यमुना की ज़हरीली झाग में दिल्ली की औरतों ने करी छठ पूजा - क्या हम धर्म के लिए अपनी जान तक दे सकते हैं?...


user

Dr. Ashwani Kumar Singh

Chairman & Director at VEMS

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यमुना के जल विभाग में दिल्ली में कली पूजा के लिए अपनी जान तक दे सकते हैं अपना यह सवाल किसी ने पूछा क्यों पूछा कैसे पूछा यह तो अलग से है लेकिन यह जो पूजा होती है इस पर रिसर्च होना है और यह पूजा ही सुनो जी के केस में आदमी के स्वास्थ्य सूर्य का सीधा किरण पानी में रहने पर जोर पड़ता है तो शरीर के हेल्प के प्रॉब्लम को एडिट करता और नई ऊर्जा देता है एक बार दूसरा इसी बहाने नदी की सफाई हमेशा होती रहे अगर दिल्ली में पिछले 50 साल से ही होता है तो शादी भी गंदे ही नहीं होती और गंदी करने के पीछे यह किसी धर्म की बात नहीं है यह है कि सरकार इस स्तर पर क्या कर रही हो सारे ने दिल्ली के नाले उसी में बिकते हैं सारे पक्षियों के पानी से मैं यहां से देश को धर्म के लिए अपनी जान दे देते हैं तलवार से होते हैं वह आपको धर्म दिखता है यहां कौन सा ज्यादा ध्यान देने की बात यह तो पानी में खराब नहीं हुआ तिथि के पानी गंदा था तो दूसरा कोई समाधान है इसे बड़े पैमाने पर नहीं हो सकता इसलिए हुआ लेकिन बाकी जगह पर लोगों ने पानी में खड़ा होकर कहा टेंपल वालिया पानी भर के काम करते हैं शारदा जी के लोगों की कोई दूसरा विकल्प नहीं होगा शुक्रिया शुभ काम

yamuna ke jal vibhag mein delhi mein kalee puja ke liye apni jaan tak de sakte hain apna yah sawaal kisi ne poocha kyon poocha kaise poocha yah toh alag se hai lekin yah jo puja hoti hai is par research hona hai aur yah puja hi suno ji ke case mein aadmi ke swasthya surya ka seedha kiran paani mein rehne par jor padta hai toh sharir ke help ke problem ko edit karta aur nayi urja deta hai ek baar doosra isi bahaane nadi ki safaai hamesha hoti rahe agar delhi mein pichle 50 saal se hi hota hai toh shadi bhi gande hi nahi hoti aur gandi karne ke peeche yah kisi dharm ki baat nahi hai yah hai ki sarkar is sthar par kya kar rahi ho saare ne delhi ke naale usi mein bikate hain saare pakshiyo ke paani se main yahan se desh ko dharm ke liye apni jaan de dete hain talwar se hote hain vaah aapko dharm dikhta hai yahan kaun sa zyada dhyan dene ki baat yah toh paani mein kharab nahi hua tithi ke paani ganda tha toh doosra koi samadhan hai ise bade paimane par nahi ho sakta isliye hua lekin baki jagah par logo ne paani mein khada hokar kaha temple waleya paani bhar ke kaam karte hain sharda ji ke logo ki koi doosra vikalp nahi hoga shukriya shubha kaam

यमुना के जल विभाग में दिल्ली में कली पूजा के लिए अपनी जान तक दे सकते हैं अपना यह सवाल किसी

Romanized Version
Likes  246  Dislikes    views  3074
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
auraton ; chaiti chhath puja 2019 april ; chath puja in delhi ; chhath puja in delhi ; dilli ka launda ; pooja rathore ; छठ पूजा क्यों मनाई जाती है ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!