क्या किसी तरह से IAS अफ़सर भी दिल्ली की भयंकर प्रदूषण के लिए ज़िम्मेदार हैं?...


user

Manmohan

Yoga Expert

0:28
Play

Likes  2  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
14 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Vedpal

Social Worker

3:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राजकीय प्रशासन में आईएस की सबसे बड़ी भूमिका होती है क्योंकि वह बीमा के टॉप के नौकरशाह होते हैं जितने भी नेता होते यह तो ज्यादातर अनपढ़ होते अंगूठा टेक होते हैं उनको कुछ भी पता होता तो जो भी प्रशासन होता है कानून भी जो बनाए जाते हैं कारण के जो ड्राफ्ट होते हैं वह भी आईएससी बनाते हैं नेता लोगों तो अंगूठा पिक्चर तो आईएस की भूमिका बहुत बड़ी है क्योंकि सुप्रीम कर सकते हैं और आपका के मूल पर से दिल्ली में प्रदूषण से संबंधित किसी भी सरकार का जो प्रदूषण है वही है क्या दिन भर है बिल्कुल जिम्मेदार हो सकते हो सकते क्या है वो इसलिए कि दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी बनी हुई है उसमें भी आइए सोचते हैं डिस्ट्रिक्ट लेवल डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर एडीएम एसडीएम यह सारे होते हैं इनकी ड्यूटी होती है कि यह प्रदूषण के बारे में जितने भी हीरो से बालोतरा फैक्ट्री ज्योति है उनको उन पर बैन लगे उन को छीलकर लेकिन कुछ करती नहीं यह तो थोड़ी बहुत कुछ फॉर्मेलिटी करते हैं फिर लिस्ट वगैरह बनाते हैं तब यह थोड़ी बहुत कारगर रूप से योग इंटरनेट रेगुलर वर्क है यह जो भी ड्यूटी है वह कभी जरूरत ही नहीं पड़ेगी सुप्रीम कोर्ट के इसी होटल तो और चौड़ाई को शिकायत करने जाएगा सुप्रीम कोर्ट को डिपार्टमेंट डिपार्टमेंट क्या उसका दिल का सिसा टूटा भी एक काम है जो हुआ जो ट्रैफिक है जो कल से उन से रिलेटेड जो भी पोलूशन ने उस को कंट्रोल करना तब होता क्या है कि पर प्रदूषण का सपोर्ट करो फॉर एग्जांपल ₹2000 का फाइन है किसी को पकड़ लिया है माल मुझे कमर्शियल व्हीकल को उस पर आप पुलिस वाले समय नावर सेटिंग होकर छूट जाएगा ₹500 छोड़ रहा है दूसरे चलते हैं जो उन संस्थान कागज दे दिया जाता सर्टिफिकेट के आगे लोग कंट्रोल पॉपुलेशन उसमें बीता हुआ करता था पहले एडजस्टमेंट कर देते तो ड्राइवर से पेचकस से तो जी लो जी आप आपका पोलूशन हो गया वह सर्टिफिकेट बना कर देता था 3 महीने के लिए सारी चीजें बाबू क्या बताएं यार जो हार्वेस्टर में छेनी तो कहां का क्या करूंगा इतना सारा रोड पर पोलूशन होता है मिट्टी धूल डस्ट होती है जब ज्यादा कोई दम घुटने लगता है कोई सुप्रीम कोर्ट को डराते हैं फिर कहते हैं हम पानी छोड़ करेंगे अगले करें है क्यों एमसीडी हो चैट कलेक्टर लेवल कवचा पोलूशन डिपार्टमेंट ट्रांसपोर्ट बृजपाल सेक्रेट्री एग्जीक्यूटिव की ड्यूटी से बनती है लेकिन यह करते लूंगा

rajkiya prashasan me ias ki sabse badi bhumika hoti hai kyonki vaah bima ke top ke naukarashah hote hain jitne bhi neta hote yah toh jyadatar anpad hote angootha take hote hain unko kuch bhi pata hota toh jo bhi prashasan hota hai kanoon bhi jo banaye jaate hain karan ke jo draft hote hain vaah bhi ISC banate hain neta logo toh angootha picture toh ias ki bhumika bahut badi hai kyonki supreme kar sakte hain aur aapka ke mul par se delhi me pradushan se sambandhit kisi bhi sarkar ka jo pradushan hai wahi hai kya din bhar hai bilkul zimmedar ho sakte ho sakte kya hai vo isliye ki delhi pradushan niyantran committee bani hui hai usme bhi aaiye sochte hain district level district collector ADM sdm yah saare hote hain inki duty hoti hai ki yah pradushan ke bare me jitne bhi hero se balotra factory jyoti hai unko un par ban lage un ko chilakar lekin kuch karti nahi yah toh thodi bahut kuch formality karte hain phir list vagera banate hain tab yah thodi bahut kargar roop se yog internet regular work hai yah jo bhi duty hai vaah kabhi zarurat hi nahi padegi supreme court ke isi hotel toh aur chaudai ko shikayat karne jaega supreme court ko department department kya uska dil ka sisa tuta bhi ek kaam hai jo hua jo traffic hai jo kal se un se related jo bhi pollution ne us ko control karna tab hota kya hai ki par pradushan ka support karo for example Rs ka fine hai kisi ko pakad liya hai maal mujhe commercial vehicle ko us par aap police waale samay navar setting hokar chhut jaega Rs chhod raha hai dusre chalte hain jo un sansthan kagaz de diya jata certificate ke aage log control population usme bita hua karta tha pehle adjustment kar dete toh driver se pechakas se toh ji lo ji aap aapka pollution ho gaya vaah certificate bana kar deta tha 3 mahine ke liye saari cheezen babu kya bataye yaar jo harvester me cheni toh kaha ka kya karunga itna saara road par pollution hota hai mitti dhul dust hoti hai jab zyada koi dum ghutne lagta hai koi supreme court ko darate hain phir kehte hain hum paani chhod karenge agle kare hai kyon mcd ho chat collector level kavcha pollution department transport brijpal secretary executive ki duty se banti hai lekin yah karte lunga

राजकीय प्रशासन में आईएस की सबसे बड़ी भूमिका होती है क्योंकि वह बीमा के टॉप के नौकरशाह होते

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  366
WhatsApp_icon
user

Avinash Dubey

Career Coach

2:20
Play

Likes  3  Dislikes    views  76
WhatsApp_icon
user

Ansh jalandra

Motivational speaker

0:24
Play

Likes  116  Dislikes    views  1974
WhatsApp_icon
user

Manish Singh

Engineer

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देवकरण सबसे बड़ी बात यह है कि प्रदूषण एक ही स्टेट का नहीं आर स्टेट का समस्या बन चुका है और रही बात दिल्ली की तो दिल्ली में जो प्रदूषण बढ़ रहा है इसके कहीं न कहीं बहुत सारे ऐसे छोटे-छोटे रीजन से जिनकी वजह से प्रदूषण बढ़ रहा है और उसे हम कम कर सकते हैं और 4 एग्जांपल देख लीजिए आपकी जो सरके हैं उसमें साइड में बहुत सारे से मैंने देखा है मैं भी गया हूं वहां पर तू दूसरे से कचोरी खुलेआम पड़े हैं जिसको मैं उसे स्क्रीन की आड़ में भेजा डंपिंग यार्ड में भेजा जा रहा है तू और नाली भी देखो तो ओपनली बह रहे हैं और फैक्ट्रियों के कारखाने की जो गंदे पानी है वह भी ऐसे ओपनली जा कर रहे हैं तो इसमें जो है कहने कहीं वहां का इनफॉर्मेंट जो है दूषित हो रहा है प्रदूषण बढ़ने का यह भी रिजल्ट है और तो और हमें जो है वहां पर जो पेड़ पौधे जो है कम मात्रा में तो उन्हें जो पेड़ पौधे को बढ़ाना चाहिए और जो भी हमारे जो पानी के जो सप्लाई है उसमें उसमें ध्यान रखें और उसमें जो सिल्ट राजू प्रॉपर्ली जो फिल्टर की जो समाचार उसको भी ध्यान देना चाहिए और सबसे बड़ी चाहिए कि कारखानों की वजह से जहां कारखाने ज्यादा मात्रा में वहां पर उसे बताइए और तो और हमारी चोरी कल से उसी प्रॉपर्ली मेंटेन नहीं करते और वहां पर मैंने देखा है बहुत सारे सेकंड हैंड नहीं कल से चलती हैं जिनका इतने भारी मात्रा में कार्बन निकलता है कि पूछो मत तू कहीं गई छोटी-छोटी समस्याओं को से निपटने के लिए हमें सरकार से गुजारिश करनी पड़ेगी और उसमें जनता ही सबसे आगे रहनी चाहिए क्योंकि जनता का ही काम है जो प्रदूषण को रोकना तो जनता जब तक कदम नहीं उठाएगी तब तक सरकार उसे नोटिस नहीं करेगी तो कहीं न कहीं छोटी-मोटी चीजों को ध्यान में रखते हुए सरकार अगर इस नियम और जो सिस्टम है इसका का पालन करती है तो कहीं न कहीं खुद कुछ हद तक कम हो सकता है

devkaran sabse badi baat yah hai ki pradushan ek hi state ka nahi R state ka samasya ban chuka hai aur rahi baat delhi ki toh delhi me jo pradushan badh raha hai iske kahin na kahin bahut saare aise chote chote reason se jinki wajah se pradushan badh raha hai aur use hum kam kar sakte hain aur 4 example dekh lijiye aapki jo sarake hain usme side me bahut saare se maine dekha hai main bhi gaya hoon wahan par tu dusre se kachori khuleaam pade hain jisko main use screen ki aad me bheja dumping yard me bheja ja raha hai tu aur nali bhi dekho toh openly wah rahe hain aur faiktriyon ke karkhane ki jo gande paani hai vaah bhi aise openly ja kar rahe hain toh isme jo hai kehne kahin wahan ka inafarment jo hai dushit ho raha hai pradushan badhne ka yah bhi result hai aur toh aur hamein jo hai wahan par jo ped paudhe jo hai kam matra me toh unhe jo ped paudhe ko badhana chahiye aur jo bhi hamare jo paani ke jo supply hai usme usme dhyan rakhen aur usme jo silt raju properly jo filter ki jo samachar usko bhi dhyan dena chahiye aur sabse badi chahiye ki karkhanon ki wajah se jaha karkhane zyada matra me wahan par use bataiye aur toh aur hamari chori kal se usi properly maintain nahi karte aur wahan par maine dekha hai bahut saare second hand nahi kal se chalti hain jinka itne bhari matra me carbon nikalta hai ki pucho mat tu kahin gayi choti choti samasyaon ko se nipatane ke liye hamein sarkar se gujarish karni padegi aur usme janta hi sabse aage rehni chahiye kyonki janta ka hi kaam hai jo pradushan ko rokna toh janta jab tak kadam nahi uthayegee tab tak sarkar use notice nahi karegi toh kahin na kahin choti moti chijon ko dhyan me rakhte hue sarkar agar is niyam aur jo system hai iska ka palan karti hai toh kahin na kahin khud kuch had tak kam ho sakta hai

देवकरण सबसे बड़ी बात यह है कि प्रदूषण एक ही स्टेट का नहीं आर स्टेट का समस्या बन चुका है और

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  533
WhatsApp_icon
play
user

Dr Jayadev Sarangi

Worked at Indian Administrative Service (AGMUT), Formerly SECRETARY,GOVERNMENT OF NCT OF DELHI/Goa Government .Formerly Expert UNODC

0:54

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल्ली में प्रदूषण के काफी सारे कारण हैं और पूरी की पूरी सरकारी पुत्र को उसमें जिम्मेवारी लेना पड़ेगा चाहे इसमें कोई एक खास तबके को मैग्नीशिया पॉलीटिशियंस करने के लिए सरकारी तंत्र को केंद्र और राज्य सरकार को नागरिकों की मीडिया को सबको मिलके इतनी बड़ी समस्या दिल्ली में उनकी बातें करना पड़ेगा उठाने का समय नहीं है और कोई इंसान कुछ नहीं गलत या सही कर रहा है तुम मिली ग्रुप से सब लोगों को भी भिकारी लेना पड़ेगा और शारीरिक रूप से करना पड़ेगा

delhi mein pradushan ke kaafi saare karan hain aur puri ki puri sarkari putra ko usme jimmewari lena padega chahen isme koi ek khaas tabke ko magnesia politicians karne ke liye sarkari tantra ko kendra aur rajya sarkar ko nagriko ki media ko sabko milke itni badi samasya delhi mein unki batein karna padega uthane ka samay nahi hai aur koi insaan kuch nahi galat ya sahi kar raha hai tum mili group se sab logo ko bhi bhikari lena padega aur sharirik roop se karna padega

दिल्ली में प्रदूषण के काफी सारे कारण हैं और पूरी की पूरी सरकारी पुत्र को उसमें जिम्मेवारी

Romanized Version
Likes  140  Dislikes    views  2339
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

2:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या किसी तरह से आईएएस ऑफीसर भी जिंदगी बनकर प्रदूषण के लिए जिम्मेदार है केवल दिल्ली की प्रदूषण के लिए जनता या फैक्ट्रियां या मार्केट सरकार अकेले में डालनी प्रदूषण की पैनी में या उसको रोकथाम ना करने वाले सभी प्रकार के प्रशासनिक अधिकारी भी जिम्मेदार अगर प्रशासनिक अधिकारी अपने पद का गरमा को चूसते हुए 98 कि दिल्ली में किसी प्रकार की व्यवस्था नहीं होगी उनके रहते हुए नहीं हो सकती किसी तरह का एनवायरनमेंट खराब नहीं होगा चाहे वह पोलूशन से रिलेटेड हो या लड़ाई झगड़े से या दंगों से रिलेटेड हो लेकिन या यह सेट कारी जो है केंद्र सरकार के अंडर पिक्चर काम करते हैं जब तक केंद्र सरकार उन्हें काम करने का आदेश नहीं देती यह हाथ मिलाते हैं अगर यह हितकारी कल्याणकारी और जनता के लाभ करें किसी भी कार्य के लिए गडरिया आगे बढ़ते तोता का दिन का कुछ नहीं बिगाड़ सकती क्योंकि जनता समर्थन में खड़ी हो जाएगी किस अधिकारी ने जनता की भाई के लिए काम किया अगर यह ना होता तो जनता मर गई होती तो मैं सरकार कुछ नहीं कर सकती ट्रांसफर भी करेंगी तो चेक ट्रांसफर वापस लेना पड़ेगा कभी जनता सड़क पर उतरी अधिकारी सरकार केंद्र पर्सन में आकर जनता के नकली जेंट्स का परिचय देते

kya kisi tarah se IAS officer bhi zindagi bankar pradushan ke liye zimmedar hai keval delhi ki pradushan ke liye janta ya factoriyan ya market sarkar akele mein daalni pradushan ki paini mein ya usko roktham na karne waale sabhi prakar ke prashaasnik adhikari bhi zimmedar agar prashaasnik adhikari apne pad ka grma ko chuste hue 98 ki delhi mein kisi prakar ki vyavastha nahi hogi unke rehte hue nahi ho sakti kisi tarah ka environment kharab nahi hoga chahen vaah pollution se related ho ya ladai jhagde se ya dango se related ho lekin ya yah set kaari jo hai kendra sarkar ke under picture kaam karte hain jab tak kendra sarkar unhe kaam karne ka aadesh nahi deti yah hath milaate hain agar yah hitkari kalyaankari aur janta ke labh kare kisi bhi karya ke liye gadariya aage badhte tota ka din ka kuch nahi bigad sakti kyonki janta samarthan mein khadi ho jayegi kis adhikari ne janta ki bhai ke liye kaam kiya agar yah na hota toh janta mar gayi hoti toh main sarkar kuch nahi kar sakti transfer bhi karengi toh check transfer wapas lena padega kabhi janta sadak par utari adhikari sarkar kendra person mein aakar janta ke nakli gents ka parichay dete

क्या किसी तरह से आईएएस ऑफीसर भी जिंदगी बनकर प्रदूषण के लिए जिम्मेदार है केवल दिल्ली की प्र

Romanized Version
Likes  346  Dislikes    views  4776
WhatsApp_icon
user

Vedachary Pathak Singrauli

सनातन सुरक्षा परिषद् संस्थापक

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं कोई अफसर अधिकारी या कोई व्यक्तिगत कोई एक व्यक्ति जिम्मेदार नहीं है इसके लिए वहां की सरकार स्थानीय सरकार जिम्मेवार है धन्यवाद

nahi koi officer adhikari ya koi vyaktigat koi ek vyakti zimmedar nahi hai iske liye wahan ki sarkar sthaniye sarkar jimmewar hai dhanyavad

नहीं कोई अफसर अधिकारी या कोई व्यक्तिगत कोई एक व्यक्ति जिम्मेदार नहीं है इसके लिए वहां की स

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  557
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  63  Dislikes    views  1017
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे नजर में तो है कि आई एस ऑफिसर जल्दी पूर्ण शक्ति से प्रदूषण रोकने का कुछ तकनीकी प्रयोग का करें जैसी बिरसा रोपन कार्य पर विशेष बल दे प्रदूषण रहित उपकरणों को लगाए लगने में अपनी भूमिका अदा करें और अपने अपने एरिया में खून शक्ति करण करें कि जो भी गाड़ी चल रही है वह पेट्रोल डीजल वाला नहीं चले पूर्ण सीएनजी चले फैक्ट्री अगल बगल में नहीं रहने दिया जाना चाहिए दिल्ली पॉलिटेक्निक

mere nazar me toh hai ki I S officer jaldi purn shakti se pradushan rokne ka kuch takniki prayog ka kare jaisi birsa ropan karya par vishesh bal de pradushan rahit upkarnon ko lagaye lagne me apni bhumika ada kare aur apne apne area me khoon shakti karan kare ki jo bhi gaadi chal rahi hai vaah petrol diesel vala nahi chale purn CIENGI chale factory agal bagal me nahi rehne diya jana chahiye delhi polytechnic

मेरे नजर में तो है कि आई एस ऑफिसर जल्दी पूर्ण शक्ति से प्रदूषण रोकने का कुछ तकनीकी प्रयोग

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या किसी तरह आए सब सभी दिल्ली की बहन के विदिशा जिले जिम्मेदारी है सत्य क्योंकि जनता ही स्वयं जिम्मेदार रहती हो सरकार जिम्मेदार होती हुई तथा उनके माध्यम से ही तो ऐसा यह बैंक आफ दुश्मन हो रहा तथा जनता के द्वारा ऐसी सावधानी न रखने पर भी यह प्रदूषण फैला है सब सकता है प्रियंका को समझते यही उनका काम है पंजाब से के द्वारा यह बहन का भी दर्शन नहीं हो रहे जनता और सरकार के द्वारा भयंकर देशों द्वारा यह खुद स्वयं जिम्मेदार है दोनों यही सत्य है

kya kisi tarah aaye sab sabhi delhi ki behen ke vidisha jile jimmedari hai satya kyonki janta hi swayam zimmedar rehti ho sarkar zimmedar hoti hui tatha unke madhyam se hi toh aisa yah bank of dushman ho raha tatha janta ke dwara aisi savdhani na rakhne par bhi yah pradushan faila hai sab sakta hai priyanka ko samajhte yahi unka kaam hai punjab se ke dwara yah behen ka bhi darshan nahi ho rahe janta aur sarkar ke dwara bhayankar deshon dwara yah khud swayam zimmedar hai dono yahi satya hai

क्या किसी तरह आए सब सभी दिल्ली की बहन के विदिशा जिले जिम्मेदारी है सत्य क्योंकि जनता ही स्

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  277
WhatsApp_icon
user

Kesharram

Teacher

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या किसी तरह से आईएएस अफसर भी दिल्ली की भयंकर प्रदूषण के लिए जिम्मेदार है नहीं दोस्तों क्योंकि प्रदूषण आपको पता ही है प्राकृतिक देन है और प्राकृतिक देन के माध्यम से है मैं आपको बता देता हूं कि इसमें आईएस का कोई रोल नहीं होता है अधिकारी का और दोस्तों आपको पता है कि यह जहां तक दिल्ली की भयंकर प्रदूषण का जिम्मेदार वहां के जो बड़े बड़े बिजनेसमैन है उनका आप दे सकते हो क्योंकि उन्हीं की बदौलत आज दिल्ली में बैंकर प्रदूषण हो रहा है और आईएएस अधिकारी तो सिर्फ योजना बना करके उस कार्य को अंजाम दे सकते हैं आशा करता हूं कि सर जी द्वारा दी गई जानकारी से आप संतुष्ट होंगे वो कल के ऐप के माध्यम से धन्यवाद दोस्तों

kya kisi tarah se IAS officer bhi delhi ki bhayankar pradushan ke liye zimmedar hai nahi doston kyonki pradushan aapko pata hi hai prakirtik then hai aur prakirtik then ke madhyam se hai aapko bata deta hoon ki isme ias ka koi roll nahi hota hai adhikari ka aur doston aapko pata hai ki yah jaha tak delhi ki bhayankar pradushan ka zimmedar wahan ke jo bade bade bussinessmen hai unka aap de sakte ho kyonki unhi ki badaulat aaj delhi mein banker pradushan ho raha hai aur IAS adhikari toh sirf yojana bana karke us karya ko anjaam de sakte hain asha karta hoon ki sir ji dwara di gayi jaankari se aap santusht honge vo kal ke app ke madhyam se dhanyavad doston

क्या किसी तरह से आईएएस अफसर भी दिल्ली की भयंकर प्रदूषण के लिए जिम्मेदार है नहीं दोस्तों क्

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  330
WhatsApp_icon
user

Rahul Kumar

Misson Upsc

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह क्या चीज के लिए किसी आईएएस ऑफीसर या फिर किसी पॉलिटिक्स को जिम्मेदार नहीं ठहरा सकते और पंजाब के अंदर ध्वनि प्रदूषण दिल्ली की जनसंख्या कहीं इसके लिए जिम्मेदार नहीं है

yah kya cheez ke liye kisi IAS officer ya phir kisi politics ko zimmedar nahi thahara sakte aur punjab ke andar dhwani pradushan delhi ki jansankhya kahin iske liye zimmedar nahi hai

यह क्या चीज के लिए किसी आईएएस ऑफीसर या फिर किसी पॉलिटिक्स को जिम्मेदार नहीं ठहरा सकते और प

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  246
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रदूषण आजकल के वाहनों से निकलने वाले दूषित आभास हो रहा है इसके लिए जिम्मेदार तो नहीं कह सकते कि आई है पर यह कह सकते हैं कि आईएस है और उस तरह का इन्वायरमेंट क्रिएट करें कि वहां पर पोलूशन ना हो पाए छोटी-छोटी एरिया में डिवाइड करें और एरिया में रात करें लोगों को और वहां के लोगों को जागरूक करेंगे ज्यादा प्रदूषित रोका जा सकता है पापुलेटेड कनेरिया है

pradushan aajkal ke vahanon se nikalne waale dushit aabhas ho raha hai iske liye zimmedar toh nahi keh sakte ki I hai par yah keh sakte hain ki ias hai aur us tarah ka environment create kare ki wahan par pollution na ho paye choti choti area me divide kare aur area me raat kare logo ko aur wahan ke logo ko jagruk karenge zyada pradushit roka ja sakta hai papuleted kaneriya hai

प्रदूषण आजकल के वाहनों से निकलने वाले दूषित आभास हो रहा है इसके लिए जिम्मेदार तो नहीं कह स

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  82
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!