क्या अपने फेस किताब फ़्रेंड लिस्ट में अपने माता-पिता को शामिल करना अच्छा है? क्यों?...


play
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:25

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मुझे लगता है फेसबुक में अपनी फ्रेंड लिस्ट में माता पिता को ऐड करने से फायदे ही फायदे हैं, नुकसान कुछ नहीं है l क्योंकि उससे आपके माता-पिता आपकी एक्टिविटीज का नजर लगा सकेंगे, उन्हें पता चल सकेगा कि आपके दोस्त कौन-कौन से हैं और इसके अलावा उन्हें यह पता चल सकती है क्या आप किस माहौल में रह रहे हैं, किस तरह की कंडीशन में रह रहे है l क्योंकि अपने माता पिता को आपकी बहुत चिंता होती है l वह समझते हैं कि आप हमेशा एक अच्छे माहौल में रहें, अच्छे लोगों के साथ रहे l फेसबुक इस चीज का एक बड़ा जरिया बन चुका है l आपकी प्राइवेसी की जहां तक बात है आपकी प्राइवेसी आपके मोबाइल फोन पर तो रहती ही है l लेकिन अगर आप फेसबुक में अपने माता पिता को ऐड करते हैं तो एक एक एक्स्ट्रा उनको सेफ्टी फील होती है l अगर आप करेंगे अपने माता पिता एड, उन दोनों को ऐसा लगेगा कि हमारा बेटा हमसे कुछ छुपा नहीं रहा है, जो भी चीजें उनके सामने है l क्योंकि आप अपनी स्टेटस जो भी डालते हैं या जो भी कुछ डालते आप के जो व्यू है, आपके विचार हैं उनके सामने आएंगे l उन्हें पता चलेगा हमारा बेटा क्या चाहता है या उसके कैसे उसके विचार रखे रखता है तो मुझे लगता है काफी बोंड बढ़ जाती एक पैरेंट के लिए और ऐड कीजिए इसके बहुत फायदे हैं l मैंने ऐड कर रखा है उस चीज के लिए मुझे काफी सपोर्ट भी मिलता है अगर मैं कुछ फोटो भी डालता हूं या कुछ स्टेटस डालता हूं l तो मुझे समझ में आता है कि मेरे पैरेंट्स मुझे किस तरह से ट्रीट करते हैं, अकॉर्डिंग टू द सिचुएशन l और यह चीज़ सही है आपकी फ्रेंडस के बारे में जानकारी मिलती है, आपकी फ्रेंड सर्कल के बारे में सब कुछ चलता है, कहां जा रहे हैं, कहां रहे हैं, सब पता चलता है अच्छी बात है तो, धन्यवाद l

dekhiye mujhe lagta hai facebook mein apni friend list mein mata pita ko aid karne se fayde hi fayde nuksan kuch nahi hai l kyonki usse aapke mata pita aapki activities ka nazar laga sakenge unhe pata chal sakega ki aapke dost kaun kaunsi hain aur iske alava unhe yah pata chal sakti hai kya aap kis maahaul mein reh rahe hain kis tarah ki condition mein reh rahe hai l kyonki apne mata pita ko aapki bahut chinta hoti hai l vaah samajhte hain ki aap hamesha ek acche maahaul mein rahein acche logo ke saath rahe l facebook is cheez ka ek bada zariya ban chuka hai l aapki privacy ki jaha tak baat hai aapki privacy aapke mobile phone par toh rehti hi hai l lekin agar aap facebook mein apne mata pita ko aid karte hain toh ek ek extra unko safety feel hoti hai l agar aap karenge apne mata pita aid un dono ko aisa lagega ki hamara beta humse kuch chupa nahi raha hai jo bhi cheezen unke saamne hai l kyonki aap apni status jo bhi daalte hain ya jo bhi kuch daalte aap ke jo view hai aapke vichar hain unke saamne aayenge l unhe pata chalega hamara beta kya chahta hai ya uske kaise uske vichar rakhe rakhta hai toh mujhe lagta hai kaafi boned badh jaati ek parent ke liye aur aid kijiye iske bahut fayde l maine aid kar rakha hai us cheez ke liye mujhe kaafi support bhi milta hai agar main kuch photo bhi dalta hoon ya kuch status dalta hoon l toh mujhe samajh mein aata hai ki mere pairents mujhe kis tarah se treat karte hain according to the situation l aur yah cheez sahi hai aapki frendas ke bare mein jaankari milti hai aapki friend circle ke bare mein sab kuch chalta hai kahaan ja rahe hain kahaan rahe hain sab pata chalta hai achi baat hai toh dhanyavad l

देखिए मुझे लगता है फेसबुक में अपनी फ्रेंड लिस्ट में माता पिता को ऐड करने से फायदे ही फायदे

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  271
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sefali

Media-Ad Sales

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे नहीं लगता इसमें कोई भी दिक्कत है अपने फ्रेंड लिस्ट में अपने माता पिता को ऐड करने के लिए l क्योंकि अभी देखा जाए तो ऐसा कुछ है नहीं कि जो चुपके रह सकता है माता-पिता से या फिर कुछ ऐसा चीज है जो पता नहीं चलेगा l यहां तक कि आपके माता-पिता का फ्रेंड लिस्ट में भी नहीं है l आपकी कोई कजिन नहीं या फिर दोस्त जो कि आपके माता-पिता से बहुत क्लोज है और आपको छुपाना चाहते हैं उनके सामने आ जाएगा आपके दोस्त या फिर आप की कजिन रिलेटिव की ओर से l तो ऐसा कुछ है नहीं तो बेहतर है फ्रेंड लिस्ट में ही रहे और उसी में उनके सामने ही सब कुछ जो है क्लियर रहेगा तो कम्युनिकेशन गैप भी कुछ नहीं रहेगा उल्टा आपकी जो और मेरे हिसाब से फ्रेंडलीनेस बढ़ेगी तो इसमें कोई दिक्कत की बात नहीं लगती मुझे l

mujhe nahi lagta isme koi bhi dikkat hai apne friend list mein apne mata pita ko aid karne ke liye l kyonki abhi dekha jaaye toh aisa kuch hai nahi ki jo chupake reh sakta hai mata pita se ya phir kuch aisa cheez hai jo pata nahi chalega l yahan tak ki aapke mata pita ka friend list mein bhi nahi hai l aapki koi cousin nahi ya phir dost jo ki aapke mata pita se bahut close hai aur aapko chupana chahte hain unke saamne aa jaega aapke dost ya phir aap ki cousin relative ki aur se l toh aisa kuch hai nahi toh behtar hai friend list mein hi rahe aur usi mein unke saamne hi sab kuch jo hai clear rahega toh communication gap bhi kuch nahi rahega ulta aapki jo aur mere hisab se friendliness badhegi toh isme koi dikkat ki baat nahi lagti mujhe l

मुझे नहीं लगता इसमें कोई भी दिक्कत है अपने फ्रेंड लिस्ट में अपने माता पिता को ऐड करने के ल

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  177
WhatsApp_icon
user

Ishita Seth

Obstinate Programmer

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मुझे ऐसा लगता है कि अपनी Facebook फ्रेंड लिस्ट में अपने माता पिता को शामिल करना चाहिए बिल्कुल अच्छा है अगर आपको करना ही चाहिए क्योंकि जादू चीजें होंगी आपके माता-पिता को आपको आपको पता होगा कि हमारा जो बेटा है या बेटी है वह क्या कर रही है ऐसे कि आजकल की जनरेशन है उसको ज्यादा मतलब अगर हम कंपेयर करें तो काफी हो कि हम काफी उनके पेरेंट्स का Facebook देखना चाहता चलानी नहीं आती आई है तो उस नेटवर्किंग साइट नहीं आता है या फिर आपका पर फोन स्मार्टफोन चलाने में दिक्कत आती है तू अगर इन सोशल नेटवर्किंग साइट पर यूज करेंगे और अगर आपने 8 करेंगे तो अगर वह कुछ गलत जा रहे हैं या फिर मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा है तो आपने गाइड कर सकते हैं मतलब कि क्योंकि यह जो यह इलेक्ट्रिकल किया जाता है लग लैपटॉप फोन वगैरा यह देखा जाए तो इन दोनों में होता है इनमें बड़े लोगों को प्रॉब्लम जाते हैं और हम बच्चे दिखाते हैं तो मेरे हिसाब से उनको आज बिल्कुल कर देना चाहिए अपने Facebook फ्रेंड लिस्ट में क्योंकि एक तो आप थोड़ा सा नजर रखेंगे कि नहीं आप कहीं आप गलत तो नहीं जा रहे हैं इनसे के लिए उनको बहुत कुछ सीखने को मिला

dekhiye mujhe aisa lagta hai ki apni Facebook friend list mein apne mata pita ko shaamil karna chahiye bilkul accha hai agar aapko karna hi chahiye kyonki jadu cheezen hongi aapke mata pita ko aapko aapko pata hoga ki hamara jo beta hai ya beti hai vaah kya kar rahi hai aise ki aajkal ki generation hai usko zyada matlab agar hum compare kare toh kaafi ho ki hum kaafi unke parents ka Facebook dekhna chahta chalani nahi aati I hai toh us networking site nahi aata hai ya phir aapka par phone smartphone chalane mein dikkat aati hai tu agar in social networking site par use karenge aur agar aapne 8 karenge toh agar vaah kuch galat ja rahe hain ya phir mujhe kuch samajh mein nahi aa raha hai toh aapne guide kar sakte hain matlab ki kyonki yah jo yah electrical kiya jata hai lag laptop phone vagera yah dekha jaaye toh in dono mein hota hai inme bade logo ko problem jaate hain aur hum bacche dikhate hain toh mere hisab se unko aaj bilkul kar dena chahiye apne Facebook friend list mein kyonki ek toh aap thoda sa nazar rakhenge ki nahi aap kahin aap galat toh nahi ja rahe hain inse ke liye unko bahut kuch sikhne ko mila

देखिए मुझे ऐसा लगता है कि अपनी Facebook फ्रेंड लिस्ट में अपने माता पिता को शामिल करना चाहि

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  131
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये, फेसबुक फ्रेंड लिस्ट में मेरे अक्कोर्दींग मतलब वैसे एक्चुअली हर एक व्यक्ति पर डिपेंड करेगा कि उसके पेरेंट्स कैसे हैं l कई बार ऐसा होता है कि पेरेंट्स बहुत स्ट्रिक्ट होते हैं तो अगर बच्चे फोटो डाले जैसे मैं एक लड़की हूं और मेरे पेरेंट्स बहुत स्ट्रिक्ट हैं l और अगर मैंने उन्हें फेसबुक फ्रेंड लिस्ट में ऐड करा और मैंने अपने फ्रेंडस के साथ फोटो डाली l फिर चाहे वह लड़का और लड़की हो या मेरे जो भी व्यूज हो l जो भी मैंने लिखा तो शायद मेरे पेरेंट्स उस चीज़ को एक्सेप्ट नहीं कर पाएंगे तो मैं पेर्सोनाली अपने पेरेंट्स को अपने फ्रेंड लिस्ट मे एड नहीं करूंगी l लेकिन कुछ पेरेंट्स ऐसे होते हैं जो काफी कूल होते हैं जो जिसको को लेकर इतना सारा नहीं रियेक्ट करते तो जरूर अपने पेरेंट्स को शामिल कीजिए अपनी फ्रेंड लिस्ट में l उन्हें भी पता चले कि आपके भी व्यूज कैसे हैं, आपके दोस्त कैसे हैं, उनके अच्छे संगति में आप रह रहे हैं l बट ओन अ पर्सनल नोट अगर मैं खुद की बात करू तो मुझे नहीं लगता पेरेंट्स को फेसबुक लिस्ट में शामिल करना जरूरी है या अच्छा है क्योंकि जो थोड़ी सी प्राइवेसी हमें लगा है क्या मैं ऑनलाइन पर जाती है वहां से चली जाएगी बट अगर आपके पेरेंट्स बहुत अच्छे हैं बहुत समझते आपको किसी से आप गुजर रहे हैं तो बिलकुल एड कीजिए उसमें कोई बुराई भी नहीं है l

dekhiye facebook friend list mein mere akkording matlab waise actually har ek vyakti par depend karega ki uske parents kaise hain l kai baar aisa hota hai ki parents bahut strict hote hain toh agar bacche photo dale jaise main ek ladki hoon aur mere parents bahut strict hain l aur agar maine unhe facebook friend list mein aid kara aur maine apne frendas ke saath photo dali l phir chahen vaah ladka aur ladki ho ya mere jo bhi Views ho l jo bhi maine likha toh shayad mere parents us cheez ko except nahi kar payenge toh main personali apne parents ko apne friend list mein aid nahi karungi l lekin kuch parents aise hote hain jo kaafi cool hote hain jo jisko ko lekar itna saara nahi riyekt karte toh zaroor apne parents ko shaamil kijiye apni friend list mein l unhe bhi pata chale ki aapke bhi Views kaise hain aapke dost kaise hain unke acche sangati mein aap reh rahe hain l but own a personal note agar main khud ki baat karu toh mujhe nahi lagta parents ko facebook list mein shaamil karna zaroori hai ya accha hai kyonki jo thodi si privacy hamein laga hai kya main online par jaati hai wahan se chali jayegi but agar aapke parents bahut acche hain bahut samajhte aapko kisi se aap gujar rahe hain toh bilkul aid kijiye usme koi burayi bhi nahi hai l

देखिये, फेसबुक फ्रेंड लिस्ट में मेरे अक्कोर्दींग मतलब वैसे एक्चुअली हर एक व्यक्ति पर डिपें

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
user

Rajsi

Sports Commentator & Reporter

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखेंगे बात आती है Facebook की तो ऐसे में मेरा मानना है कि मां बाप को ऐड करना या नहीं करना इंसान के ऊपर ही निर्भर करता है ना जैसे कि कुछ लोग होते हैं जो अपनी लाइफ को बहुत हद तक पर्सनल रखना चाहते हैं अपने मां-बाप से इतने ओपन नहीं होता कि उनके साथ शेयर नहीं कर सकते हैं कि वह अपनी पर्सनल लाइफ में कैसे हैं क्या है तो उनको याद कर रही है कि वह उनकी आदतें सफाई करेगा या मां-बाप भी नहीं समझ पाएंगे कि वह क्या चाहते हैं क्या नहीं चाहते हैं लेकिन मैं आपसे बहुत ओपन होते हैं उनको पता होता है उनके दोस्तों के बारे में उनका घूमने-फिरने के बारे में उनकी कई चीजों की जानकारी होती है तो ऐसे में आप ऐड कर सकते हो अगर आप ओपन हो तो ऐड कर सकते हो अगर आप नहीं ओपन हो और आपको लगता है वही लोग इस पेज पर आप मत कीजिए कि Facebook वैसे भी उन लोगों के लिए है जो आपके आस पास नहीं है अपने मां-बाप से आप रोज मिल रहे हो तो उसमें कोई दिक्कत नहीं है उन्हें ऐड करना नहीं करना आप निर्भर करता है और मुझे लगता है इस बात से किसी को बुरा भी मानना चाहिए मेरे साथ ही ऐसा है कि मैंने कई लोगों को अपनी जिंदगी में अपने Facebook अकाउंट ऐड नहीं कर रखा है पर इसका मतलब यह नहीं कि वो मेरे करीब ही नहीं हो मेरे सबसे ज्यादा गरीबी है मैं उसे रोज मिलती हूं लेकिन Facebook थोड़ा अलग पड़ जाता है मेरे लिए तो मैंने सपना Facebook बनाया हुआ है कि मैं उसमें हर किसी को ऐड नहीं करती लेकिन जिन को ऐड करती हूं वह मेरे लिए अलग करके दोस्त अर्जुन को नहीं करती वह मेरे साथ थोड़ी ज्यादा करीब होते हैं

dekhenge baat aati hai Facebook ki toh aise mein mera manana hai ki maa baap ko aid karna ya nahi karna insaan ke upar hi nirbhar karta hai na jaise ki kuch log hote hain jo apni life ko bahut had tak personal rakhna chahte hain apne maa baap se itne open nahi hota ki unke saath share nahi kar sakte hain ki vaah apni personal life mein kaise kya hai toh unko yaad kar rahi hai ki vaah unki aadatein safaai karega ya maa baap bhi nahi samajh payenge ki vaah kya chahte kya nahi chahte hain lekin main aapse bahut open hote hain unko pata hota hai unke doston ke bare mein unka ghoomne phirne ke bare mein unki kai chijon ki jaankari hoti hai toh aise mein aap aid kar sakte ho agar aap open ho toh aid kar sakte ho agar aap nahi open ho aur aapko lagta hai wahi log is page par aap mat kijiye ki Facebook waise bhi un logo ke liye hai jo aapke aas paas nahi hai apne maa baap se aap roj mil rahe ho toh usme koi dikkat nahi hai unhe aid karna nahi karna aap nirbhar karta hai aur mujhe lagta hai is baat se kisi ko bura bhi manana chahiye mere saath hi aisa hai ki maine kai logo ko apni zindagi mein apne Facebook account aid nahi kar rakha hai par iska matlab yah nahi ki vo mere kareeb hi nahi ho mere sabse zyada garibi hai use roj milti hoon lekin Facebook thoda alag pad jata hai mere liye toh maine sapna Facebook banaya hua hai ki main usme har kisi ko aid nahi karti lekin jin ko aid karti hoon vaah mere liye alag karke dost arjun ko nahi karti vaah mere saath thodi zyada kareeb hote hain

देखेंगे बात आती है Facebook की तो ऐसे में मेरा मानना है कि मां बाप को ऐड करना या नहीं करना

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  160
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोदी की Facebook जो है तो सोशल मीडिया जॉब पर सारी उम्र के लोग जो है अब धीरे-धीरे आ रहे हो खाना कहां पर प्रश्न यह उठता है कि जब आप सोचते हो कितना करते हो जब आप ही सुनते हो क्या आपके माता-पिता जो है वह Facebook में ज्वाइन हो रहे हैं सोने शामिल होना है गाना का पूर्ण रुप से कि हमें तुम्हें फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजने का नाका पर वह एक ऐसा मोमेंट होता है जहां पर हम सब मिठाई होता है गणपति प्रश्न उठता है कि क्या हमने Facebook फ्रेंड लिस्ट में हमारे माता पिता को शामिल करना चाहिए मेरे हिसाब से हमें फेसबुक फ्रेंड लिस्ट में माता पिता को चाहूंगा कि करना चाहिए लेकिन उससे पहले आपको खुद को प्रश्न पूछना पड़ेगा प्रश्न ही होगी क्या आप कोई भी पोस्ट अपलोड करते हो या फिर एक बार में हो या फिर कोई लड़की के साथ फोटो अपलोड करते हो हो या फिर आप किसी को भी मिटा करते हो इससे आपके माता-पिता जो खुश है या फिर इस चीज को बहुत बड़ा इशू कर नहीं बनाते तब जाकर आप Facebook फ्रेंड लिस्ट में अपने माता पिता को आप शाम को करना मेरे सबसे अच्छा है अगर के माता पिता को इस चीज को लेकर आपसे कोई प्रॉब्लम नहीं है या फिर कोई शिकायत नहीं करता तब जाकर वह चीज अच्छी है या फिर वह चीज जनकपुरी नहीं तब आप अपने माता पिता को शामिल कर सकते लेकिन अपने माता पिता और आपकी एक भी फोटो कोई भी लड़की के साथ देख कर बहुत खुश नहीं होते हैं उसका विरोध करते हैं आपसे आपकी फ्रेंड को नींद में टाइप करते हो चीज का विरोध करें तो मेरे हिसाब से आपको आपके माता-पिता को फ्रेंड लिस्ट में शामिल करने का अच्छी चीज नहीं है तो यह आपके माता-पिता और आपके रिश्ते पर निर्भर करते हैं अगर आपको और आपकी मदद करना बहुत अच्छा लगा आपके माता पिता बहुत ही ब्रॉड माइंडेड है या फिर हम कह सकते हैं बहुत याद से ज्यादा प्रेम करते हैं प्रभु ने शामिल करना मेरी सबसे अच्छी फ्रेंड लिस्ट में बहुत अच्छा नहीं है

modi ki Facebook jo hai toh social media job par saree umr ke log jo hai ab dhire dhire aa rahe ho khana kahaan par prashna yah uthata hai ki jab aap sochte ho kitna karte ho jab aap hi sunte ho kya aapke mata pita jo hai vaah Facebook mein join ho rahe hain sone shaamil hona hai gaana ka purn roop se ki hamein tumhe friend request bhejne ka naka par vaah ek aisa moment hota hai jaha par hum sab mithai hota hai ganapati prashna uthata hai ki kya humne Facebook friend list mein hamare mata pita ko shaamil karna chahiye mere hisab se hamein facebook friend list mein mata pita ko chahunga ki karna chahiye lekin usse pehle aapko khud ko prashna poochna padega prashna hi hogi kya aap koi bhi post upload karte ho ya phir ek baar mein ho ya phir koi ladki ke saath photo upload karte ho ho ya phir aap kisi ko bhi mita karte ho isse aapke mata pita jo khush hai ya phir is cheez ko bahut bada issue kar nahi banate tab jaakar aap Facebook friend list mein apne mata pita ko aap shaam ko karna mere sabse accha hai agar ke mata pita ko is cheez ko lekar aapse koi problem nahi hai ya phir koi shikayat nahi karta tab jaakar vaah cheez achi hai ya phir vaah cheez janakpuri nahi tab aap apne mata pita ko shaamil kar sakte lekin apne mata pita aur aapki ek bhi photo koi bhi ladki ke saath dekh kar bahut khush nahi hote hain uska virodh karte hain aapse aapki friend ko neend mein type karte ho cheez ka virodh kare toh mere hisab se aapko aapke mata pita ko friend list mein shaamil karne ka achi cheez nahi hai toh yah aapke mata pita aur aapke rishte par nirbhar karte hain agar aapko aur aapki madad karna bahut accha laga aapke mata pita bahut hi broad minded hai ya phir hum keh sakte hain bahut yaad se zyada prem karte hain prabhu ne shaamil karna meri sabse achi friend list mein bahut accha nahi hai

मोदी की Facebook जो है तो सोशल मीडिया जॉब पर सारी उम्र के लोग जो है अब धीरे-धीरे आ रहे हो

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
user

Sameer Tripathy

Political Critic

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

DJ Facebook फ्रेंड लिस्ट में अगर माता पिता को ऐड करना है या नहीं यह देखिए पहले तो आपको यह आपके ऊपर डिपेंड करता है कि आप कैसा लाइफ जीते हैं पहले अगर आप फ्री हो Facebook में अगर आपको कुछ ज्यादा एक्टिव रहते हैं हर कोई अगर आप दारु पीते चेकिंग करते हैं Facebook में माता-पिता को पता चल जाएगा तो आप तो आप बहुत बहुत ही प्रॉब्लम में पड़ जाओगे क्योंकि उनको पता चल जाएगा तो आपको वह आपके ऊपर डिपेंड है अगर आप अच्छे हैं अगर ड्रिंक दारू ड्रिंक वगैरा नहीं करते इतना भाव घूमते नहीं है तो माता पिता को Facebook में रख सकते अगर आप यहां वहां घूमते रहते हैं Facebook में या किसी भी एक दोस्त के साथ फोटो खींचकर आजकल दोस्त भी है अगर आप कहीं बैठ रहे हो या कहीं भी डिजायर दोस्त लोग आपको टैग भी कर देते Facebook में चेकिंग में तो निभाना इंटेंशन ने आपको भी फोटो पर नहीं करोगे मगर आप कहीं भी गए होंगे दो सब को ट्रैक कर देंगे और उसमें आपके माता-पिता देना देख लेंगे आपको कोई भी आपका दोस्त लाइक कर अब तो लाइक करेगा तुमको अपडेट आ जाएगा तो इससे अच्छा मेरे से इससे तो अच्छा है आप Facebook में माता पिता को कभी भी ऐड मत करियेगा क्योंकि आपका लाइफ बहुत प्रॉब्लम में आ जाएगा क्योंकि हर की हर चीज आपको माता पिता को पता चल जाएगा तो अगर आप आचरण अच्छा लाइफ जी रहे हो अगर Facebook में इतना एक्टिव नहीं है माता पिता को रखी है वह सही है मगर आप लाइफ एंजॉय कर रहे दोस्तों के साथ घूम रहे हैं यहां वादा रुपया ड्रिंक कर रहे या स्मोकिंग कर रहे तो और कोई फोटो फोटो कोई कोई टैग भी कर सकता है तो आप Facebook में माता-पिता को ऐड मी ऐड ना करें

DJ Facebook friend list mein agar mata pita ko aid karna hai ya nahi yah dekhiye pehle toh aapko yah aapke upar depend karta hai ki aap kaisa life jeete hain pehle agar aap free ho Facebook mein agar aapko kuch zyada active rehte hain har koi agar aap daaru peete checking karte hain Facebook mein mata pita ko pata chal jaega toh aap toh aap bahut bahut hi problem mein pad jaoge kyonki unko pata chal jaega toh aapko vaah aapke upar depend hai agar aap acche hain agar drink daaru drink vagera nahi karte itna bhav ghumte nahi hai toh mata pita ko Facebook mein rakh sakte agar aap yahan wahan ghumte rehte hain Facebook mein ya kisi bhi ek dost ke saath photo khichkar aajkal dost bhi hai agar aap kahin baith rahe ho ya kahin bhi desire dost log aapko tag bhi kar dete Facebook mein checking mein toh nibhana intention ne aapko bhi photo par nahi karoge magar aap kahin bhi gaye honge do sab ko track kar denge aur usme aapke mata pita dena dekh lenge aapko koi bhi aapka dost like kar ab toh like karega tumko update aa jaega toh isse accha mere se isse toh accha hai aap Facebook mein mata pita ko kabhi bhi aid mat kariyega kyonki aapka life bahut problem mein aa jaega kyonki har ki har cheez aapko mata pita ko pata chal jaega toh agar aap aacharan accha life ji rahe ho agar Facebook mein itna active nahi hai mata pita ko rakhi hai vaah sahi hai magar aap life enjoy kar rahe doston ke saath ghum rahe hain yahan vada rupya drink kar rahe ya smoking kar rahe toh aur koi photo photo koi koi tag bhi kar sakta hai toh aap Facebook mein mata pita ko aid me aid na karen

DJ Facebook फ्रेंड लिस्ट में अगर माता पिता को ऐड करना है या नहीं यह देखिए पहले तो आपको यह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  149
WhatsApp_icon
user

Simranpreet Singh

B.Tech in CE from SRM

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मेरे हिसाब से इसमें कोई बुरी बात नहीं है अगर आप अपने माता पिता को अपनी Facebook फ्रेंड लिस्ट में ऐड करते हैं क्योंकि उनका भी हक है सोशलाइट होने का और आपकी सोशल लाइफ को थोड़ा बहुत जानने का तो उस हिसाब से देखा जाए तो मेरे हिसाब से कोई भी गलत बात नहीं है लेकिन हां कुछ लोग होते हैं जो अपने माता पिता और अपने बाकी रिलेटिव को नहीं याद करते हैं इस डर से कि उन्हें इतना सोशलाइट फील करना नहीं चाहते वह अपनी बातें नहीं शेयर करना चाहते हैं तो यह चीज नहीं होनी चाहिए

lekin mere hisab se isme koi buri baat nahi hai agar aap apne mata pita ko apni Facebook friend list mein aid karte hain kyonki unka bhi haq hai socialite hone ka aur aapki social life ko thoda bahut jaanne ka toh us hisab se dekha jaaye toh mere hisab se koi bhi galat baat nahi hai lekin haan kuch log hote hain jo apne mata pita aur apne baki relative ko nahi yaad karte hain is dar se ki unhe itna socialite feel karna nahi chahte vaah apni batein nahi share karna chahte hain toh yah cheez nahi honi chahiye

लेकिन मेरे हिसाब से इसमें कोई बुरी बात नहीं है अगर आप अपने माता पिता को अपनी Facebook फ्रे

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  143
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फुल मेरी मां बाप तो Facebook पर ही नहीं इसलिए मैंने उनको तो लिस्ट में नहीं डाला है लेकिन मैंने अपनी मासी मासा बुआ चाचा चाची सब को अपने फ्रेंड लिस्ट में डाला है और मुझे नहीं लगता है ऐसे कुछ छुपाने वाली बात है अगर मेरे मां-बाप को सब कुछ पता है तो Facebook वहीं रह क्रिकेट करेगा लोग इसमें शामिल नहीं करते क्योंकि उनको ऐसा लगता है कि यह मेरे मां बाप नहीं जा सकते तो अगर वह नहीं बताना चाहते तो नहीं ऐड करेंगे अगर आप अपने मां बाप के साथ आमने सामने बैठ कर सब सच बता देंगे तो मुझे नहीं लगता कोई बुरी बात है उनको अपनी Facebook लिस्ट में शामिल करना तो आपने सेट करें अगर आपको अपने मम्मी पापा को अपना दोस्त बनाना है पहले ऑफ Facebook Facebook

full meri maa baap toh Facebook par hi nahi isliye maine unko toh list mein nahi dala hai lekin maine apni maasi masa buaa chacha chachi sab ko apne friend list mein dala hai aur mujhe nahi lagta hai aise kuch chhupaane wali baat hai agar mere maa baap ko sab kuch pata hai toh Facebook wahi reh cricket karega log isme shaamil nahi karte kyonki unko aisa lagta hai ki yah mere maa baap nahi ja sakte toh agar vaah nahi bataana chahte toh nahi aid karenge agar aap apne maa baap ke saath aamane saamne baith kar sab sach bata denge toh mujhe nahi lagta koi buri baat hai unko apni Facebook list mein shaamil karna toh aapne set kare agar aapko apne mummy papa ko apna dost banana hai pehle of Facebook Facebook

फुल मेरी मां बाप तो Facebook पर ही नहीं इसलिए मैंने उनको तो लिस्ट में नहीं डाला है लेकिन म

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  146
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फेसबुक फ्रेंड लिस्ट में माता पिता को ऐड करने का जब सवाल आता है तो कई बच्चे इस बात से से बचते हैं क्योंकि उनको ऐसा लगता है कि जो भी वह सोशल मीडिया पर एक्टिविटी उनकी होगी और जैसे ही वह रियेक्ट करेंगे चाहे वह कोई फोटो डाले या कोई कमेंट करें या फिर कोई पोस्ट डालें l तो उनको ऐसा लगता है कि अगर वह कुछ ऐसी पोस्ट डालेंगे जो कि उनके मां-बाप को डिसेंट नहीं लगेगी, अच्छी नहीं लगेगी और उनके मां बाप कुछ कह देंगे इसी वजह से कुछ बच्चे अपने माता पिता को फेसबुक पर फ्रेंड लिस्ट में ऐड नहीं करते हैं l और उनको ऐसा लगता है कि मां बाप से उनको एक डर होता है कि वह उनके मां बाप उनको इस चीज के लिए रुकेंगे तो मेरे हिसाब से बच्चों को जरूर ऐड करना चाहिए अपने माता पिता को फ्रेंड लिस्ट में l इससे पहला तो यही कारण है क्या आप किसी भी गलत काम करने से बचेंगे और अगर आप कुछ कर भी रहे होंगे जो गलत होगा उसके तो आपके मां-बाप आपको जरूर रुकेंगे और आप गलत रास्ते पर जाने से रोक सकते हैं l और दूसरा मैं अब आपको फ्रेंड लिस्ट में रखने से फायदा यह होता है कि आप और अपने मां बाप के साथ जो दुनिया में हो रही है हप्पेनिंग्स होती है, कुछ भी दुनिया में अलग हो रहा होता है तो उससे आप कनेक्टेड रहते हैं l लाइक अगर आप अपने मां बाप को अपनी फ्रेंड लिस्ट में ऐड रखेंगे तो कोई भी इवैंट हो रहा होगा या कुछ भी ऐसा हो रहा होगा दुनिया में जिसमें आप जाना चाहते हैं उसके बारे में अपने माता पिता को बताना चाहते हैं तो हो सकता है माता-पिता आपकी बात एक दम से ना समझ पाए l लेकिन अगर वह फेसबुक पर उस चीज को आप के माता-पिता देखेंगे समझेंगे तो वह खुद उस चीज को समझने की कोशिश करेंगे और कहीं ना कहीं आप को सपोर्ट करेंगे और आपको भी आगे बढ़ने का मौका देंगे l

facebook friend list mein mata pita ko aid karne ka jab sawaal aata hai toh kai bacche is baat se se bachte hain kyonki unko aisa lagta hai ki jo bhi vaah social media par activity unki hogi aur jaise hi vaah riyekt karenge chahen vaah koi photo dale ya koi comment kare ya phir koi post Daalein l toh unko aisa lagta hai ki agar vaah kuch aisi post daalenge jo ki unke maa baap ko decent nahi lagegi achi nahi lagegi aur unke maa baap kuch keh denge isi wajah se kuch bacche apne mata pita ko facebook par friend list mein aid nahi karte hain l aur unko aisa lagta hai ki maa baap se unko ek dar hota hai ki vaah unke maa baap unko is cheez ke liye rokenge toh mere hisab se baccho ko zaroor aid karna chahiye apne mata pita ko friend list mein l isse pehla toh yahi karan hai kya aap kisi bhi galat kaam karne se bachenge aur agar aap kuch kar bhi rahe honge jo galat hoga uske toh aapke maa baap aapko zaroor rokenge aur aap galat raste par jaane se rok sakte hain l aur doosra main ab aapko friend list mein rakhne se fayda yah hota hai ki aap aur apne maa baap ke saath jo duniya mein ho rahi hai happenings hoti hai kuch bhi duniya mein alag ho raha hota hai toh usse aap connected rehte hain l like agar aap apne maa baap ko apni friend list mein aid rakhenge toh koi bhi ivaint ho raha hoga ya kuch bhi aisa ho raha hoga duniya mein jisme aap jana chahte hain uske bare mein apne mata pita ko bataana chahte hain toh ho sakta hai mata pita aapki baat ek dum se na samajh paye l lekin agar vaah facebook par us cheez ko aap ke mata pita dekhenge samjhenge toh vaah khud us cheez ko samjhne ki koshish karenge aur kahin na kahin aap ko support karenge aur aapko bhi aage badhne ka mauka denge l

फेसबुक फ्रेंड लिस्ट में माता पिता को ऐड करने का जब सवाल आता है तो कई बच्चे इस बात से से बच

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  168
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!