आपको क्या लगता है कि 35 साल की एक अविवाहित महिला की ज़िंदगी कैसी होगी?...


user

Gyandeep Kkr

Social Activist

4:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ज्यादातर महिलाओं की शादी हो जाती है और बहुत कम ऐसी भिलाई होती हैं जो अविवाहित रहती है परंतु जैसे पहले तो हमारा समाज ऐसा था कि महिलाएं जैसे अविवाहित रहे तो कुछ कहता था कि वह चाहते हैं कि शादी हो जाए समाज ऐसा है परंतु आजकल हमने देखा वैसे तो आज भी चाहते हैं कि विवाह हो माता-पिता चाहते हैं विवाह हो परंतु मैंने बहुत सारी ऐसी लड़कियां देखी है जो अविवाहित रहती है इसमें हमें किसी को जबरदस्ती कुछ नहीं करना चाहिए का शिकार हो सकते कोई आध्यात्मिक लिहाज से या किसी को वैसे वह चीज अच्छी नहीं लगती अब देखो जब विवाह हो जाता है तो लड़कियों की जिंदगी कैसे हो जाती है जिसने एक अच्छी जिंदगी जी है पूरा जीवन जैसे अपने माता-पिता के साथ एक उनके माता-पिता कितना प्यार करते हैं औरों को एकदम शादी के बाद एक नए घर में जाती है या तो किसी को वह मुझे अच्छी लगती हो पराधीनता छीना लगती हो और यह कितना मुश्किल भी हो जाता है हम देखते हैं कि लड़ाई झगड़ा सास बहू की नहीं बनती एक नए जीवन को कोई स्वीकार नहीं कर पाता तो अगर वह उसमें फेल हो जाए तो इससे अच्छा अगर वह ऐसा डिसीजन करता है कि मैं ऐसे ही खुश हूं तो हमें कोई एतराज नहीं होना चाहिए क्योंकि अगर हम विवाह करके निभाना पाए वह भी तो गलत है तो वैसे अगर किसी का ऐसा मन है कि उसको विवाह करना था किसी कारण से नहीं हो पाया उसकी जिंदगी थोड़ी अलग हो जाती है कि विवाह करना था किसी कारण से नहीं हो पाया उसको तो वह चीजें दुखी कर सकती है परंतु जो अपनी इच्छा से उसको लगता है कि मैं ऐसी ठीक हूं वह खुश है तो दूसरे को एक राज नहीं होना चाहिए हम किसी भी चीज को यह नहीं कह सकते कि जो इतने सारे लोगों ने किया वह भी आप ही करो और ना ही हमें किसी की पर्सनल जिंदगी में कुछ ऐसा कहना चाहिए क्योंकि हर एक के जो मॉल है या कुछ भी है हर एक का जीवन अलग अलग है हम किसी को इतना नहीं समझ पाते हम खुद की जिंदगी को इतना समझ पाते तो हम दूसरे पर क्या कमेंट कर सकते हैं तो वैसे मैंने देखा है बहुत सारी लड़कियां रहती हैं हमारे घर में भी एक लड़की रहती थी वह भी तो इतनी 35 की तो नहीं हुई उससे कम है उसकी इच्छा है कि मैं बात ना करूं तो जो ऐसी लड़की है वह नहीं कराना चाहती अगर उसकी जबरदस्ती कर देंगे तो फिर वह सोचिए वह कैसे निभाएगी तो कोई भी कारण हो सकता है और हमारे समाज में लड़कियों की जो दुर्दशा है तो उसको देखकर मैं एक और चीज पति हूं कि मुझे तो अच्छा नहीं लगता विवाह की जो ऐसा विवाह जिसमें हम्मा एक बंद के राइटर पल-पल इतना मतलब मानसिक टेंशन होती है तो सुख हो मानसिक संतोष हो तभी जीवन आगे बढ़ सकता है यहां जिसका जीवन सुखी है वह अलग चीज है और आजकल मैंने काफी सुना है कि माता-पिता मैंने माता से सुना कि मैं चाहती हूं कि मेरी बेटी कभी बाद हूं यह पहले नहीं सुना करते थे काफी नहीं चाहते कि बेटी दुखी हो जाती है हमें पता ही है कितने लोगों के सुनते हैं मालू किसी का तलाक हो जाए बाद में इससे अच्छा अगर कोई ऐसे रहना चाहता है तो ठीक है तो हमें भी दिक्कत नहीं होनी चाहिए समाज को स्मार्ट बस इतना किसी को जवाब भी नहीं देते तो मुझे तो लगता है कि अकेले रहना सही है अगर कोई रह सके और अगर कोई नहीं रहना चाहता मतलब खेलने नहीं रहेगा तो को जबरदस्ती रहना पड़ता है बहुत थोड़ा अलग हो जाता है तो बाकी सबकी अपनी-अपनी सिचुएशन पर है

jyadatar mahilaon ki shaadi ho jaati hai aur bahut kam aisi bhilai hoti hain jo avivahit rehti hai parantu jaise pehle toh hamara samaj aisa tha ki mahilaye jaise avivahit rahe toh kuch kahata tha ki vaah chahte hain ki shaadi ho jaaye samaj aisa hai parantu aajkal humne dekha waise toh aaj bhi chahte hain ki vivah ho mata pita chahte hain vivah ho parantu maine bahut saari aisi ladkiya dekhi hai jo avivahit rehti hai isme hamein kisi ko jabardasti kuch nahi karna chahiye ka shikaar ho sakte koi aadhyatmik lihaj se ya kisi ko waise vaah cheez achi nahi lagti ab dekho jab vivah ho jata hai toh ladkiyon ki zindagi kaise ho jaati hai jisne ek achi zindagi ji hai pura jeevan jaise apne mata pita ke saath ek unke mata pita kitna pyar karte hain auron ko ekdam shaadi ke baad ek naye ghar me jaati hai ya toh kisi ko vaah mujhe achi lagti ho paradhinta chinaa lagti ho aur yah kitna mushkil bhi ho jata hai hum dekhte hain ki ladai jhagda saas bahu ki nahi banti ek naye jeevan ko koi sweekar nahi kar pata toh agar vaah usme fail ho jaaye toh isse accha agar vaah aisa decision karta hai ki main aise hi khush hoon toh hamein koi ittaraj nahi hona chahiye kyonki agar hum vivah karke nibhana paye vaah bhi toh galat hai toh waise agar kisi ka aisa man hai ki usko vivah karna tha kisi karan se nahi ho paya uski zindagi thodi alag ho jaati hai ki vivah karna tha kisi karan se nahi ho paya usko toh vaah cheezen dukhi kar sakti hai parantu jo apni iccha se usko lagta hai ki main aisi theek hoon vaah khush hai toh dusre ko ek raj nahi hona chahiye hum kisi bhi cheez ko yah nahi keh sakte ki jo itne saare logo ne kiya vaah bhi aap hi karo aur na hi hamein kisi ki personal zindagi me kuch aisa kehna chahiye kyonki har ek ke jo mall hai ya kuch bhi hai har ek ka jeevan alag alag hai hum kisi ko itna nahi samajh paate hum khud ki zindagi ko itna samajh paate toh hum dusre par kya comment kar sakte hain toh waise maine dekha hai bahut saari ladkiya rehti hain hamare ghar me bhi ek ladki rehti thi vaah bhi toh itni 35 ki toh nahi hui usse kam hai uski iccha hai ki main baat na karu toh jo aisi ladki hai vaah nahi krana chahti agar uski jabardasti kar denge toh phir vaah sochiye vaah kaise nibhayegi toh koi bhi karan ho sakta hai aur hamare samaj me ladkiyon ki jo durdasha hai toh usko dekhkar main ek aur cheez pati hoon ki mujhe toh accha nahi lagta vivah ki jo aisa vivah jisme hamma ek band ke writer pal pal itna matlab mansik tension hoti hai toh sukh ho mansik santosh ho tabhi jeevan aage badh sakta hai yahan jiska jeevan sukhi hai vaah alag cheez hai aur aajkal maine kaafi suna hai ki mata pita maine mata se suna ki main chahti hoon ki meri beti kabhi baad hoon yah pehle nahi suna karte the kaafi nahi chahte ki beti dukhi ho jaati hai hamein pata hi hai kitne logo ke sunte hain maloom kisi ka talak ho jaaye baad me isse accha agar koi aise rehna chahta hai toh theek hai toh hamein bhi dikkat nahi honi chahiye samaj ko smart bus itna kisi ko jawab bhi nahi dete toh mujhe toh lagta hai ki akele rehna sahi hai agar koi reh sake aur agar koi nahi rehna chahta matlab khelne nahi rahega toh ko jabardasti rehna padta hai bahut thoda alag ho jata hai toh baki sabki apni apni situation par hai

ज्यादातर महिलाओं की शादी हो जाती है और बहुत कम ऐसी भिलाई होती हैं जो अविवाहित रहती है परंत

Romanized Version
Likes  140  Dislikes    views  1024
KooApp_icon
WhatsApp_icon
8 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
35 साल की महिला ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!