हॉस्टल ज़िंदगी या घर की ज़िंदगी? क्या ज़्यादा अच्छा है?...


play
user

Gyaani Woman lekhika 📚👩

Lekhika Hoon Suchai Likhti Hoo

0:12

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लाइफ एक ही होती है लेकिन हां हॉस्टल में नया ज्ञान नए दोस्त और घर में बड़ों का प्यार अपनों का साथ दोनों ही सही है

life ek chahiye hi hoti hai lekin haan hostel mein naya gyaan naye dost aur ghar mein badon ka chahiye pyar apnon chahiye ka chahiye saath dono hi sahi hai

लाइफ एक ही होती है लेकिन हां हॉस्टल में नया ज्ञान नए दोस्त और घर में बड़ों का प्यार अपनों

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  39
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमसर की लाइफ के घर के लाइफ अलार्म कंपेयर करके डेफिनेटली घर के लोग ज्यादा बच्चा है आप फैमिली के साथ रहते हैं और खाने पीने की कोई दिक्कत नहीं होती चांदनी का प्यार सरे मिलता रहता है बट मैं यह जरूर कहूंगा कि एक बार बंदे को हॉस्टल लाइफ जरूरत पूजा करनी चाहिए क्योंकि घर पर रहती है तो हमें कोई टेंशन नहीं होते माल सारा ध्यान नहीं सूख समाचार पढ़ाई का टाइम सेट पर रहता है लेकिन लाइक जो हमें सिखाती है वह नॉलेज हम कहीं नहीं सकते हॉस्टल में आकर जो ट्रांसफॉर्मेशन होता है जो नॉलेज गेन करते तो प्रेक्टिकल नॉलेज लाइव की नॉलेज वह हमें कहीं नहीं मिल सकती और वह पूरी जिंदगी भर काम आती है चाहे वह मैनेजमेंट हो गया मेरी सोच तकनीक SMS करनी है मैं इतने पैसे घर वालों से मिले हो इतने ही चलाने हैं हर चीज चाहे को फ्रेंडशिप फ्रेंडशिप मस्ती हो लेट नाइट पार्टी या लेटर मूवी नाइट्स गेमिंग नाइट और वहां पर हमें को रोकने रोकने वाला नहीं होता कि हमें कैसे पढ़ाई करनी है क्या करना है वहां पर हमें खुद डिसाइड करना है आपने लिखो 10 पहुंचे बोलो उसे कोई हमारे कुछ नहीं कहता तू वहां जो रिस्पांसिबिलिटी हम सीखते हैं अपने लिए बहुत इंपॉर्टेंट जिंदगी भर काम आती है उसमें भी दो चीज़ें अगर बंद हो जाता है तो उसके बाद लैंग्वेज फॉर शुरू होता है अगर बंदा एक बार डांसर होता भी उसके बाद भी अगर बंदे को समझ आता सीखने को मिलता है उसे भी हम कुछ सीखेंगे डाउन फॉल से तो उस डाउन फॉल से भी जो सीखने को मिलता है वह जिंदगी हर आदमी को याद रहता है और वह बहुत ही करता है आगे सक्सेसफुल होने में आगे अच्छा करने में चाहे अपनी पढ़ाई हो जाए कि सोशल लाइफ में कुछ भी हो तुम ही देखने की तो हम कंपेयर कल जब निकली घर के लिए जाते बैटरी बट एक बार बंदे को फ्लैट पक्का एक्सप्रेस करने के लिए थैंक्स

hamsar ki life ke ghar ke life alarm compare karke definetli ghar ke log zyada baccha hai aap family ke saath rehte hai aur khane peene ki koi dikkat nahi hoti chandni ka pyar sare milta rehta hai but main yah zaroor kahunga ki ek baar bande ko hostel life zarurat puja karni chahiye kyonki ghar par rehti hai toh hamein koi tension nahi hote maal saara dhyan nahi sukh samachar padhai ka time set par rehta hai lekin like jo hamein sikhati hai vaah knowledge hum kahin nahi sakte hostel mein aakar jo transformation hota hai jo knowledge gain karte toh practical knowledge live ki knowledge vaah hamein kahin nahi mil sakti aur vaah puri zindagi bhar kaam aati hai chahen vaah management ho gaya meri soch taknik SMS karni hai itne paise ghar walon se mile ho itne hi chalane hai har cheez chahen ko friendship friendship masti ho late night party ya letter movie night gaming night aur wahan par hamein ko rokne rokne vala nahi hota ki hamein kaise padhai karni hai kya karna hai wahan par hamein khud decide karna hai aapne likho 10 pahuche bolo use koi hamare kuch nahi kahata tu wahan jo responsibility hum sikhate hai apne liye bahut important zindagi bhar kaam aati hai usme bhi do chize agar band ho jata hai toh uske baad language for shuru hota hai agar banda ek baar dancer hota bhi uske baad bhi agar bande ko samajh aata sikhne ko milta hai use bhi hum kuch sikhenge down fall se toh us down fall se bhi jo sikhne ko milta hai vaah zindagi har aadmi ko yaad rehta hai aur vaah bahut hi karta hai aage successful hone mein aage accha karne mein chahen apni padhai ho jaaye ki social life mein kuch bhi ho tum hi dekhne ki toh hum compare kal jab nikli ghar ke liye jaate battery but ek baar bande ko flat pakka express karne ke liye thanks

हमसर की लाइफ के घर के लाइफ अलार्म कंपेयर करके डेफिनेटली घर के लोग ज्यादा बच्चा है आप फैमिल

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  34
WhatsApp_icon
user
1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसमें कोई दो राय नहीं है इसमें कोई सोचने की बात नहीं की घर की लाइफ सबसे ज्यादा अच्छी होती है मनुष्य का स्वभाव भी कुछ इस प्रकार का होता है कि वह भगवान द्वारा दिए गए छोटे छोटे आशीर्वादों का मूल्य भूल जाते हैं मैं यह मानती हूं कि घर कि जिंदगी भी भगवान द्वारा दिया गया आशीर्वाद होता है इसका मूल्य हमें तभी समझ में आता है जब हमें हॉस्टल की बेरंग जिंदगी जीनी पड़ती है घर की लाइट की तुलना हॉस्पिटल की लाइट की तुलना किसी की लाइफ से की ही नहीं जा सकती है एक तरफ घर की लाइफ में आपको सुबह से शाम तक अपने माता-पिता या घरवालों का प्रेम मिलता है वहीं दूसरी ओर हॉस्टल की लाइफ में आपको स्क्रीन उल्टी लगाओ उस सीलिंग की अनुपस्थिति को महसूस करते हैं और काफी हद तक अकेला अपने आप को अकेला पाते हैं

isme koi do rai nahi hai isme koi sochne ki baat nahi ki ghar ki life sabse zyada achi hoti hai manushya ka swabhav bhi kuch is prakar ka hota hai ki vaah bhagwan dwara diye gaye chote chhote ashirvadon ka mulya bhool jaate hai yah maanati hoon ki ghar ki zindagi bhi bhagwan dwara diya gaya ashirvaad hota hai iska mulya hamein tabhi samajh mein aata hai jab hamein hostel ki BARANG zindagi gini padti hai ghar ki light ki tulna hospital ki light ki tulna kisi ki life se ki hi nahi ja sakti hai ek taraf ghar ki life mein aapko subah se shaam tak apne mata pita ya gharwaalon ka prem milta hai wahi dusri aur hostel ki life mein aapko screen ulti lagao us ceiling ki anupsthiti ko mehsus karte hai aur kaafi had tak akela apne aap ko akela paate hain

इसमें कोई दो राय नहीं है इसमें कोई सोचने की बात नहीं की घर की लाइफ सबसे ज्यादा अच्छी होती

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  184
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे बिना सोचे समझे तो घर की लाइट है वह अलग होती है और उसे लाइक तो क्यों बहुत अलग होती है मैं को ऐसा लगता है कि जिस लाइफ में बिजी थे आप को दूसरी लगाओ अच्छी लगती हो गया क्या पूछना कि मुझे घर रहने घरे ना प्रोग्राम कर रहे होंगे तो कॉल करो उसके बाद कितनी होती है आपको मिल रहे हैं वह बता देखने को मिल रहे हो कि हम उसके बारे में बताने से फायदा नहीं मिल रहा था उसके बारे में सोच कर आपको उसमें आपको दिक्कत हो रही है तेजी से बढ़ती है

dekhe bina soche samjhe toh ghar ki light hai vaah alag hoti hai aur use like toh kyon bahut alag hoti hai ko aisa lagta hai ki jis life mein busy the aap ko dusri lagao achi lagti ho gaya kya poochna ki mujhe ghar rehne ghare na program kar rahe honge toh call karo uske baad kitni hoti hai aapko mil rahe hain vaah bata dekhne ko mil rahe ho ki hum uske bare mein batane se fayda nahi mil raha tha uske bare mein soch kar aapko usme aapko dikkat ho rahi hai teji se badhti hai

देखे बिना सोचे समझे तो घर की लाइट है वह अलग होती है और उसे लाइक तो क्यों बहुत अलग होती है

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  122
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!