play
user
0:08

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पद्मावती राजस्थान में मेवाड़ रियासत के राजा रतन सिंह की पत्नी थी

padmavati rajasthan mein mewad riyasat ke raja ratan Singh ki patni thi

पद्मावती राजस्थान में मेवाड़ रियासत के राजा रतन सिंह की पत्नी थी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  4
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पद्मावत श्री पद्मावत संदीप जो कि वर्तमान में श्रीलंका है वहां के राजा गंधर्व सेन व उनकी पत्नी पटरानी जी की इकलौती पुत्री थी उन्होंने वहां से रावल रतन सिंह से शादी की जो कि चित्तौड़ के महाराज आते बहुत पद्मावत नामक ग्रंथ मलिक मोहम्मद जायसी द्वारा रचा गया था

padmavat shri padmavat sandeep jo ki vartaman me sri lanka hai wahan ke raja gandharv sen va unki patni patrani ji ki iklauti putri thi unhone wahan se raval ratan Singh se shaadi ki jo ki chittor ke maharaj aate bahut padmavat namak granth malik muhammad jayasi dwara racha gaya tha

पद्मावत श्री पद्मावत संदीप जो कि वर्तमान में श्रीलंका है वहां के राजा गंधर्व सेन व उनकी पत

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  104
WhatsApp_icon
user

Ankit Raj

Startups

0:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पद्मावती या पद्मिनी यार श्रीलंका के जंगल टंडन की राजकुमारी थी जंगल चित्तौड़गढ़ के राजा अभियान कर के लाए थे

padmavati ya padmini yaar sri lanka ke jungle tandon ki rajkumari thi jungle chittorgarh ke raja abhiyan kar ke laye the

पद्मावती या पद्मिनी यार श्रीलंका के जंगल टंडन की राजकुमारी थी जंगल चित्तौड़गढ़ के राजा अभि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  252
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज के पद्मावती जो महारानी पद्मावती थी वह चित्तौड़ के राजा महाराज सिंह रावत की बीवी थी जिन्होंने असलियत में अगर देखा जाए तो असलियत में बताया गया कि उन्होंने स्वयंवर में रानी पद्मावती को जो सिंगल की थी उन्होंने स्वयंवर में उनको जीता था और अगर मूवी के सब से देखा जाए तो वह सिंगल के मोती ढूंढते-ढूंढते हमको उनसे प्यार हो गया था और उन पर जोशी मोहल्ला उद्दीन खिलजी जो दिल्ली के सुल्तान थे उस समय उनकी नजर पड़ गई थी और वह पद्मावती को हासिल करना चाहते थे इसके स्वरूप उन्होंने चित्तौड़ पर अटैक किया था और महावत सिंह रावत को जोश और जान से मार दिया था और उसी समय पद्मावती ने अग्निकुंड में अपने साथियों के साथ कूदकर जान दे दी थी ताकि वह खिलजी के हाथ ना लगे

aaj ke padmavati jo maharani padmavati thi vaah chittor ke raja maharaj Singh rawat ki biwi thi jinhone asliyat mein agar dekha jaaye toh asliyat mein bataya gaya ki unhone sawamber mein rani padmavati ko jo singles ki thi unhone sawamber mein unko jita tha aur agar movie ke sab se dekha jaaye toh vaah singles ke moti dhoondhate dhoondhate hamko unse pyar ho gaya tha aur un par joshi mohalla uddhin khilji jo delhi ke sultan the us samay unki nazar pad gayi thi aur vaah padmavati ko hasil karna chahte the iske swaroop unhone chittor par attack kiya tha aur mahavat Singh rawat ko josh aur jaan se maar diya tha aur usi samay padmavati ne agnikund mein apne sathiyo ke saath kudakar jaan de di thi taki vaah khilji ke hath na lage

आज के पद्मावती जो महारानी पद्मावती थी वह चित्तौड़ के राजा महाराज सिंह रावत की बीवी थी जिन्

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  194
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पद्मावती का पद्मिनी चित्तौड़ के राजा रतन सिंह की रानी थी इस राजपूत रानी के नाम को उनका ऐतिहासिक अस्तित्व बहुत शांति गत है और इसका ऐतिहासिक अस्तित्व तो प्रायः इतिहासकारों द्वारा काल्पनिक स्वीकार कर लिया गया है इस नाम का मुख्य स्रोत मलिक मोहम्मद जायसी कृत महा पद्मावत नामक महाकाव्य है अन्य जिस किसी ऐतिहासिक स्रोतों या ग्रंथों में पद्मावती है पद्मिनी का वर्णन हुआ है वह सभी पद्मावत की प्रवृत्ति है

padmavati ka padmini chittor ke raja ratan Singh ki rani thi is rajput rani ke naam ko unka etihasik astitva bahut shanti gat hai aur iska etihasik astitva toh prayah itihasakaron dwara kalpnik sweekar kar liya gaya hai is naam ka mukhya srot malik muhammad jayasi krit maha padmavat namak mahakavya hai anya jis kisi etihasik sroton ya granthon mein padmavati hai padmini ka varnan hua hai vaah sabhi padmavat ki pravritti hai

पद्मावती का पद्मिनी चित्तौड़ के राजा रतन सिंह की रानी थी इस राजपूत रानी के नाम को उनका ऐति

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  196
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
padmavati kon thi ; padmavati kaun hai ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!