#Ayodhya: अगर राम भगवान हर जगह है, तो फिर मंदिर उस एक स्थान पर ही क्यों हो जिसके लिए हिंदू लड़ रहे हैं?...


user
0:35
Play

Likes  219  Dislikes    views  2504
WhatsApp_icon
13 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Narendra Bhardwaj

Spirituality Reformer

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रीमान जी आपने पूछा अगर राम भगवान हर जगह है तो फिर मंदिर उस एक स्थान पर ही क्यों हो जिसके लिए हिंदू लड़का है भैया एक आस्था का विषय है और जहां भगवान का जन्म स्थान है यह बहुत सारे हिंदुओं की सनातन धर्म से जुड़े हुए लोगों की आस्था का केंद्र है और आस्था के लिए व्यक्ति मरने मारने को तैयार हो जाते हैं तो यह जो आपने कहा कि जब सब जगह है तो फिर राम मंदिर के लिए अयोध्या के लिए इतनी लड़ाई झगड़ा क्यों इसको एक उदाहरण से समझ लीजिए कि प्रकृति में हवा सब जगह है लेकिन जब आपकी गाड़ी का पहिया पंचर हो जाता है तो आप पंचर सही कराने कहां जाते हैं उसी दुकान पर ना जहां पर उसकी व्यवस्था होती है तो जब आदमी अपने जीवन में परेशान होता है दुखी होता है तो वह अपने आस्था के केंद्र पर जाता है वहां जाकर वह शांति की खोज करता और शांति का अनुभव करता है अयोध्या भी ऐसी ही जगह है जहां लोगों की आस्था है क्योंकि वह भगवान राम की जन्मभूमि उसके प्रति आस्था होना स्वाभाविक आपने कहा यह भी सच है कि भगवान कण-कण में सर्वत्र हैं सब जगह राम है लेकिन तू की आस्था उनके जन्म स्थान से लोगों के जुड़ी हुई है इसलिए उसके लिए लोग लड़ने को तैयार है मेरा ऐसा नाता है धन्यवाद

shriman ji aapne poocha agar ram bhagwan har jagah hai toh phir mandir us ek sthan par hi kyon ho jiske liye hindu ladka hai bhaiya ek astha ka vishay hai aur jaha bhagwan ka janam sthan hai yah bahut saare hinduon ki sanatan dharm se jude hue logo ki astha ka kendra hai aur astha ke liye vyakti marne maarne ko taiyar ho jaate hain toh yah jo aapne kaha ki jab sab jagah hai toh phir ram mandir ke liye ayodhya ke liye itni ladai jhagda kyon isko ek udaharan se samajh lijiye ki prakriti me hawa sab jagah hai lekin jab aapki gaadi ka pahiya puncher ho jata hai toh aap puncher sahi karane kaha jaate hain usi dukaan par na jaha par uski vyavastha hoti hai toh jab aadmi apne jeevan me pareshan hota hai dukhi hota hai toh vaah apne astha ke kendra par jata hai wahan jaakar vaah shanti ki khoj karta aur shanti ka anubhav karta hai ayodhya bhi aisi hi jagah hai jaha logo ki astha hai kyonki vaah bhagwan ram ki janmbhoomi uske prati astha hona swabhavik aapne kaha yah bhi sach hai ki bhagwan kan kan me sarvatra hain sab jagah ram hai lekin tu ki astha unke janam sthan se logo ke judi hui hai isliye uske liye log ladane ko taiyar hai mera aisa nataa hai dhanyavad

श्रीमान जी आपने पूछा अगर राम भगवान हर जगह है तो फिर मंदिर उस एक स्थान पर ही क्यों हो जिसके

Romanized Version
Likes  78  Dislikes    views  1072
WhatsApp_icon
user
1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान तो सर्व व्याप्त होते ही हैं और सभी जगह हैं लेकिन राम मंदिर उनकी जो झगड़ा हो रहा है लड़ाई हो रही है वह इसलिए हो रही है कि भगवान श्रीराम ने सीता जब पृथ्वी पर जन्म लिया था अयोध्या का स्थान जहां पर की वर्तमान में खिले लड़ाई हो रही है कि हिंदू धर्म की आस्था से जुड़ी हुई है भगवान राम का अयोध्या में जन्म हुआ है और उनकी जन्मस्थली इस बात के लिए अंग्रेजों ने बाबर ने फिर से राम मंदिर बनना इसी बात को हिंदू आस्था की बात है इसलिए भगवान बैठे तो सर्वत्र व्याप्त है

bhagwan toh surv vyapt hote hi hain aur sabhi jagah hain lekin ram mandir unki jo jhadna ho raha hai ladai ho rahi hai vaah isliye ho rahi hai ki bhagwan shriram ne sita jab prithvi par janam liya tha ayodhya ka sthan jaha par ki vartaman mein khile ladai ho rahi hai ki hindu dharm ki astha se judi hui hai bhagwan ram ka ayodhya mein janam hua hai aur unki janmasthali is baat ke liye angrejo ne babar ne phir se ram mandir banna isi baat ko hindu astha ki baat hai isliye bhagwan baithe toh sarvatra vyapt hai

भगवान तो सर्व व्याप्त होते ही हैं और सभी जगह हैं लेकिन राम मंदिर उनकी जो झगड़ा हो रहा है ल

Romanized Version
Likes  100  Dislikes    views  1991
WhatsApp_icon
user

Suraj Shaw

Entrepreneur, Career Counsellor

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो मोदी के काफी सनसेट मुद्दा बन चुका है इतना बड़ा मुद्दा था ही नहीं है एक्चुली उसको हमारे कुछ पॉलीटिशियंस ने मिलकर के इस मुद्दे को बहुत बड़ा बना दिया अब यह बात सिर्फ एक मंदिर की नहीं रही है ना मुस्लिम और हिंदू के मिलिट्री क्यों गई है तो सिर्फ एक मंदिर बनाना ऑप्शन नहीं है सरकार के पास सन और बात सिर्फ एक मंदिर की है अभी नहीं इसलिए कुछ 500 सालों में गर्म देखे तो हिंदू मुस्लिम के बीच जो ही ड्रेड है वो कहां पर पड़ता है बढ़ रहे तो एक ही है जो चाहिए मेरे ख्याल से सिचुएशन और वर्ष कर देगी किसी के सपोर्ट में भी अगर फैसला आता है तू जो पोजीशन है वह काफी नाराज हो गया उसे देखे क्या फैसला था किसी को नहीं पता लेकिन जो भी फैसला आएगा उससे एक कम्यूनिटी को प्रॉब्लम तो होगी और यह तूने बड़ा मुद्दा नहीं था लेकिन बना बन चुके हैं पॉलीटिशियंस के कारण 20 लोगों को समझ रहा है थोड़ा तो सिर्फ एक मंदिर बन जाए नहीं सैया एक मस्जिद टूट जाने से कोई सीख लिया था भगवान हर जगह है अल्लाह हर जगह से लोगों को समझ ले

hello modi ke kaafi sunset mudda ban chuka hai itna bada mudda tha hi nahi hai ekchuli usko hamare kuch politicians ne milkar ke is mudde ko bahut bada bana diya ab yah baat sirf ek mandir ki nahi rahi hai na muslim aur hindu ke miltary kyon gayi hai toh sirf ek mandir banana option nahi hai sarkar ke paas san aur baat sirf ek mandir ki hai abhi nahi isliye kuch 500 salon mein garam dekhe toh hindu muslim ke beech jo hi dread hai vo kahaan par padta hai badh rahe toh ek hi hai jo chahiye mere khayal se situation aur varsh kar degi kisi ke support mein bhi agar faisla aata hai tu jo position hai vaah kaafi naaraj ho gaya use dekhe kya faisla tha kisi ko nahi pata lekin jo bhi faisla aayega usse ek community ko problem toh hogi aur yah tune bada mudda nahi tha lekin bana ban chuke hain politicians ke karan 20 logo ko samajh raha hai thoda toh sirf ek mandir ban jaaye nahi saiya ek masjid toot jaane se koi seekh liya tha bhagwan har jagah hai allah har jagah se logo ko samajh le

हेलो मोदी के काफी सनसेट मुद्दा बन चुका है इतना बड़ा मुद्दा था ही नहीं है एक्चुली उसको हमार

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  811
WhatsApp_icon
user

महेश सेठ

रेकी ग्रैंडमास्टर,लाइफ कोच

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह सवाल गलत है भगवान राम हर जगह है कौन मंदिर उसी जगह बनना चाहिए क्योंकि अरबों खरबों लोगों की श्रद्धा उनके साथ हैं जय श्री राम

yah sawaal galat hai bhagwan ram har jagah hai kaun mandir usi jagah banna chahiye kyonki araboon kharbo logo ki shraddha unke saath hain jai shri ram

यह सवाल गलत है भगवान राम हर जगह है कौन मंदिर उसी जगह बनना चाहिए क्योंकि अरबों खरबों लोगों

Romanized Version
Likes  132  Dislikes    views  2327
WhatsApp_icon
user

Dr. Ashwani Kumar Singh

Chairman & Director at VEMS

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर हवा सब जगह है तो हम नाक से ही क्यों लेते हैं और अगर किसी साइकिल की हवा ट्यूब में हवा है उसमें भरने के लिए किसी एक जगह से क्यों नहीं मानते हैं कि 41 आज तक पर यह सवाल पूछा जाता है क्यों पूछा जाता है और यही बात अगर पूछा जाए कि अल्लाह सब जगह है तुम्हारे मजे की क्या जरूरत है पूछने का साहस किसी मीडिया राजनेता तथाकथित समाजसेवी तथाकथित सेकुलर वाद तथाकथित बंपर तथा करीब मानवाधिकार कोई किसी में ताकत नहीं और अफसोस होता है अगर सच बोलने का जज्बा नहीं होता वर्ग मत उठाओ ना करने की हिम्मत नहीं हो तो दृष्टि दृष्टि को बोलने की कोशिश मत करो और यह किसी एक का स्थान पर तो राम का जन्म हुआ होगा और अगर उसे जन्म हुआ होगा 2002 में हुआ है इस को साबित करने की कोई जरूरत ही नहीं है और इस पर फैसला जो भी माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आता है उसको प्रत्येक भारतवंशी को स्वीकार करना चाहिए और कहानी कानूनी अड़चन है कोई बात है तो उस पर बात करने के लिए शुक्रिया सर

agar hawa sab jagah hai toh hum nak se hi kyon lete hain aur agar kisi cycle ki hawa tube mein hawa hai usme bharne ke liye kisi ek jagah se kyon nahi maante hain ki 41 aaj tak par yah sawaal poocha jata hai kyon poocha jata hai aur yahi baat agar poocha jaaye ki allah sab jagah hai tumhare maje ki kya zarurat hai poochne ka saahas kisi media raajneta tathakathit samajsevi tathakathit secular vad tathakathit bumper tatha kareeb manavadhikar koi kisi mein takat nahi aur afasos hota hai agar sach bolne ka jajba nahi hota varg mat uthao na karne ki himmat nahi ho toh drishti drishti ko bolne ki koshish mat karo aur yah kisi ek ka sthan par toh ram ka janam hua hoga aur agar use janam hua hoga 2002 mein hua hai is ko saabit karne ki koi zarurat hi nahi hai aur is par faisla jo bhi mananiya sarvoch nyayalaya ke aata hai usko pratyek bharatvanshi ko sweekar karna chahiye aur kahani kanooni adachan hai koi baat hai toh us par baat karne ke liye shukriya sir

अगर हवा सब जगह है तो हम नाक से ही क्यों लेते हैं और अगर किसी साइकिल की हवा ट्यूब में हवा ह

Romanized Version
Likes  254  Dislikes    views  3170
WhatsApp_icon
user

Dr.Swatantra Sharma

Yoga Expert & Consultant

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसे हम कोई वाहन चलाते हैं और उस के टायर में हवा भरी जाती है यद्यपि पूरे वातावरण में हवा है अगर यह माना जाए कि पूरे वातावरण में हवा है तो फिर टायर में हवा भरने की क्या जरूरत है इसीलिए जब भगवान सब जगह कण-कण में विद्यमान है लेकिन उसके प्राकृतिक की अनुभूति करने के लिए कोई स्थान विशेष यानी ऊर्जा के कंडेंसेशन की बहुत आवश्यकता होती है पूरे संसार में उड़ जाए उष्मा है लेकिन उसका कंडेंसेशन का एक स्रोत सूर्य है जहां से कंडेंस होकर के ऊर्जा पूरे संसार में किसी प्रकार से आस्था का कंडेंसेशन जहां से प्रत्येक प्राणी प्रेरणा ले सकें भगवान राम के मर्यादा पुरुषोत्तम के भाव को पूरे देश में जागृत किया जा सके और उनके आचरण से सीख ली जा सके ऐसे किसी एक केंद्र की आवश्यकता होती है इसलिए वहां पर राम मंदिर की आवश्यकता

jaise hum koi vaahan chalte hain aur us ke tyre mein hawa bhari jaati hai yadyapi poore vatavaran mein hawa hai agar yah mana jaaye ki poore vatavaran mein hawa hai toh phir tyre mein hawa bharne ki kya zarurat hai isliye jab bhagwan sab jagah kan kan mein vidyaman hai lekin uske prakirtik ki anubhuti karne ke liye koi sthan vishesh yani urja ke kandenseshan ki bahut avashyakta hoti hai poore sansar mein ud jaaye usma hai lekin uska kandenseshan ka ek srot surya hai jaha se Condense hokar ke urja poore sansar mein kisi prakar se astha ka kandenseshan jaha se pratyek prani prerna le sake bhagwan ram ke maryada purushottam ke bhav ko poore desh mein jagrit kiya ja sake aur unke aacharan se seekh li ja sake aise kisi ek kendra ki avashyakta hoti hai isliye wahan par ram mandir ki avashyakta

जैसे हम कोई वाहन चलाते हैं और उस के टायर में हवा भरी जाती है यद्यपि पूरे वातावरण में हवा

Romanized Version
Likes  51  Dislikes    views  989
WhatsApp_icon
play
user
1:18

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान राम हर जगह है लेकिन हिंदू मान्यता और धार्मिक आस्था के अनुसार भगवान राम का जन्म अयोध्या में हुआ था और जिस जगह पर विवादित ढांचा है वहां भगवान राम का मंदिर था एक मनुष्य सांसारिक जीवन जीता है उसे और रूप में भगवान की पूजा करने की आदत नहीं होती है वह मौत रूप में था मंदिर में भगवान के फोटो में भगवान की मूर्तियों में भगवान को महसूस करता है जिससे उसका ध्यान भगवान के प्रति केंद्रित होता है वही एक व्यक्ति पिता भगवान की फोटो बिना मंदिर के लिए अपनी अंतरात्मा अपने मन से भगवान चांद आ सकता है जो सांसारिक माया मोह से मुक्त होता है हिंदुओं की धार्मिक आस्था हिंदुओं की धार्मिक आस्था उस स्थान से जुड़ी हुई है इसलिए लड़ाई हिंदुओं के द्वारा चढ़ी जा रही है

bhagwan ram har jagah hai lekin hindu manyata aur dharmik astha ke anusaar bhagwan ram ka janam ayodhya mein hua tha aur jis jagah par vivaadit dhancha hai wahan bhagwan ram ka mandir tha ek manushya sansarik jeevan jita hai use aur roop mein bhagwan ki puja karne ki aadat nahi hoti hai vaah maut roop mein tha mandir mein bhagwan ke photo mein bhagwan ki murtiyon mein bhagwan ko mehsus karta hai jisse uska dhyan bhagwan ke prati kendrit hota hai wahi ek vyakti pita bhagwan ki photo bina mandir ke liye apni antaraatma apne man se bhagwan chand aa sakta hai jo sansarik maya moh se mukt hota hai hinduon ki dharmik astha hinduon ki dharmik astha us sthan se judi hui hai isliye ladai hinduon ke dwara chadhi ja rahi hai

भगवान राम हर जगह है लेकिन हिंदू मान्यता और धार्मिक आस्था के अनुसार भगवान राम का जन्म अयोध्

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  809
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम भगवान हर जगह एक अंतरिक्ष श्री राम जन्मभूमि वहां पर मंदिर था और पुराण राम का जन्म स्थान होने की वजह से पहले मां मंदिर जो था उसके तोड़कर या उसमें छेड़छाड़ करके सूचित कर दिया था क्योंकि गिराई जा चुकी है और पनीर बनाने की मांग पुरानी सुप्रीम कोर्ट का केस चल रहा है और आने वाले समय में इसका जजमेंट आ जाएगा अब तो सही है कि श्री राम का मंदिर वहीं पर केवल कहीं भी बना लेकिन जन्म स्थान जन्म भूमि की होती है और अयोध्या का विवाद जो है हिंदुओं के लिए इसी जरूरत ने लगता जलील को विवादित इसलिए माना जाता है कि श्री राम के जन्म स्थान पर मंदिर रामलला विराजमान थे और उस मंदिर बाबरी मस्जिद इसलिए विभाग का कारण है कि मंदिर को तोड़कर मस्जिद बनाई है ज्योति पूरे देश में हैं कि वहां पर मंदिर था राम का जन्म स्थान होने की वजह से हिंदुओं के मन में राम बसते जन्म स्थान मंदिर प्रभाव से जन्म स्थान श्री राम का स्टीलर नहीं अपनी जिद कर रहे हैं मंदिर वहीं बनाएंगे और इसका राजनीतिक दलों ने भी खुलकर कुछ पार्टी में समर्थन किया हुआ है पहले वह जगह आजादी के बाद ताले में से बंद कर दी गई लेकिन राजीव गांधी जी ने उसे खोल दिया आलिया और बीजेपी वालों ने समय-समय पर अखबारों की संख्या में टूटता रहा है वह जगह और भावना की ज्योति सब लोग अपना अपना पक्ष रखने को क्या फैसला व्यक्ति उसी के ऊपर आगे का मंदिर बनेगा या क्या करना है मुझे जाकर सुप्रीम कोर्ट फैसला धन्यवाद

ram bhagwan har jagah ek antariksh shri ram janmbhoomi wahan par mandir tha aur puran ram ka janam sthan hone ki wajah se pehle maa mandir jo tha uske todkar ya usme chedchad karke suchit kar diya tha kyonki girai ja chuki hai aur paneer banane ki maang purani supreme court ka case chal raha hai aur aane waale samay mein iska judgement aa jaega ab toh sahi hai ki shri ram ka mandir wahi par keval kahin bhi bana lekin janam sthan janam bhoomi ki hoti hai aur ayodhya ka vivaad jo hai hinduon ke liye isi zarurat ne lagta jalil ko vivaadit isliye mana jata hai ki shri ram ke janam sthan par mandir ramalala viraajamaan the aur us mandir babri masjid isliye vibhag ka karan hai ki mandir ko todkar masjid banai hai jyoti poore desh mein hai ki wahan par mandir tha ram ka janam sthan hone ki wajah se hinduon ke man mein ram baste janam sthan mandir prabhav se janam sthan shri ram ka stilar nahi apni jid kar rahe hai mandir wahi banayenge aur iska raajnitik dalon ne bhi khulkar kuch party mein samarthan kiya hua hai pehle vaah jagah azadi ke baad tale mein se band kar di gayi lekin rajeev gandhi ji ne use khol diya aliya aur bjp walon ne samay samay par akhbaron ki sankhya mein tootata raha hai vaah jagah aur bhavna ki jyoti sab log apna apna paksh rakhne ko kya faisla vyakti usi ke upar aage ka mandir banega ya kya karna hai mujhe jaakar supreme court faisla dhanyavad

राम भगवान हर जगह एक अंतरिक्ष श्री राम जन्मभूमि वहां पर मंदिर था और पुराण राम का जन्म स्थान

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1396
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों आपका पर्सेंट अत्यंत ही सुंदर है कि अगर राम श्री राम हर जगह है तो फिर मंदिर उसी से क्यों मनाने या फिर उसके लिए हिंदू क्यों लड़ रहे हैं यह सांप का प्रश्न है दोस्तों अत्यंत ही सुंदर प्रश्न किया है परंतु आपके प्रश्न का एक ही एक ही बात में उत्तर देना चाहता हूं वायु तो सब जगह है परंतु हम हवा बढ़ाने के लिए पेंसिल की दुकान पर क्यों जाते हैं दोस्तों इसी प्रकार ईश्वर तो सब जगह है परंतु कुछ जगह ऐसी होती है जिस पर ईश्वर का कोई निशानी के तौर पर देखा जाता है जिससे अयोध्या में श्री राम मंदिर को अयोध्या योगी श्री रामचंद्र जी की जन्मभूमि थी इसलिए उनकी याद कित मंदिर वहां पर बन्ना अति आवश्यक है दूसरा दोस्तों इसका केवल याद और केवल हम ईश्वर का सम्मान करें इसके लिए नहीं है आगामी आने वाली जो वीडियो है आगामी आने वाली जो युग है उनमें हम अपने आने वाले जो संता ने हमारी संतान हमारी संतान की संतान उसके बाद ईश्वर को जानती रहे उससे जुड़ी रहे उन्हें बता रही कि रघुनाथ जी कौन थे उन्हें पता रहे कि श्री राम कौन थे और उस उत्तम कौन थे पुरुषों में मुख्य खून थे यह उन्हें भेज और उन्हें यह भी पता चले कि किस प्रकार सच्चाई सच्चाई केवल अकेली होते हुए भी बुराई का चाहे कितना भी बड़ा बड़ा गढ़ क्यों न हो रावण की तरह जाएं उसने दसों दिशाओं की द्वारपालों को बंदी बना लिया हो यहां तक कि यमराज को भी अपने नियंत्रण में ले गया और अनेक आर्थिक मदद को भी अपने नियंत्रण में ले लिया तो ऐसी ऐसी बुराई को भी लोगों ने धर्म ने उसे मिटाया यह हमारी आने वाली पीढ़ियों को पता रहे इसलिए हम मंदिर बनाना अति आवश्यक है दोस्तों मंदिर बनाने से मैं यह नहीं कहता कि हम पूजा अर्चना ज्यादा कर पाएंगे परंतु मैं यह अवश्य कहता हूं कि बंदर बनने से हमारी आस्था और ज्यादा मजबूत अवश्य होती है और हमारे आने वाले जो वीडियो है वह उन्हें पता रहता है कि पुरुषोत्तम श्रीराम कौन थे संपूर्ण संसार जानता है उनकी वीरता को उनकी आदरणीय ताको आपको पता नहीं शायद कि रघुनाथ जी की गुरु की व्याख्या कोई नहीं कर सकता क्योंकि श्री राम रक्षा स्तोत्र मंत्र में कहा गया है कि रघुनाथ चरित्रम शतकोटी प्रवेश धर्म एक ही कम अक्षर अंबुजा महा पाठक नाचना श्री रामचंद्र जी का चरित्र 100 करोड़ विस्तार वाला है और उनका एक-एक नाम बड़े-बड़े पापों को मिटाने वाला है दोस्तों मैं कहता हूं इसलिए रघुनाथ जी का मंदिर तो वहीं पर बनेगा और बनना भी आवश्यक है और हिंदू उसके लिए लड़ रहे हैं ऐसी तो कोई बड़ी बात नहीं है मैं बता रहा हूं कि श्रीराम कुतुब जानते हैं किसी भी धर्म का क्यों ना हो उस मंदिर को वहां पर बनाने के लिए अवश्य जो जाएगा ऐसा मेरा मत है और वह सभी विद्वान लोग जो श्रीराम को जानते हैं वह मंदिर बनाने के लिए ही लड़ रहे हैं इसमें केवल हिंदू धर्म के लोग जो श्रीराम को जानते हैं वह मंदिर बनाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं जय श्री राम दोस्तों

doston aapka percent atyant hi sundar hai ki agar ram shri ram har jagah hai toh phir mandir usi se kyon manne ya phir uske liye hindu kyon lad rahe hai yah saap ka prashna hai doston atyant hi sundar prashna kiya hai parantu aapke prashna ka ek hi ek hi baat mein uttar dena chahta hoon vayu toh sab jagah hai parantu hum hawa badhane ke liye pencil ki dukaan par kyon jaate hai doston isi prakar ishwar toh sab jagah hai parantu kuch jagah aisi hoti hai jis par ishwar ka koi nishani ke taur par dekha jata hai jisse ayodhya mein shri ram mandir ko ayodhya yogi shri ramachandra ji ki janmbhoomi thi isliye unki yaad kit mandir wahan par bana ati aavashyak hai doosra doston iska keval yaad aur keval hum ishwar ka sammaan kare iske liye nahi hai aagaami aane wali jo video hai aagaami aane wali jo yug hai unmen hum apne aane waale jo santa ne hamari santan hamari santan ki santan uske baad ishwar ko jaanti rahe usse judi rahe unhe bata rahi ki raghunath ji kaun the unhe pata rahe ki shri ram kaun the aur us uttam kaun the purushon mein mukhya khoon the yah unhe bhej aur unhe yah bhi pata chale ki kis prakar sacchai sacchai keval akeli hote hue bhi burayi ka chahen kitna bhi bada bada garh kyon na ho ravan ki tarah jayen usne deso dishaon ki dwarpalo ko bandi bana liya ho yahan tak ki yamraj ko bhi apne niyantran mein le gaya aur anek aarthik madad ko bhi apne niyantran mein le liya toh aisi aisi burayi ko bhi logo ne dharm ne use mitaya yah hamari aane wali peedhiyon ko pata rahe isliye hum mandir banana ati aavashyak hai doston mandir banane se main yah nahi kahata ki hum puja archna zyada kar payenge parantu main yah avashya kahata hoon ki bandar banne se hamari astha aur zyada majboot avashya hoti hai aur hamare aane waale jo video hai vaah unhe pata rehta hai ki purushottam shriram kaun the sampurna sansar jaanta hai unki veerta ko unki adaraniya taako aapko pata nahi shayad ki raghunath ji ki guru ki vyakhya koi nahi kar sakta kyonki shri ram raksha stotra mantra mein kaha gaya hai ki raghunath charitram shatkoti pravesh dharm ek hi kam akshar ambuja maha pathak nachna shri ramachandra ji ka charitra 100 crore vistaar vala hai aur unka ek ek naam bade bade paapon ko mitne vala hai doston main kahata hoon isliye raghunath ji ka mandir toh wahi par banega aur bana bhi aavashyak hai aur hindu uske liye lad rahe hai aisi toh koi baadi baat nahi hai bata raha hoon ki shriram qutub jante hai kisi bhi dharm ka kyon na ho us mandir ko wahan par banne liye avashya jo jaega aisa mera mat hai aur vaah sabhi vidhwaan log jo shriram ko jante hai vaah mandir banne liye hi lad rahe hai isme keval hindu dharm ke log jo shriram ko jante hai vaah mandir banne liye sangharsh kar rahe hai jai shri ram doston

दोस्तों आपका पर्सेंट अत्यंत ही सुंदर है कि अगर राम श्री राम हर जगह है तो फिर मंदिर उसी से

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  372
WhatsApp_icon
user

Dr. Mahesh Mohan Jha

Asst. Professor,Astrologer,Author

2:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है अयोध्या अगर राम भगवान हर जगह है फिर मंदिर एक स्थान पर ही क्यों हूं जिसके लिए इतनी दूर रहा है अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम श्री रामचंद्र जी का जन्म हुआ था भगवान तू सर्व व्यापक भगवान सर्वत्र किंतु आप का प्रश्न है अगर सर्वत्र है तो अयोध्या में श्री राम सुनील जी का मंत्री को श्री रामचंद्र जी को हम लोग मर्यादा पुरुषोत्तम मोड करके उनके चित्र का अनुसरण करके उनके पति को भगवान मानकर के पूजा मंत्र उनका जन्म पुराणों के अनुसार रामवीर कविता अयोध्या में मना किया है यह हमारे संस्कृति का एक प्रतीक और धर्म यह भी कहता है आपका जो संस्कृति हो उस संस्कृति को बचाए रखना भी आपका कर्तव्य बनता है कि सही संस्कार बनता और संस्कार से ही आत्मसमपण होते हैं और धर्म परायण होने पर ही आपका अध्यात्मिक विकास होगा और जब आध्यात्मिक विकास होगा तब प्रभु का दर्शन होगा ईश्वर से साक्षात्कार होगा इसलिए हमारा यह भी कर्तव्य है हमारे देश का जो संस्कृति है उसको आने वाली पीढ़ी को 161 शिक्षा के रूप में वहां जहां जन्म भूमि है वहां मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम जी का मंदिर होना चाहिए

aapka prashna hai ayodhya agar ram bhagwan har jagah hai phir mandir ek sthan par hi kyon hoon jiske liye itni dur raha hai ayodhya me maryada purushottam shri ramachandra ji ka janam hua tha bhagwan tu surv vyapak bhagwan sarvatra kintu aap ka prashna hai agar sarvatra hai toh ayodhya me shri ram sunil ji ka mantri ko shri ramachandra ji ko hum log maryada purushottam mode karke unke chitra ka anusaran karke unke pati ko bhagwan maankar ke puja mantra unka janam purano ke anusaar ramvir kavita ayodhya me mana kiya hai yah hamare sanskriti ka ek prateek aur dharm yah bhi kahata hai aapka jo sanskriti ho us sanskriti ko bachaye rakhna bhi aapka kartavya banta hai ki sahi sanskar banta aur sanskar se hi atmasamapan hote hain aur dharm parayan hone par hi aapka adhyatmik vikas hoga aur jab aadhyatmik vikas hoga tab prabhu ka darshan hoga ishwar se sakshatkar hoga isliye hamara yah bhi kartavya hai hamare desh ka jo sanskriti hai usko aane wali peedhi ko 161 shiksha ke roop me wahan jaha janam bhoomi hai wahan maryada purushottam prabhu shri ram ji ka mandir hona chahiye

आपका प्रश्न है अयोध्या अगर राम भगवान हर जगह है फिर मंदिर एक स्थान पर ही क्यों हूं जिसके लि

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
user

Ramandeep Singh

Waheguru industry

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो राम को मानता है वह कभी लड़ाई नहीं करता जो लड़ता है वह कभी राम को मानता नहीं और जो राम को मानता है उसके लिए क्या अयोध्या और क्या मक्का मस्जिद क्या गुरुद्वारे क्या घर जाकर और जो नहीं मानता उसके लिए मंदिर भी है गिरजाघर भी है काबा भी है गुरुद्वारे भी हैं धन्यवाद

jo ram ko maanta hai vaah kabhi ladai nahi karta jo ladata hai vaah kabhi ram ko maanta nahi aur jo ram ko maanta hai uske liye kya ayodhya aur kya makka masjid kya gurudware kya ghar jaakar aur jo nahi maanta uske liye mandir bhi hai girjaghar bhi hai Kaba bhi hai gurudware bhi hain dhanyavad

जो राम को मानता है वह कभी लड़ाई नहीं करता जो लड़ता है वह कभी राम को मानता नहीं और जो राम क

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  101
WhatsApp_icon
user
0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्योंकि वह क्योंकि वह श्री राम का जन्म स्थान है और जहां जन्म स्थान होता है वहीं पर मंदिर बनना सुख मारना चाहता है

kyonki vaah kyonki vaah shri ram ka janam sthan hai aur jaha janam sthan hota hai wahi par mandir banna sukh marna chahta hai

क्योंकि वह क्योंकि वह श्री राम का जन्म स्थान है और जहां जन्म स्थान होता है वहीं पर मंदिर ब

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  5
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!