यूपी: दलित महिलाओं को मंदिर में घुसने से रोकने का VIDEO हुआ वायरल - हमारे देश में जाति को लेकर ऐसा भेदभाव कब ख़त्म होगा?...


user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

4:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपी दलित महिलाओं को मंदिर में घुसने से रोकने का वीडियो हुआ वायरल ऐसा भेदभाव जो है वह गणित से इंसानियत के विरुद्ध और उसकी कठोर निंदा करनी चाहिए ब्राह्मण क्षत्रिय और वैश्य को एक होकर अगर शुद्ध को इस तरह से उनके अधिकारों से वंचित रेंज तो हम कौन सी सदी में जी रहे हैं इस काम को परिचय देना होगा अगर खाली और 19वीं शताब्दी में जो होता था तो वह हम अभी वही करेंगे दुनिया आगे जा रही है लोग आगे जा रहे हैं ना नई तरह की सब खुश हो रही हैं इतने हो रहे हैं और हमारी सोच वही अच्छा भी होगी सी शताब्दी के कर सकते हैं तो यूपी हो चाय दिया होता है गुजरात हो चाहे कोई भी प्रदेश को हमारे बात का लेकिन जब तक हम हमारी सोच नहीं बदलेंगे तब तक उसको हम नहीं रोक पाएंगे सोच को बदलने के लिए हमारी एजुकेशन सिस्टम और जो दूर कष्टों से जुड़ जाए हम उनको एक पहचान दे देते हैं कि बेहद शेड्यूल कास्ट देहाती दूरदर्शन तो उसे उनको एक तरह की अलग तरह की पहचान लो वह लोग चाहते हैं कि इस तरफ से मतलब है और यह गलत है चाहे सरकार के द्वारा उनको पहचान दी जाती है और दर्शन के द्वारा लोगों के द्वारा काम कोई भी छोटा नहीं होता काम काम होता है चारु हैंडसम मेरे शरीर में होते हैं छतरी कहो ब्राह्मण कहो हम पूजा करते हैं तो ब्राह्मण होते हैं हमारे घर की और हमारी मां बहनों की रक्षा करता हूं छत्रिय व्यापार करते हैं नौकरी करते हैं तो हम रहते हैं और हम अपने घर की सफाई करते हैं तो हम सुधारो हमारे शरीर में इसलिए किसी का प्रोफेशन अगर सफाई करने का है तो अपन के कारण हम किसी को इस तरह से मंदिर में जाने से नहीं रोक सकता क्योंकि वह भी हमारी तरह इंसान है वही हमारे भाई बहन है वही हमारे समाज के विशेष से हमारा अंग है वह उनको हम ज्यादा सलमान देना चाहिए उसकी जगह हम उनका हक छीन रहे हैं बिल्कुल गलत है और बिल्कुल भी नहीं बात है और इस तरह के वीडियो आने से भावनाएं लोगों की बढ़ती इसलिए ऐसे वीडियो दिखाकर और यह दूरियां बढ़ाने का काम हमें नहीं करना चाहिए और सामाजिक विषमता उत्पन्न होती है ऐसे वीडियो सहित वह गलत है और हमें यह सब बातों को बहुत मायने में नहीं मिलना चाहिए और बहुत इंपोर्टेंट नहीं देना चाहिए और जो भी हमारे साथ हैं जो भी काम करते हैं हमारे वह सब हमारे पार्ट ऑफ लाइफ है और उनको उचित सम्मान हम कम से कम हम अपने आप से सेव करें जब सब लोग यह सोचेंगे तो ऐसी घटनाएं दुर्घटनाएं ऐसी होंगी और आशा करता हूं कि आप सब लोग मेरी बात से सहमत हूं धन्यवाद

up dalit mahilaon ko mandir mein ghusne se rokne ka video hua viral aisa bhedbhav jo hai vaah ganit se insaniyat ke viruddh aur uski kathor ninda karni chahiye brahman kshatriya aur vaiishay ko ek hokar agar shudh ko is tarah se unke adhikaaro se vanchit range toh hum kaun si sadi mein ji rahe hain is kaam ko parichay dena hoga agar khaali aur vi shatabdi mein jo hota tha toh vaah hum abhi wahi karenge duniya aage ja rahi hai log aage ja rahe hain na nayi tarah ki sab khush ho rahi hain itne ho rahe hain aur hamari soch wahi accha bhi hogi si shatabdi ke kar sakte hain toh up ho chai diya hota hai gujarat ho chahen koi bhi pradesh ko hamare baat ka lekin jab tak hum hamari soch nahi badalenge tab tak usko hum nahi rok payenge soch ko badalne ke liye hamari education system aur jo dur kaston se jud jaaye hum unko ek pehchaan de dete hain ki behad schedule caste dehati doordarshan toh use unko ek tarah ki alag tarah ki pehchaan lo vaah log chahte hain ki is taraf se matlab hai aur yah galat hai chahen sarkar ke dwara unko pehchaan di jaati hai aur darshan ke dwara logo ke dwara kaam koi bhi chota nahi hota kaam kaam hota hai charu handsome mere sharir mein hote hain chatri kaho brahman kaho hum puja karte hain toh brahman hote hain hamare ghar ki aur hamari maa bahnon ki raksha karta hoon Kshatriya vyapar karte hain naukri karte hain toh hum rehte hain aur hum apne ghar ki safaai karte hain toh hum sudharo hamare sharir mein isliye kisi ka profession agar safaai karne ka hai toh apan ke karan hum kisi ko is tarah se mandir mein jaane se nahi rok sakta kyonki vaah bhi hamari tarah insaan hai wahi hamare bhai behen hai wahi hamare samaj ke vishesh se hamara ang hai vaah unko hum zyada salman dena chahiye uski jagah hum unka haq cheen rahe hain bilkul galat hai aur bilkul bhi nahi baat hai aur is tarah ke video aane se bhaavnaye logo ki badhti isliye aise video dikhakar aur yah duriyan badhane ka kaam hamein nahi karna chahiye aur samajik vishamata utpann hoti hai aise video sahit vaah galat hai aur hamein yah sab baaton ko bahut maayne mein nahi milna chahiye aur bahut important nahi dena chahiye aur jo bhi hamare saath hain jo bhi kaam karte hain hamare vaah sab hamare part of life hai aur unko uchit sammaan hum kam se kam hum apne aap se save kare jab sab log yah sochenge toh aisi ghatnaye durghatanaen aisi hongi aur asha karta hoon ki aap sab log meri baat se sahmat hoon dhanyavad

यूपी दलित महिलाओं को मंदिर में घुसने से रोकने का वीडियो हुआ वायरल ऐसा भेदभाव जो है वह गणि

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  1109
KooApp_icon
WhatsApp_icon
6 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!