किस तरह के लोगों को जर्नलिज़म लाइन में जाना चाहिए?...


user

B San

Entrepreneur | Management | Consultant | Advisor

3:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न है किस तरह के लोगों को जनरलिज्म लाइन में जाना चाहिए लेकिन चैनल एजूंथा पत्रकारिता तनी पत्रकार के रूप में प्रिंट मीडिया इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से अपने करियर की शुरुआत की जा सकती है क्षेत्र में मेरा मानना है कि सर्वप्रथम विषय की समझ बॉस का तार्किक अवलोकन वह पदार्पण निरूपण करने की व्यक्तिगत क्षमता होनी चाहिए रखा था आप पत्रकारिता के क्षेत्र में किसी विषय पर बात कर रहे हैं किसी मुद्दे पर बात करें किसी प्रकरण पर बात करें किसी मैटर पर बात करें तो आपको उस विषय उतरकर उस मैटर के बारे में सकारात्मक नकारात्मक उत्तर प्रतियोगिता से विकी होना चाहिए या नहीं आपको पता होना चाहिए कि मैं यह पूछ रहा हूं तो इस तरह के जवाब आ सकते हैं मैं कह रहा हूं तो इस तरफ से भी प्रतिक्रिया हो सकती और धाराप्रवाह बोलचाल नहीं यह बोलने की कला चाचा दूरियां एक विशेष महत्व रखता है अंतर तो मैं यही कहना चाहूंगा कि क्षेत्र में यदि कोई अपने पति की तलाश कर रहा है तो उसे विषय की समझ होनी अति आवश्यक है और उसको किस तरह से प्रस्तुत करना है किस तरह से बोलना है कंटेंट किस तरह से रहेगा मतलब किस चीज को वरीयता देनी है किसको कम वरीयता देनी है और किस चीज को कहना है पर उसकी ऐसी प्रतिक्रिया ना आए सामाजिक संवैधानिक सभी परिपेक्ष्य को ध्यान में रखकर क्योंकि पत्रकारिता चौथा स्तंभ है वह लोकतंत्र का पोस्ट के लिए एक विशिष्ट ज्ञान वशिष्ठ छवि आकलन करने वाला व्यक्ति अधिकतर केक प्राप्त कर सकता है धन्यवाद

prashna hai kis tarah ke logo ko janaralijm line me jana chahiye lekin channel ejuntha patrakarita tani patrakar ke roop me print media electronic media ke madhyam se apne career ki shuruat ki ja sakti hai kshetra me mera manana hai ki sarvapratham vishay ki samajh boss ka tarkik avalokan vaah padarpan nirupan karne ki vyaktigat kshamta honi chahiye rakha tha aap patrakarita ke kshetra me kisi vishay par baat kar rahe hain kisi mudde par baat kare kisi prakaran par baat kare kisi matter par baat kare toh aapko us vishay utarakar us matter ke bare me sakaratmak nakaratmak uttar pratiyogita se vicky hona chahiye ya nahi aapko pata hona chahiye ki main yah puch raha hoon toh is tarah ke jawab aa sakte hain main keh raha hoon toh is taraf se bhi pratikriya ho sakti aur dharaprawah bolchal nahi yah bolne ki kala chacha duriyan ek vishesh mahatva rakhta hai antar toh main yahi kehna chahunga ki kshetra me yadi koi apne pati ki talash kar raha hai toh use vishay ki samajh honi ati aavashyak hai aur usko kis tarah se prastut karna hai kis tarah se bolna hai content kis tarah se rahega matlab kis cheez ko variyata deni hai kisko kam variyata deni hai aur kis cheez ko kehna hai par uski aisi pratikriya na aaye samajik samvaidhanik sabhi paripekshya ko dhyan me rakhakar kyonki patrakarita chautha stambh hai vaah loktantra ka post ke liye ek vishisht gyaan vashistha chhavi aakalan karne vala vyakti adhiktar cake prapt kar sakta hai dhanyavad

प्रश्न है किस तरह के लोगों को जनरलिज्म लाइन में जाना चाहिए लेकिन चैनल एजूंथा पत्रकारिता तन

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  257
KooApp_icon
WhatsApp_icon
24 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!