जब कोई नेता चुनाव लड़ता है तो अपनी संपति को सरकार का बयौरा देता है, फिर वो अचानक बदल कैसे जाती है?...


play
user

Mainpal Kashyap

Journalist

0:56

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक बात कही जो व्यक्ति चुनाव लड़ते समय अपनी संपति सरकार को बता देता है कि मेरे पास से संपर्क किया लेकिन जब वह चुनाव जीत जाता है और चुनाव जीतने के बाद अगर कुछ की जो संपत्ति यानि कि उसकी प्रॉपर्टी जो है और उसके बाद उसका आकलन करें तो उसकी प्रॉपर्टी उससे भी 10 गुना हो जाती है लेकिन सरकार ने इसके ऊपर विचार विमर्श करना चाहिए और इसकी जानकारी लेनी चाहिए और उसकी जांच हुई थी उससे पता चलती थी जो प्रॉपर्टी है जो आपने सरकार सरकार को बिलोरा में दीजिए लिख कर दिया था दिन मेरे पास कितनी प्रॉपर्टी है और आपके पास इतनी 10 * प्रॉपर्टी कार्ड से आई है उसका जिम्मेदार कौन है सरकार दो सरकार ने उसके जवाब लेना चाहिए कि यह प्रॉपर्टी कहां से आई है

ek baat kahi jo vyakti chunav ladte samay apni sampati sarkar ko bata deta hai ki mere paas se sampark kiya lekin jab wah chunav jeet jata hai aur chunav jitne ke baad agar kuch ki jo sampatti yani ki uski property jo hai aur uske baad uska aakalan karein toh uski property usse bhi 10 guna ho jati hai lekin sarkar ne iske upar vichar vimarsh karna chahiye aur iski jankari leni chahiye aur uski jaanch hui thi usse pata chalti thi jo property hai jo aapne sarkar sarkar ko bilora mein dijiye likh kar diya tha din mere paas kitni property hai aur aapke paas itni 10 * property card se I hai uska zimmedar kaun hai sarkar do sarkar ne uske jawab lena chahiye ki yeh property kahaan se I hai

एक बात कही जो व्यक्ति चुनाव लड़ते समय अपनी संपति सरकार को बता देता है कि मेरे पास से संपर्

Romanized Version
Likes  82  Dislikes    views  1340
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

sneha soni

राजनीतिज्ञ,Writer(Antrdhwani)

1:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए स्टार्टिंग में कोई भी नेता जो है वह बहुत ही ऑनेस्ट अपने आप को दिखाने की कोशिश करता है लेकिन जैसा कि आपको शब्द से वाकिफ हो रहा है राजनीति राजनीति में ही अपने आप में एक राज करने वाला ऐसा नीति के तत्व को निर्धारित करता है जो व्यक्ति राजनीति में कदम रखता है वह जरूरी नहीं कि वह वाकई होने स्टोर राजू राज करने के लिए ही आया है और उसकी नीति ही ऐसे क्यों करें इसलिए स्टार्टिंग में जो अपनी संपति दिखाता है बाद में वह अपने भाई बहन मामा चाचा इन सब के नाम से प्रॉपर्टी करते करते हो इतना बड़ा कर लेता है दो नंबर का पता था कि वह उसका हिसाब वो खुद भी नहीं रख पाता और यही कारण है कि काला धन के नाम से जाना जाता है और वह इस कारण से उनकी संपत्ति 1 की चार लोगों को कहने का मतलब जब नेता बनता है तो स्टार्टिंग में वह बहुत ही होता है लेकिन बाद में जब वह राजनीति में कदम रख चुका होता है तो उसकी द स्टार्टिंग में उसने एक नंबर दिया था वह चीज लास्ट में 4 नंबर हो जाती है तो ब्यावरा में अक्षरा की परिवर्तन हो जाता है क्योंकि वह दो नंबर से अलग अलग तरीके से पैसा कमाना शो कर देता है बंदा अगर अपना फ्रेंड मानता है या कोई बड़े होने वाला व्यक्ति को अगर वह अपना फ्रेंड बनता है तो जाहिर सी बात है क्योंकि वह का सपोर्टर है आप मेरी बात समझ रहे होंगे उसका सपोर्टर है जैसे अगर कोई पॉलिटिकल पार्टी नेता मेरा गर्लफ्रेंड है तो मैं उसे यूज करूं यार उसको मैं सपोर्ट भी करूंगी पैसों से तुझे पैसा आएगा मूवी काला धन में कितना पड़ेगा इसलिए संपत्ति आती इसलिए उसकी संपत्ति में जो है अचानक परिवर्तन हो जाता है

dekhiye starting mein koi bhi neta jo hai vaah bahut hi honest apne aap ko dikhane ki koshish karta hai lekin jaisa ki aapko shabd se wakif ho raha hai raajneeti raajneeti mein hi apne aap mein ek raj karne vala aisa niti ke tatva ko nirdharit karta hai jo vyakti raajneeti mein kadam rakhta hai vaah zaroori nahi ki vaah vaakai hone store raju raj karne ke liye hi aaya hai aur uski niti hi aise kyon kare isliye starting mein jo apni sampati dikhaata hai baad mein vaah apne bhai behen mama chacha in sab ke naam se property karte karte ho itna bada kar leta hai do number ka pata tha ki vaah uska hisab vo khud bhi nahi rakh pata aur yahi karan hai ki kaala dhan ke naam se jana jata hai aur vaah is karan se unki sampatti 1 ki char logo ko kehne ka matlab jab neta banta hai toh starting mein vaah bahut hi hota hai lekin baad mein jab vaah raajneeti mein kadam rakh chuka hota hai toh uski the starting mein usne ek number diya tha vaah cheez last mein 4 number ho jaati hai toh byavara mein akshara ki parivartan ho jata hai kyonki vaah do number se alag alag tarike se paisa kamana show kar deta hai banda agar apna friend manata hai ya koi bade hone vala vyakti ko agar vaah apna friend banta hai toh jaahir si baat hai kyonki vaah ka supporter hai aap meri baat samajh rahe honge uska supporter hai jaise agar koi political party neta mera girlfriend hai toh main use use karu yaar usko main support bhi karungi paison se tujhe paisa aayega movie kaala dhan mein kitna padega isliye sampatti aati isliye uski sampatti mein jo hai achanak parivartan ho jata hai

देखिए स्टार्टिंग में कोई भी नेता जो है वह बहुत ही ऑनेस्ट अपने आप को दिखाने की कोशिश करता ह

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  430
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!