अन्य भारतीय खिलाड़ियों को हमारे देश के क्रिकेटरों जैसा प्रशिक्षण कैसे मिल सकता है?...


user

S

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत के जो बाकी है प्रीत हैं उनको क्रिकेटर्स जैसा प्रशिक्षण तभी मिल सकता है जब उनके सपोर्ट में फैसिलिटी जा रहे हैं क्रिकेट जैसी उसके लिए आपको रिसोर्सेज चाहिए और उसके लिए चाहिए पैसा पैसा तभी आएगा जब आपको सक्सेस मिलेगी आपका नाम होगा आप नाम करोगे अपना और ऐसा नहीं कि इंडिया वर्सेस क्रिकेट स्कोर ही सफलता मिलती है पैसा मिलता है मुझे आधे राज्यवर्धन सिंह राठौर ने ओलंपिक में अच्छा किया उनको देखो उन्होंने क्या-क्या किया जिंदगी में उसके लाभ अभिनव बिंद्रा ने गोल्ड मेडल जीता उनको अपने सर आंखों पर बिठा लिया एक गोल्ड मैडल की वजह से उनकी पूरी जिंदगी बन गई क्या तू कितनी बार आई हुई पीवी सिंधु सारे प्रोडक्ट है उसका मतलब जब तक अच्छा नहीं करोगे कुछ नहीं होगा और अच्छा तब तक नहीं कर पाओगे जब तक आपको नहीं मिलेंगे आप अच्छे से ट्रेन नहीं करोगे तो कैसे हो पाएगा यह फ़िक्र आउट करना पड़ेगा आपको पहले

bharat ke jo baki hai prateet hain unko cricketers jaisa prashikshan tabhi mil sakta hai jab unke support mein facility ja rahe hain cricket jaisi uske liye aapko resources chahiye aur uske liye chahiye paisa paisa tabhi aayega jab aapko success milegi aapka naam hoga aap naam karoge apna aur aisa nahi ki india versus cricket score hi safalta milti hai paisa milta hai mujhe aadhe rajyavardhan Singh rathore ne olympic mein accha kiya unko dekho unhone kya kya kiya zindagi mein uske labh abhinav bindra ne gold medal jita unko apne sir aakhon par bitha liya ek gold maidal ki wajah se unki puri zindagi ban gayi kya tu kitni baar I hui pv sindhu saare product hai uska matlab jab tak accha nahi karoge kuch nahi hoga aur accha tab tak nahi kar paoge jab tak aapko nahi milenge aap acche se train nahi karoge toh kaise ho payega yah fikra out karna padega aapko pehle

भारत के जो बाकी है प्रीत हैं उनको क्रिकेटर्स जैसा प्रशिक्षण तभी मिल सकता है जब उनके सपोर्ट

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  145
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Naren khatri

Student And Social Worker

0:55

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अन्य भारतीय खिलाड़ियों को हमारे देश के क्रिकेटरों जैसा प्रशिक्षण कैसे मिल सकता है अन्य भारतीय खिलाड़ियों में अगर टैलेंट है तो भारतीय क्रिकेटर जैसा प्रशिक्षण मिल सकता है जैसे विराट कोहली को मिलता है रोहित शर्मा को मिलता है शिखर धवन को मिलता है पर टैलेंट होना चाहिए अगर टैलेंट टैलेंट है तो प्रशिक्षण जरूर मिलेगा गवर्नमेंट पैसे खर्च करेगी उस पर और स्टार्टिंग में आपको खुद को पैसे खर्च करने पड़ेंगे जिससे कि आप उस ऊंचाई पर पहुंच सके और बाद में फिर पहुंच जाने के बाद में बाद में फिर गवर्नमेंट आप पर खर्चा उठाएंगे आपके प्रशिक्षण का और आपको बैटिंग के लिए कोच देंगे या बॉलिंग के लिए कोच देंगी धन्यवाद

anya bharatiya khiladiyon ko hamare desh ke cricketero jaisa prashikshan kaise mil sakta hai anya bharatiya khiladiyon mein agar talent hai toh bharatiya cricketer jaisa prashikshan mil sakta hai jaise virat kohli ko milta hai rohit sharma ko milta hai shikhar dhawana ko milta hai par talent hona chahiye agar talent talent hai toh prashikshan zaroor milega government paise kharch karegi us par aur starting mein aapko khud ko paise kharch karne padenge jisse ki aap us unchai par pahunch sake aur baad mein phir pahunch jaane ke baad mein baad mein phir government aap par kharcha uthayenge aapke prashikshan ka aur aapko batting ke liye coach denge ya bowling ke liye coach dengi dhanyavad

अन्य भारतीय खिलाड़ियों को हमारे देश के क्रिकेटरों जैसा प्रशिक्षण कैसे मिल सकता है अन्य भार

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  188
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिखी अन्य भारतीय खिलाड़ियों को हमारे देश में क्रिकेटर को जैसा प्रशिक्षण कैसे मिल सकता है हम जानते हैं कि जिस प्रकार से क्रिकेट आज इतना प्रशंसक है आज इतना फेमस अपने अन्य खेल में फेमस नहीं है हमारे राष्ट्रीय खेल हॉकी लेकिन फिर भी ऐसा कभी-कभी लगता है कि हमारा राष्ट्रीय खेल क्रिकेट है कि जिस प्रकार से क्रिकेट प्रशंसक है IPL हो या फिर सचिन तेंदुलकर ऐसे कई सारे खिलाड़ी महान खिलाड़ी हो तो खाना कब पर अगर हमें अन्य भारतीय खिलाड़ी को हमारे देश के क्रिकेटर जैसा प्रशिक्षण देना है तो सबसे पहले सरकार को यह जो है जो कि फुटबॉल जाए होती है स्विमिंग है या फिर फ्लैट एक से ही सारे खेलों को सरकार को प्रमोट करना होगा और पूछ मिनिस्ट्री होगी आज इतना करीब खेल के बारे में उन्हें बढ़ावा देंगे या एनफील्ड कंपटीशन सभा रखेंगे जैसे IPL होता है वैसे यह सारे खेल और वह कंपटीशन से रखते हैं तो खाना कहां पर है इससे जो है उन खिलाड़ियों की पहचान पत्र किड्स क्रिकेटर जैसी हो सकती है कि नहीं अपनी अगर सरकारी फंडिंग इशारे Sports के चित्र कैसे करें आपकी आंखें हैं आप पूरा का पूरा फर्ज है उसे क्रिकेट के पीछे फुटबॉल के पीछे लगा बल्कि अन्य खेलों के पीछे भी लगा है और ट्रेनिंग अच्छी थे या फिर जितना हो सके उतने अगर हम कंपटीशन सकते हैं या फिर हम इंगेजमेंट देते हैं तो तब जाकर जो है इन खिलाड़ियों की और प्रशिक्षण जो क्रिकेटर कैसे हो सकती है अगर हम उन्हें पेमेंट भी अगर हम ज्यादा देते हैं और तू भी उनकी प्रशिक्षण जो क्रिकेट हो जैसी हो सकती है तो कान्हा खबर करेंगे हम सब करते हैं तब जाके अन्य खेल के भारतीय खिलाड़ी जो है हमारे देश के क्रिकेटरों जैसा प्रशिक्षण में मिल सकता है

dikhi anya bharatiya khiladiyon ko hamare desh mein cricketer ko jaisa prashikshan kaise mil sakta hai hum jante hain ki jis prakar se cricket aaj itna prasanshak hai aaj itna famous apne anya khel mein famous nahi hai hamare rashtriya khel hockey lekin phir bhi aisa kabhi kabhi lagta hai ki hamara rashtriya khel cricket hai ki jis prakar se cricket prasanshak hai IPL ho ya phir sachin tendulkar aise kai saare khiladi mahaan khiladi ho toh khana kab par agar hamein anya bharatiya khiladi ko hamare desh ke cricketer jaisa prashikshan dena hai toh sabse pehle sarkar ko yah jo hai jo ki football jaaye hoti hai Swimming hai ya phir flat ek se hi saare khelon ko sarkar ko promote karna hoga aur poochh ministry hogi aaj itna kareeb khel ke bare mein unhe badhawa denge ya Enfield competition sabha rakhenge jaise IPL hota hai waise yah saare khel aur vaah competition se rakhte hain toh khana kahaan par hai isse jo hai un khiladiyon ki pehchaan patra kids cricketer jaisi ho sakti hai ki nahi apni agar sarkari funding ishare Sports ke chitra kaise karen aapki aankhen hain aap pura ka pura farz hai use cricket ke peeche football ke peeche laga balki anya khelon ke peeche bhi laga hai aur training achi the ya phir jitna ho sake utne agar hum competition sakte hain ya phir hum engagement dete hain toh tab jaakar jo hai in khiladiyon ki aur prashikshan jo cricketer kaise ho sakti hai agar hum unhe payment bhi agar hum zyada dete hain aur tu bhi unki prashikshan jo cricket ho jaisi ho sakti hai toh kanha khabar karenge hum sab karte hain tab jake anya khel ke bharatiya khiladi jo hai hamare desh ke cricketero jaisa prashikshan mein mil sakta hai

दिखी अन्य भारतीय खिलाड़ियों को हमारे देश में क्रिकेटर को जैसा प्रशिक्षण कैसे मिल सकता है ह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  168
WhatsApp_icon
user

Sameer Tripathy

Political Critic

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए भारत में एक्चुअली क्या है वहां राष्ट्रीय खेल तो रहे हो कि मगर हम लोग इंपोर्टेंस देते हैं क्रिकेट को तो यह हमारा भी गलती है जो कि कि हमारे हमला हम लोग क्रिकेट को ही ज्यादा इंपोर्टेंस देते नोट और मुझे भी क्रिकेट पसंद है आपको मैं अगर फ्रेंडली बोलो तो मगर किए यह क्यों है क्योंकि हम लोग बचपन से क्रिकेट ही देखकर आ रहे हैं तो एक हम लोग क्या है बचपन से हम लोग को पहले से क्रिकेट देखते आ रहे फुटबॉल तो हम लोगों को पता ही नहीं था पता ही नहीं चला था थोड़ा हम लोग जब बड़े हुए फुटबॉल के बारे में पता किए गए और गली में गली में हम लोग क्रिकेट खेलते गली में कोई फुटबॉल खेलते हुए कभी किसी को नहीं देखे गली में कभी किसी को हॉकी खेलते हुए नहीं देखा तो जब बचपन से हम लोग यह चीज देखकर आ रहे तो क्रिकेट कोई ज्यादा इंप्रूव तो लोग तो क्रिकेट का सेंड की जो विवो सेक्स जो भारत में वह ज्यादा सबसे ज्यादा है मैं ड्यूटी 90% ऑफ जो लोग हैं भारत के वह क्रिकेट को भी पसंद करते हैं तो इसके लिए जो क्रिकेट के खिलाड़ियों को भी ज्यादा इंपोर्टेंस मिलता है और क्रिकेट इसलिए लोगों को देखना भी पसंद है तो क्रिकेट लोगो लोकेटर ज्यादा फेमस हो रहे बाकी खिलाड़ियों के अलावा यह हम लोगों को पहले देखना पड़ेगा कि कहां हो और जो बाकी जो खिला दो खिला दिया है जोकर जो बाकी जो का खेल है जो वहां पर जोक खिलाड़ियों है वहां से लोगों को इतना इंपोर्टेंट नहीं मिलता है जो हमारे पोस्ट मिनिस्ट्री है उनको भी सोचना चाहिए कि जब फैसिलिटीज देते हैं और जो कि बहुत सारे खिलाड़ी को हॉकी क्यों हो गए या फुटबॉल हो गए उनको इंटरेस्टेड नहीं मिलता है जितना क्रिकेट स्कोर मिलता है तो इसके लिए यह जो देखी क्रिकेटर्स के लिए बहुत सारे पैसे भी मिलते हैं मगर बाकी खिलाड़ियों के लिए कुछ भी समझ नहीं है बाकी जो हो गया वह बॉक्सिंग हो गया इतने स्पॉन्सर नहीं मिलते उनको फैसिलिटीज नहीं मिलता है तुमको लाइव नेट पर आने का मौका भी नहीं मिलता है जब यह चीज हम लोगों का हम लोगों का नजरिया चेंज होगा लोगों के भारत के लोगों का जब क्रिकेट छोड़कर और कुछ देर खेल को वोट देंगे तभी जाकर यह सब और बाकी खिलाड़ियों को इंपॉर्टेंस मिलेगा

dekhiye bharat mein actually kya hai wahan rashtriya khel toh rahe ho ki magar hum log importance dete hain cricket ko toh yah hamara bhi galti hai jo ki ki hamare hamla hum log cricket ko hi zyada importance dete note aur mujhe bhi cricket pasand hai aapko main agar friendly bolo toh magar kiye yah kyon hai kyonki hum log bachpan se cricket hi dekhkar aa rahe hain toh ek hum log kya hai bachpan se hum log ko pehle se cricket dekhte aa rahe football toh hum logon ko pata hi nahi tha pata hi nahi chala tha thoda hum log jab bade hue football ke bare mein pata kiye gaye aur gali mein gali mein hum log cricket khelte gali mein koi football khelte hue kabhi kisi ko nahi dekhe gali mein kabhi kisi ko hockey khelte hue nahi dekha toh jab bachpan se hum log yah cheez dekhkar aa rahe toh cricket koi zyada improve toh log toh cricket ka send ki jo vivo sex jo bharat mein vaah zyada sabse zyada hai main duty 90 of jo log hain bharat ke vaah cricket ko bhi pasand karte hain toh iske liye jo cricket ke khiladiyon ko bhi zyada importance milta hai aur cricket isliye logon ko dekhna bhi pasand hai toh cricket logo locator zyada famous ho rahe baki khiladiyon ke alava yah hum logon ko pehle dekhna padega ki kahaan ho aur jo baki jo khila do khila diya hai joker jo baki jo ka khel hai jo wahan par joke khiladiyon hai wahan se logon ko itna important nahi milta hai jo hamare post ministry hai unko bhi sochna chahiye ki jab facilities dete hain aur jo ki bahut saare khiladi ko hockey kyon ho gaye ya football ho gaye unko interested nahi milta hai jitna cricket score milta hai toh iske liye yah jo dekhi cricketers ke liye bahut saare paise bhi milte hain magar baki khiladiyon ke liye kuch bhi samajh nahi hai baki jo ho gaya vaah boxing ho gaya itne spansar nahi milte unko facilities nahi milta hai tumko live net par aane ka mauka bhi nahi milta hai jab yah cheez hum logon ka hum logon ka najariya change hoga logon ke bharat ke logon ka jab cricket chhodkar aur kuch der khel ko vote denge tabhi jaakar yah sab aur baki khiladiyon ko importance milega

देखिए भारत में एक्चुअली क्या है वहां राष्ट्रीय खेल तो रहे हो कि मगर हम लोग इंपोर्टेंस देते

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  167
WhatsApp_icon
user

Simranpreet Singh

B.Tech in CE from SRM

1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अन्य भारतीय खिलाड़ियों को हमारे देश में क्रिकेटरों जैसा प्रशिक्षण दिलाने के लिए सबसे पहले तो हम लोग उनके टैलेंट को बढ़ावा दे सकते हैं अगर उनके सपोर्टर अच्छा करते हैं तो उनके उनकी तारीफ करनी चाहिए उस को अगर हो सके तो सरकार द्वारा वह चीज TV पर ब्रॉडकास्ट करनी चाहिए या मीडिया के थ्रू या न्यूज़पेपर के थ्रू लोगों की नॉलेज में लाना चाहिए उस चीज को और उसके बाद जो दूसरी चीज यह कर सकते हैं कि अगर जैसा कि हम लोगों ने देखा है कि क्रिकेट में अगर कोई कारनामा इंडियन टीम करती है तो उन सारे प्लेयर्स को फिर से गॉड दिया जाता है तो इसी प्रकार से अगर कोई टीम अगर कोई प्लेयर कुछ अच्छा करता है या कोई मेडल लेकर आता है तो उस हिसाब से हम लोगों को उसको भी रिकॉर्ड देनी चाहिए यही दो तरीके हैं जिनसे भारत की भारतीय खिलाड़ियों को बराबर का प्रशिक्षण मिलेगा क्रिकेट रोजा सा

anya bharatiya khiladiyon ko hamare desh mein cricketero jaisa prashikshan dilaane ke liye sabse pehle toh hum log unke talent ko badhawa de sakte hain agar unke supporter accha karte hain toh unke unki tareef karni chahiye us ko agar ho sake toh sarkar dwara vaah cheez TV par Broadcast karni chahiye ya media ke through ya Newspaper ke through logon ki knowledge mein lana chahiye us cheez ko aur uske baad jo dusri cheez yah kar sakte hain ki agar jaisa ki hum logon ne dekha hai ki cricket mein agar koi karnama indian team karti hai toh un saare players ko phir se god diya jata hai toh isi prakar se agar koi team agar koi player kuch accha karta hai ya koi medal lekar aata hai toh us hisab se hum logon ko usko bhi record deni chahiye yahi do tarike hain jinse bharat ki bharatiya khiladiyon ko barabar ka prashikshan milega cricket roza sa

अन्य भारतीय खिलाड़ियों को हमारे देश में क्रिकेटरों जैसा प्रशिक्षण दिलाने के लिए सबसे पहले

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  138
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!