मेरा रात को सेक्स करने का मन क्यों करता है?...


user

Dr Chandra Shekhar Jain

MBBS, Yoga Therapist Yoga Psychotherapist

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सेक्स करना एक कला है यह अपने स्तनों को बढ़ाने का कोई माध्यम नहीं है जो कि आजकल युवा पीढ़ी कर रही है तो यदि आपका चेक करने में रात में मन नहीं लगता है तो इनके कारणों को ढूंढिए और और कोशिश करें कि बिना अपने शारीरिक अच्छा जननांगों के संपर्क के बिना भी आप अपने ऑपोजिट सेक्स अर्थात अपने पत्नी से प्यार कर सकते हैं या पति से प्यार कर सकते हैं हर बार सेक्स करना ही कोई प्यार की निशानी नहीं होती है बल्कि सेक्स करना तो एक प्यार की जब बहुत ज्यादा विक्की प्यार में हो जाता है तो सेक्स करने की इच्छा हो जाती हो जाना एक अच्छी बात है लेकिन आजकल ज्यादातर लोग बस सिर्फ जननांगों के मिलन को ही प्यार समझने लगे हैं और इसलिए उनके जीवन में आकर्षण बिल्कुल खत्म हो गया है अब कोई भी लड़का है कोई भी लड़की आ जाए आप अपने शारीरिक स्थानों को निकाल दीजिए और आपका प्यार हो गया इसलिए क्षणिक प्यार रह गया है इसलिए प्यार में आजकल लोगों को आने नहीं आ रहा है बल्कि शरीर के भार को कम करने के लिए और थोड़े से मानसिक रिलेशन के लिए प्यार रह गया है आप प्यार के आठ को समझें समर्पण में जाएं और एक दूसरे के प्रति काफी समय पर विश्वास पैदा करें आपको आपकी समस्या अपने आप दूर हो जाएगी

sex karna ek kala hai yah apne stanon ko badhane ka koi madhyam nahi hai jo ki aajkal yuva peedhi kar rahi hai toh yadi aapka check karne mein raat mein man nahi lagta hai toh inke karanon ko dhundhiye aur aur koshish kare ki bina apne sharirik accha jananango ke sampark ke bina bhi aap apne opposite sex arthat apne patni se pyar kar sakte hain ya pati se pyar kar sakte hain har baar sex karna hi koi pyar ki nishani nahi hoti hai balki sex karna toh ek pyar ki jab bahut zyada vicky pyar mein ho jata hai toh sex karne ki iccha ho jaati ho jana ek achi baat hai lekin aajkal jyadatar log bus sirf jananango ke milan ko hi pyar samjhne lage hain aur isliye unke jeevan mein aakarshan bilkul khatam ho gaya hai ab koi bhi ladka hai koi bhi ladki aa jaaye aap apne sharirik sthano ko nikaal dijiye aur aapka pyar ho gaya isliye kshanik pyar reh gaya hai isliye pyar mein aajkal logo ko aane nahi aa raha hai balki sharir ke bhar ko kam karne ke liye aur thode se mansik relation ke liye pyar reh gaya hai aap pyar ke aath ko samajhe samarpan mein jayen aur ek dusre ke prati kaafi samay par vishwas paida kare aapko aapki samasya apne aap dur ho jayegi

सेक्स करना एक कला है यह अपने स्तनों को बढ़ाने का कोई माध्यम नहीं है जो कि आजकल युवा पीढ़ी

Romanized Version
Likes  57  Dislikes    views  1632
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
mera sex ; सेक्स करने का मन क्यों करता है ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!