरंकुश हो सकता है इसे रोकने के लिए यह होना जरूरी है धन्यवाद

chunav kyon hota hai bahut hi accha tarsane very very important aapko bata doon ki chunav aur abhivyakti ki azadi yah do cheezen ek loktantra ki sthapna ke liye ati aavashyak hai isse zyada aavashyak hai ati aavashyak hai loktantra ki sthapna ke liye kyonki agar chunav nahi hoga toh jo janta hai aapke sarkar se ho sakta vaah bhi jaaye aur chunav na hoga agar agar koi bhi vyakti ek baar satta mein aane ke baad agar vaah nirankush ho jata hai manmani karne lagta hai aise mein bina chunav ke koi vyakti nirnay bhi nahi le sakta aur rahi baat desh ki azadi azadi isliye kyonki agar koi bhi sarkar kuch bhi koi na koi kisi na kisi janta ke saath kuch anya karti hain ya phir kisi bhi kshetra mein phir chahen karyapalika nyaypalika chahen jis vichched kuch galat hota hai tu apni baaton ke jariye koi bhi vyakti koi bhi insaan apni baat sarkar tak pohcha sakta hai toh aise mein ajay ki azadi hona zaroori hai isliye vipaksh mein kaam karta hai ki vaah vipaksh mein baithe hain sarkar ka dhyan kendrit karti hai vaah satta mein baithe logo ki dhyan kendrit karti hain yah galat ho raha hai yah sahi ho raha hai agar vipaksh bhi hai tab bhi samajh lijiye sarkar acche chalne chahiye isliye vipaksh ka yahi mukhya karya hota hai abhivyakti ki azadi aur galat ya sahi karyo mein dhyan aakarshit kar aana toh chunav ek mahatvapurna cheezen bina chunav ki koi bhi vyakti rang bina chunav ki koi bhi vyakti nirankush ho sakta hai ise rokne ke liye yah hona zaroori hai dhanyavad

चुनाव क्यों होता है बहुत ही अच्छा तरसने वेरी वेरी इंपॉर्टेंट आपको बता दूं कि चुनाव और अभिव

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  322
WhatsApp_icon
user

Ved prakash Mishra

Journalist Dainik jagran { Naidunia}

1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत एक लोकतांत्रिक देश है जहां पर संसदीय शासन प्रणाली लागू है संसद में व्यक्ति देश के नागरिकों द्वारा चुने हुए प्रतिनिधि जाते हैं जिन्हें सांसद कहा जाता है इन को चुनने का अधिकार जनता को दिया गया है और अपने प्रतिनिधि को संसद तक पहुंचाने के लिए चुनाव का आयोजन होता है हर व्यक्ति की पहुंच सीधे सरकार तक नहीं हो सकती है इसलिए व्यक्ति अपने प्रतिनिधियों को ऐसी जगह भेजता है सरकार के समक्ष हमारी बातें रख सके हमारे चुने हुए प्रतिनिधि एवं सांसद कहते हैं और मंत्रिमंडल के समक्ष सरकार के समक्ष हमारी बातों को रखते हैं क्षेत्र की समस्याओं को परेशानियों को मांगों को रखते हैं या केंद्र उत्तर की बात हुई इसी प्रकार राज्य स्तर पर होता है राज्य स्तर पर हमारे चुने हुए विधायक हैं राज्य विधान मंडल में हमारी बातों को रखते हैं और नीचे आएंगे तो नगरी निकाय होते हैं वहां पर भी यही होता है हमारे द्वारा चुने हुए पार्षद हमारी छोटी समस्याएं मोहल्ले समस्याओं के उसको रखते हैं ग्राम पंचायत स्तर पर भी होता है वार्ड पंच अपने वादों की समस्याओं को रखते हैं इसलिए ही चुनाव होता है जिससे हम अपने प्रतिनिधियों को चुन सकें और सही व्यक्ति वहां तक पहुंचे

bharat ek loktantrik desh hai jaha par sansadiya shasan pranali laagu hai sansad mein vyakti desh ke nagriko dwara chune hue pratinidhi jaate hai jinhen saansad kaha jata hai in ko chunane ka adhikaar janta ko diya gaya hai aur apne pratinidhi ko sansad tak pahunchane ke liye chunav ka aayojan hota hai har vyakti ki pohch sidhe sarkar tak nahi ho sakti hai isliye vyakti apne pratinidhiyo ko aisi jagah bhejta hai sarkar ke samaksh hamari batein rakh sake hamare chune hue pratinidhi evam saansad kehte hai aur mantrimandal ke samaksh sarkar ke samaksh hamari baaton ko rakhte hai kshetra ki samasyaon ko pareshaniyo ko maangon ko rakhte hai ya kendra uttar ki baat hui isi prakar rajya sthar par hota hai rajya sthar par hamare chune hue vidhayak hai rajya vidhan mandal mein hamari baaton ko rakhte hai aur niche aayenge toh nagari nikaay hote hai wahan par bhi yahi hota hai hamare dwara chune hue parshad hamari choti samasyaen mohalle samasyaon ke usko rakhte hai gram panchayat sthar par bhi hota hai ward punch apne vaado ki samasyaon ko rakhte hai isliye hi chunav hota hai jisse hum apne pratinidhiyo ko chun sake aur sahi vyakti wahan tak pahuche

भारत एक लोकतांत्रिक देश है जहां पर संसदीय शासन प्रणाली लागू है संसद में व्यक्ति देश के नाग

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  845
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सरकारों के संचालक चुनाव चुनाव लोकतांत्रिक

sarkaro ke sanchalak chunav chunav loktantrik

सरकारों के संचालक चुनाव चुनाव लोकतांत्रिक

Romanized Version
Likes  44  Dislikes    views  1765
WhatsApp_icon
user
0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देगी आपका सवाल आज चुनाव क्यों होता है तो मैं आपको बता दे रहा हूं कि चुनाव इसलिए होता है क्योंकि जो एक योग्य व्यक्ति शिक्षित व्यक्ति समाजसेवी व्यक्ति हो तो आप उसका चयन करिए और उस उस प्रत्याशी का चयन कीजिए जो आपकी 5 वर्ष सेवा करें आपकी समय हर्ष प्रकार की मदद कर हर प्रकार की समस्या का समाधान करें ऐसे व्यक्ति का चुनाव कीजिए किंग ऐसे व्यक्ति का मत कीजिए किस दो आप आज आपके यहां वोट मांग रहा है आपको लालच दे रहा तो कल वह आपका काम नहीं करेगा इसलिए अच्छे व्यक्ति का चयन कीजिए जिससे हमारा देश में विकसित हो और हम भी विकसित हो

degi aapka sawaal aaj chunav kyon hota hai toh main aapko bata de raha hoon ki chunav isliye hota hai kyonki jo ek yogya vyakti shikshit vyakti samajsevi vyakti ho toh aap uska chayan kariye aur us us pratyashi ka chayan kijiye jo aapki 5 varsh seva kare aapki samay harsh prakar ki madad kar har prakar ki samasya ka samadhan kare aise vyakti ka chunav kijiye king aise vyakti ka mat kijiye kis do aap aaj aapke yahan vote maang raha hai aapko lalach de raha toh kal vaah aapka kaam nahi karega isliye acche vyakti ka chayan kijiye jisse hamara desh me viksit ho aur hum bhi viksit ho

देगी आपका सवाल आज चुनाव क्यों होता है तो मैं आपको बता दे रहा हूं कि चुनाव इसलिए होता है क्

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  155
WhatsApp_icon
user

सपना शर्मा

सामाजिक कार्यकर्ता

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चुनाव क्यों होता है चुनाव इसलिए होता है कि सही व्यक्ति का चुनाव हो सके और वह जो सरकारी काल होते हैं उसमें सही चुनाव के रूप में सही व्यक्ति आ सके और जनता को यह अधिकार दिया गया है कि वह चुनाव में अपना मत देकर सही नेता और सही सरकार को चुन सके इसलिए चुनाव होते हैं सपना शर्मा जय हिंद जय भारत आपका दिन शुभ रहे

chunav kyon hota hai chunav isliye hota hai ki sahi vyakti ka chunav ho sake aur vaah jo sarkari kaal hote hain usme sahi chunav ke roop me sahi vyakti aa sake aur janta ko yah adhikaar diya gaya hai ki vaah chunav me apna mat dekar sahi neta aur sahi sarkar ko chun sake isliye chunav hote hain sapna sharma jai hind jai bharat aapka din shubha rahe

चुनाव क्यों होता है चुनाव इसलिए होता है कि सही व्यक्ति का चुनाव हो सके और वह जो सरकारी काल

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  351
WhatsApp_icon
user
0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

के चुनाव का मतलब ही होता है किस चीज का चयन करना तो वैसे हम सिंपल साधारण शब्दों में कहें तो किसी चीज को चुनना ही चुनाव कहलाता है अगर हम राजनीति में चुनाव की बात करें तो किसी भी तो किसी भी नेता को चुनने के लिए स्थानीय निकाय का हो चाहे वह को एक केंद्र काहे कार्यपालिका को उसको चुनने के लिए जो मतदान होता जिसमें अक्षरा वर्ष से ऊपर वाले लोग हिस्सा लेते हैं उसको उसी प्रक्रिया में मतदान डालकर मुंडा डालते हैं उसी को चुनाव कहते हैं चुनाव इसलिए होता है क्योंकि हमें अपने शासन चलाने के लिए किन नेताओं की जरूरत पड़ती है उनका चेक करने के लिए चुनाव प्रक्रिया होती है कि जो घूम मत है वह किस को अपना नेता चुना चाहता है इसीलिए चुनाव होता है ऐसे ही हाल ही में महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा के चुनाव हुए उससे पहले नरेंद्र मोदी के चुनाव हुए उसके कार्यपालिका के चुनाव हुए हैं ऐसे चुनाव होते हैं किसी नेता को चुने

ke chunav ka matlab hi hota hai kis cheez ka chayan karna toh waise hum simple sadhaaran shabdon mein kahein toh kisi cheez ko chunana hi chunav kehlata hai agar hum raajneeti mein chunav ki baat kare toh kisi bhi toh kisi bhi neta ko chunane ke liye sthaniye nikaay ka ho chahen vaah ko ek kendra kaahe karyapalika ko usko chunane ke liye jo matdan hota jisme akshara varsh se upar waale log hissa lete hain usko usi prakriya mein matdan dalkar munda daalte hain usi ko chunav kehte hain chunav isliye hota hai kyonki hamein apne shasan chalane ke liye kin netaon ki zarurat padti hai unka check karne ke liye chunav prakriya hoti hai ki jo ghum mat hai vaah kis ko apna neta chuna chahta hai isliye chunav hota hai aise hi haal hi mein maharashtra aur haryana mein vidhan sabha ke chunav hue usse pehle narendra modi ke chunav hue uske karyapalika ke chunav hue hain aise chunav hote hain kisi neta ko chune

के चुनाव का मतलब ही होता है किस चीज का चयन करना तो वैसे हम सिंपल साधारण शब्दों में कहें तो

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  112
WhatsApp_icon
user

Raj Kumar

Sports Coach

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इलेक्शन से होते हैं वह किसी भी सरकार को चुनने के लिए कराए जाते हैं किसी भी सरकार को चुनने के लिए खाया जाते हैं या इसके साथ साथ किसी भी अच्छी जो कैंडिडेट होता है उसको उसको चुनने के लिए खाया जाता है आजकल जो चुनाव है लोकसभा चुनाव होते हैं राज्यसभा चुनाव होता है राष्ट्र सुना होता ठीक है पंचायत चुनाव होते हैं स्कूलों में कॉलेजों में चुनाव लक्षण होते हैं

election se hote hain vaah kisi bhi sarkar ko chunane ke liye karae jaate hain kisi bhi sarkar ko chunane ke liye khaya jaate hain ya iske saath saath kisi bhi achi jo candidate hota hai usko usko chunane ke liye khaya jata hai aajkal jo chunav hai lok sabha chunav hote hain rajya sabha chunav hota hai rashtra suna hota theek hai panchayat chunav hote hain schoolon mein collegeon mein chunav lakshan hote hain

इलेक्शन से होते हैं वह किसी भी सरकार को चुनने के लिए कराए जाते हैं किसी भी सरकार को चुनने

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  5
WhatsApp_icon
user

Kesharram

Teacher

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्यों होता है चुनाव दोस्तों इसलिए होता है कि हमारे देश के अंदर जो भी जैसी भी स्थिति है इससे निपटने के लिए इसके समाधान के लिए है और दोस्तों इसको इस जो हमारी सांस्कृतिक है जो हमारा सिस्टम है इसको सही तरीके से हम समझ सके और इस पर हम अच्छा कार्य कर सकें अगर अच्छा कार्य नहीं करते हैं और अगले को ऐसा लगता है तो दोस्तों वह अपॉजिट पार्टी को है वह बहुमत देकर के और उनकी सरकार बना करके और दोस्तों काम किया जा सकता है चुनाव का मतलब स्पष्ट है दोस्तों की जो भी प्रक्रिया है उसको ठीक तरीके से लागू करना योजना के अनुरूप कार्य करना यह चुनाव होता है आशा करता हूं मेरे द्वारा दी गई जानकारी 4 संतुष्ट होंगे धन्यवाद दोस्तों जय हिंद जय मां

kyon hota hai chunav doston isliye hota hai ki hamare desh ke andar jo bhi jaisi bhi sthiti hai isse nipatane ke liye iske samadhan ke liye hai aur doston isko is jo hamari sanskritik hai jo hamara system hai isko sahi tarike se hum samajh sake aur is par hum accha karya kar sake agar accha karya nahi karte hain aur agle ko aisa lagta hai toh doston vaah apajit party ko hai vaah bahumat dekar ke aur unki sarkar bana karke aur doston kaam kiya ja sakta hai chunav ka matlab spasht hai doston ki jo bhi prakriya hai usko theek tarike se laagu karna yojana ke anurup karya karna yah chunav hota hai asha karta hoon mere dwara di gayi jaankari 4 santusht honge dhanyavad doston jai hind jai maa

क्यों होता है चुनाव दोस्तों इसलिए होता है कि हमारे देश के अंदर जो भी जैसी भी स्थिति है इसस

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  376
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे चुनाव होने का मुख्य कारण यह है कि हम राष्ट्र की जनता अपने प्रतिनिधि को अपने हिसाब से वह प्रतिनिधि जो हमारे राष्ट्र को सही तरीके से चला सके इसके लिए हम चुनाव में भाग लेते हैं या फिर हमारे देश में चुनाव होते हैं

dekhe chunav hone ka mukhya karan yah hai ki hum rashtra ki janta apne pratinidhi ko apne hisab se vaah pratinidhi jo hamare rashtra ko sahi tarike se chala sake iske liye hum chunav mein bhag lete hain ya phir hamare desh mein chunav hote hain

देखे चुनाव होने का मुख्य कारण यह है कि हम राष्ट्र की जनता अपने प्रतिनिधि को अपने हिसाब से

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
user
0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चुनाव क्यों होते हैं देखे चुनाव इसलिए उसने था कि आप डिसाइड करते हैं कौन सी पार्टी बनेगी हमारे देश के अंदर कौन सी पार्टी है जो रोल करता है कि हमारे देश को और पार्टी इसीलिए तो है ताकि हम लोगों ने वोट देते हैं और जो आर्टिफिशियल हमारा डेवलपमेंट करने के लिए ही है तो अगर आप डेवलपमेंट कराना चाहते हैं तो उसी पार्टी को वोट दें जिससे आपको लगता है कि हां यह पार्टी डेवलपमेंट कर सकती है तो ऐसा ही होता है मैंने इसीलिए चुनाव होता है तो वह उनका कार्य है देश का विकास करना वैसे हमारा कार्य है कि हम सोच समझकर बोर्ड में

chunav kyon hote hain dekhe chunav isliye usne tha ki aap decide karte hain kaun si party banegi hamare desh ke andar kaun si party hai jo roll karta hai ki hamare desh ko aur party isliye toh hai taki hum logo ne vote dete hain aur jo artificial hamara development karne ke liye hi hai toh agar aap development krana chahte hain toh usi party ko vote de jisse aapko lagta hai ki haan yah party development kar sakti hai toh aisa hi hota hai maine isliye chunav hota hai toh vaah unka karya hai desh ka vikas karna waise hamara karya hai ki hum soch samajhkar board mein

चुनाव क्यों होते हैं देखे चुनाव इसलिए उसने था कि आप डिसाइड करते हैं कौन सी पार्टी बनेगी हम

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!