नोटबंदी और GST में क्या समान है?...


user

Salman Chamadiya

Consaltant (Tax, Account, Business, Trade)

3:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है नोटबंदी और जीएसटी में क्या समान है तो मैं आपको बताना चाहूंगा यह दोनों ही बड़े हमकदम हैं जो कि एक ही प्रधानमंत्री द्वारा लिए गए यानी हमारे तत्कालीन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने दोनों ही कदम उठाए हैं यह बहुत सराहनीय कदम है अभी दोनों में दूसरी क्या क्या समानता है मैं आपको यह बताना चाहूंगा पहले तो यह दोनों ही अलग-अलग पहलू है एक है वह है नोटबंदी किया है यानी कि नोट जोशी उनको नहीं किया पुरानी नोट को बंद किया है यानी कि यह ब्लैक मनी कंट्रोल करने के लिए उठाया गया एक कदम है ब्लैक मनी सख्त करने के लिए उठाया गया एक कदम है उसके बाद दूसरा पहलू जो है जीएसटी वह है टैक्स सिस्टम में बहुत बड़ा सुधार है इनडायरेक्ट टैक्स जानी अप्रत्यक्ष कर है यह जो कि पिछले सारे करो को समाप्त करके वंटेक्स वन नेशन लागू कर दिया गया अब दोनों में क्या समान चीजें अभी तक देखी गई है मैं आपको बताना चाहूंगा यह दोनों भारत की इकोनॉमी के भविष्य के लिए बूस्टर हैं नोटबंदी से चैटिंग में दो-तीन साल व्यापार में दिक्कत हुई है व्यापार कम हुए हैं लेकिन उसका भविष्य बहुत अच्छा है क्योंकि ब्लैक मनी कम हुआ है उसके बाद मैं अपना जीएसटी जीएसटी जोवन टैक्सेशन सिस्टम हो गया उसको आज तकरीबन 3 साल होने को है 3 साल में काफी सारे व्यापारियों को दिक्कतें हुई है ऐसा नहीं है कि जीएसटी से हर किसी को फायदा हुआ है अभी लेकिन फ्यूचर में हर किसी का फायदा होगा क्योंकि 1 टेक्स्ट वन नेशन है या पूरे भारत में कहीं पर भी एक ही टैक्स के साथ किसी भी कमोडिटी का व्यापार कर सकते हैं क्योंकि हर कमोडिटी का अपना एक एक टेक्स निर्धारित कर दिया गया अपना टैक्स रेट निर्धारित कर दिया गया है उसमें एक पहलू यह भी है मैं आपको बताना चाहूंगा कि जीएसटी लॉ है वह अभी टेबल नहीं हुआ है भारत में वह टेबल नहीं हुआ है इसलिए काफी सारी चुनौतियां हैं जिस पर काम हो रहा है नोटबंदी के बाद आर्थिक सुधार के लिए जो कुछ भी कदम लेने उठाने चाहिए वह उठाए गए हैं लेकिन उसकी भी इफेक्ट आने में कुछ समय लग सकता है फिलहाल आपको बात करूं मार्च से लेकर मई तक जून तक जो करुणा महामारी के वजह से भी इकोनॉमी में प्रॉब्लम हुआ है अगर यह ना नहीं होता तो और जल्दी रिजल्ट मिलते हैं यह रिजल्ट हमको छह माह या फिर 1 साल लेट मिलेंगे लेकिन नोटबंदी और जीएसटी दोनों का रिजल्ट पॉजिटिव है लेकिन उसके लिए बहुत समय लग सकता है आगे भी 1 साल जितना लग सकता है क्योंकि एक साथ जो कदम उठाया गया है और इतने 130 करोड़ लोगों का देश लोकतांत्रिक देश है तो उसको एक साथ सबको अमल कराया गया यानी कि आप अभी कहीं पर भी हजार पांच सौ का नोट यूज़ नहीं कर सकते तो पुराना था और अब वेट से सामान बेचा खरीदने सकते आपको जीएसटी अनिवार्य हो गया है तो यह सब एक साथ सबको सेंड बाय अमल कराना है तो थोड़ा बहुत उसमें डिफेक्ट आती है लेकिन वह तो हम सब भी जानते हैं अगर अपने हम अगर किसी 10 बंधुओं को भी एक हीरो रुल दे देंगे के स्कूल से चलना है तो उसमें भी प्रॉब्लम सो सकते थे यह तो 13035 करोड़ लोगों की बात है तो जो कुछ भी दिक्कत है दिक्कत नहीं देख रहे हैं जो लोग वह कह भी रहे हैं कुछ लोग आलोचना के पर भी कह रहे हैं जिनको मौका चाहिए होता है तत्कालीन सरकार जो भी जो भी सीट पर सरकार होती है उनकी सूची बुराइयां निकालना हमसे से कह सकते हैं आप फॉलो कर रहे हो या फिर आप देख लीजिए हमारे जो पुराने वित्त मंत्री थे नए वित्त मंत्री है उसके अलावा अर्थशास्त्री जो लोग हैं उन लोगों की अलग-अलग राय हमने देखी है फेसबुक पर भी कह रहे हैं अभी बहुत सारे कदम उठाने के बाकी है इसे बहुत सारा रोज पी हुआ है लेकिन फ्यूचर में बहुत ज्यादा प्रॉफिट है मैं आपको बताना चाहूंगा दोनों भारत के लिए पॉजिटिव कदम है और दोनों ही भारत के 38 ऐतिहासिक बड़े कदम है नोटबंदी के बाद जीएसटी तो उससे भी बड़ा कदम है इससे अधिक जानकारी के लिए आप मेरे प्रोफाइल पर दिए गए नंबर पर संपर्क कर सकते हैं धन्यवाद

namaskar aapka prashna hai notebandi aur gst me kya saman hai toh main aapko batana chahunga yah dono hi bade hamakadam hain jo ki ek hi pradhanmantri dwara liye gaye yani hamare tatkalin pradhanmantri narendra modi ji ne dono hi kadam uthye hain yah bahut sarahniya kadam hai abhi dono me dusri kya kya samanata hai main aapko yah batana chahunga pehle toh yah dono hi alag alag pahaloo hai ek hai vaah hai notebandi kiya hai yani ki note joshi unko nahi kiya purani note ko band kiya hai yani ki yah black money control karne ke liye uthaya gaya ek kadam hai black money sakht karne ke liye uthaya gaya ek kadam hai uske baad doosra pahaloo jo hai gst vaah hai tax system me bahut bada sudhaar hai indirect tax jani apratyaksh kar hai yah jo ki pichle saare karo ko samapt karke vanteks van nation laagu kar diya gaya ab dono me kya saman cheezen abhi tak dekhi gayi hai main aapko batana chahunga yah dono bharat ki economy ke bhavishya ke liye booster hain notebandi se chatting me do teen saal vyapar me dikkat hui hai vyapar kam hue hain lekin uska bhavishya bahut accha hai kyonki black money kam hua hai uske baad main apna gst gst jovan taxation system ho gaya usko aaj takareeban 3 saal hone ko hai 3 saal me kaafi saare vyapariyon ko dikkaten hui hai aisa nahi hai ki gst se har kisi ko fayda hua hai abhi lekin future me har kisi ka fayda hoga kyonki 1 text van nation hai ya poore bharat me kahin par bhi ek hi tax ke saath kisi bhi commodity ka vyapar kar sakte hain kyonki har commodity ka apna ek ek tax nirdharit kar diya gaya apna tax rate nirdharit kar diya gaya hai usme ek pahaloo yah bhi hai main aapko batana chahunga ki gst law hai vaah abhi table nahi hua hai bharat me vaah table nahi hua hai isliye kaafi saari chunautiyaan hain jis par kaam ho raha hai notebandi ke baad aarthik sudhaar ke liye jo kuch bhi kadam lene uthane chahiye vaah uthye gaye hain lekin uski bhi effect aane me kuch samay lag sakta hai filhal aapko baat karu march se lekar may tak june tak jo corona mahamari ke wajah se bhi economy me problem hua hai agar yah na nahi hota toh aur jaldi result milte hain yah result hamko cheh mah ya phir 1 saal late milenge lekin notebandi aur gst dono ka result positive hai lekin uske liye bahut samay lag sakta hai aage bhi 1 saal jitna lag sakta hai kyonki ek saath jo kadam uthaya gaya hai aur itne 130 crore logo ka desh loktantrik desh hai toh usko ek saath sabko amal karaya gaya yani ki aap abhi kahin par bhi hazaar paanch sau ka note use nahi kar sakte toh purana tha aur ab wait se saamaan becha kharidne sakte aapko gst anivarya ho gaya hai toh yah sab ek saath sabko send bye amal krana hai toh thoda bahut usme defect aati hai lekin vaah toh hum sab bhi jante hain agar apne hum agar kisi 10 bandhuon ko bhi ek hero rule de denge ke school se chalna hai toh usme bhi problem so sakte the yah toh 13035 crore logo ki baat hai toh jo kuch bhi dikkat hai dikkat nahi dekh rahe hain jo log vaah keh bhi rahe hain kuch log aalochana ke par bhi keh rahe hain jinako mauka chahiye hota hai tatkalin sarkar jo bhi jo bhi seat par sarkar hoti hai unki suchi buraiyan nikalna humse se keh sakte hain aap follow kar rahe ho ya phir aap dekh lijiye hamare jo purane vitt mantri the naye vitt mantri hai uske alava arthshastri jo log hain un logo ki alag alag rai humne dekhi hai facebook par bhi keh rahe hain abhi bahut saare kadam uthane ke baki hai ise bahut saara roj p hua hai lekin future me bahut zyada profit hai main aapko batana chahunga dono bharat ke liye positive kadam hai aur dono hi bharat ke 38 etihasik bade kadam hai notebandi ke baad gst toh usse bhi bada kadam hai isse adhik jaankari ke liye aap mere profile par diye gaye number par sampark kar sakte hain dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न है नोटबंदी और जीएसटी में क्या समान है तो मैं आपको बताना चाहूंगा यह दोन

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  284
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Manish Singh

VOLUNTEER

1:44

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नोटबंदी और जीएसटी में क्या समानता है तुम मेरी सबसे समानता कुछ नहीं लेकिन जैसे कि नरेंद्र मोदी ने कहा खुद उनके यह शब्द है कि उन्होंने यह सब जो कराए एक कारण से कराया और एकजुटता चीज है वह अगली कितना नेक्स्ट ऐप है जैसे उनका कहना था कि उन्होंने सबसे पहले जो बैंक खाते हैं इसलिए खुलवाएं कि जब वह नोटबंदी उनका पहले से प्रांत की कुछ ऐसा करेंगे कि अभी जो लोग हैं कि अगर बैंक खातून के पास रहेंगे तू ही जो पैसा है वह चेंज कर पाएंगे तो बैंक खाता खुलवाना उनका पहला जत्था दूसरा स्टेप था कि जिसे नोटबंदी हो जिससे कि बहुत जितने ब्लैक मनी है वह मार्केट से निकल कर चला जाए और जितना जो वाइट ब्लैक मनी के पास आजा फिर बाद में वह मार्केट में दूसरा उनके स्थित है जो कि लोग दुकान चलाते हैं टैक्सेस नहीं भरते हैं और जो सरकार के हक का पैसा है जिससे लोगों का डेवलपमेंट होता है वह पैसा सरकार को नहीं देते इस कारण से जीएसटी जो है वह लागू किया गया इसमें एक प्रॉपर टैक्स जीएसटी का और भी बहुत सारे फायदे हैं जैसे कि बाहर की कंपनियां पहले आती थी तो उसे बहुत जगह से परमिशन लेनी पड़ती थी जिसके कारण में इंडिया में इंडिया के स्टेट से उसमें इंडक्शन नहीं हो पा रहा था लेकिन देखनी चेन्नई में झारखंड में टाटा बॉक्स फैक्ट्री है बोकारो में लेकिन बाकी जगह पैसा माहौल नहीं हो पाती जो है वह काम कर देती है इन सब की कंपनी आ सकती है कंपनी के बाद फैक्ट्री लगा सकती है लोगों को उसके लेवर दे सकती हैं तो सामान तक कुछ भी नहीं कहूंगा हां एक नेक्स्ट अफ्रीका नेक्स्ट जीएसटी है जिससे कि रोजगार मिलेगा काला धन बंद होगा सरकार के पास पैसे आएंगे और जो ब्लैक मनी जोक्स ऑन करते थे बैक में छुपा कर रखते थे सर्च करो टेक्स्ट ना देते नहीं देते थे उसी से बंद होगी

notebandi aur gst mein kya samanata hai tum meri sabse samanata kuch nahi lekin jaise ki narendra modi ne kaha khud unke yah shabd hai ki unhone yah sab jo karae ek karan se karaya aur ekjutata cheez hai vaah agli kitna next app hai jaise unka kehna tha ki unhone sabse pehle jo bank khate hain isliye khulvaye ki jab vaah notebandi unka pehle se prant ki kuch aisa karenge ki abhi jo log hain ki agar bank khatun ke paas rahenge tu hi jo paisa hai vaah change kar payenge toh bank khaata khulwana unka pehla jattha doosra step tha ki jise notebandi ho jisse ki bahut jitne black money hai vaah market se nikal kar chala jaaye aur jitna jo white black money ke paas aajad phir baad mein vaah market mein doosra unke sthit hai jo ki log dukaan chalte hain taxes nahi bharte hain aur jo sarkar ke haq ka paisa hai jisse logo ka development hota hai vaah paisa sarkar ko nahi dete is karan se gst jo hai vaah laagu kiya gaya isme ek proper tax gst ka aur bhi bahut saare fayde jaise ki bahar ki companiya pehle aati thi toh use bahut jagah se permission leni padti thi jiske karan mein india mein india ke state se usme induction nahi ho paa raha tha lekin dekhni Chennai mein jharkhand mein tata box factory hai bokaro mein lekin baki jagah paisa maahaul nahi ho pati jo hai vaah kaam kar deti hai in sab ki company aa sakti hai company ke baad factory laga sakti hai logo ko uske lever de sakti hain toh saamaan tak kuch bhi nahi kahunga haan ek next africa next gst hai jisse ki rojgar milega kaala dhan band hoga sarkar ke paas paise aayenge aur jo black money jokes on karte the back mein chupa kar rakhte the search karo text na dete nahi dete the usi se band hogi

नोटबंदी और जीएसटी में क्या समानता है तुम मेरी सबसे समानता कुछ नहीं लेकिन जैसे कि नरेंद्र म

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  360
WhatsApp_icon
user

Geet Awadhiya

Aspiring Software Developer

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नोटबंदी और जीएसटी में जो समानता है वही है वह नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए हैं और उनके हिसाब से इन कामों के होने के बाद भारत में कई तरीकों से जो करप्शन चल रहा है वह बंद होगा और जितना भी कालाधन है वह वापस आएगा अब देखना तो यह होगा कि कितने सालों की इनकी यह मेहनत है कितने सालों बाद हमें इस चीज का रिजल्ट मिलेगा या नहीं मिलेगा

notebandi aur gst mein jo samanata hai wahi hai vaah narendra modi dwara kiye gaye hai aur unke hisab se in kaamo ke hone ke baad bharat mein kai trikon se jo corruption chal raha hai vaah band hoga aur jitna bhi kaladhan hai vaah wapas aayega ab dekhna toh yah hoga ki kitne salon ki inki yah mehnat hai kitne salon baad hamein is cheez ka result milega ya nahi milega

नोटबंदी और जीएसटी में जो समानता है वही है वह नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए हैं और उनके हिसाब

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  307
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!