#Ayodhya: अगर राम भगवान हर जगह है, तो फिर मंदिर उस एक स्थान पर ही क्यों हो जिसके लिए हिंदू लड़ रहे हैं?...


user

Dr. Mahesh Mohan Jha

Asst. Professor,Astrologer,Author

2:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है अयोध्या अगर राम भगवान हर जगह है फिर मंदिर एक स्थान पर ही क्यों हूं जिसके लिए इतनी दूर रहा है अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम श्री रामचंद्र जी का जन्म हुआ था भगवान तू सर्व व्यापक भगवान सर्वत्र किंतु आप का प्रश्न है अगर सर्वत्र है तो अयोध्या में श्री राम सुनील जी का मंत्री को श्री रामचंद्र जी को हम लोग मर्यादा पुरुषोत्तम मोड करके उनके चित्र का अनुसरण करके उनके पति को भगवान मानकर के पूजा मंत्र उनका जन्म पुराणों के अनुसार रामवीर कविता अयोध्या में मना किया है यह हमारे संस्कृति का एक प्रतीक और धर्म यह भी कहता है आपका जो संस्कृति हो उस संस्कृति को बचाए रखना भी आपका कर्तव्य बनता है कि सही संस्कार बनता और संस्कार से ही आत्मसमपण होते हैं और धर्म परायण होने पर ही आपका अध्यात्मिक विकास होगा और जब आध्यात्मिक विकास होगा तब प्रभु का दर्शन होगा ईश्वर से साक्षात्कार होगा इसलिए हमारा यह भी कर्तव्य है हमारे देश का जो संस्कृति है उसको आने वाली पीढ़ी को 161 शिक्षा के रूप में वहां जहां जन्म भूमि है वहां मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम जी का मंदिर होना चाहिए

aapka prashna hai ayodhya agar ram bhagwan har jagah hai phir mandir ek sthan par hi kyon hoon jiske liye itni dur raha hai ayodhya me maryada purushottam shri ramachandra ji ka janam hua tha bhagwan tu surv vyapak bhagwan sarvatra kintu aap ka prashna hai agar sarvatra hai toh ayodhya me shri ram sunil ji ka mantri ko shri ramachandra ji ko hum log maryada purushottam mode karke unke chitra ka anusaran karke unke pati ko bhagwan maankar ke puja mantra unka janam purano ke anusaar ramvir kavita ayodhya me mana kiya hai yah hamare sanskriti ka ek prateek aur dharm yah bhi kahata hai aapka jo sanskriti ho us sanskriti ko bachaye rakhna bhi aapka kartavya banta hai ki sahi sanskar banta aur sanskar se hi atmasamapan hote hain aur dharm parayan hone par hi aapka adhyatmik vikas hoga aur jab aadhyatmik vikas hoga tab prabhu ka darshan hoga ishwar se sakshatkar hoga isliye hamara yah bhi kartavya hai hamare desh ka jo sanskriti hai usko aane wali peedhi ko 161 shiksha ke roop me wahan jaha janam bhoomi hai wahan maryada purushottam prabhu shri ram ji ka mandir hona chahiye

आपका प्रश्न है अयोध्या अगर राम भगवान हर जगह है फिर मंदिर एक स्थान पर ही क्यों हूं जिसके लि

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  166
KooApp_icon
WhatsApp_icon
14 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!