मैं मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूँ। मेरा कुछ भी काम करने को मन नहीं करता है। क्या करूँ?...


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ग्रुप से ज्यादा तनाव में रहती है और कुछ भी काम करने को मन नहीं करता तो आप क्या करें मानसिक रूप से ग्राम में रहती हो तो पहले उनके कारणों को ज्यादा उसके लिए तो काम करने को मन नहीं करेगा जितने भी नकारात्मक लोग हैं उस दूध अमूल आईस करते हैं उनसे दूरी बनाए और अपने अंदर कैसी है मत लाइए कि कोई इस तरह की बात को इस तरह का डर आपके अंदर बैठ गया है जिसे आप अपने मन मस्तिष्क है अभी कर लिया है तो सही नहीं है मेडिटेशन करिए कुछ ध्यान लगाइए कंसंट्रेट के लिए दूसरी जगह लोगों के बीच में रहिए अकेलापन कई बार मानसिक तनाव को जन्म देता है बड़ा घातक होता है तो लोगों के बीच में

group se zyada tanaav me rehti hai aur kuch bhi kaam karne ko man nahi karta toh aap kya kare mansik roop se gram me rehti ho toh pehle unke karanon ko zyada uske liye toh kaam karne ko man nahi karega jitne bhi nakaratmak log hain us doodh amul ais karte hain unse doori banaye aur apne andar kaisi hai mat laiye ki koi is tarah ki baat ko is tarah ka dar aapke andar baith gaya hai jise aap apne man mastishk hai abhi kar liya hai toh sahi nahi hai meditation kariye kuch dhyan lagaaiye concentrate ke liye dusri jagah logo ke beech me rahiye akelapan kai baar mansik tanaav ko janam deta hai bada ghatak hota hai toh logo ke beech me

ग्रुप से ज्यादा तनाव में रहती है और कुछ भी काम करने को मन नहीं करता तो आप क्या करें मानसिक

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  86
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भेजो अगर तनाव में हैं तो उनको पहले तो लाइफ स्टाइल में चेंज करना होगा दूसरी बात है रिलैक्सेशन 30fps को मैनेजमेंट करने के लिए जेपीएमआर जैकब्सन प्रोग्रेसिव रिलैक्सेशन टेक्निक होता है उसका प्रयोग करेंगे तो उन्होंने काफी हद तक सुधार उनके एंजाइटी को दूर कर सकते हैं और एक्टिविटीज तेंदुलकर के रखेंगे अगर अपने आपको व्यस्त रखेंगे तो इसमें भी बन जाएगी दूर होगा तो रिलायंस होगा ज्यादा से ज्यादा खुद से खुद काम करने का प्रयास करेंगे इस तरह से एंजॉय की पूरी ज्यादा सट्टा

bhejo agar tanaav me hain toh unko pehle toh life style me change karna hoga dusri baat hai Relaxation 30fps ko management karne ke liye JPMR jaikabsan progressive Relaxation technique hota hai uska prayog karenge toh unhone kaafi had tak sudhaar unke anxiety ko dur kar sakte hain aur activities tendulkar ke rakhenge agar apne aapko vyast rakhenge toh isme bhi ban jayegi dur hoga toh reliance hoga zyada se zyada khud se khud kaam karne ka prayas karenge is tarah se enjoy ki puri zyada satta

भेजो अगर तनाव में हैं तो उनको पहले तो लाइफ स्टाइल में चेंज करना होगा दूसरी बात है रिलैक्से

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  100
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए तनाव पिक बहुत विकराल समस्या है और तनाव को जानना और उसको हैंडल करना भी एक चुनौती होता है पहली बात तो तनाव की वाजिब वजह क्या है इसको हम को जानना बहुत जरूरी कितना किन किन कारणों से हो रहा है बहुत सारे तमाम कारण हो सकते हैं लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि तनाव जो है उस पॉजिटिव भी लिया जा सकता है कैसे मान लीजिए आप रास्ते पर चल रहे हो और रास्ते पर चलते चलते अचानक आपको जीत जाए तो आप क्या करेंगे आप इतनी तेज दौड़ लगाएंगे कि आपको खुद यकीन नहीं आएगा कि मैं इतनी हाई स्पीड से कैसे आ गया मतलब यह है कि तनाव या ऑब्सटेकल्स जो है वह हमारी परसेप्शन पर निर्भर करता है कि हम किस तरीके तुमको देखते हैं तनाव आपको बेहतर करने का एक अवसर होता है कि आप अपने अंदर कितनी अच्छे ढंग से कोई योग्यता को बना सकते हैं हमारे भारतीय चिंतन में ऐसा कहा जाता है कि जो शालिग्राम बनते हैं वह बहुत रगड़ खाते हैं नदी में और रगड़ खाने के बाद जो सुंदर साइकिल रूप मिलता है पत्रिका वह पूजा जाता है घरों में तो प्रणाम कभी भी ऐसा नहीं होता कि ना आए अगर सुख है तो दुख भी आएगा तन्हा भी आएगा कि कितना का सीधा संबंध हमारी इच्छा से होता है हम जो करना चाहते हैं वह नहीं कर पाती है वह नहीं मिल पाता तो उस नहीं हो पाने के कारण एक रिएक्शन जो है हमारा शरीर देता है वह रिएक्शन जो है वह तनाव कहलाता है यह कि हम उसको स्वीकार नहीं कर रहे हमारी जो सफलता है हम तो नहीं कर पा रहे हो स्पष्ट स्टेशन को हम स्वीकार नहीं कर रहे इसकी वजह से हम को तंहा हो रहे हैं तो पहली बात तो यह कि तनाव के असली कारणों को जानने के लिए आपको एक पास देना चाहिए रुकना चाहिए और रुकने के बाद फिर आपको उनके कारणों पर चिंतन करने के बाद में उसको उसके समाधान पर सोचना चाहिए कि इसके क्या हाल हो सकते हैं जो मुझे तनाव हो रहा है इसको मैं कैसे कम कर सकते हो हैंडल कर सकती हूं फिर आपको उस तरीके से उनको रेक्टिफाई करने की दिशा में आगे बढ़ना चाहिए यह बहुत ही क्रिटिकल स्थिति है कि जब कुछ भी करने का मन ना करे तो वाकई में आप बहुत तनाव है इसका मतलब इसके लिए थोड़ा सा ओपन हुई है अपने मित्रों से बात कर सकते हैं इस बारे में अपने घर के बड़ों से बात कर सकते हैं टीचर्स के साथ में बात कर सकते हैं या कुछ ऐसा कर सकते हैं जो आपको अच्छा लगता हो लेकिन थोड़ा सा आपको यह सोचना होगा कि तनाव मेरे लिए कुछ कह रहा है कि मुझे बेहतर बनाने के लिए आया है और मैं बैटरी की दिशा में आगे बढ़ हूं तो शायद इतना आपका मूड है तो इस तरीके से आप अपनी सोच को बना सकते हैं और बदल भी सकते हैं

dekhiye tanav pik bahut vikrale samasya hai aur tanav ko janna aur usko handle karna bhi ek chunauti hota hai pehli baat to tanav ki vajib wajah kya hai isko hum ko janna bahut jaruri kitna kin kin karanon se ho raha hai bahut saare tamam kaaran ho sakate hain lekin kya kabhi aapne socha hai ki tanav jo hai usa positive bhi liya za saketa hai kaise maan lijiye aap raste per chal rahe ho aur raste per chalte chalte achanak aapko jeet jaye to aap kya karenge aap itni tej daud lagaenge ki aapko khud yakeen nahin aega ki main itni high speed se kaise au gaya matlab yeh hai ki tanav ya absatekals jo hai weh hamari parasepshan per nirbhar karta hai ki hum kis tharike tumko dekhte hain tanav aapko behatar karne ka ek avshar hota hai ki aap apne andore kitni achche dhang se koi yogyata ko bana sakate hain hamare bhartiy chintan mein aisa kaha jaata hai ki jo shaligram bante hain weh bahut ragad khate hain ndi mein aur ragad khane k baad jo sundar saikil roop milta hai patrika weh pooja jaata hai gharon mein to pranam kabhi bhi aisa nahin hota ki na ae agar sukh hai to dukh bhi aega tanha bhi aega ki kitna ka seedha sambandh hamari ichha se hota hai hum jo karna chahte hain weh nahin kar pati hai weh nahin mil pata to usa nahin ho pane k kaaran ek reaction jo hai hamara sharir deta hai weh reaction jo hai weh tanav kahlata hai yeh ki hum usko swikar nahin kar rahe hamari jo saflata hai hum to nahin kar pa rahe ho spasht station ko hum swikar nahin kar rahe isaki wajah se hum ko tanha ho rahe hain to pehli baat to yeh ki tanav k asli karanon ko janne k liye aapko ek pass dena chahiye rukna chahiye aur rukne k baad phir aapko unke karanon per chintan karne k baad mein usko uske samadhan per sochna chahiye ki ishqe kya haal ho sakate hain jo mujhe tanav ho raha hai isko main kaise cum kar sakate ho handle kar sakti hoon phir aapko usa tharike se unko rektifai karne ki disha mein age badhana chahiye yeh bahut hee critical sthiti hai ki jab kuchh bhi karne ka mann na care to vakai mein aap bahut tanav hai iska matlab ishqe liye thoda sa opn hui hai apne mitro se baat kar sakate hain is bare mein apne ghar k badon se baat kar sakate hain teachers k saath mein baat kar sakate hain ya kuchh aisa kar sakate hain jo aapko achha lagta ho lekin thoda sa aapko yeh sochna hoga ki tanav mere liye kuchh keh raha hai ki mujhe behatar BANAANE k liye aaya hai aur main battery ki disha mein age badh hoon to shayad itna aapka mood hai to is tharike se aap apni soch ko bana sakate hain aur badal bhi sakate hain

देखिए तनाव पिक बहुत विकराल समस्या है और तनाव को जानना और उसको हैंडल करना भी एक चुनौती होता

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  89
WhatsApp_icon
user

Trainer Yogi Yogendra

Motivational Speaker || Career Coach || Business Coach || Marketing & Management Expert's

1:32
Play

Likes  469  Dislikes    views  4556
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे जीवन में तीन चीजें हैं एक मन है एक बुद्धि है और एक चित्र है जब मन में किसी चीज के प्रति एक शंका उत्पन्न होती है तथा वह शंका यदि बुद्धि में पहुंच जाती है तो बुद्धि उस पर तर्क अथवा कुतर्क करती है और यह जब उससे भी ऊपर उठकर के जब चित्र में चला जाता तो चित्र मोहन कार का कारण बनता है जो मानसिक रूप में जो भी तनाव व्यक्ति को मिल रहा है यह इसी अवस्था से उत्पन्न होता है जब मन जो हमारी चेतना को जो हमारी आशंका है या मन है वह पूरी तरीके से व्याप्त कर देता है तब मानसिक रूप से हमारे जीवन में तनाव आता है हमें कोई भी जीवन में हल नहीं सुजाता तथा लगता है कि अब हम लक्ष्य हीन हो गए हैं किंकर्तव्यविमूढ़ की स्थिति आ जाती है और जो भी हमारे बाकी के का अबे साले प्रभावित होने लगते हैं पर विजय पाने के लिए यह जानना जरूरी है कि तनाव का प्रमुख कारण क्या है तनाव का कारण परिवार भी हो सकता है कार्यक्षेत्र भी हो सकता है या कोई अनचाही इच्छा हो सकती है जिसे आप कभी करना चाहते रहे हो या फिर ना कर पाए हो या कोई भी आपके जीवन में प्रिय जन जो रहे हो वह आपसे दूर हो गए हो या नाराज हो गए हो यह सारी चीजें हैं तो यह सारी चीज है व्यक्ति के मन की अवस्था है तनाव पूर्ण रूप से मन पर हावी होने की प्रक्रिया जब कोई अंजाना सा डर या कोई ऐसी अनजाने चीज जो कि हमारे मन को बांध करके रख देती है वही तनाव कल आता है वही तनाव का कारण बनती है और हम उससे ऊपर जब मैं कल नहीं सोच सकते तो इतना उसे निकलने के लिए आपको स्वयं के अंदर आत्म केंद्रित हो करके अपने अंदर झांकने का प्रयास करना होगा क्योंकि आपने इसमें लिखा नहीं है कित चुनाव का अब के कारण क्या है पता भी नहीं चलता है कि तनाव का कारण क्या है एक छोटी सी कहानी है कि यदि हम किसी पर विजय प्राप्त करना चाहते हैं या फिर यदि हम बुराई छोड़ना चाहते हैं या अगर पश्चिम छोड़ना चाहते हैं तो हम उसकी तरफ बार-बार ध्यान लगाएंगे तो वह में बार-बार अपने अंदर हो जाए रखेगा पूरब की ओर चलना शुरू कर दी आपके जीवन में तनाव का कारण है उसके अलावा अन्य चीजों में अपना ध्यान लगाइए कुछ रचनात्मक कार्य करिए जिससे कि आपको याद ही ना रहे और याद ही नहीं रहेगा तो अपने आप तनाव से धीरे-धीरे मुक्ति मिल जाएगी आपने देखा होगा कि कई बार जो अगर किसी को चोट लग जाती है किसी भी खिलाड़ी को तो उसको नमक का घोल दिया जाता है या फिर उसके शरीर के किसी अन्य पर थोड़ी थोड़ी हल्की हल्की चोट पर हल्का-हल्का टोका जाता है उसे क्या होता है कि मस्तिष्क का ध्यान दूसरी जगह आता है और दूसरी जगह जॉब पीड़ा हो रही है वहां से ध्यान उसका बट जाता है जिससे उसको पीड़ा के कम होने का एहसास होता है पेनकिलर दवाएं भी उस क्षेत्र को सुन्न कर देती हैं दर्द तो होता है लेकिन उस दर्द का अनुभव समाप्त हो जाता है और व्यक्ति तनाव से उस पीड़ा से मुक्त हो जाता है तो तनाव से भी मुक्त होने का यही कारण है कि तनाव का जो कारण है उसके अलावा अन्य विषयों पर ध्यान दिया जाए धीरे-धीरे वह कारण अपने आप शरण होता हुआ कमजोर पड़ जाएगा और आप तनाव मुक्त जीवन जीने लगेंगे धन्यवाद

hamare jeevan me teen cheezen hain ek man hai ek buddhi hai aur ek chitra hai jab man me kisi cheez ke prati ek shanka utpann hoti hai tatha vaah shanka yadi buddhi me pohch jaati hai toh buddhi us par tark athva kutark karti hai aur yah jab usse bhi upar uthakar ke jab chitra me chala jata toh chitra mohan car ka karan banta hai jo mansik roop me jo bhi tanaav vyakti ko mil raha hai yah isi avastha se utpann hota hai jab man jo hamari chetna ko jo hamari ashanka hai ya man hai vaah puri tarike se vyapt kar deta hai tab mansik roop se hamare jeevan me tanaav aata hai hamein koi bhi jeevan me hal nahi sujata tatha lagta hai ki ab hum lakshya heen ho gaye hain kinkartavyavimudh ki sthiti aa jaati hai aur jo bhi hamare baki ke ka abe saale prabhavit hone lagte hain par vijay paane ke liye yah janana zaroori hai ki tanaav ka pramukh karan kya hai tanaav ka karan parivar bhi ho sakta hai karyakshetra bhi ho sakta hai ya koi anachahi iccha ho sakti hai jise aap kabhi karna chahte rahe ho ya phir na kar paye ho ya koi bhi aapke jeevan me priya jan jo rahe ho vaah aapse dur ho gaye ho ya naaraj ho gaye ho yah saari cheezen hain toh yah saari cheez hai vyakti ke man ki avastha hai tanaav purn roop se man par haavi hone ki prakriya jab koi anjaana sa dar ya koi aisi anjaane cheez jo ki hamare man ko bandh karke rakh deti hai wahi tanaav kal aata hai wahi tanaav ka karan banti hai aur hum usse upar jab main kal nahi soch sakte toh itna use nikalne ke liye aapko swayam ke andar aatm kendrit ho karke apne andar jhankane ka prayas karna hoga kyonki aapne isme likha nahi hai kit chunav ka ab ke karan kya hai pata bhi nahi chalta hai ki tanaav ka karan kya hai ek choti si kahani hai ki yadi hum kisi par vijay prapt karna chahte hain ya phir yadi hum burayi chhodna chahte hain ya agar paschim chhodna chahte hain toh hum uski taraf baar baar dhyan lagayenge toh vaah me baar baar apne andar ho jaaye rakhega purab ki aur chalna shuru kar di aapke jeevan me tanaav ka karan hai uske alava anya chijon me apna dhyan lagaaiye kuch rachnatmak karya kariye jisse ki aapko yaad hi na rahe aur yaad hi nahi rahega toh apne aap tanaav se dhire dhire mukti mil jayegi aapne dekha hoga ki kai baar jo agar kisi ko chot lag jaati hai kisi bhi khiladi ko toh usko namak ka ghol diya jata hai ya phir uske sharir ke kisi anya par thodi thodi halki halki chot par halka halka toka jata hai use kya hota hai ki mastishk ka dhyan dusri jagah aata hai aur dusri jagah job peeda ho rahi hai wahan se dhyan uska but jata hai jisse usko peeda ke kam hone ka ehsaas hota hai painkiller davayain bhi us kshetra ko sunna kar deti hain dard toh hota hai lekin us dard ka anubhav samapt ho jata hai aur vyakti tanaav se us peeda se mukt ho jata hai toh tanaav se bhi mukt hone ka yahi karan hai ki tanaav ka jo karan hai uske alava anya vishyon par dhyan diya jaaye dhire dhire vaah karan apne aap sharan hota hua kamjor pad jaega aur aap tanaav mukt jeevan jeene lagenge dhanyavad

हमारे जीवन में तीन चीजें हैं एक मन है एक बुद्धि है और एक चित्र है जब मन में किसी चीज के प्

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user

Dr. Swatantra Jain

Psychotherapist, Family & Career Counsellor and Parenting & Life Coach

3:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि आप मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती है मेरा और आपका कुछ भी काम करने का मन नहीं करता क्या करें तनाव में रहती हो अच्छी बात नहीं है लेकिन क्यों रहते हो यह तो बताया नहीं आपने कभी नहीं बताएंगे हम आपकी पूरी मदद नहीं कर पाएंगे तो जनरल कुछ बातें बता देते अब देखो तनाव में रहते हो तो फिर खुद से हमें तो नहीं बताया आपने खुद से सोचे आप तनाव के कारण क्या उसको लिख डाली है नंबर वन टू थ्री फोर फाइव सिक्स करके और 11 कारण को फिर गहराई से सोचा कि वह तनाव जो है पहला कारण किसकी वजह से उसमें आप क्या कर सकती है उसकी गलती है या अपनी गलती है उसमें आप कुछ बदल सकती हो या नहीं बदल सकते आप खुद को बदलने से तनाव कम होगा या दूसरे दूसरे से संबंधित है कोई उसका बदलना चाहिए तो फिर आपको फर्स्ट टाइम मिलेगी इसी तरह पढ़ाई की वजह से तनाव है तो बोली थी कि पढ़ाई की वजह से क्यों है कोई सब्जेक्ट मुश्किल लगता है या याद नहीं होता या समझ नहीं आता तो उसके क्या कारण है क्योंकि कुछ भी कारण हो सकता कितना बढ़ सकता है जब आपको कोई मुश्किल आ रही है पढ़ाई में तो उससे तनाव में रहने के बदले आप कुछ को हल करने की कोशिश करें अगर वह समझ नहीं आ रहा है तो किसी से प्रयास करें कोई तो होगा आपके इस पहेली को हो सकती है प्लीज इसको ज्यादा समझ लो ठीक है से समझ सकते हैं अपने घर में कोई हो तो उसे समझ सकते हैं यह पढ़ाई के बारे में बात होगी अब आपके सहित हो सकती है कि सेहत खराब है आप जितना पढ़ना चाहते हो काम करना चाहते हो उतना नहीं हो पाता तो आपका नाम है तो फिर से इलाज करें अगर आपको कोई संबंधों के कारण तनाव में है मात पिता रे भाई बहन से पति से किसी से अगर संबंधों में तनाव है तो वह देखे उसमें आप कहां क्या बदल सकते हैं क्या कर सकता मैं इसलिए कह रही हूं कि आप क्या कर सकते हैं क्योंकि हम दूसरे को नहीं बदल सकते हम खुद को बदल सकते हैं हम खुद के नजरिए को बदल सकते हैं खुद के विकृति को बदल सकते हैं गुस्से में बार बार गुस्से से बोलते हैं अगर आप एक्सेप्ट कर लो तो आदत नाम निकल जाएगा तो आप अपनी एडजस्टमेंट बदलो आप अपनी सोच बदलो उसकी सोच नहीं बदल सकता है तो यह कुछ उपाय करोगी तो आपका तनाव कम हो जाएगा

aapka prashna hai ki aap mansik roop se bahut tanaav me rehti hai mera aur aapka kuch bhi kaam karne ka man nahi karta kya kare tanaav me rehti ho achi baat nahi hai lekin kyon rehte ho yah toh bataya nahi aapne kabhi nahi batayenge hum aapki puri madad nahi kar payenge toh general kuch batein bata dete ab dekho tanaav me rehte ho toh phir khud se hamein toh nahi bataya aapne khud se soche aap tanaav ke karan kya usko likh dali hai number van to three four five six karke aur 11 karan ko phir gehrai se socha ki vaah tanaav jo hai pehla karan kiski wajah se usme aap kya kar sakti hai uski galti hai ya apni galti hai usme aap kuch badal sakti ho ya nahi badal sakte aap khud ko badalne se tanaav kam hoga ya dusre dusre se sambandhit hai koi uska badalna chahiye toh phir aapko first time milegi isi tarah padhai ki wajah se tanaav hai toh boli thi ki padhai ki wajah se kyon hai koi subject mushkil lagta hai ya yaad nahi hota ya samajh nahi aata toh uske kya karan hai kyonki kuch bhi karan ho sakta kitna badh sakta hai jab aapko koi mushkil aa rahi hai padhai me toh usse tanaav me rehne ke badle aap kuch ko hal karne ki koshish kare agar vaah samajh nahi aa raha hai toh kisi se prayas kare koi toh hoga aapke is paheli ko ho sakti hai please isko zyada samajh lo theek hai se samajh sakte hain apne ghar me koi ho toh use samajh sakte hain yah padhai ke bare me baat hogi ab aapke sahit ho sakti hai ki sehat kharab hai aap jitna padhna chahte ho kaam karna chahte ho utana nahi ho pata toh aapka naam hai toh phir se ilaj kare agar aapko koi sambandhon ke karan tanaav me hai maat pita ray bhai behen se pati se kisi se agar sambandhon me tanaav hai toh vaah dekhe usme aap kaha kya badal sakte hain kya kar sakta main isliye keh rahi hoon ki aap kya kar sakte hain kyonki hum dusre ko nahi badal sakte hum khud ko badal sakte hain hum khud ke nazariye ko badal sakte hain khud ke vikriti ko badal sakte hain gusse me baar baar gusse se bolte hain agar aap except kar lo toh aadat naam nikal jaega toh aap apni adjustment badlo aap apni soch badlo uski soch nahi badal sakta hai toh yah kuch upay karogi toh aapka tanaav kam ho jaega

आपका प्रश्न है कि आप मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती है मेरा और आपका कुछ भी काम करने का म

Romanized Version
Likes  398  Dislikes    views  3920
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुड मॉर्निंग फ्रेंड कैसे हो आप आपका प्रश्न है कि मैं मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूं मेरा कुछ भी काम करने को मन नहीं करता क्या करूं लिख दिया तो आपकी मानसिक रूप से बना तनाव में रहने का कोई ना कोई रीजन है तो जो भी रीजन है एक्स वाई जेड आप धीरे-धीरे उससे निकलने की कोशिश कीजिए जब भी वह मानसिक तनाव आप हो गिरता है आप उससे दूर हट जाइए किसी और दूसरी जगह चले जाइए दूसरे लोगों के पास जाकर बैठ जाइए आपका मन बदलेगा और सबसे अच्छी जब भी आपको मानसिक तनाव खेलता है मानसिक तनाव वाली कोई ना कोई तो बात होगी जो आपको तनाव प्रदान करके तो आप जब भी आपको मानसिक तनाव आई जो भी आप की मुख्य समस्या है परेशानी है जिसने आपको परेशान करके रखा हुआ है और कुछ भी काम करने नहीं देते हैं तो उस समस्या को एक कागज पर लिख कर के डस्टबिन में फेंक दी आपको समस्या मानसिक तनाव को उस प्रॉब्लम को एक कागज पर लिख दीजिए 3 दिन करने से आपका मानसिक तनाव दूर होगा और आप पहले जैसे ही प्रसन्न हो जाएंगे ठीक है और अपने आपको बिजी रखिए चाहे कैसा भी उल्टा सीधा काम कीजिए अपने आपको बिजी रखिए उस चीज में अपने आपको मत लाइए मुझे फिर आपको परेशान करती है ठीक है और आपका मन धीरे धीरे धीरे बदल जाएगा पहले जैसा था वैसा ही हो जाएगा ठीक है

good morning friend kaise ho aap aapka prashna hai ki main mansik roop se bahut tanaav me rehti hoon mera kuch bhi kaam karne ko man nahi karta kya karu likh diya toh aapki mansik roop se bana tanaav me rehne ka koi na koi reason hai toh jo bhi reason hai x why z aap dhire dhire usse nikalne ki koshish kijiye jab bhi vaah mansik tanaav aap ho girta hai aap usse dur hut jaiye kisi aur dusri jagah chale jaiye dusre logo ke paas jaakar baith jaiye aapka man badlega aur sabse achi jab bhi aapko mansik tanaav khelta hai mansik tanaav wali koi na koi toh baat hogi jo aapko tanaav pradan karke toh aap jab bhi aapko mansik tanaav I jo bhi aap ki mukhya samasya hai pareshani hai jisne aapko pareshan karke rakha hua hai aur kuch bhi kaam karne nahi dete hain toh us samasya ko ek kagaz par likh kar ke dustbin me fenk di aapko samasya mansik tanaav ko us problem ko ek kagaz par likh dijiye 3 din karne se aapka mansik tanaav dur hoga aur aap pehle jaise hi prasann ho jaenge theek hai aur apne aapko busy rakhiye chahen kaisa bhi ulta seedha kaam kijiye apne aapko busy rakhiye us cheez me apne aapko mat laiye mujhe phir aapko pareshan karti hai theek hai aur aapka man dhire dhire dhire badal jaega pehle jaisa tha waisa hi ho jaega theek hai

गुड मॉर्निंग फ्रेंड कैसे हो आप आपका प्रश्न है कि मैं मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूं

Romanized Version
Likes  117  Dislikes    views  1040
WhatsApp_icon
user
0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप भगवान में आस्था रखते हैं तो सुबह और शाम महामृत्युंजय मंत्र का जाप कीजिए यकीनन इससे आपकी ऊर्जा में बढ़ोतरी होगी

agar aap bhagwan me astha rakhte hain toh subah aur shaam mahamrityunjay mantra ka jaap kijiye yakinan isse aapki urja me badhotari hogi

अगर आप भगवान में आस्था रखते हैं तो सुबह और शाम महामृत्युंजय मंत्र का जाप कीजिए यकीनन इससे

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  85
WhatsApp_icon
user

Sonali Mangal

Counseling Psychologist

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब तक आपका मानसिक तनाव का कारण क्या है यह आप नहीं समझेंगे और उस पर काम नहीं करेंगे तब तक वह तनाव कैसे खत्म होगा लेकिन अगर आपको ऐसे ही छुट्टी बातों से दिन की दिन भर की 1 रूटिंग से अगर तनाव होता है तो उसके लिए ट्राई कर सकती हैं जैसे कि आप सुबह उठकर एक्साइज शुरू करें अपने मनपसंद जो भी हॉबी है आपकी उम्र में अपने आप को थोड़ा समय व्यस्त रखें कुछ वजह से आपको पेंटिंग करने का शौक है पुत्री लिखने का शौक है गार्डनिंग का शौक है एंब्रॉयडरी का शौक और आप पैसे अपने आप को मुक्त रखने के लिए अपने तनाव से मुक्त रखने के लिए आप अपने किसी बेस्ट फ्रेंड से बात कर सकते हैं दिन में या किसी भी आदमी में जो आपको सबसे अच्छा विश्व उसके साथ बात कर सकते हैं और हम टीवी देख सकते हैं गाने सुन सकते हैं आम का कोई अहम कारण है तो उस कारण को जानना और उसको सुधारना बहुत जरूरी है जब तक वह नहीं सोचेगा तो तनाव कैसे जाएगा

jab tak aapka mansik tanaav ka karan kya hai yah aap nahi samjhenge aur us par kaam nahi karenge tab tak vaah tanaav kaise khatam hoga lekin agar aapko aise hi chhutti baaton se din ki din bhar ki 1 routing se agar tanaav hota hai toh uske liye try kar sakti hain jaise ki aap subah uthakar excise shuru kare apne manpasand jo bhi hobby hai aapki umar me apne aap ko thoda samay vyast rakhen kuch wajah se aapko painting karne ka shauk hai putri likhne ka shauk hai gardening ka shauk hai embroidery ka shauk aur aap paise apne aap ko mukt rakhne ke liye apne tanaav se mukt rakhne ke liye aap apne kisi best friend se baat kar sakte hain din me ya kisi bhi aadmi me jo aapko sabse accha vishwa uske saath baat kar sakte hain aur hum TV dekh sakte hain gaane sun sakte hain aam ka koi aham karan hai toh us karan ko janana aur usko sudharna bahut zaroori hai jab tak vaah nahi sochega toh tanaav kaise jaega

जब तक आपका मानसिक तनाव का कारण क्या है यह आप नहीं समझेंगे और उस पर काम नहीं करेंगे तब तक व

Romanized Version
Likes  86  Dislikes    views  625
WhatsApp_icon
user

Asha Kundu

Clinical Psychologist

1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देसी मसाला सत्य उनके आप व्हाट्सएप व्हाट्सएप ओपन में रहते हैं और इसी वजह से आपको कोई भी काम करने का मन नहीं करता है पहले बात नहीं करोगे तब तक उस चीज का हल नहीं हो सकता तो आ सकते हैं बात कर सकते हैं उसके बाद आपको कुछ हो सकता है

desi masala satya unke aap whatsapp whatsapp open me rehte hain aur isi wajah se aapko koi bhi kaam karne ka man nahi karta hai pehle baat nahi karoge tab tak us cheez ka hal nahi ho sakta toh aa sakte hain baat kar sakte hain uske baad aapko kuch ho sakta hai

देसी मसाला सत्य उनके आप व्हाट्सएप व्हाट्सएप ओपन में रहते हैं और इसी वजह से आपको कोई भी काम

Romanized Version
Likes  170  Dislikes    views  4557
WhatsApp_icon
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां तनाव है क्या तनाव एक्सप्रेस मेंटल स्ट्रेस अभी क्यों होता है क्योंकि आप किसी चीज को लेकर बहुत चिंता करने लगते हैं चिंतित होते हैं तो सबसे पहले आपको यह कहना है कि आपको आईडेंटिफाई करने आपको पता लगाना है कि वह रीजन क्या है और बहुत सारे गेम आपको पता ही होगा कि कारण क्या है जिस कारण से आप अपने आपको स्ट्रेस में डाल रहे हैं और आप कंटिन्यूज की लगातार उस चीज के बारे में सोचते रहते हैं तो मेरे हिसाब से सबसे पहले तो सोचना बंद कीजिए आप यह देखिए कि वह स्थिति में या उस परिस्थिति में जहां पर आप हैं और उस वजह को लेकर क्या आप कुछ कर सकते हैं उसका समाधान ढूंढ सकते हैं अगर ढूंढ सकते हैं कुछ कर सकते हैं तो खींचे और अगर नहीं कर सकते तो कम से कम कीजिए कि उसके बारे में चिंता करना छोड़ दीजिए कि आप कुछ कर ही नहीं सकते तो व्यस्त में चिंता क्या करने की जरूरत है ना अब ऐसे बोलने से मैं चिंता तो खत्म नहीं होगी उसके लिए आपको क्या करना पड़ेगा आपको अपने उसी दिमाग को कहीं क्या लगाना पड़ेगा आपको अपनी एनर्जिस कहीं और चैनेलाइज करनी पड़ेगी ताकि क्या होगा आपका दिल और दिमाग कहीं और लगा रहेगा तो उसे वह ख्याल ना आएंगे जिसके कारण आपको चिंता होती हैं और आपको अपने आपको एंगेज करना पड़ेगा कहीं और जब आप इंगेज करेंगे कहीं और तभी आप अपने आप को डिसएंगेज करेंगे इस परेशानी परेशानी से यह सब वजह से तब आपको थोड़ा काम पर टेबल महसूस होने लगेगा और जब आप ऐसा लगातार करते रहेंगे और कॉन्शियसली सोच विचार कर और आईटी धीरे धीरे धीरे धीरे उस स्टेज में पहुंच जाएगा जहां पर आप को उसका बहुत काम किया जाएगा जिस ख्यालिया वजह से आपको चिंता होती है तो आप सबसे पहले अपने आप को आप की पढ़ाई कीजिए किसी और चीज में जहां पर आप का मन लगा रहे हैं ताकि इसी से मुक्ति मिले अगर इस चीज के लिए कुछ कर सकती हैं तो सबसे पहले वह कीजिए चिंता मत कीजिए

ji haan tanaav hai kya tanaav express mental stress abhi kyon hota hai kyonki aap kisi cheez ko lekar bahut chinta karne lagte hain chintit hote hain toh sabse pehle aapko yah kehna hai ki aapko aidentifai karne aapko pata lagana hai ki vaah reason kya hai aur bahut saare game aapko pata hi hoga ki karan kya hai jis karan se aap apne aapko stress mein daal rahe hain aur aap continues ki lagatar us cheez ke bare mein sochte rehte hain toh mere hisab se sabse pehle toh sochna band kijiye aap yah dekhiye ki vaah sthiti mein ya us paristithi mein jaha par aap hain aur us wajah ko lekar kya aap kuch kar sakte hain uska samadhan dhundh sakte hain agar dhundh sakte hain kuch kar sakte hain toh khinche aur agar nahi kar sakte toh kam se kam kijiye ki uske bare mein chinta karna chod dijiye ki aap kuch kar hi nahi sakte toh vyast mein chinta kya karne ki zarurat hai na ab aise bolne se main chinta toh khatam nahi hogi uske liye aapko kya karna padega aapko apne usi dimag ko kahin kya lagana padega aapko apni enarjis kahin aur chainelaij karni padegi taki kya hoga aapka dil aur dimag kahin aur laga rahega toh use vaah khayal na aayenge jiske karan aapko chinta hoti hain aur aapko apne aapko engage karna padega kahin aur jab aap engage karenge kahin aur tabhi aap apne aap ko disaengej karenge is pareshani pareshani se yah sab wajah se tab aapko thoda kaam par table mehsus hone lagega aur jab aap aisa lagatar karte rahenge aur kanshiyasali soch vichar kar aur it dhire dhire dhire dhire us stage mein pohch jaega jaha par aap ko uska bahut kaam kiya jaega jis khyaliya wajah se aapko chinta hoti hai toh aap sabse pehle apne aap ko aap ki padhai kijiye kisi aur cheez mein jaha par aap ka man laga rahe hain taki isi se mukti mile agar is cheez ke liye kuch kar sakti hain toh sabse pehle vaah kijiye chinta mat kijiye

जी हां तनाव है क्या तनाव एक्सप्रेस मेंटल स्ट्रेस अभी क्यों होता है क्योंकि आप किसी चीज को

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  352
WhatsApp_icon
user

Dr. Preeti Bhatt Tiwari

Life Coach and Psychologist

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब मानसिक तनाव है तो तनाव को दूर करने के लिए सबसे पहले तो हमको भी 3 दिन के साथ मेडिटेशन करना चाहिए दूसरी बात कि सबसे पहले जिस बात को लेकर हमें तनाव हो रहा है उस बात को आईडेंटिफाई करना चाहिए कि इस बात के कारण मुझे तनाव होता है और यह तनाव नंबर नहीं चलना चाहिए आप किसी के साथ शेयर दिखाइए जो आपके बहुत नजदीक है जिसके आपके साथ आप विश्वास के साथ बात कर सकती हैं उसके साथ आप शेयर करें कि यह चीज को रही और इसके कारण मेरा तनाव बढ़ रहा है क्योंकि तनाव बढ़ेगा तो आपके काम के ऊपर प्रभाव पड़ेगा काम करने का जो आपका रिजल्ट आना चाहिए वह रिजल्ट उतना अच्छा नहीं आएगा तनाव के कारण कंसंट्रेशन कम हो जाएगा कॉन्फिडेंस कम होगा क्योंकि हम काम अच्छे से नहीं कर पाएंगे तनाव को दूर करने के लिए आप मेडिटेशन करिए तीसरी बात क्यों नहीं आएगी कि जो आपको एक्टिविटी अच्छी लगती है आपको एक्टिविटी करिए और आप अपने गोल्ड चिप्स करिए कि मुझे यहां पहुंचना है और अपनी फैमिली को साथ में लेकर उनके साथ शेयर करिए उनके साथ बातचीत करी तो उससे क्या कई सलूशन आते हैं और हम उससे काम कर सकते हैं धन्यवाद

jab mansik tanaav hai toh tanaav ko dur karne ke liye sabse pehle toh hamko bhi 3 din ke saath meditation karna chahiye dusri baat ki sabse pehle jis baat ko lekar hamein tanaav ho raha hai us baat ko aidentifai karna chahiye ki is baat ke karan mujhe tanaav hota hai aur yah tanaav number nahi chalna chahiye aap kisi ke saath share dikhaaiye jo aapke bahut nazdeek hai jiske aapke saath aap vishwas ke saath baat kar sakti hain uske saath aap share kare ki yah cheez ko rahi aur iske karan mera tanaav badh raha hai kyonki tanaav badhega toh aapke kaam ke upar prabhav padega kaam karne ka jo aapka result aana chahiye vaah result utana accha nahi aayega tanaav ke karan kansantreshan kam ho jaega confidence kam hoga kyonki hum kaam acche se nahi kar payenge tanaav ko dur karne ke liye aap meditation kariye teesri baat kyon nahi aayegi ki jo aapko activity achi lagti hai aapko activity kariye aur aap apne gold chips kariye ki mujhe yahan pahunchana hai aur apni family ko saath mein lekar unke saath share kariye unke saath batchit kari toh usse kya kai salution aate hain aur hum usse kaam kar sakte hain dhanyavad

जब मानसिक तनाव है तो तनाव को दूर करने के लिए सबसे पहले तो हमको भी 3 दिन के साथ मेडिटेशन कर

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  1813
WhatsApp_icon
play
user

Dr. Asif Khan

Child Psychologist

1:53

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी चाहो तो क्या होता बीपी हाई हो रहा है उसको मारना तक पाई जाती है उसे नहीं मिलता है अभी जो है दोस्तों से बातें करो अगर आप अपना तो मोटिवेट नहीं करेंगे तो मेरा कोई नहीं है ना कि तुम अब आपको बता नहीं सकता कि किसी चीजें होती है लाइफ में बहुत सारी चीजें प्रॉब्लम तुम्हारी जिंदगी खत्म होगी जिंदगी में सितारों की

abhi chaho toh kya hota BP high ho raha hai usko marna tak payi jaati hai use nahi milta hai abhi jo hai doston se batein karo agar aap apna toh motivate nahi karenge toh mera koi nahi hai na ki tum ab aapko bata nahi sakta ki kisi cheezen hoti hai life mein bahut saree cheezen problem tumhari zindagi khatam hogi zindagi mein sitaron ki

अभी चाहो तो क्या होता बीपी हाई हो रहा है उसको मारना तक पाई जाती है उसे नहीं मिलता है अभी ज

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  726
WhatsApp_icon
user

Sunita Athwani

Life Coach

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहले तो अपने आप को आप अपने पति से जो भी जोनल बनाना सी किताब जाए फिर उसके बाद क्या तुझे शांति और किसी म्यूजिक चलाने का मन जरूर बदलेगा और आप जरूर अच्छा महसूस करेंगे कि घर आकर संडे मंडे शांति घरवालों से जो आपने किसी करीबी मित्र जी आप बहुत बड़ी हो

pehle toh apne aap ko aap apne pati se jo bhi jonal banana si kitab jaaye phir uske baad kya tujhe shanti aur kisi music chalane ka man zaroor badlega aur aap zaroor accha mehsus karenge ki ghar aakar sunday monday shanti gharwaalon se jo aapne kisi karibi mitra ji aap bahut baadi ho

पहले तो अपने आप को आप अपने पति से जो भी जोनल बनाना सी किताब जाए फिर उसके बाद क्या तुझे शां

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  119
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह स्थिति मानसिक रूप से तनाव में रहने की स्थिति आजकल बहुत सारे लोगों को होती है आपको एक सुझाव लूंगी की सबसे पहले तो आप एक डायरी लीजिए और उसमें पॉइंट वाइज आप नोट करते जाइए की किस किस वजह से आपको तनाव होता है किसी ने आप से जोर से बोल दिया इसलिए आपके हाथ से कोई नुकसान हो गया है इसलिए आप काम ठीक से नहीं कर पाई थी आप समय पर नहीं कर पाई इसलिए आपको कहीं बाहर जाना है इसलिए आपको कोई अपने ब्लॉग पर अपने बालों पर अपनी ड्रेस के लिए कोई शक है मन में इसलिए किस वजह से आपको तनाव हो रहा है तो वह तनाव के सारे पॉइंट आप जो जो आपको जब जब याद होते जाए उसको लिख लीजिए और उसको लिखने के बाद आप उनको पढ़िए आपको खुद महसूस होगा कि मैं से आधे से ज्यादा कारण तो अनावश्यक है आपको सिर्फ बहुत ज्यादा सोचने की आदत है आप बहुत ज्यादा कॉन्शियस अपने आप के प्रति दूसरों के प्रति अब बहुत ज्यादा सेंसिटिव है कि आप किसी चीज के बारे में बहुत ज्यादा सोचती हैं और यही आपके तनाव का कारण है पर फिर भी आप की प्रेक्टिस जरूर कीजिए आप उसे लिखिए क्योंकि लिखकर आप जो खुद पता करेंगे वह ज्यादा बेहतर होगा उसके बाद आप अपना लक्ष्य निर्धारित कीजिए कि उनमें से कौन-कौन सी चीजें जो आपको लगता है कि अनावश्यक हैं और जिनके कारण आप मानसिक तनाव झेल रहे हैं उनके लिए आप अपने आप को तनावग्रस्त नहीं करेंगे हर हफ्ते में तीन तीन कारण सेट कीजिए और उन कारणों पर तनावग्रस्त ना होने के लिए प्रैक्टिस कीजिए धीरे-धीरे आप देखेंगे कि आप के कारण दूर होते जाएंगे और आप उनकी वजह से कम से कम तनाव व्यक्त नहीं होंगी इसके साथ ही दूसरी चीजें करिए खुद को व्यस्त रखें अच्छा म्यूजिक सुनिए किता अबे पढ़िए लोगों के साथ रहिए हंसी है बोलिए शाम के समय घर से बाहर जाने के लिए कहीं बाहर न जा पाएं तो कम से कम घर की छत पर आसमान में उड़ते हुए पंछियों को नहीं हारी है पेड़ों की हरियाली को देखिए अगर गमलों में पौधे लगे हैं तो उसमें एक एकदम कि नहीं आई पत्तियों को देखिए उनसे बात यह छोटी सी चीज है जो हमने अपने आप को प्रकृति से दूर कर लिया है यह भी एक कारण है कि इंसान ज्यादा तनाव में रहता है हम हर वक्त आर्टिफिशियल चीजों के सामानों से गिरे हुए रहते हैं यह भी एक कारण होता है तो अपने आप को बदल ही थोड़ा सा तनाव का बहुत बड़ा कोई कारण आपके जीवन में आपको खुद लगेगा कि नहीं है और अगर ऐसी कोई कारण है तूने दूर करने के लिए काम कीजिए उसके को लेकर लगातार सोचते रहने से कोई हल नहीं निकलेगा उस पर आपको काम करना पड़ेगा उन चीजों से अपने को दूर कर पड़ेगा यह वह कारण जो भी लोग पैदा कर रहे हैं उनसे बातचीत करनी पड़ेगी उनको बताना पड़ेगा कि वह इन कारणों से मुझे अनावश्यक तनाव होता है तो ऐसा ना करें आपकी जिंदगी आपको जीना है खुशी से जीना आपका हक है तो अपने आप को दर्द करे जब दृढ़ होकर और अच्छी तरह से आप सामने वाले से बात करेंगे वह भी समझेगा और आपके यह अनावश्यक तनाव धीरे-धीरे दूर होते जाएंगे शुभकामनाएं

yah sthiti mansik roop se tanaav mein rehne ki sthiti aajkal bahut saare logo ko hoti hai aapko ek sujhaav lungi ki sabse pehle toh aap ek diary lijiye aur usme point wise aap note karte jaiye ki kis kis wajah se aapko tanaav hota hai kisi ne aap se jor se bol diya isliye aapke hath se koi nuksan ho gaya hai isliye aap kaam theek se nahi kar payi thi aap samay par nahi kar payi isliye aapko kahin bahar jana hai isliye aapko koi apne blog par apne balon par apni dress ke liye koi shak hai man mein isliye kis wajah se aapko tanaav ho raha hai toh vaah tanaav ke saare point aap jo jo aapko jab jab yaad hote jaaye usko likh lijiye aur usko likhne ke baad aap unko padhiye aapko khud mehsus hoga ki main se aadhe se zyada karan toh anavashyak hai aapko sirf bahut zyada sochne ki aadat hai aap bahut zyada kanshiyas apne aap ke prati dusro ke prati ab bahut zyada sensitive hai ki aap kisi cheez ke bare mein bahut zyada sochti hain aur yahi aapke tanaav ka karan hai par phir bhi aap ki practice zaroor kijiye aap use likhiye kyonki likhkar aap jo khud pata karenge vaah zyada behtar hoga uske baad aap apna lakshya nirdharit kijiye ki unmen se kaun kaun si cheezen jo aapko lagta hai ki anavashyak hain aur jinke karan aap mansik tanaav jhel rahe hain unke liye aap apne aap ko tanaavgrast nahi karenge har hafte mein teen teen karan set kijiye aur un karanon par tanaavgrast na hone ke liye practice kijiye dhire dhire aap dekhenge ki aap ke karan dur hote jaenge aur aap unki wajah se kam se kam tanaav vyakt nahi hongi iske saath hi dusri cheezen kariye khud ko vyast rakhen accha music suniye kitna abe padhiye logo ke saath rahiye hansi hai bolie shaam ke samay ghar se bahar jaane ke liye kahin bahar na ja paen toh kam se kam ghar ki chhat par aasman mein udte hue panchiyon ko nahi haari hai pedon ki hariyali ko dekhiye agar gamlon mein paudhe lage hain toh usme ek ekdam ki nahi I pattiyo ko dekhiye unse baat yah choti si cheez hai jo humne apne aap ko prakriti se dur kar liya hai yah bhi ek karan hai ki insaan zyada tanaav mein rehta hai hum har waqt artificial chijon ke samanon se gire hue rehte hain yah bhi ek karan hota hai toh apne aap ko badal hi thoda sa tanaav ka bahut bada koi karan aapke jeevan mein aapko khud lagega ki nahi hai aur agar aisi koi karan hai tune dur karne ke liye kaam kijiye uske ko lekar lagatar sochte rehne se koi hal nahi niklega us par aapko kaam karna padega un chijon se apne ko dur kar padega yah vaah karan jo bhi log paida kar rahe hain unse batchit karni padegi unko batana padega ki vaah in karanon se mujhe anavashyak tanaav hota hai toh aisa na kare aapki zindagi aapko jeena hai khushi se jeena aapka haq hai toh apne aap ko dard kare jab dridh hokar aur achi tarah se aap saamne waale se baat karenge vaah bhi samjhega aur aapke yah anavashyak tanaav dhire dhire dur hote jaenge subhkamnaayain

यह स्थिति मानसिक रूप से तनाव में रहने की स्थिति आजकल बहुत सारे लोगों को होती है आपको एक सु

Romanized Version
Likes  45  Dislikes    views  1019
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पूछने में मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूं मेरा कुछ भी काम करने को मन नहीं करता क्या करूं देखिए इस प्रेस के लक्षण है जब मन पर विचारों की उथल-पुथल बहुत अधिक हो जाती है बहुत ज्यादा चिंतित हो जाते हैं हर समय चिंता में संलग्न रहते हैं और नेगेटिव थॉट्स की संख्या ज्यादा हो जाती है तब ऐसी स्थिति आती है इसके लिए आप पोस्टिव रहिए अपने नजरिए को सकारात्मक बनाई है सुबह शाम प्राणायाम और ध्यान करिए इसके साथ-साथ आप जब अपने आप को एकाग्र करेंगे कंसंट्रेट करेंगे तो आप देखेंगे आपके मन की बेचैनी भी कम होगी मन में विचारों की होतल पुथल भी कम होगी और आप धीरे-धीरे शांत हो जाए हरि ओम

aapka poochne mein mansik roop se bahut tanaav mein rehti hoon mera kuch bhi kaam karne ko man nahi karta kya karu dekhiye is press ke lakshan hai jab man par vicharon ki uthal puthal bahut adhik ho jaati hai bahut zyada chintit ho jaate hain har samay chinta mein sanlagn rehte hain aur Negative thoughts ki sankhya zyada ho jaati hai tab aisi sthiti aati hai iske liye aap Positive rahiye apne nazariye ko sakaratmak banai hai subah shaam pranayaam aur dhyan kariye iske saath saath aap jab apne aap ko ekagra karenge concentrate karenge toh aap dekhenge aapke man ki bechaini bhi kam hogi man mein vicharon ki hotal puthal bhi kam hogi aur aap dhire dhire shaant ho jaaye hari om

आपका पूछने में मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूं मेरा कुछ भी काम करने को मन नहीं करता क

Romanized Version
Likes  482  Dislikes    views  3671
WhatsApp_icon
user

Sonika Mishra

Research & Poetry

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूं मेरा कुछ भी काम करने में मन नहीं लगता क्या करूं देखे जब भी आपका गांव में रहती तो इसका मतलब यह है कि बहुत सारे सवाल बहुत सारी चीजें बहुत सारी उल्टी नहीं आपके दिमाग में घर कर गई हैं और वह हमेशा रहे हैं उनके उनको आप एक भी पल अपने दिमाग से नहीं निकाल पा रहे उसी के बारे में सोचते हैं 24 घंटे बिल्कुल उचित को 1 मिनट में तो नहीं होगी लेकिन अब मेडिटेशन मेडिटेशन करो और जिसमें यही कोशिश करो कि कोई भी विचार आपके दिमाग में ना आए जवाब करेंगे तो 1 दिन आपको वह आदत में आ जाएगा और आपको आप अपने माइंड को रिलैक्स कर पाए

main mansik roop se bahut tanaav mein rehti hoon mera kuch bhi kaam karne mein man nahi lagta kya karu dekhe jab bhi aapka gaon mein rehti toh iska matlab yah hai ki bahut saare sawaal bahut saree cheezen bahut saree ulti nahi aapke dimag mein ghar kar gayi hain aur vaah hamesha rahe hain unke unko aap ek bhi pal apne dimag se nahi nikaal paa rahe usi ke bare mein sochte hain 24 ghante bilkul uchit ko 1 minute mein toh nahi hogi lekin ab meditation meditation karo aur jisme yahi koshish karo ki koi bhi vichar aapke dimag mein na aaye jawab karenge toh 1 din aapko vaah aadat mein aa jaega aur aapko aap apne mind ko relax kar paye

मैं मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूं मेरा कुछ भी काम करने में मन नहीं लगता क्या करूं द

Romanized Version
Likes  65  Dislikes    views  1894
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

3:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पेट में मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूं मेरा खुद भी काम करने का मन नहीं करता क्या करूं आपने पास में तनाव का कारण स्पष्ट नहीं किया है इतना प्रकरण व्यवसायिक है तनाव का कारण निरस्त है या तनाव का कारण कोई भविष्य की असुरक्षा की भावना है आपकी नौकरी आपका काम है बेहाल जो भी तनाव का कारण है उतना इसलिए उत्पन्न होता है जब आप किसी भी चीज के बारे में आवश्यकता से अधिक चिंतन या विचार करते हैं और उसके परिणामों का आकलन अनावश्यक रूप से आप कल्पनाओं के आधार पर करते रहते हैं तो हमारे अंदर तनाव पैदा हो जाता है हर व्यक्ति की हर चीज की एक इलास्टिसिटी 19 छुट्टी है जिसे वह बर्दाश्त करता है जैसे लकड़ी की राशि स्थिति अलग है पत्थर की लास्ट डेट अलग है एक निश्चित सीमा के बाद लकड़ी भी ब्रेक हो जाती है पत्थर ब्रेक हो जाता है आपको जो प्लास्टिक है उसकी उसकी इलास्टिसिटी लोग अलग है किसी भी चीज को बर्दाश्त करने के लोड होती लाख की क्षति होती है उसके बाद जब उसे आप फैलाते हैं ज्यादा विचार करते हैं तो तनाव पैदा हो जाता है जैसे कोई बहन को हमले और एक निश्चित सीमा तक उसे फैलाएं तो टूटेगा नहीं और ज्यादा फलाने कोशिश करेंगे तो टूट जाएगा उसी तरह करते हैं जो इस संसार में रुपया पैसा नाम लोगों के प्रभाव को देखते हैं एक निश्चित सीमा के बाद जब उस पर विचार होता है हमारे अंदर तनाव पैदा होता है और तनाव पैदा होने का कारण अपनी स्वयं की शक्तियों को नहीं पहचानते हुए दूसरे के प्रभाव दूसरे का सूत्र दूसरे की उन्नति देखकर हमें और तना होता है वास्तव में अगर हम चिंतन अपने आप में केंद्रित करें अपनी गतिविधियों पर केंद्रित करें कि तनाव को काफी हद तक इलाज किया जा सकता है आप देखिए कि आपके पास क्या नहीं अगर आप देखेंगे कि आपके पास क्या है तो आपके पास अच्छा शरीर अच्छा लुक अच्छा मन अच्छा बहुत अच्छा परिवार अच्छा घर अच्छी चेतना ईश्वर का अंश दो आंख दो कान के सब कुछ आपको बता दो लोग बहुत अमीर है लेकिन किसी के पास नहीं है किसी के पास है आप यह मत देखिए कि आप खाली कहां हैं आप ही देखिए आप अरे कहां हैं वह कौन से क्षेत्र हैं आपका बेटा भरा हुआ आपका पति कितना अच्छा परिवार कितना आप जब अपने अंदर की अच्छाइयों को ऐसा विचार परिवर्तन से बदलने से आपका तनाव निश्चित रूप से मनाया मगर आप तो गए आप करें इस संसार को भूलकर पोजीशन है सुनकर तो आपको निश्चित रूप से तनाव कम करने में मदद मिलेगी

aapka pet mein mansik roop se bahut tanaav mein rehti hoon mera khud bhi kaam karne ka man nahi karta kya karu aapne paas mein tanaav ka karan spasht nahi kiya hai itna prakaran vyavasayik hai tanaav ka karan nirast hai ya tanaav ka karan koi bhavishya ki asuraksha ki bhavna hai aapki naukri aapka kaam hai behal jo bhi tanaav ka karan hai utana isliye utpann hota hai jab aap kisi bhi cheez ke bare mein avashyakta se adhik chintan ya vichar karte hain aur uske parinamon ka aakalan anavashyak roop se aap kalpanaaon ke aadhar par karte rehte hain toh hamare andar tanaav paida ho jata hai har vyakti ki har cheez ki ek elasticity 19 chhutti hai jise vaah bardaasht karta hai jaise lakdi ki rashi sthiti alag hai patthar ki last date alag hai ek nishchit seema ke baad lakdi bhi break ho jaati hai patthar break ho jata hai aapko jo plastic hai uski uski elasticity log alag hai kisi bhi cheez ko bardaasht karne ke load hoti lakh ki kshati hoti hai uske baad jab use aap failate hain zyada vichar karte hain toh tanaav paida ho jata hai jaise koi behen ko hamle aur ek nishchit seema tak use failaen toh tootega nahi aur zyada falane koshish karenge toh toot jaega usi tarah karte hain jo is sansar mein rupya paisa naam logo ke prabhav ko dekhte hain ek nishchit seema ke baad jab us par vichar hota hai hamare andar tanaav paida hota hai aur tanaav paida hone ka karan apni swayam ki shaktiyon ko nahi pehchante hue dusre ke prabhav dusre ka sutra dusre ki unnati dekhkar hamein aur tana hota hai vaastav mein agar hum chintan apne aap mein kendrit kare apni gatividhiyon par kendrit kare ki tanaav ko kaafi had tak ilaj kiya ja sakta hai aap dekhiye ki aapke paas kya nahi agar aap dekhenge ki aapke paas kya hai toh aapke paas accha sharir accha look accha man accha bahut accha parivar accha ghar achi chetna ishwar ka ansh do aankh do kaan ke sab kuch aapko bata do log bahut amir hai lekin kisi ke paas nahi hai kisi ke paas hai aap yah mat dekhiye ki aap khaali kahaan hain aap hi dekhiye aap are kahaan hain vaah kaunsi kshetra hain aapka beta bhara hua aapka pati kitna accha parivar kitna aap jab apne andar ki acchhaiyon ko aisa vichar parivartan se badalne se aapka tanaav nishchit roop se manaya magar aap toh gaye aap kare is sansar ko bhulkar position hai sunkar toh aapko nishchit roop se tanaav kam karne mein madad milegi

आपका पेट में मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूं मेरा खुद भी काम करने का मन नहीं करता क्य

Romanized Version
Likes  203  Dislikes    views  1673
WhatsApp_icon
user

Aditi Garg

Meditation Expert

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न के में मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूं मेरा कुछ भी करने में मन नहीं लगता है तो मैं क्या करूं लेकिन पहली चीज ऐसे कीजिए कि हर रोज सुबह उठकर अखिलेश एक घंटा वॉक पर ले जाइए एक घंटा शहर के लिए जाएंगी तो आप पाएंगे कि बॉडी में पसीना आ रहा है उससे अपना तनाव बहुत कम होगा टेंशन होगी इसके अलावा आप यह कर सकते हैं कि आप योगा ज्वाइन कर लीजिए योगा जाएंगी तो आपको लाइफ में डिफरेंस दिखाई देगा इसके सिवाय आजकल बहुत कॉमन है आर्ट ऑफ लिविंग का प्रोग्राम अटेंड कर सकती है या ब्रह्मकुमारी जा सकती हैं वहां पर जाकर मेडिटेशन कीजिए अगर आप आर्ट आफ लिविंग का प्रोग्राम करेंगे तो आप काफी स्प्रिंगफील होगी माइंड में जो टेंशन है वह कम होगी इसके अलावा अब थोड़ा अपना टाइम जो है फ्रेंड के साथ स्पेंड करने की कोशिश कीजिए उन दोस्तों के साथ टाइम स्पेंड के साथ टाइम स्पेंड करना अच्छा लगता है अगर आप लाइफ में सच में रहती है कि यार मेरी जिंदगी में बस मैं बहुत थक चुके हो और कुछ भी करने के लिए तैयार हूं तो आप मेडिटेशन अगर आप लाइफ में सच में बहुत ज्यादा डिफरेंट चाहती हैं तो और आपका थे क्या पूरा तनाव से पीछा छूट जाए संसार ग्रुप में ग्रुप में एक डेढ़ घंटा या 2 घंटे में डिटेल्स कि आपकी लाइफ में टेंशन वेतन आप जो है बहुत कम होता जाएगा और लाइफ में बहुत पॉजिटिव चेंज करने लगेंगे तो मेरी सलाह मेडिटेशन ज्वाइन कीजिए थैंक यू

aapka prashna ke mein mansik roop se bahut tanaav mein rehti hoon mera kuch bhi karne mein man nahi lagta hai toh main kya karu lekin pehli cheez aise kijiye ki har roj subah uthakar akhilesh ek ghanta walk par le jaiye ek ghanta shehar ke liye jayegi toh aap payenge ki body mein paseena aa raha hai usse apna tanaav bahut kam hoga tension hogi iske alava aap yah kar sakte hain ki aap yoga join kar lijiye yoga jayegi toh aapko life mein difference dikhai dega iske shivaay aajkal bahut common hai art of living ka program attend kar sakti hai ya brahmakumari ja sakti hain wahan par jaakar meditation kijiye agar aap art of living ka program karenge toh aap kaafi springafil hogi mind mein jo tension hai vaah kam hogi iske alava ab thoda apna time jo hai friend ke saath spend karne ki koshish kijiye un doston ke saath time spend ke saath time spend karna accha lagta hai agar aap life mein sach mein rehti hai ki yaar meri zindagi mein bus main bahut thak chuke ho aur kuch bhi karne ke liye taiyar hoon toh aap meditation agar aap life mein sach mein bahut zyada different chahti hain toh aur aapka the kya pura tanaav se picha chhut jaaye sansar group mein group mein ek dedh ghanta ya 2 ghante mein details ki aapki life mein tension vetan aap jo hai bahut kam hota jaega aur life mein bahut positive change karne lagenge toh meri salah meditation join kijiye thank you

आपका प्रश्न के में मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूं मेरा कुछ भी करने में मन नहीं लगता

Romanized Version
Likes  155  Dislikes    views  1125
WhatsApp_icon
user

Dr. Sudha Chauhan

Author / Social Worker/Writer

2:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है मैं मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूं मेरा कुछ भी काम में मन नहीं लगता यह एक समस्या है सबसे बड़ी बात आप जिस समस्या से परेशान हैं वह समस्या आप अपने किसी अपने से शेयर करें अच्छे मित्र बनाएं उनसे शेयर करें अगर आप यह नहीं कर सकते तो एक बात पर विश्वास रखें ईश्वर दुख देता है तो उसे दूर भी करता है उसे दूर करने का कोई ना कोई रास्ता बना आप मनन करें चिंतन करें अगर आप ऐसा नहीं कर सकते तो अच्छी पुस्तकालय अच्छी पुस्तकें इंसान की हमेशा अच्छी दोस्त होती किताबें आपसे बातें करती हैं किताबें आपकी समस्या कल बताती हूं आप अपने आप को किसी भी कार्य में व्यस्त रखें और उस समस्या की तरफ या मानसिक रूप से जो तनाव आपको है उससे बाहर निकलने की कोशिश करें अच्छी जगह जाएं अच्छी जगह बैठे कोई अच्छा सीरियल देखें कोई अच्छी पिक्चर देखें और सबसे बड़ी बात आप पुस्तक पढ़े पुस्तक कौन से आपको समस्या का समाधान मिलेगा के पाठक और गीता पढ़ी बहुत सरल समस्याओं का समाधान दिया हुआ है और काम करने में मन नहीं लगता तो अगर आप अपने आपको काम में बिजी रखेंगे तो आप मानसिक रूप से स्वस्थ भी रहेंगे इसलिए कुछ ना कुछ काम करते रहिए भले वह पुस्तक पढ़ने का काम हो घर के काम हो ऑफिस का काम को कोई भी काम खाली दिमाग शैतान का घर होता है अगर आप खाली बैठेंगे तो आपको मानसिक रूप से जो तनाव है परेशानी वह और ज्यादा परेशान करेगा और अगर आप उसे अनदेखा करेंगे और कहीं ना कहीं अपना दिमाग लगाते रहेंगे तो आपको मानसिक रूप से तनाव से मुक्ति मिलेगी अच्छा चिंतन करिए ईश्वर का चिंतन करिए सकारात्मक बातों का चिंतन करिए और धीरे-धीरे इसी तरह प्रयास करेंगे तो आपका तनाव कम हो जाएगा धन्यवाद

aapka prashna hai mansik roop se bahut tanaav mein rehti hoon mera kuch bhi kaam mein man nahi lagta yah ek samasya hai sabse badi baat aap jis samasya se pareshan hain vaah samasya aap apne kisi apne se share kare acche mitra banaye unse share kare agar aap yah nahi kar sakte toh ek baat par vishwas rakhen ishwar dukh deta hai toh use dur bhi karta hai use dur karne ka koi na koi rasta bana aap manan kare chintan kare agar aap aisa nahi kar sakte toh achi pustakalaya achi pustakein insaan ki hamesha achi dost hoti kitaben aapse batein karti hain kitaben aapki samasya kal batati hoon aap apne aap ko kisi bhi karya mein vyast rakhen aur us samasya ki taraf ya mansik roop se jo tanaav aapko hai usse bahar nikalne ki koshish kare achi jagah jayen achi jagah baithe koi accha serial dekhen koi achi picture dekhen aur sabse badi baat aap pustak padhe pustak kaunsi aapko samasya ka samadhan milega ke pathak aur geeta padhi bahut saral samasyaon ka samadhan diya hua hai aur kaam karne mein man nahi lagta toh agar aap apne aapko kaam mein busy rakhenge toh aap mansik roop se swasthya bhi rahenge isliye kuch na kuch kaam karte rahiye bhale vaah pustak padhne ka kaam ho ghar ke kaam ho office ka kaam ko koi bhi kaam khaali dimag shaitaan ka ghar hota hai agar aap khaali baitheange toh aapko mansik roop se jo tanaav hai pareshani vaah aur zyada pareshan karega aur agar aap use andekha karenge aur kahin na kahin apna dimag lagate rahenge toh aapko mansik roop se tanaav se mukti milegi accha chintan kariye ishwar ka chintan kariye sakaratmak baaton ka chintan kariye aur dhire dhire isi tarah prayas karenge toh aapka tanaav kam ho jaega dhanyavad

आपका प्रश्न है मैं मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूं मेरा कुछ भी काम में मन नहीं लगता

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  115
WhatsApp_icon
user

Minu Nijhawan

NLP Life N Wellness Coach /Reiki Master/ Author

3:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

और आपका क्वेश्चन है कि मैं मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूं और आपका कुछ भी काम करने का मन नहीं करता तो आप क्या करें तो देखें इसके लिए मैं आपको यह कहना चाहूंगी कि सबसे पहले आप अपने तनाव को अरे ट्राई कीजिए कि क्या वह वजह है रीजन क्या है जिनकी वजह से आपको फ्रेश हो रहा है तनाव हो रहा है और उसको आईडेंटिफाई करने के बाद उसको देखें क्या आप कितना ज्यादा नेगेटिविटी में रह रहे हैं उस वजह से और देखें इसमें आप मैं माइंड ट्रेनिंग की बात करूं योगा की करूं मेडिटेशन की तो करूं आप किसी भी तरफ चले जाइए आपको जिंदगी में सलूशन की सलूशन मिल जाते हैं तो सबसे पहले जब आप आईडेंटिफाई कर लेते हैं क्या आपको किस वजह से हो रहा है और क्या आपको काम की प्रॉब्लम है या पढ़ाई की घर की फैमिली की रिलेशंस कि आपको सबसे पहले आईडेंटिफाई करना जानना बहुत जरूरी है कि तनाव का रीजन क्या है उसको जाने के बाद आप उस पर वह करना स्टार्ट कीजिए सबसे पहले अगर कोई नेगेटिव थॉट्स आते हैं जिनकी वजह से तनाव आता है जैसे आपको कोई नेगेटिव थॉट आता है आप उसको कन्वर्ट कीजिए पॉजिटिव थॉट्स है और वह कैसे कन्वर्ट करेंगे उस टाइम को आपने रिमेंबर करना है याद करना है अपनी लाइफ का वो टाइम जवाब बहुत है पीछे आपके सब कुछ बहुत अच्छा हुआ था उस टाइम को जैसे ही आप याद करेंगे आपकी नेगेटिविटी कन्वर्ट हो जाएगी और बेटे बेटी में और धीरे-धीरे जवाब में प्रैक्टिस करते जाएंगे तो आप की एक आदत बन जाएगी पॉजिटिविटी में रहने की इसके अलावा आप मेडिटेशन स्टार्ट कीजिए और मैं आपको यह नहीं कहूंगी आप पूरा दिन भर 1245 घंटा मेडिटेशन करते रहे अब दिन की शुरुआत एक पॉजिटिव थॉट से कीजिए जो बिगिनिंग में सबसे बड़ा मेडिटेशन है एक पॉजिटिव थॉट लाई है आपको कहीं इधर-उधर भागने की जरूरत नहीं है आप उस सेंटर में जाएं उसका आंख में जाएं सबसे पहले आप घर से स्टार्ट कीजिए अपनी थोड़ी सी थॉट प्रोसेस चेंज कीजिए और उसके बाद आपको फेवरेबल लगे तो आप यह क्लास भी ज्वाइन कीजिए बहुत जरूरी हैं मॉर्निंग में उठते ही सबसे पहले आप एक पॉजिटिव थॉट लाएंगे पॉजिटिव एफर्मेशन कोई भी करेंगे आई एम हैप्पी एंड हेल्दी और इस बात को लेकर आप अपने दिन की शुरुआत करेंगे और इस शॉट को सिर्फ थॉट तक ही नहीं रहने देंगे इस शॉट को फील करेंगे एंड अगेन सिंह सुपरहिट ऑल योर प्रॉब्लम्स को फील कीजिए चंकी में जितना मर्जी प्रॉब्लम हो स्पेस हो अपराध ऑपरेशन हुआ कि सेटिंग कीजिए और धीरे-धीरे आपका माइंड इस चीज को ग्रहण करने लगेगा पॉजिटिव एक होता क्या है शुभम नेगेटिविटी में होते हैं हमारा माइंड पॉजिटिव चीजों को आग्रह नहीं नहीं करता है तो सबसे पहले आप पॉजिटिव थॉट पॉजिटिव एफर्मेशन कीजिए रिमाइंड पॉजिटिविटी को समझने लगेगा और आपका माइंड पॉजिटिव थॉट प्रोसेस में रहने लगे गा नहीं तो आप ही स्टार्ट कीजिए और अगर आप ज्यादा डिटेल में फैशन चाहते हैं काउंसलिंग सेशन लेना चाहते हैं तो आप मुझे कॉल कर सकते हैं मेरा नंबर पर मैं नंबर है 972 3310 सब ठीक होगा स्टार्ट कीजिए अभी ऑनलाइन थैंक यू सो मच

aur aapka question hai ki main mansik roop se bahut tanaav mein rehti hoon aur aapka kuch bhi kaam karne ka man nahi karta toh aap kya kare toh dekhen iske liye main aapko yah kehna chahungi ki sabse pehle aap apne tanaav ko are try kijiye ki kya vaah wajah hai reason kya hai jinki wajah se aapko fresh ho raha hai tanaav ho raha hai aur usko aidentifai karne ke baad usko dekhen kya aap kitna zyada negativity mein reh rahe hain us wajah se aur dekhen isme aap main mind training ki baat karu yoga ki karu meditation ki toh karu aap kisi bhi taraf chale jaiye aapko zindagi mein salution ki salution mil jaate hain toh sabse pehle jab aap aidentifai kar lete kya aapko kis wajah se ho raha hai aur kya aapko kaam ki problem hai ya padhai ki ghar ki family ki rileshans ki aapko sabse pehle aidentifai karna janana bahut zaroori hai ki tanaav ka reason kya hai usko jaane ke baad aap us par vaah karna start kijiye sabse pehle agar koi Negative thoughts aate hain jinki wajah se tanaav aata hai jaise aapko koi Negative thought aata hai aap usko convert kijiye positive thoughts hai aur vaah kaise convert karenge us time ko aapne remember karna hai yaad karna hai apni life ka vo time jawab bahut hai peeche aapke sab kuch bahut accha hua tha us time ko jaise hi aap yaad karenge aapki negativity convert ho jayegi aur bete beti mein aur dhire dhire jawab mein practice karte jaenge toh aap ki ek aadat ban jayegi positivity mein rehne ki iske alava aap meditation start kijiye aur main aapko yah nahi kahungi aap pura din bhar 1245 ghanta meditation karte rahe ab din ki shuruat ek positive thought se kijiye jo beginning mein sabse bada meditation hai ek positive thought lai hai aapko kahin idhar udhar bhagne ki zarurat nahi hai aap us center mein jayen uska aankh mein jayen sabse pehle aap ghar se start kijiye apni thodi si thought process change kijiye aur uske baad aapko favorable lage toh aap yah class bhi join kijiye bahut zaroori hain morning mein uthte hi sabse pehle aap ek positive thought layenge positive efarmeshan koi bhi karenge I M happy and healthy aur is baat ko lekar aap apne din ki shuruat karenge aur is shot ko sirf thought tak hi nahi rehne denge is shot ko feel karenge and again Singh superhit all your problems ko feel kijiye chinki mein jitna marji problem ho space ho apradh operation hua ki setting kijiye aur dhire dhire aapka mind is cheez ko grahan karne lagega positive ek hota kya hai subham negativity mein hote hain hamara mind positive chijon ko agrah nahi nahi karta hai toh sabse pehle aap positive thought positive efarmeshan kijiye remind positivity ko samjhne lagega aur aapka mind positive thought process mein rehne lage ga nahi toh aap hi start kijiye aur agar aap zyada detail mein fashion chahte hain kaunsaling session lena chahte hain toh aap mujhe call kar sakte hain mera number par main number hai 972 3310 sab theek hoga start kijiye abhi online thank you so match

और आपका क्वेश्चन है कि मैं मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूं और आपका कुछ भी काम करने का

Romanized Version
Likes  54  Dislikes    views  599
WhatsApp_icon
user

Dinesh Yadav

Agriculturist

4:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है वह मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूं मेरा कुछ भी काम करने को मन नहीं करता क्या करूं आपने बताया कि आप तनाव में रहती है मगर आप ने यह नहीं बताया कि आप किस कारण तनाव में रहती हैं तनाव में आना यह तो पूर्ण रूप से मनोवैज्ञानिक और को यह कि आप किस कारण तनाव में रहती है किस कारण टेंशन में रहती है वह बताना चाहिए तब उसका सही सलूशन पता चल पाता वैसे तन के कई कारण होते हैं अब इसकी चिंता है बीते हुए समय की दुखद घटनाएं और सर इसके लिए तो अगर आप बताना नहीं चाहते तो तो फिर आपका टेंशन का कारण आपका मन विश्लेषण करने के पश्चात ही पता चलेगा कि आप आखिर टेंशन में क्यों रहती है यह मैं बताना चाहूंगा कि आप टेंशन मुक्त रहने के लिए आप यह समझ कर चलें कि आपके हाथों में कुछ भी नहीं आप कुछ भी नहीं कर सकती आप इसकी बातों को लेकर के भविष्य को लेकर के आपके अगर चिंतित होते हैं तो उसको आप छोड़ दें और जो बीत गया है उसके लिए पश्चाताप ना करें यदि आपके कुछ आपके साथ हूं यदि कोई दुखद घटनाएं हुई है तो उसके लिए आपका साथ आप ना करें कि मेरे साथ ऐसा हो गया ऐसा हो गया जो होना था वह हो गया उन बातों को याद करके आप टेंशन ही ले सकते हैं और टेंशन ही होगा कुछ उसमें परिवर्तन आप नहीं कर सकती हैं और भविष्य की जहां तक बातें हैं तो भविष्य में भी आपको अपना सही हिसाब से अपने जीवन जिंदगी को जियो क्योंकि वर्तमान ही आपका भविष्य निर्धारण करेगा अब बर्तमान में सही होंगे मैं पिक्स ऑफ कर सही होगा अगर वर्तमान आपका सही नहीं हुआ वर्तमान अगर दुखत हुआ तो भविष्य ही दुखद होगा और सबसे बड़ी चीज है कि आप टेंशन करके तेरे से बड़ा करके आपको अपने आपको परेशान करने के सिवाय और कुछ नहीं कर सकते हैं इसलिए आपको भविष्य और भूत की चिंता छोड़ दें इसका चिंता छोड़ दे पश्चाताप ना करें और वर्तमान में जीने का प्रयास करें अब जो भी करते हैं जो भी कर रही है उसको तन मन एकाग्र होकर करें धीरे-धीरे आपकी टेंशन समाप्त हो जाएगी आप इसके लिए योग कर सकती है ध्यान कर सकती और ध्यान के लिए सबसे बेहतरीन समय बहुत का होता है जो सूर्योदय से पहले और 3:00 बजे प्रातः के बाद का समय होता है इसमें जितने समय आपको मिल सके जितना समय आप कर सके ध्यान करें योग करें आपके लिए अच्छा रहेगा आपके सेहत के लिए भी अच्छा रहेगा आपके मानसिक तनाव के लिए अच्छा रहेगा धन्यवाद

aapka prashna hai vaah mansik roop se bahut tanaav me rehti hoon mera kuch bhi kaam karne ko man nahi karta kya karu aapne bataya ki aap tanaav me rehti hai magar aap ne yah nahi bataya ki aap kis karan tanaav me rehti hain tanaav me aana yah toh purn roop se manovaigyanik aur ko yah ki aap kis karan tanaav me rehti hai kis karan tension me rehti hai vaah batana chahiye tab uska sahi salution pata chal pata waise tan ke kai karan hote hain ab iski chinta hai bite hue samay ki dukhad ghatnaye aur sir iske liye toh agar aap batana nahi chahte toh toh phir aapka tension ka karan aapka man vishleshan karne ke pashchat hi pata chalega ki aap aakhir tension me kyon rehti hai yah main batana chahunga ki aap tension mukt rehne ke liye aap yah samajh kar chalen ki aapke hathon me kuch bhi nahi aap kuch bhi nahi kar sakti aap iski baaton ko lekar ke bhavishya ko lekar ke aapke agar chintit hote hain toh usko aap chhod de aur jo beet gaya hai uske liye pashchaataap na kare yadi aapke kuch aapke saath hoon yadi koi dukhad ghatnaye hui hai toh uske liye aapka saath aap na kare ki mere saath aisa ho gaya aisa ho gaya jo hona tha vaah ho gaya un baaton ko yaad karke aap tension hi le sakte hain aur tension hi hoga kuch usme parivartan aap nahi kar sakti hain aur bhavishya ki jaha tak batein hain toh bhavishya me bhi aapko apna sahi hisab se apne jeevan zindagi ko jio kyonki vartaman hi aapka bhavishya nirdharan karega ab bartaman me sahi honge main picks of kar sahi hoga agar vartaman aapka sahi nahi hua vartaman agar dukhat hua toh bhavishya hi dukhad hoga aur sabse badi cheez hai ki aap tension karke tere se bada karke aapko apne aapko pareshan karne ke shivaay aur kuch nahi kar sakte hain isliye aapko bhavishya aur bhoot ki chinta chhod de iska chinta chhod de pashchaataap na kare aur vartaman me jeene ka prayas kare ab jo bhi karte hain jo bhi kar rahi hai usko tan man ekagra hokar kare dhire dhire aapki tension samapt ho jayegi aap iske liye yog kar sakti hai dhyan kar sakti aur dhyan ke liye sabse behtareen samay bahut ka hota hai jo suryoday se pehle aur 3 00 baje pratah ke baad ka samay hota hai isme jitne samay aapko mil sake jitna samay aap kar sake dhyan kare yog kare aapke liye accha rahega aapke sehat ke liye bhi accha rahega aapke mansik tanaav ke liye accha rahega dhanyavad

आपका प्रश्न है वह मानसिक रूप से बहुत तनाव में रहती हूं मेरा कुछ भी काम करने को मन नहीं करत

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  711
WhatsApp_icon
user

Pankaj Kr(youtube -AJ PANKAJ MATHS GURU)

Motivational Speaker/YouTube-AJ PANKAJ MATHS GURU

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप हमसे दूर से नौतनवा में रहती हैं और आपको कुछ भी काम करने में मन नहीं लगता है इसका कारण यह है कि मानसिक तनाव का जमाना मस्तिष्क हमेशा तनाव में रहता है हमेशा तनाव में नहीं रहना तनाव की वजह से छोटे करने में आसानी से नहीं हो पाता है इसलिए मस्तिष्क में तनाव नहीं पड़ना चाहिए तनाव हमारे स्वास्थ्य पर बात करता है स्तनों से बचना चाहिए डॉक्टर हमेशा प्रिकॉशन देते हैं कि पेशेंट को तनाव नहीं करना चाहिए समान मनुष्य कभी किसी बात लेकर तनाव नहीं पड़ना चाहिए तना हमारे बेटे सर को बढ़ा देता है इसलिए इस स्थिति में लोगों को तनाव से बचना चाहिए स्वस्थ जीवन जीना चाहिए स्वस्थ जीवन जी करके ही लोग अपनी आयु दीर्घायु बना सकते हैं स्तनों के वजह से ही लोगों को काम करने में मन नहीं लगता है आपको काम करने उतरी में लगे हैं जवाब तनाव संकटों टेंशन फ्री प्ले जीवन सूचना है तो टेंशन फ्री रहे चिंता नहीं करें सुख दुख जीवन साथी है सुख दुख जीवन में आते रहते हैं इसलिए सचिन से लगाना नहीं तो और आपको तनाव में आपको इतना नहीं करना चाहिए आप अपना मन का मिलन होगा

aap humse dur se nautanwa mein rehti hain aur aapko kuch bhi kaam karne mein man nahi lagta hai iska karan yah hai ki mansik tanaav ka jamana mastishk hamesha tanaav mein rehta hai hamesha tanaav mein nahi rehna tanaav ki wajah se chote karne mein aasani se nahi ho pata hai isliye mastishk mein tanaav nahi padhna chahiye tanaav hamare swasthya par baat karta hai stanon se bachna chahiye doctor hamesha precaution dete hain ki patient ko tanaav nahi karna chahiye saman manushya kabhi kisi baat lekar tanaav nahi padhna chahiye tana hamare bete sir ko badha deta hai isliye is sthiti mein logo ko tanaav se bachna chahiye swasthya jeevan jeena chahiye swasthya jeevan ji karke hi log apni aayu dirghayu bana sakte hain stanon ke wajah se hi logo ko kaam karne mein man nahi lagta hai aapko kaam karne utari mein lage hain jawab tanaav sankaton tension free play jeevan soochna hai toh tension free rahe chinta nahi kare sukh dukh jeevan sathi hai sukh dukh jeevan mein aate rehte hain isliye sachin se lagana nahi toh aur aapko tanaav mein aapko itna nahi karna chahiye aap apna man ka milan hoga

आप हमसे दूर से नौतनवा में रहती हैं और आपको कुछ भी काम करने में मन नहीं लगता है इसका कारण य

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  511
WhatsApp_icon
user

Alfaiz

Assistant Director In Bollywood | Motivational Speaker | Philosopher

2:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने लिखा है और उसे बहुत तनाव में रहते तो मेरा यह चुनाव में रहते तो अपने हाथी कुछ मन करेगा ऐसा भी होता है गम को अपनी पसंदीदा चीज भी कभी-कभी करने को मन नहीं करता है कि लाइक आप एक लेडी हो तो आपको शायद किंग का शौक होगा आपको शायद कुछ घूमने फिरने का सॉन्ग होगा आपको कुछ सीरियल्स देखने का शौक हो गया कुछ भी जिम करने का शौक होगा योगा करने का तो आपसे आपसे आपको दिमाग आपके दिमाग को शांति मिलती है क्योंकि हमेशा लोग टेंशन में आते ना तो पहले वह एकदम कूल डाउन काम डाउट होने का ही सोचते तो मेरा यह मरने का तनाव में हो तो पहले जो टेंशन है अगर आप किसी को शेयर कर पा रहे हो तो वह टेंशन शेयर करो तो अपने आप जो रास्ता दिखेगा या सामने क्योंकि हर बंदे केवल अलग दिमाग आप मुझे शेयर करोगे तो मेरे पास दूसरे किसी को शेयर करो हम किसी को शेयर नहीं कर पाते बता नहीं पाते किसी को तो आपको खुद पर कंट्रोल करने से एक बात याद रखना दुनिया में हम अकेले हैं कई कंट्रोल करो खुद अपना माइंड कंट्रोल करो कुत्ते ही सब चीज दौरा हम लोग टेंशन मेरे दिल जिंदगी एक है आराम से मजे करो मानसिक तनाव लेने से कुछ होने वाला नहीं उल्टे ब्लम कम नहीं होगी ज्यादा पड़ेगी ऐसा कोई काम करो जिसमें मजा आए अच्छे-अच्छे सॉन्ग सुनाओ कोई मोटिवेशनल स्पीच देखो कोई और लेक्चर देखो मुझे ऐसा करो कि जिससे आपको मजा आया मजा आए डांसिंग का को पिकअप डांस कर सकते हो रांची को तो आपको आपका मेरी हिंदी थोड़ी और समझ जाएंगे तो मेरा यह मानना है कि आप लोग यह सब वह काम करो जिससे आपको खुशी मिलती है मैं सबको यही सजा देता सब लोग भी कुछ भी कर लो आपको खुशी मिले ना वह काम बोलो दुनिया कुछ भी सोचे आप आज अच्छा करोगे ना तो भी दुनिया दो नुस्खे निकालेगी के अंदर आपने यह क्यों किया पूरा करोगे तो नहीं करोगे ना उसमें भी बुराई देखने वाले तो मेरा यह मानना है कि आप कुछ भी करो अपने लिए करो किसी को सोचो मत किसी का कुछ भी मत करो

aapne likha hai aur use bahut tanaav me rehte toh mera yah chunav me rehte toh apne haathi kuch man karega aisa bhi hota hai gum ko apni pasandida cheez bhi kabhi kabhi karne ko man nahi karta hai ki like aap ek lady ho toh aapko shayad king ka shauk hoga aapko shayad kuch ghoomne phirne ka song hoga aapko kuch siriyals dekhne ka shauk ho gaya kuch bhi gym karne ka shauk hoga yoga karne ka toh aapse aapse aapko dimag aapke dimag ko shanti milti hai kyonki hamesha log tension me aate na toh pehle vaah ekdam cool down kaam doubt hone ka hi sochte toh mera yah marne ka tanaav me ho toh pehle jo tension hai agar aap kisi ko share kar paa rahe ho toh vaah tension share karo toh apne aap jo rasta dikhega ya saamne kyonki har bande keval alag dimag aap mujhe share karoge toh mere paas dusre kisi ko share karo hum kisi ko share nahi kar paate bata nahi paate kisi ko toh aapko khud par control karne se ek baat yaad rakhna duniya me hum akele hain kai control karo khud apna mind control karo kutte hi sab cheez daura hum log tension mere dil zindagi ek hai aaram se maje karo mansik tanaav lene se kuch hone vala nahi ulte blum kam nahi hogi zyada padegi aisa koi kaam karo jisme maza aaye acche acche song sunao koi Motivational speech dekho koi aur lecture dekho mujhe aisa karo ki jisse aapko maza aaya maza aaye dancing ka ko pickup dance kar sakte ho ranchi ko toh aapko aapka meri hindi thodi aur samajh jaenge toh mera yah manana hai ki aap log yah sab vaah kaam karo jisse aapko khushi milti hai main sabko yahi saza deta sab log bhi kuch bhi kar lo aapko khushi mile na vaah kaam bolo duniya kuch bhi soche aap aaj accha karoge na toh bhi duniya do nuskhe nikalegi ke andar aapne yah kyon kiya pura karoge toh nahi karoge na usme bhi burayi dekhne waale toh mera yah manana hai ki aap kuch bhi karo apne liye karo kisi ko socho mat kisi ka kuch bhi mat karo

आपने लिखा है और उसे बहुत तनाव में रहते तो मेरा यह चुनाव में रहते तो अपने हाथी कुछ मन करेगा

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  76
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैडम जी आप मानसिक रूप से तनाव में रहती हैं पहले तो देखी आपकी उम्र क्या है क्या कर रही है इस समय स्कूल में पढ़ रही हैं या कॉलेज में पढ़ रही हैं मानसिक तनाव में रहती है क्यों रहती हैं अब किसी डॉक्टर के पास भी जाएंगे तो आप उसको अपनी सारी कहानी सुनाएंगे कि मैं इस कारण तनाव में रहती हूं तभी वह आपको तनाव दूर करने के तरीके बता पाएगा इसलिए बेहतर यह है कि आप मेरे नंबर 884 7070 175 पर मुझे कांटेक्ट करके बात करें क्योंकि पब्लिकली बात कुछ लिख नहीं पाएंगी मैं आपको कुछ बता नहीं पाऊंगी एक लड़की का मामला है तो यह बेहतर यह है कि हम आपस में एक सीक्रेट या दो जने ही बात करें ताकि मैं आपको कुछ सुझाव देता हूं

madam ji aap mansik roop se tanaav me rehti hain pehle toh dekhi aapki umar kya hai kya kar rahi hai is samay school me padh rahi hain ya college me padh rahi hain mansik tanaav me rehti hai kyon rehti hain ab kisi doctor ke paas bhi jaenge toh aap usko apni saari kahani sunaenge ki main is karan tanaav me rehti hoon tabhi vaah aapko tanaav dur karne ke tarike bata payega isliye behtar yah hai ki aap mere number 884 7070 175 par mujhe Contact karke baat kare kyonki publicly baat kuch likh nahi paayengi main aapko kuch bata nahi paungi ek ladki ka maamla hai toh yah behtar yah hai ki hum aapas me ek secret ya do jane hi baat kare taki main aapko kuch sujhaav deta hoon

मैडम जी आप मानसिक रूप से तनाव में रहती हैं पहले तो देखी आपकी उम्र क्या है क्या कर रही है इ

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  319
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मानसिक रूप से तनाव में रहना बहुत बड़ी बीमारी है शरीर के बाहर का खाना क्या करें अपने आप को खुश रखने की कोशिश करिए आप अपनी कविताएं कुछ ना कुछ भी रहेंगे और अपने आपको बिजी भी रखेंगे

mansik roop se tanaav me rehna bahut badi bimari hai sharir ke bahar ka khana kya kare apne aap ko khush rakhne ki koshish kariye aap apni kavitayen kuch na kuch bhi rahenge aur apne aapko busy bhi rakhenge

मानसिक रूप से तनाव में रहना बहुत बड़ी बीमारी है शरीर के बाहर का खाना क्या करें अपने आप को

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  85
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  30  Dislikes    views  287
WhatsApp_icon
user

Trilokiindiawale

Engineer, Youtuber, Vigoer,

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अगर आप मानसिक रूप से तनाव में रहती हैं तो आपको जरूरी है कि आप मेंटल ही थोड़ा आराम के लिए अब आराम कैसे करना है आराम आपको सोक्के या कोई काम नहीं कर के नहीं करना है आपको आराम करना है दिमाग पर जोर नहीं डालना है दिमाग पर जोर नहीं डालना है किसी चीज को एकदम विस्तार से नहीं सोचना है और आपकी योगा करना है मेडिटेशन करना है अच्छे-अच्छे चुटकुले मॉर्निंग वॉक करना है और दिमाग पर जोर बिल्कुल नहीं डालना है क्योंकि आप मानसिक तनाव दिमाग में लौटा देगा तो ब्रेन हेमरेज हो जाएगा और आपका कुछ गलत हो सकता है इसलिए दिमाग अगर तनाव में है तो आप उसको रेट दीजिए ज्यादा सोचिए मत खुश रहिए मनोरंजन कीजिए

dekhiye agar aap mansik roop se tanaav me rehti hain toh aapko zaroori hai ki aap mental hi thoda aaram ke liye ab aaram kaise karna hai aaram aapko sokke ya koi kaam nahi kar ke nahi karna hai aapko aaram karna hai dimag par jor nahi dalna hai dimag par jor nahi dalna hai kisi cheez ko ekdam vistaar se nahi sochna hai aur aapki yoga karna hai meditation karna hai acche acche chutkule morning walk karna hai aur dimag par jor bilkul nahi dalna hai kyonki aap mansik tanaav dimag me lauta dega toh brain hemrej ho jaega aur aapka kuch galat ho sakta hai isliye dimag agar tanaav me hai toh aap usko rate dijiye zyada sochiye mat khush rahiye manoranjan kijiye

देखिए अगर आप मानसिक रूप से तनाव में रहती हैं तो आपको जरूरी है कि आप मेंटल ही थोड़ा आराम के

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  127
WhatsApp_icon
user

Tejnath sahu

Social Worker

1:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी देखी है ऐसी सिचुएशन में आपको सही दिशा निर्देश की जरूरत है आपको बता दें आपके लिए ऐसे समय एक एक समय जो है बहुत ही कीमती है और बहुत ही खतरनाक भी हो सकता है तो आपको क्या करना है क्या नहीं करना चाहिए इसको आपको स्वयं को डिसीजन लेना है लेकिन आपको पढ़ने होंगे पुस्तक जी ने किया या जो पुस्तक है इसमें आप यह जानकारी प्राप्त करेंगे कि वाकई में आपके लिए उचित क्या है आपके मानव जीवन का मूल उद्देश्य क्या है आपको जिंदगी किस प्रकार से जी नहीं है और हम कैसे सफलतापूर्वक सभ्य समाज में रहते हुए एक अच्छा इमेज बनाती हुई अपने जीवन जी सकें इसके लिए पढ़िए जरूर पुस्तक जीने की राह या बिल्कुल नहीं शुरू करें बिना किसी डिलीवरी चार्ज के भी पहुंच जाता है 15 से 20 दिनों के अंदर हमारा नंबर है 7496 80 अट्ठारह अपना नाम पता मोबाइल नंबर हमें सेंड कर दीजिए और भी अधिक जानकारी के लिए देखिए रोज शाम 7:30 बजे साधना चैनल पर

ji dekhi hai aisi situation mein aapko sahi disha nirdesh ki zarurat hai aapko bata de aapke liye aise samay ek ek samay jo hai bahut hi kimti hai aur bahut hi khataranaak bhi ho sakta hai toh aapko kya karna hai kya nahi karna chahiye isko aapko swayam ko decision lena hai lekin aapko padhne honge pustak ji ne kiya ya jo pustak hai isme aap yah jaankari prapt karenge ki vaakai mein aapke liye uchit kya hai aapke manav jeevan ka mul uddeshya kya hai aapko zindagi kis prakar se ji nahi hai aur hum kaise safaltaapurvak sabhya samaj mein rehte hue ek accha image banati hui apne jeevan ji sake iske liye padhiye zaroor pustak jeene ki raah ya bilkul nahi shuru kare bina kisi delivery charge ke bhi pohch jata hai 15 se 20 dino ke andar hamara number hai 7496 80 attharah apna naam pata mobile number hamein send kar dijiye aur bhi adhik jaankari ke liye dekhiye roj shaam 7 30 baje sadhna channel par

जी देखी है ऐसी सिचुएशन में आपको सही दिशा निर्देश की जरूरत है आपको बता दें आपके लिए ऐसे समय

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  221
WhatsApp_icon
user

Ahana Bhardwaz

Life Coach | Author

1:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पापा हमेशा सलामत रहे

papa hamesha salamat rahe

पापा हमेशा सलामत रहे

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  879
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!