पूँजी किसे कहते हैं?...


user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पूंजी का अर्थ इन इंग्लिश में स्कूल कैपिटल भी कहते हैं जब हम कोई भी बिजनेस स्टार्ट करते हैं तो उसको स्टार्ट करने के लिए हमें पैसे की आवश्यकता होती है जो पैसा हम अपनी जेब से बिजनेस स्टार्ट करने के लिए लगाते हैं उसको हम पूंजी कहते हैं उसे हम पर बिजनेस करते हैं और प्रॉफिट कमाते हैं

punji ka arth in english mein school capital bhi kehte hai jab hum koi bhi business start karte hai toh usko start karne ke liye hamein paise ki avashyakta hoti hai jo paisa hum apni jeb se business start karne ke liye lagate hai usko hum punji kehte hai use hum par business karte hai aur profit kamate hain

पूंजी का अर्थ इन इंग्लिश में स्कूल कैपिटल भी कहते हैं जब हम कोई भी बिजनेस स्टार्ट करते हैं

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  365
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोई भी व्यक्ति जब कोई व्यापार शुरू करता है तो शुरू में वह जो पैसे इन्वेस्ट करता है जो पैसे लगाता है अपने बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए उसे पूंजी कहते हैं

koi bhi vyakti jab koi vyapar shuru karta hai toh shuru mein vaah jo paise invest karta hai jo paise lagaata hai apne business ko start karne ke liye use punji kehte hain

कोई भी व्यक्ति जब कोई व्यापार शुरू करता है तो शुरू में वह जो पैसे इन्वेस्ट करता है जो पैसे

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  292
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पूंजी यानी चैप्टर साधारणता है उस धनराशि को कहते हैं जिससे कोई व्यापार चलाया जाए किंतु कंपनी अधिनियम के अंतर्गत इसका अभिप्राय अंश पूंजी से है ना कि उधार राशि से जिसका आज से कभी कभी उधार पूंजी भी कहते हैं प्रत्येक कंपनी के लिए यह अनिवार्य है कि वह अपनी सीमा नियम में अंश पूंजी जिसे राजस्थान प्राधिकृत अथवा अंकित पूंजी कहते हैं तथा उसकी निश्चित मूल्य के आंसुओं में विभाजन का उल्लेख करें प्राधिकृत पूंजी के कुछ भाग को और निर्गमित यानी यीशु किया जा सकता है और शेष क्यों आवश्यक आवश्यकता अनुसार निर्मित किया जा सकता है निर्गमित भाग के अंशो के अंकित मूल्य को निर्गमित पूंजी कहते हैं जनता जीना सूखे क्रय क्रय प्रधान पात्र प्रधान पात्र उनके अंकित मूल्य को प्राथमिक पूंजी यानी सब्सक्राइब कैपिटल तथा अंश धारियों को अंश धारियों द्वारा कितनी राशि का भुगतान किया जाए उसे दर्द पूंजी यानी पेट कैपिटल कहते हैं

punji yani chapter sadharanata hai us dhanrashi ko kehte hai jisse koi vyapar chalaya jaaye kintu company adhiniyam ke antargat iska abhipray ansh punji se hai na ki udhaar rashi se jiska aaj se kabhi kabhi udhaar punji bhi kehte hai pratyek company ke liye yah anivarya hai ki vaah apni seema niyam mein ansh punji jise rajasthan pradhkrit athva ankit punji kehte hai tatha uski nishchit mulya ke ansuon mein vibhajan ka ullekh kare pradhkrit punji ke kuch bhag ko aur nirgamit yani yeshu kiya ja sakta hai aur shesh kyon aavashyak avashyakta anusaar nirmit kiya ja sakta hai nirgamit bhag ke ansho ke ankit mulya ko nirgamit punji kehte hai janta jeena sukhe kray kray pradhan patra pradhan patra unke ankit mulya ko prathmik punji yani subscribe capital tatha ansh dhariyon ko ansh dhariyon dwara kitni rashi ka bhugtan kiya jaaye use dard punji yani pet capital kehte hain

पूंजी यानी चैप्टर साधारणता है उस धनराशि को कहते हैं जिससे कोई व्यापार चलाया जाए किंतु कंपन

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  214
WhatsApp_icon
user

Kriti

Classical Dancer

0:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पूंजी किसे कहते थे कि पूंजी की जो है वह जमा किया हुआ जो धन होता है उसे पूंजी कहा जाता है

punji kise kehte the ki punji ki jo hai vaah jama kiya hua jo dhan hota hai use punji kaha jata hai

पूंजी किसे कहते थे कि पूंजी की जो है वह जमा किया हुआ जो धन होता है उसे पूंजी कहा जाता है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  9
WhatsApp_icon
play
user

Riya

Volunteer

0:27

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देख कर बात करें कि पूंजी किसे कहते हैं तो पूंजी जाने के क्या पेट है तो यह कैसे सेट होते हैं जो कि आपको पावर देते हैं और आपका इकनोमिक बताने के लिए आपको इनेबल करते हैं तो यानी कि आपके पास में और चीजें रहती है जो भी जमा पूंजी आपके पास है तो फिर धनराज उसे क्या बोलते हैं

dekh kar BA at kare ki punji kise kehte hai toh punji jaane ke kya pet hai toh yah kaise set hote hai jo ki aapko power dete hai aur aapka economic BA tane ke liye aapko enable karte hai toh yani ki aapke paas mein aur cheezen rehti hai jo bhi jama punji aapke paas hai toh phir dhanraj use kya bolte hain

देख कर बात करें कि पूंजी किसे कहते हैं तो पूंजी जाने के क्या पेट है तो यह कैसे सेट होते है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
punji kise kahate hain ; punji se aap kya samajhte hain ; punji kya hai ; पूंजी किसे कहते हैं ; पूंजी से आप क्या समझते हैं ; पूंजी क्या है ; पूजी किसे कहते हैं ; पूंजी ; पूंजी किसे कहते है ; punji se kya aashay hai ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!