क्या कानून के पास प्रदूषण रोकने के उपाय हैं?...


user
Play

Likes  43  Dislikes    views  1273
WhatsApp_icon
18 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:05
Play

Likes  521  Dislikes    views  10413
WhatsApp_icon
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां बिल्कुल कानून के पास प्रदूषण रोकने के उपाय हैं पोलूशन कंट्रोल एक्ट बना हुआ है एयर पोलूशन के लिए वाटर पोलूशन के लिए और सोइल पोलूशन के लिए तीनों पोलूशन रोकने के लिए कानून बनाने

ji haan bilkul kanoon ke paas pradushan rokne ke upay hain pollution control act bana hua hai air pollution ke liye water pollution ke liye aur soil pollution ke liye tatvo pollution rokne ke liye kanoon banane

जी हां बिल्कुल कानून के पास प्रदूषण रोकने के उपाय हैं पोलूशन कंट्रोल एक्ट बना हुआ है एयर प

Romanized Version
Likes  51  Dislikes    views  1166
WhatsApp_icon
user

Ansh jalandra

Motivational speaker

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या खा लो उनकी बात से प्रदूषण रोकने के उपाय तो देखी कानूनी थे एनवायरमेंट लोग बना रखा है आप कभी इन्वायरमेंट लो पढ़ के देखो श्री हर चीज़ सिखाने वाले फिर आपने रात को घर में जिसे मारे कोई फंक्शन है तो हम अगर लाउडस्पीकर भी बजाते हैं उसके लिए भी बहुत लोग फॉलो करते हैं हर चीज के काम में मिला दिया सरकार ने तो बेटा फॉलो करो ना हमसे जो हुआ वह घर आकर वाले

kya kha lo unki baat se pradushan rokne ke upay toh dekhi kanooni the environment log bana rakha hai aap kabhi environment lo padh ke dekho shri har cheez sikhane waale phir aapne raat ko ghar me jise maare koi function hai toh hum agar loudspeaker bhi bajaate hain uske liye bhi bahut log follow karte hain har cheez ke kaam me mila diya sarkar ne toh beta follow karo na humse jo hua vaah ghar aakar waale

क्या खा लो उनकी बात से प्रदूषण रोकने के उपाय तो देखी कानूनी थे एनवायरमेंट लोग बना रखा है आ

Romanized Version
Likes  131  Dislikes    views  2642
WhatsApp_icon
user
0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या कानून के पास प्रदूषण रोकने के उपाय यह बिल्कुल है प्रदूषण रोकने के लिए कानून बना हुआ है और इस पर सख्ती से अमल भी किया जाता है अगर कोई वहां गाड़ी आदि प्रदूषण फैलाती है तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाती है और होने वाले कारखानों को बंद भी किया गया है प्रदूषण रोकने के लिए कानून में प्रावधान

kya kanoon ke paas pradushan rokne ke upay yah bilkul hai pradushan rokne ke liye kanoon bana hua hai aur is par sakhti se amal bhi kiya jata hai agar koi wahan gaadi aadi pradushan failati hai toh unke khilaf karyawahi ki jaati hai aur hone waale karkhanon ko band bhi kiya gaya hai pradushan rokne ke liye kanoon mein pravadhan

क्या कानून के पास प्रदूषण रोकने के उपाय यह बिल्कुल है प्रदूषण रोकने के लिए कानून बना हुआ ह

Romanized Version
Likes  90  Dislikes    views  1797
WhatsApp_icon
play
user

Dr. KRISHNA CHANDRA

Rehabilitation Psychologist

0:51

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चाल उनके द्वारा सोचा यह नियम और सतीश कोफ्ते की अखिलेश की स्टेट गवर्नमेंट सेंट्रल गवर्नमेंट एंप्लाइज और तेजस उसको ब्लॉक कर सकें वह को फॉलो नहीं करते हैं तो प्रदूषण रोकने का कोई उपाय कानून के पास नहीं होता है कानून बना करके सरकार को मदद कर सकते हैं कि सब्जी ना से काम करेंगे तो प्रदूषण किया उसके एक्टिविटी रुपए रुकने के कारण यह विशेष रूप से संत का है उसकी इंस्पेक्टर उसका है और गवर्नमेंट की लड़ाई में उनका है लेकिन रोकना शिवजी उसको ही पड़ेगा

chaal unke dwara socha yah niyam aur satish kofte ki akhilesh ki state government central government emplaij aur tejas usko block kar sake vaah ko follow nahi karte hain toh pradushan rokne ka koi upay kanoon ke paas nahi hota hai kanoon bana karke sarkar ko madad kar sakte hain ki sabzi na se kaam karenge toh pradushan kiya uske activity rupaye rukne ke karan yah vishesh roop se sant ka hai uski inspector uska hai aur government ki ladai mein unka hai lekin rokna shivaji usko hi padega

चाल उनके द्वारा सोचा यह नियम और सतीश कोफ्ते की अखिलेश की स्टेट गवर्नमेंट सेंट्रल गवर्नमेंट

Romanized Version
Likes  259  Dislikes    views  6602
WhatsApp_icon
user

जसवन्त कटारिया

वकील, कानूनी सलाहकार

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल सुप्रीम कोर्ट ने ऐसे कई कदम उठाए हैं जिससे प्रदूषण को कम किया गया है जैसे दिल्ली एनसीआर के आसपास के एरिया में धान की पाली को जलाने पर रोक लगा दी गई है वाहनों की वैलिडिटी 15 साल कर दी गई है विज्ञान के वाहनों को यूज करने का ऑर्डर पास कर दिया है

bilkul supreme court ne aise kai kadam uthye hain jisse pradushan ko kam kiya gaya hai jaise delhi NCR ke aaspass ke area me dhaan ki paali ko jalane par rok laga di gayi hai vahanon ki validity 15 saal kar di gayi hai vigyan ke vahanon ko use karne ka order paas kar diya hai

बिल्कुल सुप्रीम कोर्ट ने ऐसे कई कदम उठाए हैं जिससे प्रदूषण को कम किया गया है जैसे दिल्ली ए

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  528
WhatsApp_icon
user

Mr. Mukesh Kumar

Youtuber, https://youtu.be/lxwi7CXLHSQ

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल कानून के पास प्रदूषण रोकने के लिए बहुत सौंपा है परंतु कानून अपनी जो जिम वारी ऐसे नहीं निभा पाता यदि वह इसे निभाएगा तो जो ऊपर की कमाई होती है वह कहां से होगी और इसी कारण से प्रदूषण दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है दूसरी बात है कि नेता वोट बैंक बनाने के लिए और वोट में खर्च किए जाने वाले पैसे की आमदनी कहां से हो अर्थात पैसे कहां से व्यवस्था हो उनके लिए बहुत सी कंपनियों को प्रदूषण के उपाय को नहीं बताते हैं और यदि कानून का प्रयोग भी नहीं करती हैं जिसके कारण वे खुलेआम निर्धारण करते जाते हैं

bilkul kanoon ke paas pradushan rokne ke liye bahut saupaan hai parantu kanoon apni jo gym wari aise nahi nibha pata yadi vaah ise nibhaega toh jo upar ki kamai hoti hai vaah kahaan se hogi aur isi karan se pradushan din pratidin badhta ja raha hai dusri baat hai ki neta vote bank banane ke liye aur vote mein kharch kiye jaane waale paise ki aamdani kahaan se ho arthat paise kahaan se vyavastha ho unke liye bahut si companion ko pradushan ke upay ko nahi batatey hain aur yadi kanoon ka prayog bhi nahi karti hain jiske karan ve khuleaam nirdharan karte jaate hain

बिल्कुल कानून के पास प्रदूषण रोकने के लिए बहुत सौंपा है परंतु कानून अपनी जो जिम वारी ऐसे न

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  422
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या कमी से पासबुक दूसरी मुखड़े टाइम पाए हैं जी 40 पास प्रदूषण रोकने के उपाय तो है लेकिन कानून को पालन करवाने वाले लोग हैं जो सकता दिल के पास है कोई भी अच्छे से नहीं हो पाता है बहुत जगह पर इसमें भ्रष्टाचार की बू आती और कुछ ना कुछ गलत होता है तभी तो प्रदूषण को रोकने में सहायता नहीं मिल पाती कानून के साथ से घर चले तो प्रदूषण की समस्या बहुत अच्छे तरीके से लाल हो सकती लेकिन कालीन पर्याप्त अगर जरूरत पड़े तो उसको सुधारा भी जा सकता है ऐसी बात नहीं है कभी सुधारा जा सकता है लेकिन प्रदूषण को कम किया जा सकता नदियों का पानी बादल से नदियां प्रदूषित होती प्लास्टिक का कचरा है वह सीधा नदी में जाता है मालूम विश्वरूपम कानून के तहत इन सभी चीजों को रोकने का प्रावधान है लेकिन अधिकारियों अधिकारी यह लो जागृत नहीं है प्रदूषण को एक समस्या के रूप में मानते हैं लेकिन उसे फॉलो नहीं करते हम जनता दर्शन करें तो प्रदूषण का नाम निशान ना रहे लेकिन टिपिकल में सफलता नहीं ऑफिसर से वह आंख बंद कर लेते हैं और इसकी वजह से

kya kami se passbook dusri mukhde time paye hain ji 40 paas pradushan rokne ke upay toh hai lekin kanoon ko palan karwane waale log hain jo sakta dil ke paas hai koi bhi acche se nahi ho pata hai bahut jagah par isme bhrashtachar ki bu aati aur kuch na kuch galat hota hai tabhi toh pradushan ko rokne mein sahayta nahi mil pati kanoon ke saath se ghar chale toh pradushan ki samasya bahut acche tarike se laal ho sakti lekin kaleen paryapt agar zarurat pade toh usko sudhara bhi ja sakta hai aisi baat nahi hai kabhi sudhara ja sakta hai lekin pradushan ko kam kiya ja sakta nadiyon ka paani badal se nadiyan pradushit hoti plastic ka kachra hai vaah seedha nadi mein jata hai maloom vishwarupam kanoon ke tahat in sabhi chijon ko rokne ka pravadhan hai lekin adhikaariyo adhikari yah lo jagrit nahi hai pradushan ko ek samasya ke roop mein maante hain lekin use follow nahi karte hum janta darshan kare toh pradushan ka naam nishaan na rahe lekin tipikal mein safalta nahi officer se vaah aankh band kar lete hain aur iski wajah se

क्या कमी से पासबुक दूसरी मुखड़े टाइम पाए हैं जी 40 पास प्रदूषण रोकने के उपाय तो है लेकिन

Romanized Version
Likes  59  Dislikes    views  1179
WhatsApp_icon
user
0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कानून के पास

kanoon ke paas

कानून के पास

Romanized Version
Likes  117  Dislikes    views  2333
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां प्रदूषण रोकने के उपाय हैं इसके लिए आपको पीआईएल लगानी पड़ेगी आने की पब्लिक इंटरेस्ट लिटिगेशन जाने की एक लोकहित वाद दायर करना पड़ेगा सबको मिलकर तो प्रदूषण रोकने के लिए भी कानून है तो उसके लिए उससे जब ओपीआई लगा देंगे तो प्रदूषण को रोकने के लिए भी कार्रवाई की जा सकती है और उसके लिए नए कदम उठाए जा सकते हैं

haan pradushan rokne ke upay hain iske liye aapko PIL lagani padegi aane ki public interest litigation jaane ki ek lokhit vad dayar karna padega sabko milkar toh pradushan rokne ke liye bhi kanoon hai toh uske liye usse jab OPI laga denge toh pradushan ko rokne ke liye bhi karyawahi ki ja sakti hai aur uske liye naye kadam uthye ja sakte hain

हां प्रदूषण रोकने के उपाय हैं इसके लिए आपको पीआईएल लगानी पड़ेगी आने की पब्लिक इंटरेस्ट लिट

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  145
WhatsApp_icon
user
0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे केवल कानून बनाकर ही प्रदूषण को रोका नहीं जा सकता इसके लिए हम सभी को जागरूक होने की जरूरत है लोगों में जब तक जागरूकता नहीं आएगी तब तक वह ऐसे कार्य करना बंद नहीं करेंगे जिससे प्रदूषण फैलता है हम सभी को मालूम है कि पॉलीथिन का उपयोग तोरण और हमारे पर्यावरण के लिए हानिकारक है फिर भी हमारे द्वारा पॉलीथिन का प्रयोग किया जाता है इसके प्रति लोगों में चक्कर आने की आवश्यकता है जब लोग जागरूक होंगे और स्वयं ही ऐसे कार्यों को बंद कर देंगे इससे प्रदूषण होता है तो निश्चित रूप से यह सबसे कारगर उपाय केवल कानून बनाने मात्र से प्रदूषण को रोक पाना संभव नहीं है

dekhe keval kanoon banakar hi pradushan ko roka nahi ja sakta iske liye hum sabhi ko jagruk hone ki zarurat hai logo mein jab tak jagrukta nahi aayegi tab tak vaah aise karya karna band nahi karenge jisse pradushan failata hai hum sabhi ko maloom hai ki polythene ka upyog toran aur hamare paryavaran ke liye haanikarak hai phir bhi hamare dwara polythene ka prayog kiya jata hai iske prati logo mein chakkar aane ki avashyakta hai jab log jagruk honge aur swayam hi aise karyo ko band kar denge isse pradushan hota hai toh nishchit roop se yah sabse kargar upay keval kanoon banane matra se pradushan ko rok paana sambhav nahi hai

देखे केवल कानून बनाकर ही प्रदूषण को रोका नहीं जा सकता इसके लिए हम सभी को जागरूक होने की जर

Romanized Version
Likes  46  Dislikes    views  929
WhatsApp_icon
user

Dr.Swatantra Sharma

Yoga Expert & Consultant

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी कानून के जोर से प्रदूषण नहीं रोका जा सकता प्रदूषण के लिए स्वयं में जागृति लानी पड़ेगी प्रत्येक नागरिक अपना जिम्मेदारी का भाव तय करें अपना विवेक जागृत करें माता भूमि पुत्रो हम प्रतिज्ञा हा अगर हम अपनी धरती को अपनी मां माने और हम उसके पुत्र के समान आचरण करें जो कभी भी इस धरती को हम मेला नहीं कर सकते मत जल प्रदूषण के द्वारा में वायु प्रदूषण के द्वारा किसी अन्य प्रदूषण के द्वारा

kisi kanoon ke jor se pradushan nahi roka ja sakta pradushan ke liye swayam mein jagriti lani padegi pratyek nagarik apna jimmedari ka bhav tay kare apna vivek jagrit kare mata bhoomi putro hum pratigya ha agar hum apni dharti ko apni maa maane aur hum uske putra ke saman aacharan kare jo kabhi bhi is dharti ko hum mela nahi kar sakte mat jal pradushan ke dwara mein vayu pradushan ke dwara kisi anya pradushan ke dwara

किसी कानून के जोर से प्रदूषण नहीं रोका जा सकता प्रदूषण के लिए स्वयं में जागृति लानी पड़ेगी

Romanized Version
Likes  45  Dislikes    views  1018
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत सारे कानून बनाए गए हैं पर्यावरण सुधार के लिए और नदी का पानी प्रदूषित करने पर हवा प्रदूषित करने पर ज्यादा शोर फैलाने पर अलग-अलग तरह के बहुत सारे कानून है यह मैं उनको बहुत लंबी सजा तक दी जा सकती

bahut saare kanoon banaye gaye hain paryavaran sudhaar ke liye aur nadi ka paani pradushit karne par hawa pradushit karne par zyada shor felane par alag alag tarah ke bahut saare kanoon hai yah main unko bahut lambi saza tak di ja sakti

बहुत सारे कानून बनाए गए हैं पर्यावरण सुधार के लिए और नदी का पानी प्रदूषित करने पर हवा प्र

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  78
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है क्या कानून के पास प्रदूषण रोकने के उपाय हैं कानून के पास प्रदूषण रोकने के उपाय पैनल कोर्ट में भी इसके बारे में बंद हैं पर्यावरण अधिनियम 1983 पारित किया गया है और भी समय-समय पर कई कानूनों में अमेंडमेंट हुए हैं जरूरत है उन्हें सख्ती से लागू करें कि कहीं ना कहीं राजनीतिक हस्तक्षेप या लापरवाही उदासीनता इन कानूनों के प्रति सरकार के प्रति जिम्मेदार है इसमें सरकार हमारी लापरवाही से पालन नहीं कराया जा रहा इसलिए प्रदूषण का लेवल बहुत हाई चल रहा था हमारे देश में 1 लोग डाउन की वजह है जो आजकल बहुत कंट्रोल हुआ है बहुत अब तक

aapka sawaal hai kya kanoon ke paas pradushan rokne ke upay hain kanoon ke paas pradushan rokne ke upay panel court me bhi iske bare me band hain paryavaran adhiniyam 1983 paarit kiya gaya hai aur bhi samay samay par kai kanuno me Amendment hue hain zarurat hai unhe sakhti se laagu kare ki kahin na kahin raajnitik hastakshep ya laparwahi udasinta in kanuno ke prati sarkar ke prati zimmedar hai isme sarkar hamari laparwahi se palan nahi karaya ja raha isliye pradushan ka level bahut high chal raha tha hamare desh me 1 log down ki wajah hai jo aajkal bahut control hua hai bahut ab tak

आपका सवाल है क्या कानून के पास प्रदूषण रोकने के उपाय हैं कानून के पास प्रदूषण रोकने के उपा

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कानून के पास प्रदूषण रोकने के उपाय पर जनता को सफलता दिखानी चाहिए जब तक जनता अपना पूरा सौ पर्सेंट अपने देश को नहीं देगी तब तक हम प्रदूषण पर जीत हासिल नहीं कर सकेंगे हमें क्या करना है हमें अपने आसपास सफाई रखनी चाहिए तो उस प्रदूषण को रोक सकते हैं परंतु आप कानून के बारे में कहा जाए तो नरेंद्र मोदी तो हमारे नरेंद्र मोदी ने तो जयकारा में कहां है स्वच्छ भारत स्वच्छ भारत तो उन्हें खुद भी झाड़ू मारा कुकड़ा झाड़ू मारते हुए कहते हैं कि स्वच्छ भारत स्वच्छ अभियान स्वच्छ देश होगा तभी हमारा देश हष्ट पुष्ट और निरमा रोगों से दूर रहेगा तो यह प्रदूषण तीन प्रकार की हमें रोक लगानी चाहिए वायु प्रदूषण जल प्रदूषण जल प्रदूषण इन तीन पर पूरा कंट्रोल हमें क्षमा देना चाहिए इससे पहला भाग वायु वाला अब जब जनता करेगी तो कानून क्या कर सकता है कानून तो बहुत कुछ कर सकता है परंतु हमें यह अपने आसपास को स्वच्छ करना चाहिए और कानून को भी प्रार्थी करना चाहिए कानून तो अपना काम पूरा करती है सरकार और नरेंद्र मोदी से मेरी गुजारिश है कि नरेंद्र मोदी और स्वच्छ और जनता को बारे में जनता के बारे में यह बताएं जनता को अपनी बातों और प्रदूषण के बारे में निर्माण पूर्वक जानकारी दी और उन्हें शांति दे जो अधिक से अधिक बच्चे बच्चे करेगा अपने देश को जिसका घर अधिक होगा सा उसे गिफ्ट प्राइस और आदि चीजें मिलेंगी अज्जू अधिक से अधिक सफाई अपने देश में निर्माण पूर्ण रखेगा तो उससे नरेंद्र मोदी इनाम भी देने को लेकर वह खुशी रहेगा तो हमारा देश है से तरक्की से खैर नहीं आ सकता पर जब तक हम सब पूरे निपुण होकर अपने पूरे विरोधाभास से एक कंट्रोल जमाने के हमारा देश इस प्रदूषण को दूर कर दे यह प्रोया वाद कोलकाता आर्यन देशों में अधिक अधिक प्रदूषण होता है अपना फिरोजाबाद कोलकाता जो भारत है पूरा चमका देना चाहिए हीरे के समान चमके ताजमहल है ताजमहल कि मैं भी तो गंदगी हो कुछ ना कुछ होगा इतना साफ नहीं है परंतु हमें अपने भारत को पूरे देश को भारत को पूरे को प्रदूषण रहित कर देना चाहिए उपाय सबसे पहले हमें अपने आप से शुरुआत करनी होगी हमें या ज्ञात होना चाहिए कि हम खुद ना करें गंदगी तो दूसरा भी नहीं करेगा दूसरे को यह सच्चा दें कि आप भी ना करें आपके करने से अनेक व्यक्ति बीमार प्रत्येक कोरोना वायरस के चलते तो व्यक्ति बीमार है कि घर से बाहर तो पछता सैनिटाइजर चल रहा है अभी तो इसकी रोग हमें स्वच्छता से ही करनी होगी कोई गंदगी से नहीं होगी यह सच करना है मैं भारत के उपाय यही हैं

kanoon ke paas pradushan rokne ke upay par janta ko safalta dikhaani chahiye jab tak janta apna pura sau percent apne desh ko nahi degi tab tak hum pradushan par jeet hasil nahi kar sakenge hamein kya karna hai hamein apne aaspass safaai rakhni chahiye toh us pradushan ko rok sakte hain parantu aap kanoon ke bare me kaha jaaye toh narendra modi toh hamare narendra modi ne toh jaykara me kaha hai swachh bharat swachh bharat toh unhe khud bhi jhadu mara kukda jhadu marte hue kehte hain ki swachh bharat swachh abhiyan swachh desh hoga tabhi hamara desh hasth pusht aur Nirma rogo se dur rahega toh yah pradushan teen prakar ki hamein rok lagani chahiye vayu pradushan jal pradushan jal pradushan in teen par pura control hamein kshama dena chahiye isse pehla bhag vayu vala ab jab janta karegi toh kanoon kya kar sakta hai kanoon toh bahut kuch kar sakta hai parantu hamein yah apne aaspass ko swachh karna chahiye aur kanoon ko bhi prarthi karna chahiye kanoon toh apna kaam pura karti hai sarkar aur narendra modi se meri gujarish hai ki narendra modi aur swachh aur janta ko bare me janta ke bare me yah bataye janta ko apni baaton aur pradushan ke bare me nirmaan purvak jaankari di aur unhe shanti de jo adhik se adhik bacche bacche karega apne desh ko jiska ghar adhik hoga sa use gift price aur aadi cheezen milegi ajju adhik se adhik safaai apne desh me nirmaan purn rakhega toh usse narendra modi inam bhi dene ko lekar vaah khushi rahega toh hamara desh hai se tarakki se khair nahi aa sakta par jab tak hum sab poore nipun hokar apne poore virodhabhas se ek control jamane ke hamara desh is pradushan ko dur kar de yah proya vad kolkata aryan deshon me adhik adhik pradushan hota hai apna firozabad kolkata jo bharat hai pura chamaka dena chahiye heere ke saman chamke tajmahal hai tajmahal ki main bhi toh gandagi ho kuch na kuch hoga itna saaf nahi hai parantu hamein apne bharat ko poore desh ko bharat ko poore ko pradushan rahit kar dena chahiye upay sabse pehle hamein apne aap se shuruat karni hogi hamein ya gyaat hona chahiye ki hum khud na kare gandagi toh doosra bhi nahi karega dusre ko yah saccha de ki aap bhi na kare aapke karne se anek vyakti bimar pratyek corona virus ke chalte toh vyakti bimar hai ki ghar se bahar toh pachata sainitaijar chal raha hai abhi toh iski rog hamein swachhta se hi karni hogi koi gandagi se nahi hogi yah sach karna hai main bharat ke upay yahi hain

कानून के पास प्रदूषण रोकने के उपाय पर जनता को सफलता दिखानी चाहिए जब तक जनता अपना पूरा सौ प

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  69
WhatsApp_icon
user

Raj Kumar

Sports Coach

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कानून के पास सब चीज का उपाय है किंतु हमारे देश हमारा देश है वहां पर जो कानून हैं जो सर चलो है लो तो बहुत है पर उसको इंप्लीमेंट नहीं गया था सब लोग सोने के लिए करते हैं किंतु air-pollution को यह प्रदूषण को रोकने के लिए उपाय बनाने होंगे कानून बनाने होंगे और ना उनको और अगर उन कानूनों को और तक नहीं किया जाएगा तो आने वाले समय में अभी जो पोलूशन आप देख रहे हैं वह कहीं ज्यादा कहीं ज्यादा मात्रा में और बढ़ जाएगा इसके लिए आपको थोड़ा सा जागरूक करना होगा और लेवल पर ग्रामीण लेवल पर ब्लॉक लेवल पर डिस्टिक लेवल पर स्टेट लेवल पर नेशनल लेवल पर आपको हर शहर हर एक बंदे को हर हर एक व्यक्ति को आप को जागरूक करना होगा उनको बताना होगा कि पोलूशन से क्या एडवांटेज है क्या होते हैं पोलूशन के उस तब आपको उनको बताना होगा तभी उनके कभी तो उनको उनकी लाइफ तो लाइफ है उनकी जीवन शैली है उनको बताना हुआ क्या आपको इसका डिसएडवांटेज क्या-क्या होता है

kanoon ke paas sab cheez ka upay hai kintu hamare desh hamara desh hai wahan par jo kanoon hain jo sir chalo hai lo toh bahut hai par usko implement nahi gaya tha sab log sone ke liye karte hain kintu air pollution ko yah pradushan ko rokne ke liye upay banane honge kanoon banane honge aur na unko aur agar un kanuno ko aur tak nahi kiya jaega toh aane waale samay mein abhi jo pollution aap dekh rahe hain vaah kahin zyada kahin zyada matra mein aur badh jaega iske liye aapko thoda sa jagruk karna hoga aur level par gramin level par block level par district level par state level par national level par aapko har shehar har ek bande ko har har ek vyakti ko aap ko jagruk karna hoga unko bataana hoga ki pollution se kya advantage hai kya hote hain pollution ke us tab aapko unko bataana hoga tabhi unke kabhi toh unko unki life toh life hai unki jeevan shaili hai unko bataana hua kya aapko iska disadvantage kya kya hota hai

कानून के पास सब चीज का उपाय है किंतु हमारे देश हमारा देश है वहां पर जो कानून हैं जो सर चलो

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  5
WhatsApp_icon
user
0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल कानून के पास प्रदूषण रोकने के लिए बिल्कुल बहुत होगा पर क्या होता है वह बहुत उपाय होता है जिसे मैं कह रहा हूं कि आप लोगों को बोलिए जो लोग प्रदर्शन कर रहे लोगों डायरी जाकर बोलना चाहिए और रुकना चाहिए वह दो लोग और आगे बोल पाए तुम लोग भी नहीं जाना ठीक है और यह तो जो बिल्कुल से होता है प्रदर्शन इसके ऊपर भी आती है मोदी ने इस टैंक लिया है ठीक है तो मुझे लगता है कि प्रदूषण बिल्कुल लो रुक सकता है लोगों से ही ठीक है जो भी जल प्रदूषण हो रहा है भाई प्रदर्शन हो रहा है यह लोगों के बारिश हो रहा है और बिल्कुल हाल किसी को ध्यान रखना चाहिए ठीक है थैंक यू

bilkul kanoon ke paas pradushan rokne ke liye bilkul bahut hoga par kya hota hai vaah bahut upay hota hai jise main keh raha hoon ki aap logo ko bolie jo log pradarshan kar rahe logo diary jaakar bolna chahiye aur rukna chahiye vaah do log aur aage bol paye tum log bhi nahi jana theek hai aur yah toh jo bilkul se hota hai pradarshan iske upar bhi aati hai modi ne is tank liya hai theek hai toh mujhe lagta hai ki pradushan bilkul lo ruk sakta hai logo se hi theek hai jo bhi jal pradushan ho raha hai bhai pradarshan ho raha hai yah logo ke barish ho raha hai aur bilkul haal kisi ko dhyan rakhna chahiye theek hai thank you

बिल्कुल कानून के पास प्रदूषण रोकने के लिए बिल्कुल बहुत होगा पर क्या होता है वह बहुत उपाय ह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  8
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!