तरंग सिद्धांत क्या है?...


user
0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सिद्धांत हाई हाइगेंस ट्रांसलेशन सिद्धांत तरंग गति के विश्लेषण से संबंधित एक विधि है जो निकट क्षेत्र बीच विवर्तन तथा क्षेत्र विवर्तन दोनों के विश्लेषण महा सहायता विश्लेषण में सहायता करता है

siddhant high haigens translation siddhant tarang gati ke vishleshan se sambandhit ek vidhi hai jo nikat kshetra beech vivartan tatha kshetra vivartan dono ke vishleshan maha sahayta vishleshan mein sahayta karta hai

सिद्धांत हाई हाइगेंस ट्रांसलेशन सिद्धांत तरंग गति के विश्लेषण से संबंधित एक विधि है जो निक

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Prabhat Kumar

Teacher at Oxford English High School 7 year experience

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब हम कमरे में लगी खिड़की को खोलते हैं तो हम देखते हैं कि सूरज का प्रकाश खिड़की से आता है और फिर पूरे कमरे में फैल जाता है जिससे पूरे कमरे में उजाला हो जाता है उसने सोचा कि जरूर प्रकाश की तरंग के रूप में होता है इसलिए ही तो फिर कि उसे आई हुई प्रकाश की ने पूरे कमरे में फैल गए तब यह संभव है जब प्रकाश की तरंग रूप में हो इसलिए प्रकाश पूरे कमरे में फैल जाता है

jab hum kamre mein lagi khidki ko kholte hain toh hum dekhte hain ki suraj ka prakash khidki se aata hai aur phir poore kamre mein fail jata hai jisse poore kamre mein ujaala ho jata hai usne socha ki zaroor prakash ki tarang ke roop mein hota hai isliye hi toh phir ki use I hui prakash ki ne poore kamre mein fail gaye tab yah sambhav hai jab prakash ki tarang roop mein ho isliye prakash poore kamre mein fail jata hai

जब हम कमरे में लगी खिड़की को खोलते हैं तो हम देखते हैं कि सूरज का प्रकाश खिड़की से आता है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
user

Munmun 🌈

Volunteer

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उनकी न्यूटन के के समकालीन जर्मन विद्वान जाएंगे में लेसन 1678 में प्रकाश का तरंग सिद्धांत का प्रतिपादन किया था और उसके अनुसार वह समस्त संसार में एक अत्यंत हल्का और रहस्यमई पदार्थ इधर भरा हुआ था और तारों के बीच के विशाल लोशन नकाश में भी और ठोस द्रव्य के अंदर तथा जो परमाणुओं के अभ्यंतर में भी थी

unki newton ke ke samkalin german vidhwaan jaenge mein Lesson 1678 mein prakash ka tarang siddhant ka pratipadan kiya tha aur uske anusaar vaah samast sansar mein ek atyant halka aur rahasyamai padarth idhar bhara hua tha aur taaron ke beech ke vishal lotion nakash mein bhi aur thos dravya ke andar tatha jo parmanuo ke abhyantar mein bhi thi

उनकी न्यूटन के के समकालीन जर्मन विद्वान जाएंगे में लेसन 1678 में प्रकाश का तरंग सिद्धांत क

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!