DelhiPoliceProtest: जो पुलिसकर्मी दोपहर तक धरने पर थे, वह शाम को कैसे मान गए? आपकी क्या राय है?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे प्रोटेस्ट और दादा किन्ही वजहों से किया जाता है और धरने की मांगों पर डिपेंड करता है कि धरना कब तक चलेगा और कब तक खत्म होगा अगर इस बारे में विस्तार से जानना है तो आप इस प्रोजेक्ट की न्यूज़ देखिए उसके अंदर न्यूज़ में जानकारियां पूरी दी गई है कि जो शाम को क्यों उठ गए क्यों मान गए इसमें हमारी गवर्नमेंट कभी सहयोग है जिन्होंने वक्त रहते पुलिस वालों के लिए सहायता पूर्ण स्थितियां गायब गरीब और योग्य

dekhe protest aur dada kinhi vajhon se kiya jata hai aur dharne ki maangon par depend karta hai ki dharna kab tak chalega aur kab tak khatam hoga agar is bare me vistaar se janana hai toh aap is project ki news dekhiye uske andar news me jankariyan puri di gayi hai ki jo shaam ko kyon uth gaye kyon maan gaye isme hamari government kabhi sahyog hai jinhone waqt rehte police walon ke liye sahayta purn sthitiyan gayab garib aur yogya

देखे प्रोटेस्ट और दादा किन्ही वजहों से किया जाता है और धरने की मांगों पर डिपेंड करता है

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  924
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!