मोदी ने गांधी को याद करते हुए कहा कि देश को स्वतंत्रता के बाद कांग्रेस की आवश्यकता नहीं है? क्या आप सहमत हैं? क्यों?...


play
user
0:12

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस प्रकार का वेट किया गया मेरे नाले में नहीं आया है इसलिए मैं इस पर किसी प्रकार की कोई टिप्पणी नहीं

is prakar ka wait kiya gaya mere naale mein nahi aaya hai isliye main is par kisi prakar ki koi tippani nahi

इस प्रकार का वेट किया गया मेरे नाले में नहीं आया है इसलिए मैं इस पर किसी प्रकार की कोई टिप

Romanized Version
Likes  72  Dislikes    views  1433
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ravi Sharma

Advocate

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सन 1885 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का गठन हुआ था जिसका प्रमुख कारण था ब्रिटिश साम्राज्यवाद का विरोध इस प्रकार ब्रिटिश साम्राज्य ने भारत में आर्थिक सामाजिक अत्याचार फैलाया हुआ था उसके विरोध हेतु तथा लोकतांत्रिक तरीके से अपनी बात करने हेतु भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का गठन हुआ स्वतंत्रता के पश्चात आवश्यकता थी कि अन्य पार्टियों की उभर कर सामने आए जो विभिन्न जातियों समुदाय अवधारणा तथा राज्यों का प्रतिनिधित्व कर सके परंतु भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने जिस प्रकार से राजनीति का सथापना अभिलाषाओं का एकत्रीकरण करके भारतीय राजनीति पर अपनी एक मात्रा पकड़ बना कर रखी उसकी वजह से अन्य पार्टियों को सामने आने का मौका नहीं मिला परंतु जिस प्रकार से पिछले कुछ दशकों में अन्य पार्टियां उभरकर सामने आई है तथा भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के विरोध तथा उसकी नीतियों के विरोध में किस प्रकार से भारतीय जनता पार्टी तथा अन्य अन्य पार्टियां राष्ट्रीय मंच पर अपना वर्चस्व कायम करने पर कामयाब रहे हैं मुझे लगता है कि आने वाले समय में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का अस्तित्व जो है संकट में आ सकता है यह जरूर मानता हूं मैं कि भारतीय स्वाधीनता संग्राम में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का करोड़ों कार्यकर्ताओं का बहुत अधिक योगदान रहा है परंतु यह कोई नहीं बता सकता कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस केवल उनका प्रतिनिधित्व करती थी वह ऐसा गलत है ऐसा जो मंच था जिसके माध्यम से भारतीय लोग अपनी बात अपना विरोध ब्रिटिश साम्राज्य के सामने रख सकते थे मुझे नहीं लगता कि भारतीय स्वाधीनता संग्राम के पश्चात उसकी अभी कोई भी आवश्यकता है और चित्र है तथा इसको अब धीरे-धीरे करके अन्य पार्टियों से

san 1885 mein bharatiya rashtriya congress ka gathan hua tha jiska pramukh karan tha british samarajyawad ka virodh is prakar british samrajya ne bharat mein aarthik samajik atyachar faelaya hua tha uske virodh hetu tatha loktantrik tarike se apni baat karne hetu bharatiya rashtriya congress ka gathan hua swatantrata ke pashchat avashyakta thi ki anya partiyon ki ubhar kar saamne aaye jo vibhinn jaatiyo samuday avdharna tatha rajyo ka pratinidhitva kar sake parantu bharatiya rashtriya congress ne jis prakar se raajneeti ka sathapana abhilashaon ka ekatrikaran karke bharatiya raajneeti par apni ek matra pakad bana kar rakhi uski wajah se anya partiyon ko saamne aane ka mauka nahi mila parantu jis prakar se pichle kuch dashakon mein anya partyian ubharakar saamne I hai tatha bharatiya rashtriya congress ke virodh tatha uski nitiyon ke virodh mein kis prakar se bharatiya janta party tatha anya anya partyian rashtriya manch par apna varchaswa kayam karne par kamyab rahe hain mujhe lagta hai ki aane waale samay mein bharatiya rashtriya congress ka astitva jo hai sankat mein aa sakta hai yah zaroor manata hoon main ki bharatiya swadheenta sangram mein bharatiya rashtriya congress ka karodo karyakartaon ka bahut adhik yogdan raha hai parantu yah koi nahi bata sakta ki bharatiya rashtriya congress keval unka pratinidhitva karti thi vaah aisa galat hai aisa jo manch tha jiske madhyam se bharatiya log apni baat apna virodh british samrajya ke saamne rakh sakte the mujhe nahi lagta ki bharatiya swadheenta sangram ke pashchat uski abhi koi bhi avashyakta hai aur chitra hai tatha isko ab dhire dhire karke anya partiyon se

सन 1885 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का गठन हुआ था जिसका प्रमुख कारण था ब्रिटिश साम्राज्य

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  298
WhatsApp_icon
user

Vedachary Pathak Singrauli

सनातन सुरक्षा परिषद् संस्थापक

7:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हर दोस्त नमस्कार आपका सवाल है कि मोदी ने गांधी को याद करते हुए कहा कि देश को स्वतंत्रता के बाद कांग्रेस की आवश्यकता नहीं है क्या आप सहमत हैं और क्यों जी हां यह सत्य बात है कि गांधी जी ने कहा था कि देश पर कांग्रेस की आवश्यकता नहीं है क्योंकि जिसके पास जो अनुभव होता है अपने अनुभव को ही दूसरों के साथ वह साझा करता है गांधी जी को लगा कि देश हित में कांग्रेस कार्य नहीं कर रही है या नहीं कर पाएगी भविष्य में इसलिए उन्होंने यह कथन कहा था और इस सत्य है क्योंकि हमारे जो बुजुर्ग होते हैं जो हमारे आदर्श होते हैं उसे आने होते हैं वह अक्सर हमें कहा करते हैं कि उससे दूरी बना कर रखना क्यों क्यों नहीं पता होता है कि वह हमारा दुश्मन है तो हमारी दुश्मनी हमारे बच्चों से हमारे आने वाली पीढ़ी से निकाल सकता है इसलिए कांग्रेस की विचारधारा कांग्रेस की न्यू कांग्रेस के सिद्धांत कांग्रेस के सिद्धांत पर स्थापना की गई थी कांग्रेस का मुख्य मकसद क्या था पार्टी का रूप देने के लिए कौन दिया कैसे दिया और किस प्रकार से देश में लोगों को महकाया या गलत रास्तों पर ले जाकर गलत संदेशों का प्रचार करके देश को किस प्रकार से भ्रमित किया कांग्रेस ने और देश को गुलामी तक पहुंचाने के लिए अंग्रेजों के हाथों में सौंपने के लिए कांग्रेस कहां तक कांग्रेस का हाथ है इन सारी बातों को गांधीजी जानते थे कांग्रेस की स्थापना सन 1885 में हुई तो कांग्रेस की स्थापना 1885 में क्यों कौन किया और किस मकसद से किया तो उस समय पर ब्रिटेन का राज हुआ करता था हमारे देश में इंग्लैंड की महारानी विक्टोरिया का उपनिवेश हमारा देश समझा जाता था यानी कि जीता हुआ तो यहां उनका एक कलेक्टर होता था उसका नाम था यह वॉल्यूम तो ए यूट्यूब ने एक नई शुरुआत के देश में राजनीति के जरिए हम अपनी पैठ कैसे जमाए तुम्हारा नहीं बीटूरिया के सामने उसने प्रस्ताव रखा कि हम देश में कुछ इस प्रकार से करने जा रहे हैं क्या करने जा रहे हैं तो उसने बताया कि हम कांग्रेस पार्टी की न्यूज़ देने जा रहे हैं और इस पार्टी के अंतर्गत भारत में जो प्रतिष्ठित व्यक्ति हैं जो वर्चस्व व्यक्ति हैं जिनकी बातों को समाज मानता है जिनकी बातों से समाज उनकी बातों को मान जाएगा ऐसे व्यक्तियों को हम पार्टी में सम्मिलित करेंगे और उन्हें पार्टी का कुछ पद दे दिया जाएगा जिससे कि उन्हें लगे कि इमेज पार्टी में इतने बड़े पद पर आसीन हूं और उनके द्वारा वहां के लोगों को भ्रमित कराया जाए भ्रमित कैसे करा जाए क्योंकि जब आपके समाज का कोई व्यक्ति आपके पास आकर बोलेगा कि देखो अंग्रेजी सरकार बहुत अच्छी सरकार है और इस सरकार हमें सुरक्षा दे सकती है या सुरक्षित रख सकती है तो ऐसे लोगों को कांग्रेस पकड़कर अपने पार्टियों में सम्मिलित किया उसी में बाल गंगाधर तिलक को भी कांग्रेस में ज्वाइन कराया गया लेकिन बाल गंगाधर तिलक बहुत ही बुद्धिमान व्यक्ति होने के कारण कांग्रेस की नीति को समझ गए और उल्टा वह कौन कांग्रेस की नीतियों के खिलाफ प्रचार करने लगे कि कांग्रेस से वह जो कांग्रेसी एक धोखा है क्योंकि कांग्रेस का मकसद था मकसद था कि समाज के बच्चे सभी व्यक्तियों को पकड़कर उन्हें कुछ लोग लालच देकर और कांग्रेस की बढ़ाई का बखान लोगों तक कराया जाए और लोगों को यह बताया जाए कि कांग्रेस पार्टी बहुत अच्छी पार्टी है अंग्रेजी सरकार बहुत अच्छी सरकार है और यही सरकार आप की हिफाजत कर सकते हैं ताकि लोग अंग्रेजों से दूरी ना बना पाए उसे हिसाब उन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए गांधी जी को भी क्योंकि उसमें पर गांधीजी उस समय के बाद गांधी जी का भी बच्चन काफी अच्छा रहा देश में उन हालात को देखकर अंग्रेजों ने गांधी जी को भी कांग्रेस पार्टी में शामिल किया तो गांधीजी प्रारंभ में यही करते थे अंग्रेजों का बखान ही किया करते थे वहीं पर फिर दो घुट हुए नरम दल और गरम दल नरम दल में गांधी जी के साथ कुछ लोग थे और गरम दल में बाल गंगाधर तिलक जी के साथ कुछ लोग थे तो कांग्रेस की स्थापना और कांग्रेस का मकसद गांधी जी को पता था किस प्रदेश पर कब्जा करने के लिए पार्टी बनाई गई इसलिए देश आजादी के बाद वह चाहते थे कि अब इस पार्टी का नेतृत्व देश से खत्म हो जाए क्योंकि उन्हें यह भी पता था कि देश कभी आजाद पूर्ण रूप से नहीं हुआ है अंतरराष्ट्रीय संधियों के अनुसार हमारा देश लगभग 99 वर्ष के लिए लीज पर दिया गया है अभी भी हम पूर्ण रूप से स्वतंत्र नहीं है जब कोई दूसरी सरकार आएगी जो वास्तविक में राष्ट्रहित राष्ट्र चिंतन करने वाली पार्टी आएगी तो बोल राष्ट्र को इन समस्याओं से उबर सकती है निकाल सकती हो अगर कांग्रेस रहेगी तो कांग्रेस तो सिम सिम डली हुई है प्लीज के लिए तो वह कुछ नहीं कर पाएगी इसलिए गांधीजी चाहते थे कि अब कांग्रेस देश से समाप्त हो जाए इसलिए मुझे भी लगता है कि कांग्रेस गुरु शिष्य देश से समाप्त होनी चाहिए कांग्रेस धन्यवाद

har dost namaskar aapka sawaal hai ki modi ne gandhi ko yaad karte hue kaha ki desh ko swatantrata ke baad congress ki avashyakta nahi hai kya aap sahmat hai aur kyon ji haan yah satya baat hai ki gandhi ji ne kaha tha ki desh par congress ki avashyakta nahi hai kyonki jiske paas jo anubhav hota hai apne anubhav ko hi dusro ke saath vaah sajha karta hai gandhi ji ko laga ki desh hit mein congress karya nahi kar rahi hai ya nahi kar payegi bhavishya mein isliye unhone yah kathan kaha tha aur is satya hai kyonki hamare jo bujurg hote hai jo hamare adarsh hote hai use aane hote hai vaah aksar hamein kaha karte hai ki usse doori bana kar rakhna kyon kyon nahi pata hota hai ki vaah hamara dushman hai toh hamari dushmani hamare baccho se hamare aane wali peedhi se nikaal sakta hai isliye congress ki vichardhara congress ki new congress ke siddhant congress ke siddhant par sthapna ki gayi thi congress ka mukhya maksad kya tha party ka roop dene ke liye kaun diya kaise diya aur kis prakar se desh mein logo ko mahakaya ya galat raston par le jaakar galat sandeshon ka prachar karke desh ko kis prakar se bharmit kiya congress ne aur desh ko gulaami tak pahunchane ke liye angrejo ke hathon mein saumpane ke liye congress kaha tak congress ka hath hai in saari baaton ko gandhiji jante the congress ki sthapna san 1885 mein hui toh congress ki sthapna 1885 mein kyon kaun kiya aur kis maksad se kiya toh us samay par britain ka raj hua karta tha hamare desh mein england ki maharani Victoria ka upnivesh hamara desh samjha jata tha yani ki jita hua toh yahan unka ek collector hota tha uska naam tha yah volume toh a youtube ne ek nayi shuruat ke desh mein raajneeti ke jariye hum apni paith kaise jamaye tumhara nahi bituriya ke saamne usne prastaav rakha ki hum desh mein kuch is prakar se karne ja rahe hai kya karne ja rahe hai toh usne bataya ki hum congress party ki news dene ja rahe hai aur is party ke antargat bharat mein jo pratishthit vyakti hai jo varchaswa vyakti hai jinki baaton ko samaj maanta hai jinki baaton se samaj unki baaton ko maan jaega aise vyaktiyon ko hum party mein sammilit karenge aur unhe party ka kuch pad de diya jaega jisse ki unhe lage ki image party mein itne bade pad par aaseen hoon aur unke dwara wahan ke logo ko bharmit raya jaaye bharmit kaise kara jaaye kyonki jab aapke samaj ka koi vyakti aapke paas aakar bolega ki dekho angrezi sarkar bahut achi sarkar hai aur is sarkar hamein suraksha de sakti hai ya surakshit rakh sakti hai toh aise logo ko congress pakadakar apne partiyon mein sammilit kiya usi mein baal gangadhar tilak ko bhi congress mein join raya gaya lekin baal gangadhar tilak bahut hi buddhiman vyakti hone ke karan congress ki niti ko samajh gaye aur ulta vaah kaun congress ki nitiyon ke khilaf prachar karne lage ki congress se vaah jo congressi ek dhokha hai kyonki congress ka maksad tha maksad tha ki samaj ke bacche sabhi vyaktiyon ko pakadakar unhe kuch log lalach dekar aur congress ki badhai ka bakhan logo tak raya jaaye aur logo ko yah bataya jaaye ki congress party bahut achi party hai angrezi sarkar bahut achi sarkar hai aur yahi sarkar aap ki hifajat kar sakte hai taki log angrejo se doori na bana paye use hisab unhi baaton ko dhyan mein rakhte hue gandhi ji ko bhi kyonki usme par gandhiji us samay ke baad gandhi ji ka bhi bachchan kaafi accha raha desh mein un haalaat ko dekhkar angrejo ne gandhi ji ko bhi congress party mein shaamil kiya toh gandhiji prarambh mein yahi karte the angrejo ka bakhan hi kiya karte the wahi par phir do ghut hue naram dal aur garam dal naram dal mein gandhi ji ke saath kuch log the aur garam dal mein baal gangadhar tilak ji ke saath kuch log the toh congress ki sthapna aur congress ka maksad gandhi ji ko pata tha kis pradesh par kabza karne ke liye party banai gayi isliye desh azadi ke baad vaah chahte the ki ab is party ka netritva desh se khatam ho jaaye kyonki unhe yah bhi pata tha ki desh kabhi azad purn roop se nahi hua hai antararashtriya sandhiyon ke anusaar hamara desh lagbhag 99 varsh ke liye lease par diya gaya hai abhi bhi hum purn roop se swatantra nahi hai jab koi dusri sarkar aayegi jo vastavik mein Rastrahit rashtra chintan karne wali party aayegi toh bol rashtra ko in samasyaon se ubar sakti hai nikaal sakti ho agar congress rahegi toh congress toh sim sim dali hui hai please ke liye toh vaah kuch nahi kar payegi isliye gandhiji chahte the ki ab congress desh se samapt ho jaaye isliye mujhe bhi lagta hai ki congress guru shishya desh se samapt honi chahiye congress dhanyavad

हर दोस्त नमस्कार आपका सवाल है कि मोदी ने गांधी को याद करते हुए कहा कि देश को स्वतंत्रता के

Romanized Version
Likes  103  Dislikes    views  810
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसने कहा कि देश को आजाद होने के बाद खांग्रेस की आवश्यकता नहीं मुझे नहीं पता है गांधी मोदी ने कब का घर कहां है तो ₹1 सकता है क्योंकि कांग्रेसका जो योगदान है भारतीय भवानी बहुत ही छोटी का हम देख सकते हैं कि कांग्रेस ने भले ही बहुत ज्यादा शासन किया लेकिन भारत में जो रखा है वह सराहनीय था अंग्रेजी आदमी के कत्ल के लोगों समेकन हमारा भरोसा दल की भूमिका में नहीं है क्यों फिर भी संप्रदाय के आधार पर उसने अभी तक कभी नहीं करवाया हमें ना शायद लड़ाई बीजेपी सपोर्ट करती है हिंदुओं को एक गलत नहीं है लेकिन मुसलमानों को मुस्लिम का तोहफा दे दिया गया है कि वह मुसलमान को गुड करते हैं ऐसा नहीं है सुबह शाम को सपोर्ट करते होते कहा कि मुस्लिम लिख कभी बनती ही नहीं इसलिए यह गलत है और जिसने भी कहा ऐसा तो उसे नहीं कहना चाहिए था एक कांग्रेश आज हमारे देश में अमेरिकी डाले लेकिन उसका ही उद्धार हुआ है उस काम कभी भुला नहीं सकते अगर विपक्षी दल की रोक नहीं आज वीडियो कंट्रोल कर रहा है वैसा ही नहीं होता तो शायद मुझे नहीं लगता कि वह कोई पार्टी ऐसा कर पाती इसलिए धन्यवाद

kisne kaha ki desh ko azad hone ke baad khangres ki avashyakta nahi mujhe nahi pata hai gandhi modi ne kab ka ghar kaha hai toh Rs sakta hai kyonki kangresaka jo yogdan hai bharatiya bhawani bahut hi choti ka hum dekh sakte hain ki congress ne bhale hi bahut zyada shasan kiya lekin bharat me jo rakha hai vaah sarahniya tha angrezi aadmi ke katl ke logo samekan hamara bharosa dal ki bhumika me nahi hai kyon phir bhi sampraday ke aadhar par usne abhi tak kabhi nahi karvaya hamein na shayad ladai bjp support karti hai hinduon ko ek galat nahi hai lekin musalmanon ko muslim ka tohfa de diya gaya hai ki vaah musalman ko good karte hain aisa nahi hai subah shaam ko support karte hote kaha ki muslim likh kabhi banti hi nahi isliye yah galat hai aur jisne bhi kaha aisa toh use nahi kehna chahiye tha ek congress aaj hamare desh me american dale lekin uska hi uddhar hua hai us kaam kabhi bhula nahi sakte agar vipakshi dal ki rok nahi aaj video control kar raha hai waisa hi nahi hota toh shayad mujhe nahi lagta ki vaah koi party aisa kar pati isliye dhanyavad

किसने कहा कि देश को आजाद होने के बाद खांग्रेस की आवश्यकता नहीं मुझे नहीं पता है गांधी मोदी

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  89
WhatsApp_icon
user

Sameer Tripathy

Political Critic

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी मोदी जी ने जो बोला कि गांधी को गांधी महात्मा गांधी जी जो हमारे भारतीय पिता है महेश के पिता है वह उनको याद करते हुए कहा कि जो कांग्रेस का देश कब स्वतंत्र के बाद बात कांग्रेस को ज़रूरत नहीं तो इसमें मुझे देखी मुझे लगता कि वह ऐसे बोलने से बोल दिया वह ऐसा कोई उनको बोलने का कोई इंटेंशन ऐसा कुछ नहीं था वह वह वह होता है राजनीति का रोग होता है तो मुझे दर्दे कांग्रेस में भी बहुत सारे काम किए यार ऐसा नहीं है कि वह लोग सब झूठे हैं और ब्रिटिश भी लुटा है कांग्रेस भी लूटते हैं और बाहर पॉलिटिशियन ने लूटा है पूरे भारत को लूट लूट गए थे वह लोग जीते हैं अभी तो ऐसा कुछ भी नहीं है और BJP के भी कुछ बहुत सारी करो कि bjp कोई दूध दूध का धुला हुआ नहीं है जो भी बोलना चाहता हूं यह जैसे बुक BJP के बहुत सारे कारण मिनिस्टर है जैसे जब वफा जो कांग्रेस के जो वो सारी कर्नाटका में जो चीफ मिनिस्टर रह चुके और अभी चीफ मिनिस्टर के लड़के लड़ रहे हैं अभी नेक्स्ट इलेक्शन लड़ेंगे तो वह भी बहुत ही खराब है और BJP के में ऐसे ऐसे नाम भी बोल सकता हूं कि बहुत ही खराब है तो पॉलिटिशंस है मैं मानता हूं अगर जो यह जो बात बोलेगी कांग्रेस का जरूरत नहीं था इंडिपेंडेंस के बाद यह गलत बात है क्योंकि कांग्रेस में भी बहुत सारे काम किए आई टी रिजल्ट रेवलुएशन हो गया सॉन्ग भारत को जो वन इंडस्ट्रीज सब बहुत सारे काम के बहुत सारे लिस्ट भी है बोलने के लिए टाइप बहुत टाइम लगेगा तो ऐसा नहीं है कि हर राजनीतिक में जो एक एक पार्टी अगर वह देश को इतने बड़े देश को रोल करता है तो देश के लिए तो वह कुत्ता कुछ ना कुछ तो करेगा कुछ ना कुछ उसकी हमसे लेकर आएगा कुछ ना कुछ तो देखिए अगर आप 10 बड़े काम कर रहे हैं तो 1125 हम तो करेंगे ना तो इतना तो वह बुरा नहीं करेंगे कि लोग आपको लात मार के निकाल दे तो इसमें देखिए सब मिली भगत है अब BJP भी कोई दूध का धुला हुआ नहीं है कांग्रेस भी तो कोई दूध का धुला कोई भी राजनीतिक पार्टी भारत में दूध का धुला हुआ नहीं है तो यह उनको बोला नहीं था अगर वह बोल दिया

vicky modi ji ne jo bola ki gandhi ko gandhi mahatma gandhi ji jo hamare bharatiya pita hai mahesh ke pita hai vaah unko yaad karte hue kaha ki jo congress ka desh kab swatantra ke baad baat congress ko zarurat nahi toh isme mujhe dekhi mujhe lagta ki vaah aise bolne se bol diya vaah aisa koi unko bolne ka koi intention aisa kuch nahi tha vaah vaah vaah hota hai raajneeti ka rog hota hai toh mujhe darde congress mein bhi bahut saare kaam kiye yaar aisa nahi hai ki vaah log sab jhuthe hain aur british bhi loota hai congress bhi lootate hain aur bahar politician ne loota hai poore bharat ko loot loot gaye the vaah log jeete hain abhi toh aisa kuch bhi nahi hai aur BJP ke bhi kuch bahut saree karo ki bjp koi doodh doodh ka dhula hua nahi hai jo bhi bolna chahta hoon yah jaise book BJP ke bahut saare karan minister hai jaise jab wafa jo congress ke jo vo saree karnataka mein jo chief minister reh chuke aur abhi chief minister ke ladke lad rahe hain abhi next election ladenge toh vaah bhi bahut hi kharab hai aur BJP ke mein aise aise naam bhi bol sakta hoon ki bahut hi kharab hai toh politicians hai manata hoon agar jo yah jo baat bolegi congress ka zarurat nahi tha Independence ke baad yah galat baat hai kyonki congress mein bhi bahut saare kaam kiye I T result Revaluation ho gaya song bharat ko jo van industries sab bahut saare kaam ke bahut saare list bhi hai bolne ke liye type bahut time lagega toh aisa nahi hai ki har raajnitik mein jo ek ek party agar vaah desh ko itne bade desh ko roll karta hai toh desh ke liye toh vaah kutta kuch na kuch toh karega kuch na kuch uski humse lekar aayega kuch na kuch toh dekhiye agar aap 10 bade kaam kar rahe hain toh 1125 hum toh karenge na toh itna toh vaah bura nahi karenge ki log aapko laat maar ke nikaal de toh isme dekhiye sab mili bhagat hai ab BJP bhi koi doodh ka dhula hua nahi hai congress bhi toh koi doodh ka dhula koi bhi raajnitik party bharat mein doodh ka dhula hua nahi hai toh yah unko bola nahi tha agar vaah bol diya

विकी मोदी जी ने जो बोला कि गांधी को गांधी महात्मा गांधी जी जो हमारे भारतीय पिता है महेश के

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
user

Rajsi

Sports Commentator & Reporter

1:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोदी जी ने कहा कि गांधीजी को याद करते हैं उन्होंने कहा कि यह देश में स्वतंत्रता के बाद कांग्रेस की जरूरत नहीं थी बट मैं उन पर इतना इस मामले में उनके साथ नहीं दूंगी उनके सेट में साथ नहीं जाऊंगी कि पॉलिथीन जो कि अभी अमेरिकन टाइम में देखा तो बिल्कुल यह बात तो जायज है कि जिस तरह की बोल्डनेस हमें चाहिए थी वह बोलने समय उस टाइम पर नहीं मिल पाई मतलब जो लीडर्स हमें हम मिले हैं अभी अगर अभी से 10 की बात करें तो एक बहुत बड़ा क्वेश्चन कांग्रेस के ऊपर हो रहा था कि अगर आपके ही सारे मेनिफेस्टो को BJP प्रोग्राम कर रही है अगर उसको चलाकर जैसे कि जीएसटी आप चाहते थे जे सी बी जे पी ले आई आप और इंग्लिश में क्या कहते इन व्यापार इन्वेस्टमेंट आपको फॉलो नहीं करा पाया वह बीजेपी ले आई बिल्कुल हमें एक लीडर की जरूरत तो बिल्कुल पड़ती है जो कि कांग्रेस में में कमी देखी गई इंदिरा गांधी जी के बाद से या उनके अलावा भी हमने किसी भी इतना पावर कोई लीडर नहीं देखा कांग्रेस में जो कि जिस जिस की कमी होने बीजेपी में नहीं देखी क्योंकि इसके पहले अटल बिहारी वाजपेई थे बहुत ही ज्यादा सॉन्ग अरविंद इस टाइम पर विजय से कम मोदी की बात करते नरेंद्र मोदी जो कि हमारे PM हम उनकी बात करें या फिर जो हमारे होम मिनिस्टर हैं हम उनकी बात करें तो हमारे पास बहुत सारे आप्शन रहे हैं बीजेपी के नाम पर तो अब बिल्कुल कांग्रेस यह बोल्ड में जो मैं चाहती थी वह अगर मिल जाती है उस टाइम पर भी जब वह नहीं जो हमें नहीं सफलता मिली थी हम वहां हम स्वतंत्र हुए थे उस टाइम मैं बोलने से जरूर कमी थी इसके अलावा कांग्रेस प्रेजिडेंट ध्यान दिया धीमे धीमे पूरा देश बेल्ट किया और बड़ी बड़ी चीजें हम लोगों ने अच्छी स्कीम फॉर ग्लोबलाइजेशन था वह लेकर के आए कांग्रेस जो इंटरनेट की तूफान था जो कंप्यूटरीकरण था वह सब कुछ कांग्रेस लेकर की आई तो मैं यह नहीं मानती की आजादी के बाद जरूरत नहीं थी कांग्रेस की जरूरत जरूरत है लेकिन एक चीज की कमी थी बोल्ड लीडर की एक बहुत ही पॉपुलर कि कांग्रेस ने जरूर खेलने का मौका दिया इसके अलावा कांग्रेस और कहीं मुझे लाइक करती नजर नहीं आ रही है

modi ji ne kaha ki gandhiji ko yaad karte hain unhone kaha ki yah desh mein swatantrata ke baad congress ki zarurat nahi thi but main un par itna is mamle mein unke saath nahi dungi unke set mein saath nahi jaungi ki polythene jo ki abhi american time mein dekha toh bilkul yah baat toh jayaj hai ki jis tarah ki boldness hamein chahiye thi vaah bolne samay us time par nahi mil payi matlab jo leaders hamein hum mile hain abhi agar abhi se 10 ki baat kare toh ek bahut bada question congress ke upar ho raha tha ki agar aapke hi saare Menifesto ko BJP program kar rahi hai agar usko chalakar jaise ki gst aap chahte the je si be je p le I aap aur english mein kya kehte in vyapar investment aapko follow nahi kara paya vaah bjp le I bilkul hamein ek leader ki zarurat toh bilkul padti hai jo ki congress mein mein kami dekhi gayi indira gandhi ji ke baad se ya unke alava bhi humne kisi bhi itna power koi leader nahi dekha congress mein jo ki jis jis ki kami hone bjp mein nahi dekhi kyonki iske pehle atal bihari vajpayee the bahut hi zyada song arvind is time par vijay se kam modi ki baat karte narendra modi jo ki hamare PM hum unki baat kare ya phir jo hamare home minister hain hum unki baat kare toh hamare paas bahut saare apshan rahe hain bjp ke naam par toh ab bilkul congress yah bold mein jo main chahti thi vaah agar mil jaati hai us time par bhi jab vaah nahi jo hamein nahi safalta mili thi hum wahan hum swatantra hue the us time main bolne se zaroor kami thi iske alava congress president dhyan diya dhime dhime pura desh belt kiya aur badi badi cheezen hum logo ne achi scheme for globalization tha vaah lekar ke aaye congress jo internet ki toofan tha jo kampyutarikaran tha vaah sab kuch congress lekar ki I toh main yah nahi maanati ki azadi ke baad zarurat nahi thi congress ki zarurat zaroorat hai lekin ek cheez ki kami thi bold leader ki ek bahut hi popular ki congress ne zaroor khelne ka mauka diya iske alava congress aur kahin mujhe like karti nazar nahi aa rahi hai

मोदी जी ने कहा कि गांधीजी को याद करते हैं उन्होंने कहा कि यह देश में स्वतंत्रता के बाद कां

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  135
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोदी कि पिछले कई हफ्ते से जिस प्रकार समय में मुझे भाषण दे रहे हो रही कह रहे हैं कि कांग्रेस जो है आजादी के बाद कांग्रेस की आवश्यकता ही नहीं सुनाने पहले भी ऐसा कहा था कि कांग्रेस में जो अभी आई नहीं है क्या सकता है से और के बीच कई सारे भाषण नहीं तो मोदी ने जो दिए तो बहुत ही मेरी सब से बहुत ही ज्यादा खराब थी और उन्हें ऐसा बोलेगी की आवश्यकता नहीं थी और इस प्रकार सुना ने यह कहा था कि कांग्रेस का सदस्य के बाद उनकी आवश्यकता नहीं हो मेरे हिसाब से बिल्कुल सही नहीं था मैं उनकी बात से बिल्कुल सहमत नहीं हो क्योंकि अगर हम देखें तो कांग्रेस की स्थापना जो है वह 2095 में हुई थी और 80950 है कांग्रेस ने भारत के लिए बहुत कुछ किया वह चाहे आजादी में जंग लड़ना हो या फिर हम कहें आजादी के बाद अगर भारत आजादी से बना है वह सिर्फ से कांग्रेस के कार्य नहीं बना है क्योंकि अगर हम देखें जवाहरलाल नेहरू ने अगर इजरायल के साथ अपने रिश्ते अच्छे नहीं रखे रहते या फिर हम कहे वही सही नहीं नीचे नहीं लाई रहती तो मेरे हिसाब से आज भारत दो इतना सफल नहीं हो पाता और सेवर ही नहीं अगर हम देखें तो इंदिरा गांधी जी ने भी कई सारे ऐसे नहीं चीजें लाई थी उन्होंने भी जाओ एक कौवा के साथ अपने रिश्ते अच्छे लगते थे राजीव गांधी ने जो है आप बहुत सारी चीजें की थी भारत के लिए और सेवा ही नहीं अगर हम देखें और नरसिम्हा राव जो कि भारत के पूर्व प्रधानमंत्री रह चुके हैं उन्होंने भी डिजिटल स्टेशन याद कैसे करे सेटेलाइट फाइट जो है अपने भारत में नजम चाहिए विश्व में कोई भी अगर इवेंट चल रहा हमसे घर पर बैठकर देख सकता है तो खाना कहां पर कांग्रेस नेताओं ने जो है या फिर किधर भी कांग्रेस पार्टी ने भारत के लिए बहुत कुछ किया है और स्वतंत्रता के बाद भारत जो भी बना उसका कोई हिसाब जो है वह कांग्रेस के कारण हुआ है गर्म देकर आरटीआई भी कांग्रेस नहीं लाया था तो खाना काबा नरेंद्र मोदी ने जो कहा है कि स्वतंत्रता के बाद कांग्रेस की आवश्यकता नहीं तो बिल्कुल सही नहीं है कांग्रेस जो है बहुत ही महत्वपूर्ण चीज अंखियों ने भारत के लिए और नरेंद्र मोदी जी और भाजपा को जो है अपोजीशन पार्टी लीटर को सम्मान करना आना चाहिए

modi ki pichle kai hafte se jis prakar samay mein mujhe bhashan de rahe ho rahi keh rahe hain ki congress jo hai azadi ke baad congress ki avashyakta hi nahi sunaane pehle bhi aisa kaha tha ki congress mein jo abhi I nahi hai kya sakta hai se aur ke beech kai saare bhashan nahi toh modi ne jo diye toh bahut hi meri sab se bahut hi zyada kharab thi aur unhe aisa bolegi ki avashyakta nahi thi aur is prakar suna ne yah kaha tha ki congress ka sadasya ke baad unki avashyakta nahi ho mere hisab se bilkul sahi nahi tha main unki baat se bilkul sahmat nahi ho kyonki agar hum dekhen toh congress ki sthapna jo hai vaah 2095 mein hui thi aur 80950 hai congress ne bharat ke liye bahut kuch kiya vaah chahen azadi mein jung ladna ho ya phir hum kahein azadi ke baad agar bharat azadi se bana hai vaah sirf se congress ke karya nahi bana hai kyonki agar hum dekhen jawaharlal nehru ne agar israel ke saath apne rishte acche nahi rakhe rehte ya phir hum kahe wahi sahi nahi niche nahi lai rehti toh mere hisab se aaj bharat do itna safal nahi ho pata aur sevar hi nahi agar hum dekhen toh indira gandhi ji ne bhi kai saare aise nahi cheezen lai thi unhone bhi jao ek kauwa ke saath apne rishte acche lagte the rajeev gandhi ne jo hai aap bahut saree cheezen ki thi bharat ke liye aur seva hi nahi agar hum dekhen aur narsimha rav jo ki bharat ke purv pradhanmantri reh chuke hain unhone bhi digital station yaad kaise kare satellite fight jo hai apne bharat mein najam chahiye vishwa mein koi bhi agar event chal raha humse ghar par baithkar dekh sakta hai toh khana kahaan par congress netaon ne jo hai ya phir kidhar bhi congress party ne bharat ke liye bahut kuch kiya hai aur swatantrata ke baad bharat jo bhi bana uska koi hisab jo hai vaah congress ke karan hua hai garam dekar rti bhi congress nahi laya tha toh khana Kaba narendra modi ne jo kaha hai ki swatantrata ke baad congress ki avashyakta nahi toh bilkul sahi nahi hai congress jo hai bahut hi mahatvapurna cheez ankhiyon ne bharat ke liye aur narendra modi ji aur bhajpa ko jo hai apojishan party litre ko sammaan karna aana chahiye

मोदी कि पिछले कई हफ्ते से जिस प्रकार समय में मुझे भाषण दे रहे हो रही कह रहे हैं कि कांग्रे

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  118
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैंने जो गांधी जी को याद करते हुए कहा कि देश की स्वतंत्रता के बाद कांग्रेस की आवश्यकता नहीं है मुझे नहीं लगता यह जो है उन्होंने मीन किया है एक कमेंट देना था इसलिए उन्होंने कमेंट किया है नहीं तो अगर कांग्रेस ने भी इस देश की उन्नति और आज जिस मुकाम पर है यह देश में कांग्रेस का भी काफी हाथ रहे हैं हां अभी हमारी जोरु लिंग पार्टी है बीजेपी या फिर भी इससे BJP के क्वेश्चन से आने से पहले दूर करने से पहले और जो है कांग्रेस की कांग्रेस ने काफी कुछ किया है इस देश के लिए और ऐसा नहीं कि उनका योगदान कुछ भी नहीं रहा है अभी जो है मोदी जी बहुत अच्छा काम करें इसमें कोई दो राय नहीं है पर कांग्रेस ने भी अपना कर्तव्य निभाया है कांग्रेस ने भी इस देश के लिए काफी कुछ किया है तो वह मेरे हिसाब से वह जो स्टेटमेंट में बस कहने के लिए उनको उसका कोई मीनिंग मेरे हिसाब से मोदी जी मीन करके नहीं कह रहे हैं

maine jo gandhi ji ko yaad karte hue kaha ki desh ki swatantrata ke baad congress ki avashyakta nahi hai mujhe nahi lagta yah jo hai unhone meen kiya hai ek comment dena tha isliye unhone comment kiya hai nahi toh agar congress ne bhi is desh ki unnati aur aaj jis mukam par hai yah desh mein congress ka bhi kaafi hath rahe hain haan abhi hamari joru ling party hai bjp ya phir bhi isse BJP ke question se aane se pehle dur karne se pehle aur jo hai congress ki congress ne kaafi kuch kiya hai is desh ke liye aur aisa nahi ki unka yogdan kuch bhi nahi raha hai abhi jo hai modi ji bahut accha kaam kare isme koi do rai nahi hai par congress ne bhi apna kartavya nibhaya hai congress ne bhi is desh ke liye kaafi kuch kiya hai toh vaah mere hisab se vaah jo statement mein bus kehne ke liye unko uska koi meaning mere hisab se modi ji meen karke nahi keh rahe hain

मैंने जो गांधी जी को याद करते हुए कहा कि देश की स्वतंत्रता के बाद कांग्रेस की आवश्यकता नही

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  172
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!