प्रकृति और प्राकृतिक में क्या अंतर है?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रकृति मतलब भगवान और प्राकृतिक मतलब भगवान द्वारा बनाया हुआ चीज

prakriti matlab bhagwan aur prakirtik matlab bhagwan dwara banaya hua cheez

प्रकृति मतलब भगवान और प्राकृतिक मतलब भगवान द्वारा बनाया हुआ चीज

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  317
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Er Jaisingh

Mathematics Solution, 1:00PM TO 2:00PM

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रकृति और प्राकृतिक में क्या अंतर है प्रकृति हुआ है कि है जो हमें आंखों से दिख रही है वह प्रकृति है और प्राकृतिक एनी नेचुरल नेचुरल वह है जो जिसने हमारी आंखों के सामने नहीं दिख रहा है नेचुरल प्राकृतिक या नहीं दिख रहा है ब्रह्मांड नेचुरल उसे हम पर या प्राकृतिक बोलते हैं प्रकृति जो आपके आंखों के सामने दिख रही है वह प्रकृति है धन्यवाद

prakriti aur prakirtik mein kya antar hai prakriti hua hai ki hai jo hamein aankho se dikh rahi hai vaah prakriti hai aur prakirtik any natural natural vaah hai jo jisne hamari aankho ke saamne nahi dikh raha hai natural prakirtik ya nahi dikh raha hai brahmaand natural use hum par ya prakirtik bolte hain prakriti jo aapke aankho ke saamne dikh rahi hai vaah prakriti hai dhanyavad

प्रकृति और प्राकृतिक में क्या अंतर है प्रकृति हुआ है कि है जो हमें आंखों से दिख रही है वह

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  1128
WhatsApp_icon
user

vedprakash singh

Psychologist

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है प्रकृति और प्राकृतिक में क्या अंतर है प्रकृति होता है इसको इंग्लिश में नेचर बोलते हैं और प्राकृतिक को नेचुरल सॉरी प्रकृति को बोलते हैं नेचुरल था और प्रकृति को बोलते हैं आर्टिफिशियल नेचुरल और नीचे प्रकृति और प्राकृतिक प्रकृति और प्राकृतिक में क्या अंतर है प्रकृति जो प्रकृति होता है वह जन्म दायिनी होता है जो प्राकृतिक होता है प्राकृतिक प्रकृति के बाद का जो प्रकृति के बाद का जो हंस होता हुआ तब प्राकृतिक जब हम प्रकृति द्वारा दी गई चीजों में कुछ बदलाव करते हैं क्या उसकी देखरेख करते हैं तो उसे हम प्राकृतिक बोलते हैं ताकि अधिक संपदा है मतलब की पुरानी प्रकृति के रीति रिवाज का बचा हुआ कुछ शेष प्रकृति तो यह हो गया कि जो ईश्वर द्वारा बनाई गई एवं प्रकृति होगी और दूसरी बात है प्रकृति जो प्रकृति है वह जो पुराना हो जाता है उन चीजों का जाम देखरेख करते हैं बाकी तो जावरा चीजों को तो सब प्राकृतिक बहुत अंतर है प्रकृति वाले की कि ज्यादा टाइम हो जाए तो उसे प्राकृतिक बोला जाता है

aapka sawaal hai prakriti aur prakirtik mein kya antar hai prakriti hota hai isko english mein nature bolte hain aur prakirtik ko natural sorry prakriti ko bolte hain natural tha aur prakriti ko bolte hain artificial natural aur niche prakriti aur prakirtik prakriti aur prakirtik mein kya antar hai prakriti jo prakriti hota hai vaah janam dayini hota hai jo prakirtik hota hai prakirtik prakriti ke baad ka jo prakriti ke baad ka jo hans hota hua tab prakirtik jab hum prakriti dwara di gayi chijon mein kuch badlav karte kya uski dekhrekh karte hain toh use hum prakirtik bolte hain taki adhik sampada hai matlab ki purani prakriti ke riti rivaaj ka bacha hua kuch shesh prakriti toh yah ho gaya ki jo ishwar dwara banai gayi evam prakriti hogi aur dusri baat hai prakriti jo prakriti hai vaah jo purana ho jata hai un chijon ka jam dekhrekh karte hain baki toh javara chijon ko toh sab prakirtik bahut antar hai prakriti waale ki ki zyada time ho jaaye toh use prakirtik bola jata hai

आपका सवाल है प्रकृति और प्राकृतिक में क्या अंतर है प्रकृति होता है इसको इंग्लिश में नेचर ब

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  197
WhatsApp_icon
user

kick kick

At Work

0:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सट्टा मटका कल्याण में फिक्स ओपन क्या आएगा

satta matka kalyan mein fix open kya aayega

सट्टा मटका कल्याण में फिक्स ओपन क्या आएगा

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  96
WhatsApp_icon
user

Shavika Setia

volunteer

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रकृति व्यापक अर्थ में प्राकृतिक होती ग्राम पदार्थ इस जगह से अपना बना प्रकृति का संदर्भ बौद्धिक जगत के दृश्य से ही हो सकता है और जीवन से भी हो सकता है प्रकृति का अध्ययन विज्ञान के अध्ययन का बड़ा हिस्सा है लक्ष्मी के रूप में समझा जाता है मानव और पशु पशु आदि सभी प्रकृति की ही देन है मानव अपनी विकास की ओर बढ़ता जा रहा है पर वह प्रगति की अनदेखा कर रहा है

prakriti vyapak arth mein prakirtik hoti gram padarth is jagah se apna bana prakriti ka sandarbh baudhik jagat ke drishya se hi ho sakta hai aur jeevan se bhi ho sakta hai prakriti ka adhyayan vigyan ke adhyayan ka bada hissa hai laxmi ke roop mein samjha jata hai manav aur pashu pashu aadi sabhi prakriti ki hi then hai manav apni vikas ki aur badhta ja raha hai par vaah pragati ki andekha kar raha hai

प्रकृति व्यापक अर्थ में प्राकृतिक होती ग्राम पदार्थ इस जगह से अपना बना प्रकृति का संदर्भ ब

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  38
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रकृति जो आंखों से देखी जा सके जिसे हम अनुभव करते थे जो हमें खुशी देती हो वह प्रकृति और प्राकृतिक जो नए चले जो हमारी नीचे है वह प्रभु प्राकृतिक है नेचर को कोई बदल नहीं सकता उसे शब्बीर किया जा सकता है लेकिन जो हमारी आंखें बनी होती है वह उसको कोई भी चेंज नहीं कर सकता

prakriti jo aankho se dekhi ja sake jise hum anubhav karte the jo hamein khushi deti ho vaah prakriti aur prakirtik jo naye chale jo hamari niche hai vaah prabhu prakirtik hai nature ko koi badal nahi sakta use shabbir kiya ja sakta hai lekin jo hamari aankhen bani hoti hai vaah usko koi bhi change nahi kar sakta

प्रकृति जो आंखों से देखी जा सके जिसे हम अनुभव करते थे जो हमें खुशी देती हो वह प्रकृति और प

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  515
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!