आज से कुछ दशक पहले UPSC परीक्षा में और आज की UPSC परीक्षा में क्या अंतर है?...


user

Anshul jalandra

Motivational Speaker & Legal Advisor

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यूपी शिक्षा तब भी वही थी आज भी वही है बस इतना है कि तब कंपटीशन कम था लोग दलित नेता लोगों में इस पिक्चर का वह लोग के लिए आज के टाइम में लोगों के पास ही रहता है ज्यादातर कि चाहे कुछ भी हो जाए 1 - 10 दिन तो करके ही देखे हैं मिले सक्सेस मिले या ना मिले और तब भी लोगों को यह रहता था कि कोई भी जॉब मिलो बस मिल जाए बहुत है तो बस इसी वजह से आज के टाइम में कंपटीशन बहुत है बाकी कंपटीशन को देखते हुए हार्ड तो जाम होने लगी है इसलिए बस तब करते जा रहे हैं क्योंकि अगर एग्जाम को हार्ड नहीं बनाएंगे अभी किचन में बिजी होंगे तो फिर आपको पता है कि कचरा जमा हो जाएगा तो कुछ इस लेवल पर लेते हैं जिससे हिसाब से कंपटीशन बनता है फिर बढ़ रही है उसी हिसाब से कंपटीशन कितना हार्ड करते जाएंगे उनको लिखकर ही मिले बाकी बची हुई है वह बाहर निकल जाए

dekhiye up shiksha tab bhi wahi thi aaj bhi wahi hai bus itna hai ki tab competition kam tha log dalit neta logo me is picture ka vaah log ke liye aaj ke time me logo ke paas hi rehta hai jyadatar ki chahen kuch bhi ho jaaye 1 10 din toh karke hi dekhe hain mile success mile ya na mile aur tab bhi logo ko yah rehta tha ki koi bhi job milo bus mil jaaye bahut hai toh bus isi wajah se aaj ke time me competition bahut hai baki competition ko dekhte hue hard toh jam hone lagi hai isliye bus tab karte ja rahe hain kyonki agar exam ko hard nahi banayenge abhi kitchen me busy honge toh phir aapko pata hai ki kachra jama ho jaega toh kuch is level par lete hain jisse hisab se competition banta hai phir badh rahi hai usi hisab se competition kitna hard karte jaenge unko likhkar hi mile baki bachi hui hai vaah bahar nikal jaaye

देखिए यूपी शिक्षा तब भी वही थी आज भी वही है बस इतना है कि तब कंपटीशन कम था लोग दलित नेता ल

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  242
KooApp_icon
WhatsApp_icon
8 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!