क्या ध्वनि संचरण नहीं हो सकती है?...


user

Mohitg

Student & Shopkeeper

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या धोनी संचरण नहीं हो सकती ध्वनि संचरण ब्रांडेड प्रक्रिया के माध्यम पर डिपेंड करती है बात की बात करते हमसे क्यों बात करते तो एक बात और पानी में ध्वनि को ट्रांसफर नहीं कर सकते हम सिर्फ अपने हॉट सेक्स पेशेंट डाइट जा सके लेकिन अपने मुंह से निकलने वाली आवाज को दूसरे तक नहीं सही बात हम खुले मैदान में अपने घर वगैरह परिवार में जा सकते तो हमें उसमें आवाज ध्वनि संचरण कर सकती है जिसे आप किसी बंद कांच के बने कमरे में बैठे जॉब कहां से बंद है वॉइसलेस है तो बाहर से नहीं सकते

kya dhoni sancharan nahi ho sakti dhwani sancharan branded prakriya ke madhyam par depend karti hai baat ki baat karte humse kyon baat karte toh ek baat aur paani mein dhwani ko transfer nahi kar sakte hum sirf apne hot sex patient diet ja sake lekin apne mooh se nikalne wali awaaz ko dusre tak nahi sahi baat hum khule maidan mein apne ghar vagera parivar mein ja sakte toh hamein usme awaaz dhwani sancharan kar sakti hai jise aap kisi band kanch ke bane kamre mein baithe job kahaan se band hai voiceless hai toh bahar se nahi sakte

क्या धोनी संचरण नहीं हो सकती ध्वनि संचरण ब्रांडेड प्रक्रिया के माध्यम पर डिपेंड करती है बा

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Munmun 🌈

Volunteer

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जो ध्वनि संचरण है तो सोच से जो है धोनी का हमारी कानों तक पहुंचना ध्वनि का संचरण कहलाता है और यानी की धनी के एक जगह से दूसरी जगह पर पहुंचने को धोने का कोई कारण क्या था निर्वात में ध्वनि का संचरण नहीं होता है अर्थात धन्यवाद जो होता है वह व्यक्ति होता है और वैक्यूम में ध्वनि एक जगह से दूसरी जगह नहीं जा सकते तो ध्वनि के एक जगह से दूसरी जाने दूसरी जगह जाने के लिए एक माध्यम का होने आवश्यक है

dekhiye jo dhwani sancharan hai toh soch se jo hai dhoni ka hamari kanon tak pahunchana dhwani ka sancharan kehlata hai aur yani ki dhani ke ek jagah se dusri jagah par pahuchne ko dhone ka koi karan kya tha nirvat mein dhwani ka sancharan nahi hota hai arthat dhanyavad jo hota hai vaah vyakti hota hai aur vacuum mein dhwani ek jagah se dusri jagah nahi ja sakte toh dhwani ke ek jagah se dusri jaane dusri jagah jaane ke liye ek madhyam ka hone aavashyak hai

देखिए जो ध्वनि संचरण है तो सोच से जो है धोनी का हमारी कानों तक पहुंचना ध्वनि का संचरण कहला

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!