इन दिनों में सॉफ्ट स्किल्स इतनी महत्वपूर्ण क्यों हो गई हैं?...


play
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

0:52

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसे क्या कर रहे हैं इन दिनों में सॉफ्ट स्किल इतनी महत्वपूर्ण क्यों हो गई है पर हां को बताना चाहेंगे सॉफ्ट स्किल पहले भी महत्व करते थे लेकिन अब उस को तवज्जो अलग से मिलने लगी है तो उसके प्रति गंभीर हो गए हैं क्योंकि अब वैश्वीकरण बहुत ज्यादा बढ़ गया है एक छोटी से छोटी कंपनियों की स्टार्टअप भी बाहर की कंपनियों से डील करता है वहां पर अपने प्रोडक्ट सेल आउट करता है अपने सर्विसेज देता है तो वहां पर क्या होता है कि आपको नाते अपना प्रोडक्ट बेचने होता है बल्कि अपने आपको प्रेजेंट भी करना होता है तो अगर आप अपनी खुद की ब्रांडिंग नहीं कर सकते अगर आप खुद अपने आप को प्लेन टेबल नहीं बनाएंगे तो आपके प्रोडक्ट ही आपके सब इसमें भी कोई इंटरेस्ट नहीं लेगा तो इसलिए यहां पर सॉफ्ट स्किल और इंटरपर्सनल स्किल्स से अधिक फोकस करने किया जा रहा है और करना भी चाहिए नासिक टेक्निकल स्किल्स को ही फोकस करके आगे बढ़ना चाहिए मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद

jaise kya kar rahe hain in dino mein soft skill itni mahatvapurna kyon ho gayi hai par haan ko bataana chahenge soft skill pehle bhi mahatva karte the lekin ab us ko tavajjo alag se milne lagi hai toh uske prati gambhir ho gaye hain kyonki ab vaishvikaran bahut zyada badh gaya hai ek choti se choti companion ki startup bhi bahar ki companion se deal karta hai wahan par apne product cell out karta hai apne services deta hai toh wahan par kya hota hai ki aapko naate apna product bechne hota hai balki apne aapko present bhi karna hota hai toh agar aap apni khud ki Branding nahi kar sakte agar aap khud apne aap ko plane table nahi banayenge toh aapke product hi aapke sab isme bhi koi interest nahi lega toh isliye yahan par soft skill aur interpersonal skills se adhik focus karne kiya ja raha hai aur karna bhi chahiye nashik technical skills ko hi focus karke aage badhana chahiye main subhkamnaayain aapke saath hain dhanyavad

जैसे क्या कर रहे हैं इन दिनों में सॉफ्ट स्किल इतनी महत्वपूर्ण क्यों हो गई है पर हां को बता

Romanized Version
Likes  359  Dislikes    views  6806
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sanjay Naik

Career Counselor

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इन दिनों में स्वास्थ्य केंद्र की महत्वपूर्ण हो गई है उसमें सब बताते थे कि कंप्यूटर कुछ नहीं कर सकते कुछ नहीं होता विश्व के हर किसी को कंप्यूटर इस्तेमाल करना पड़ता बनाया तो उसने मेरे साथ सीख लिया उम्र का कहीं पर भी कंपनी में छोटे-मोटे नौटंकी कंपनी

in dino mein swasthya kendra ki mahatvapurna ho gayi hai usme sab batatey the ki computer kuch nahi kar sakte kuch nahi hota vishwa ke har kisi ko computer istemal karna padta banaya toh usne mere saath seekh liya umr ka kahin par bhi company mein chhote mote nautanki company

इन दिनों में स्वास्थ्य केंद्र की महत्वपूर्ण हो गई है उसमें सब बताते थे कि कंप्यूटर कुछ नही

Romanized Version
Likes  77  Dislikes    views  1488
WhatsApp_icon
user

Suresh Jeswani

Life Coach

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पंजाब का सवाल है कि इन दिनों सॉफ्ट स्किल्स इतनी महत्वपूर्ण क्यों भेजी है जमाना ऐसा हो गया है कि हमारे जो बुजुर्ग हैं उनके पास में हम लोग बैठकर उनके जीवन के जो अनुभव है वह हम लोग सुनते नहीं है तो हमारे पास में टाइम नहीं है या फिर जो बच्चे हैं एजुकेशन जिनका चल रहा है उनका नाम है उसमें मतलब बिजी रहते हैं कि उनको दादा दादी अम्मा का मम्मी पप्पा मामा हम इंसानों के बस में बैठकर उनके जीवन के अनुभव लेने का टाइम नहीं है तो फिर दूसरा कुछ हमारे जीवन में जो आवश्यक चीजें हैं पढ़ाई के अलावा जिन को मिलते हैं

punjab ka sawaal hai ki in dino soft skills itni mahatvapurna kyon bheji hai jamana aisa ho gaya hai ki hamare jo bujurg hain unke paas mein hum log baithkar unke jeevan ke jo anubhav hai vaah hum log sunte nahi hai toh hamare paas mein time nahi hai ya phir jo bacche hain education jinka chal raha hai unka naam hai usme matlab busy rehte hain ki unko dada dadi amma ka mummy pappa mama hum insano ke bus mein baithkar unke jeevan ke anubhav lene ka time nahi hai toh phir doosra kuch hamare jeevan mein jo aavashyak cheezen hain padhai ke alava jin ko milte hain

पंजाब का सवाल है कि इन दिनों सॉफ्ट स्किल्स इतनी महत्वपूर्ण क्यों भेजी है जमाना ऐसा हो गया

Romanized Version
Likes  138  Dislikes    views  677
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!