user

Ansh jalandra

Motivational speaker

0:24
Play

Likes  140  Dislikes    views  1816
WhatsApp_icon
12 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Arjun singh

Engineer

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोई परीक्षा कठिन यार बहुत ज्यादा कठिन मन पर बोझ लेकर के अगर आप चलते हैं तो यह समझ लीजिए कि सफलता ना के बराबर है अगर आपको किसी परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने हैं तो बिना डरे हुए आप अपनी पढ़ाई को बस ऐसे ही समझिए कि जैसे हम खेल रहे हैं और खेलते खेलते अपनी पढ़ाई का मजा लीजिए और किसी भी आप परीक्षा को आप आसानी से पास कर सकते हैं अगर आप अपनी परीक्षा को बहुत ज्यादा सीरियसली मांडू लेकर के लगातार उस मेरा तो दिन जुटे रहते जुटे रहते तो आप ऐसा लगता है कि आप बहुत ज्यादा मेहनत कर रहे हैं पर आपके मस्तिष्क की जो ग्रंथियां उसे भी सेव करने के लिए थोड़ा आराम चाहिए आंखों को भी थोड़ा आराम चाहिए ताकि आप जोगिंग करने हैं उसको आप परीक्षा में कॉपी पर उतारने में भी आसानी हो धन्यवाद

koi pariksha kathin yaar bahut zyada kathin man par bojh lekar ke agar aap chalte hain toh yah samajh lijiye ki safalta na ke barabar hai agar aapko kisi pariksha me acche ank prapt karne hain toh bina dare hue aap apni padhai ko bus aise hi samjhiye ki jaise hum khel rahe hain aur khelte khelte apni padhai ka maza lijiye aur kisi bhi aap pariksha ko aap aasani se paas kar sakte hain agar aap apni pariksha ko bahut zyada seriously mandu lekar ke lagatar us mera toh din jute rehte jute rehte toh aap aisa lagta hai ki aap bahut zyada mehnat kar rahe hain par aapke mastishk ki jo granthiyan use bhi save karne ke liye thoda aaram chahiye aakhon ko bhi thoda aaram chahiye taki aap jogging karne hain usko aap pariksha me copy par utarane me bhi aasani ho dhanyavad

कोई परीक्षा कठिन यार बहुत ज्यादा कठिन मन पर बोझ लेकर के अगर आप चलते हैं तो यह समझ लीजिए कि

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  80
WhatsApp_icon
user

jyoti anand

Engineer

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्वेश्चन है क्या आईएएस की परीक्षा कठिन होती है सबसे पहली बात बोलना चाहूंगी कि कोई भी परीक्षा जो होती है वह कठिन नहीं होती है अगर हम उस परीक्षा की तैयारी चरणबद्ध तरीके से करते हैं तो एक ना एक दिन हमें उसमें सफलता जरूर मिलती है हो सकता है 1 साल लगे 2 साल लगे लेकिन हमें उसमें सफलता जरूर मिलेगी इसके लिए मैं यह बोलना चाहूंगी की परीक्षा कठिन नहीं है आप उसकी तैयारी कीजिए जन्मपत्री कैसे तैयारी कीजिए क्या सिलेबस है कितना आपको पढ़ना है आप एक बार देखिए कोई भी जान की तैयारी करने से पहले सबसे एक महत्वपूर्ण बात जो होती है वह है अनुशासन अगर आप में अनुशासन है अगर आप मुझे फॉलो करते हैं तो बिल्कुल आपको परीक्षा को प्राप्त कर पाएंगे अभी जाम को प्राप्त करने के लिए सबसे पहले तो देख लीजिए कुछ एग्जाम के सिलेबस क्या है आपको दिन में कितने घंटे पढ़ने हैं उस घंटे में आपको कौन सी मुझे पढ़नी है कितना सिलेबस कवर करना है आने वाले 10 दिनों में आपको क्या-क्या चीज की पढ़ाई करनी है और दूसरी बात है पहला तो मैंने कहा जो अनुशासन दूसरी बात है जो कुछ भी आप पढ़ाई करते हैं उसका रिवीजन करना बहुत ही जरूरी है क्योंकि आप कोई भी चीज अगर आप पढ़ते हैं एक बार पड़ेंगे दो बार पड़ेगे हो सकता है 3 दिन या 4 दिन बाद वह आपको याद नहीं रहेगी इसके लिए आप उसकी तैयारी अगर कर रहे हैं किसी भी जान की तो जो भी पढ़ रहे हैं उसकी ऑफ रिवीजन किया कीजिए बार-बार उसको अगर आपके विचार करेंगे तो वह आपको याद हो जाएगी आईएस की परीक्षा इंडियन इंजीनियरिंग सर्विसेज है जो यूपीएससी के द्वारा खंडित करवाया जाता है तब इसकी तैयारी कीजिए अनुच्छेद आपको जरूर इसमें सफलता मिल जाएगी

question hai kya IAS ki pariksha kathin hoti hai sabse pehli baat bolna chahungi ki koi bhi pariksha jo hoti hai vaah kathin nahi hoti hai agar hum us pariksha ki taiyari charanabddh tarike se karte hain toh ek na ek din hamein usme safalta zaroor milti hai ho sakta hai 1 saal lage 2 saal lage lekin hamein usme safalta zaroor milegi iske liye main yah bolna chahungi ki pariksha kathin nahi hai aap uski taiyari kijiye janampatri kaise taiyari kijiye kya syllabus hai kitna aapko padhna hai aap ek baar dekhiye koi bhi jaan ki taiyari karne se pehle sabse ek mahatvapurna baat jo hoti hai vaah hai anushasan agar aap me anushasan hai agar aap mujhe follow karte hain toh bilkul aapko pariksha ko prapt kar payenge abhi jam ko prapt karne ke liye sabse pehle toh dekh lijiye kuch exam ke syllabus kya hai aapko din me kitne ghante padhne hain us ghante me aapko kaun si mujhe padhani hai kitna syllabus cover karna hai aane waale 10 dino me aapko kya kya cheez ki padhai karni hai aur dusri baat hai pehla toh maine kaha jo anushasan dusri baat hai jo kuch bhi aap padhai karte hain uska revision karna bahut hi zaroori hai kyonki aap koi bhi cheez agar aap padhte hain ek baar padenge do baar padege ho sakta hai 3 din ya 4 din baad vaah aapko yaad nahi rahegi iske liye aap uski taiyari agar kar rahe hain kisi bhi jaan ki toh jo bhi padh rahe hain uski of revision kiya kijiye baar baar usko agar aapke vichar karenge toh vaah aapko yaad ho jayegi ias ki pariksha indian Engineering services hai jo upsc ke dwara khandit karvaya jata hai tab iski taiyari kijiye anuched aapko zaroor isme safalta mil jayegi

क्वेश्चन है क्या आईएएस की परीक्षा कठिन होती है सबसे पहली बात बोलना चाहूंगी कि कोई भी परीक्

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  105
WhatsApp_icon
user

Satya Narayan Ojha

Engineer | Educator

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईएएस की परीक्षा कोई कठिन नहीं होती है इसका बेस्ट गेट कितना होता है आई एस का पूरा नाम होता है इंडियन इंजीनियरिंग सर्विस गेट के बेस्ट तैयारी करते हैं तो आसानी से आईएस क्वालीफाई कर सकते हैं धन्यवाद थैंक यू

IAS ki pariksha koi kathin nahi hoti hai iska best gate kitna hota hai I S ka pura naam hota hai indian Engineering service gate ke best taiyari karte hain toh aasani se ias qualify kar sakte hain dhanyavad thank you

आईएएस की परीक्षा कोई कठिन नहीं होती है इसका बेस्ट गेट कितना होता है आई एस का पूरा नाम होता

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  91
WhatsApp_icon
user

Bhanu P Prajapat

Career Counsellor, Motivational Speaker

6:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखी आपने इंडियन इंजीनियरिंग सर्विस रेटेड जो क्वेश्चन किया है कि मैं खुद ही भी उसी फील्ड से बिलॉन्ग करता हूं तो देखिए इंडियन इंजीनियरिंग सर्विस एक तरह का बहुत बड़ा एग्जाम होता है सबसे बड़ा इंजीनियर का एंट्रेंस होता है और ऐसा कुछ नहीं है कि यह परीक्षण होती है तब होती है किशन ऐसे आते हैं कि पता नहीं चलता मैंने कई कई लोगों को यह कहते सुना है देखिए आप को इस एग्जाम के लिए एक लेवल अप मतलब आपकी जो पढ़ने के जितने भी आप टाइम दे रहे हो अपने आपको उससे कई गुना बढ़ कर देना पड़ेगा मेरे को मैं आपको रिक्वेस्ट नहीं कर रहा हूं मेरे कहने का मतलब है आपको 25 से 30 घंटा पढ़ना पड़ेगा अब आप मुझको ऐसा दिमाग बना रहे किशोर ने 24 घंटे तो पूरे दिन में होते हैं 25 से 30 घंटे के मोटे मोटे भी यह है कि आप को मैक्सिमम टाइम देना पड़ेगा मैगजीन टाइम इस एग्जाम के लिए मैं कोई तरह का डिप्रेशन को पैदा नहीं कर रहा आपके लिए जो आप डर जाओ उसी से कोई कठिन नहीं है एग्जाम किसी भी तरह का आई आपने आईएएस का नाम सुना है वह भी हम जैसे इंसान ही बनते हैं हमारे जैसे लोग भी होते हैं उनके भी दो हाथ दो पैर दो आंखें होती है एक ही माइंड होता है कि दिल होता है तो ऐसा कुछ नहीं है जो लोग मेहनत करने से अपने आप को दूर रखते हैं या यू सोचते हैं कि कुछ मेहनत करने से या कुछ टाइम की ज्यादा मेहनत भी कर लूं मैं लेकिन कुछ टाइम के लिए कर लूं यह सब गलत है इनके लिए ऐसी ऐसी बातों को अपने दिमाग से निकाले पहले तो और यह सोचे कि हां मैं कर सकता हूं आई कैन डू इट तो अभी आपके अंदर थोड़ा सा एक कॉन्फिडेंस आएगा ओवरकॉन्फिडेंस देखिए आई कैन डू इट आई कैन डू इट कहने से नहीं पड़ेगा उसके लिए आप करना पड़ेगा आप यह मत के यह बार-बार आई कैन डू इट हां मैं कर सकता हूं एक बार कह दिया ठीक है अब उसके लिए आज प्रिपरेशन करते रहो आपको कुछ बोलने की जरूरत नहीं आपको के कुछ कहने की जरूरत नहीं है आपके अंदर एक नेचुरल कॉन्फ्रेंस पैदा होने लग जाएगा जब आपकी मेहनत एक लेवल आपको कर होने लग जाएगी ना ऑटोमेटिक आपके अंदर ऐसा कौन सा इंसान लग जाएगा कि आपके लिए सब एग्जाम छोटे पढ़ने लग जाएंगे अपनी मेहनत को बढ़ाइए बस अपनी हार्डवर को बढ़ाइए को सही डायरेक्शन में बढ़ाई है ऐसा नहीं कि अब कोई होता है ना कोई भी है 15 घंटे पढ़कर एटी परसेंट बनाता है और कोई 5 घंटे पलकारी एटी परसेंट बना लेता या एक्टिफाई भी कर दे तो ऐसा नहीं होता है कि इन सब की दुआ आपके जैसे हैं जिसकी यह थिंकिंग है देखिए सबके दिमाग एक जैसे ही होते हैं मेरा तो होता ही है कोई उसको ज्यादा यूज करता है कोई कम यूज करता है आप किसी साइकल को चला रहे हो और आप उस साइकिल से कोई 5 किलोमीटर चला गया कोई तो उससे उसी साइकिल से 10 किलोमीटर चला गया यह मत कहिए कि नहीं उसको 5 किलोमीटर ही चलाया जा सकता है ऐसा कुछ नहीं होता है सब का नजरिया अलग अलग होता है आप अपने आपको बस हार्ड वर्क में पूरी तरह से डालो कि मुझे तो सिर्फ हार्डवेयर की करना है और सही दिशा में करना है स्मार्ट हाटबर्ड करना है गधों की तरह नहीं पढ़ना है मुझे स्मार्ट तरीके से पढ़ना है पूरे जोश एग्जाम से रिलेटेड जितनी भी प्रिपरेशन है जितने भी उसके फॉर इंटरव्यूज हैं जितने भी उससे रेटेड जो बातें हैं जो लोग जो प्रीवियस जो आईएएस का एग्जाम फाइट कर चुके हैं उनसे मेरे को बातें करनी है उनसे मेरे को सीख लेनी है तो कुछ ऐसी ऐसा माहौल को क्रिएट करना पड़ेगा पहले ऐसा नहीं होता है कि आप एक बुक ले लो और उसके पीछे पड़ते हो और उसको हाथ धोकर पीछे पड़ गए उसको पूरी पर डाला फिर तीन बार आपने उसका रिवीजन कर दिया क्वेश्चन भी कर दिए इन देखिए एग्जाम एक ऐसी चीज है जो हम बैठते हैं एंट्रेंस में तो बातें हमें याद रहते हुए भी हम भूल जाते हैं तो उनको जब दिमाग में रिफाइंड होती हैं यह चीजें जो हमारे अंदर कॉन्फिडेंस होता है कि मैं कर सकता हूं वह कॉन्फिडेंस मैंने बता दिया आपको पहले जो भी बॉडी हमारे अंदर आता है जब हम उसके लिए पूरी तरह तैयार है तैयार मतलब इतना हार्ड वर्क इतना मतलब अपने अंदर अपने आपको क्राइटेरिया में डालना उस मतलब हम को यह रहना चाहिए कि इस पृथ्वी पर पूरी दुनिया में मेरे अलावा कोई और आदमी नहीं है अगर आप पूरी दुनिया को देखोगे तो पूरी दुनिया आप से आगे निकल जाए पूरी दुनिया को बीट करना बहुत बड़ी बात होती है तब जाकर ही कोई एग्जाम कोई बड़े लेवल का एग्जाम फाइट कर सकते हो आप एबिलिटी के साथ-साथ आपका दिमाग हंसते रहना चाहिए किसी भी तरह का कोई फालतू की नेगेटिविटी दिमाग में नहीं होनी चाहिए पूरी तरह पॉजिटिव होना चाहिए और नेगेटिव और पॉजिटिव मैंने आपको मेरे रिसेंटली वीडियो में बता रखा है कि नेगेटिविटी ऑटोमेटिक नहीं आती है आप उसके कारण बनते हो आप पहले हार्ड वर्क नहीं करते हो फिर आपके पास पर्डन ज्यादा हो जाता है तो आप हार्ड वर्क के प्रति जी चुराने लग जाते हो फिर आपके अंदर नेगेटिव विचार आने लग जाते हैं फिर आप भी फ्रेश हो जाते हो तो फ्रेंड शुरू से ही अपने हार्ड वर्क को ज्यादा प्राइवेट दें और ज्यादा मेहनत करें तो ही सब कुछ पॉसिबल हो जाएगा

likhi aapne indian Engineering service rated jo question kiya hai ki main khud hi bhi usi field se Belong karta hoon toh dekhiye indian Engineering service ek tarah ka bahut bada exam hota hai sabse bada engineer ka entrance hota hai aur aisa kuch nahi hai ki yah parikshan hoti hai tab hoti hai kishan aise aate hain ki pata nahi chalta maine kai kai logo ko yah kehte suna hai dekhiye aap ko is exam ke liye ek level up matlab aapki jo padhne ke jitne bhi aap time de rahe ho apne aapko usse kai guna badh kar dena padega mere ko main aapko request nahi kar raha hoon mere kehne ka matlab hai aapko 25 se 30 ghanta padhna padega ab aap mujhko aisa dimag bana rahe kishore ne 24 ghante toh poore din me hote hain 25 se 30 ghante ke mote mote bhi yah hai ki aap ko maximum time dena padega magazine time is exam ke liye main koi tarah ka depression ko paida nahi kar raha aapke liye jo aap dar jao usi se koi kathin nahi hai exam kisi bhi tarah ka I aapne IAS ka naam suna hai vaah bhi hum jaise insaan hi bante hain hamare jaise log bhi hote hain unke bhi do hath do pair do aankhen hoti hai ek hi mind hota hai ki dil hota hai toh aisa kuch nahi hai jo log mehnat karne se apne aap ko dur rakhte hain ya you sochte hain ki kuch mehnat karne se ya kuch time ki zyada mehnat bhi kar loon main lekin kuch time ke liye kar loon yah sab galat hai inke liye aisi aisi baaton ko apne dimag se nikale pehle toh aur yah soche ki haan main kar sakta hoon I can do it toh abhi aapke andar thoda sa ek confidence aayega ovarakanfidens dekhiye I can do it I can do it kehne se nahi padega uske liye aap karna padega aap yah mat ke yah baar baar I can do it haan main kar sakta hoon ek baar keh diya theek hai ab uske liye aaj preparation karte raho aapko kuch bolne ki zarurat nahi aapko ke kuch kehne ki zarurat nahi hai aapke andar ek natural conference paida hone lag jaega jab aapki mehnat ek level aapko kar hone lag jayegi na Automatic aapke andar aisa kaun sa insaan lag jaega ki aapke liye sab exam chote padhne lag jaenge apni mehnat ko badhaiye bus apni hardavar ko badhaiye ko sahi direction me badhai hai aisa nahi ki ab koi hota hai na koi bhi hai 15 ghante padhakar eighty percent banata hai aur koi 5 ghante palkari eighty percent bana leta ya ektifai bhi kar de toh aisa nahi hota hai ki in sab ki dua aapke jaise hain jiski yah thinking hai dekhiye sabke dimag ek jaise hi hote hain mera toh hota hi hai koi usko zyada use karta hai koi kam use karta hai aap kisi cycle ko chala rahe ho aur aap us cycle se koi 5 kilometre chala gaya koi toh usse usi cycle se 10 kilometre chala gaya yah mat kahiye ki nahi usko 5 kilometre hi chalaya ja sakta hai aisa kuch nahi hota hai sab ka najariya alag alag hota hai aap apne aapko bus hard work me puri tarah se dalo ki mujhe toh sirf Hardware ki karna hai aur sahi disha me karna hai smart hatabard karna hai gadhon ki tarah nahi padhna hai mujhe smart tarike se padhna hai poore josh exam se related jitni bhi preparation hai jitne bhi uske for interviewers hain jitne bhi usse rated jo batein hain jo log jo previous jo IAS ka exam fight kar chuke hain unse mere ko batein karni hai unse mere ko seekh leni hai toh kuch aisi aisa maahaul ko create karna padega pehle aisa nahi hota hai ki aap ek book le lo aur uske peeche padate ho aur usko hath dhokar peeche pad gaye usko puri par dala phir teen baar aapne uska revision kar diya question bhi kar diye in dekhiye exam ek aisi cheez hai jo hum baithate hain entrance me toh batein hamein yaad rehte hue bhi hum bhool jaate hain toh unko jab dimag me Refined hoti hain yah cheezen jo hamare andar confidence hota hai ki main kar sakta hoon vaah confidence maine bata diya aapko pehle jo bhi body hamare andar aata hai jab hum uske liye puri tarah taiyar hai taiyar matlab itna hard work itna matlab apne andar apne aapko criteria me dalna us matlab hum ko yah rehna chahiye ki is prithvi par puri duniya me mere alava koi aur aadmi nahi hai agar aap puri duniya ko dekhoge toh puri duniya aap se aage nikal jaaye puri duniya ko beat karna bahut badi baat hoti hai tab jaakar hi koi exam koi bade level ka exam fight kar sakte ho aap ability ke saath saath aapka dimag hansate rehna chahiye kisi bhi tarah ka koi faltu ki negativity dimag me nahi honi chahiye puri tarah positive hona chahiye aur Negative aur positive maine aapko mere recently video me bata rakha hai ki negativity Automatic nahi aati hai aap uske karan bante ho aap pehle hard work nahi karte ho phir aapke paas pardan zyada ho jata hai toh aap hard work ke prati ji churane lag jaate ho phir aapke andar Negative vichar aane lag jaate hain phir aap bhi fresh ho jaate ho toh friend shuru se hi apne hard work ko zyada private de aur zyada mehnat kare toh hi sab kuch possible ho jaega

लिखी आपने इंडियन इंजीनियरिंग सर्विस रेटेड जो क्वेश्चन किया है कि मैं खुद ही भी उसी फील्ड स

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  94
WhatsApp_icon
user

Mayank Vyas

Engineer

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी की परीक्षा का कठिन होना या नहीं होना आप की तैयारी आपके डेडीकेशन के ऊपर निर्भर करता है अगर आपने उसकी आप में वह कोई लगन नहीं है या अपने उसकी ढंग से तैयारी नहीं की तो वह परीक्षा नहीं वह एक पाठ बन जाएगा तो पहाड़ को तोड़ ना बहुत कठिन होता है लेकिन अगर आप में दरिया है आप में डेडीकेशन है आप में 1 से 2 साल तक है उसमें चेरी करने का वक्त है तो कोई बड़ी बात नहीं है आप आईएएस के एग्जाम दे सकते हैं मैं भी एक इंजीनियर हूं मैंने भी ट्राई किया था

kisi ki pariksha ka kathin hona ya nahi hona aap ki taiyari aapke dedikeshan ke upar nirbhar karta hai agar aapne uski aap me vaah koi lagan nahi hai ya apne uski dhang se taiyari nahi ki toh vaah pariksha nahi vaah ek path ban jaega toh pahad ko tod na bahut kathin hota hai lekin agar aap me dariya hai aap me dedikeshan hai aap me 1 se 2 saal tak hai usme cherry karne ka waqt hai toh koi badi baat nahi hai aap IAS ke exam de sakte hain main bhi ek engineer hoon maine bhi try kiya tha

किसी की परीक्षा का कठिन होना या नहीं होना आप की तैयारी आपके डेडीकेशन के ऊपर निर्भर करता है

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  91
WhatsApp_icon
user

Vedachary Pathak Singrauli

सनातन सुरक्षा परिषद् संस्थापक

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्त आपने पूछा आईएएस की परीक्षा कठिन होती है लेकिन कठिन तो होती है लेकिन नामुमकिन और असंभव नहीं होती है आईएस कभी परीक्षा कोई स्टूडेंट की पास करता है आपके रुचि और आपका मानसिक विकास कैसा है आप सब सब्जेक्ट को पकड़ते किस प्रकार से हैं नीति नियमों की जानकारी कितनी ही राजनीतिक जानकारी कितनी है और कानूनी जानकारी कितनी है सामाजिक जानकारी कितनी है डिपेंड आपके पढ़ाई और आपके मस्तिष्क पर करता है निर्भर है

hello dost aapne poocha IAS ki pariksha kathin hoti hai lekin kathin toh hoti hai lekin namumkin aur asambhav nahi hoti hai ias kabhi pariksha koi student ki paas karta hai aapke ruchi aur aapka mansik vikas kaisa hai aap sab subject ko pakadten kis prakar se hain niti niyamon ki jaankari kitni hi raajnitik jaankari kitni hai aur kanooni jaankari kitni hai samajik jaankari kitni hai depend aapke padhai aur aapke mastishk par karta hai nirbhar hai

हेलो दोस्त आपने पूछा आईएएस की परीक्षा कठिन होती है लेकिन कठिन तो होती है लेकिन नामुमकिन और

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  571
WhatsApp_icon
play
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

2:15

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आई एस आई एस की परीक्षा जो होती है वह कठिन तो नहीं होती है लेकिन इस पेसलाइफ दोस्ती है और इस परीक्षा के लिए हमें विशेष जारी करने की जरूरत होती है प्रोसीजर बिल्कुल यूपीसी की तरह है जैसे आईपीएस आईएएस ट्रेनिंग से रिलेटेड होती है इंजीनियरिंग के पान टेंपरेचर करना उचित है ऑफिस नहीं बच के सभी सब्जेक्ट को नोट करें उनके सभी चक्रों को नोट करें जिन छात्रों में आपको दिक्कत आती है पर विशेष ध्यान दें शेष ट्रैक्टरों को आप का प्रेस नोट बनाएं डेफिनेशन लिखने शॉर्ट आंसर 4 करें लोंग क्वेश्चन में कन्वर्ट करें उसके बाद टेंपो स्टैंड को चालू करें क्वेश्चन पेपर को आप विधि नेट चालू करें और देखते-देखते उसका परिणाम क्या आता है कितने परसेंटेज आपके सच्चे होने की संभावनाएं जब हम चार-पांच बार इस तरह के टेस्ट लेते हैं तुम्हारे कॉन्फिडेंट पड़ता है और हम मोटिवेट होते हैं अरे विश्वास हो जाता है कि हम इतनी प्यारी अगर और करने तो हमारी सफलता की संभावना निश्चित जो ठहरी करता है उसको ही विश्वास होता है उसे सफलता मिली जिसने चेरी में कमी छोड़ दी और 50% तो पहले ही अपने आप में है डिप्रेशन में चला जाता कि मेरी प्यारी नहीं हो मैं नहीं निकल सकता और पेपर के मॉडल और पेपर की प्रश्नों को देखकर 5% और लेफ्ट हो जाता है तो सफलता एग्जामिनेशन हॉल में जट दे चुकी है बात के रिजल्ट की आने ना आने का कोई मायने नहीं

I s I s ki pariksha jo hoti hai vaah kathin toh nahi hoti hai lekin is peslaif dosti hai aur is pariksha ke liye hamein vishesh jaari karne ki zaroorat hoti hai procedure bilkul UPC ki tarah hai jaise ips IAS training se related hoti hai Engineering ke pan temperature karna uchit hai office nahi bach ke sabhi subject ko note karen unke sabhi chakron ko note karen jin chhatro mein aapko dikkat aati hai par vishesh dhyan dein shesh traiktaron ko aap ka press note banaye definition likhne short answer 4 karen long question mein convert karen uske baad tempo stand ko chaalu karen question paper ko aap vidhi net chaalu karen aur dekhte dekhte uska parinam kya aata hai kitne percentage aapke sacche hone ki sambhavnayen jab hum char paanch baar is tarah ke test lete hain tumhare confident padta hai aur hum motivate hote hain arre vishwas ho jata hai ki hum itni pyaari agar aur karne toh hamari safalta ki sambhavna nishchit jo thahari karta hai usko hi vishwas hota hai use safalta mili jisne cherry mein kami chhod di aur 50 toh pehle hi apne aap mein hai depression mein chala jata ki meri pyaari nahi ho main nahi nikal sakta aur paper ke model aur paper ki prashnon ko dekhkar 5 aur left ho jata hai toh safalta examination hall mein jat de chuki hai baat ke result ki aane na aane ka koi maayne nahi

आई एस आई एस की परीक्षा जो होती है वह कठिन तो नहीं होती है लेकिन इस पेसलाइफ दोस्ती है और

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  1249
WhatsApp_icon
user

RAFTAR RAHMAN

Professor

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे आपका कोई शक है क्या आईएएस की परीक्षा कठिन होते हैं तो यह जो है परीक्षा मतलब कुछ परीक्षा ऐसे हैं कि वह कोटी होते कुछ परिचय ऐसे क्यों भी होते और टूटने आप में टिफिन करते हैं आपके अंदर कितना नॉलेज से कितना टैलेंट है आपने कितना प्रिपरेशंस किया है उसके ऊपर एक डिपेंड करते हैं अगर आपके प्रमोशन अच्छा है सभी एग्जाम के लिए आईएएस ओजांक आईएएस सिविल सर्विस के जो भी एग्जाम के लिए हो तो आगरा प्रिपरेशन आता है तो आपका जो एग्जाम है आपके लिए इजी लगेंगे और जिसके प्रिपरेशन अच्छा नहीं है उसके लिए वह बहुत ही हॉट लगे तो ए टोटली आपके ऊपर डिपेंड करता है तो शायद आपको मेरे जवाब अच्छा लगा तो अच्छा लगा तो लाइक कर दीजिए तो अभी के लिए इतना ही थैंक यू

dekhe aapka koi shak hai kya IAS ki pariksha kathin hote hain toh yah jo hai pariksha matlab kuch pariksha aise hain ki vaah koti hote kuch parichay aise kyon bhi hote aur tutne aap mein tiffin karte hain aapke andar kitna knowledge se kitna talent hai aapne kitna pripareshans kiya hai uske upar ek depend karte hain agar aapke promotion accha hai sabhi exam ke liye IAS ojank IAS civil service ke jo bhi exam ke liye ho toh agra preparation aata hai toh aapka jo exam hai aapke liye easy lagenge aur jiske preparation accha nahi hai uske liye vaah bahut hi hot lage toh a totally aapke upar depend karta hai toh shayad aapko mere jawab accha laga toh accha laga toh like kar dijiye toh abhi ke liye itna hi thank you

देखे आपका कोई शक है क्या आईएएस की परीक्षा कठिन होते हैं तो यह जो है परीक्षा मतलब कुछ परीक्

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  145
WhatsApp_icon
user
1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्वेश्चन है कि क्या आईएएस परीक्षा कठिन होती है तो जी हां मुश्किल तो होती है क्योंकि है इंडिया के यूपीएससी कनेक्ट करता तो किस तरीके से आता है और इन सिंपल वे जैसे गेट भी होती है हमारी यूपीएससी का आईएएस का पेपर बताइए व्हाट्सएप पेपर फॉर कंडक्टिंग चरोदा आईएस कंडक्टिंग थे यूपीएससी विच आईएस इज द ब्रांच फॉर इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स तो अगर आपको बेसिक स्ट्रांग है अगर बीटेक में अपने रेगुलर लिए पढ़ाई किया है दिनांक पर आपने 1 से 2 साल तक अपने कोचिंग ज्वाइन किया है एंड यू हैव टो फोकस ओं न्यू स्टडी फॉर द यूपीएससी आईईएस तो यू विल बिकम सबसे बिकॉज इसमें कंपटीशन ज्यादा होते हैं वैकेंसीज बहुत कम होती है और कभी-कभी तो ऐसा होता है कि इलेक्ट्रिकल मैकेनिकल में स्वयं 28 सीट्स होते हैं तो ए लॉट्स ऑफ कंपटीशन इन आईएएस एक्जाम डेट एंड ड्यूटी डिफिशिएंसी वैकेंसी तो मुश्किल हो जाती है और इसी वजह से हमें लगता है कि यह ज्यादा ही कठिन है और ज्यादा ही मुश्किल होगी होने में थैंक यू

question hai ki kya IAS pariksha kathin hoti hai toh ji haan mushkil toh hoti hai kyonki hai india ke upsc connect karta toh kis tarike se aata hai aur in simple ve jaise gate bhi hoti hai hamari upsc ka IAS ka paper bataiye whatsapp paper for conducting charoda ias conducting the upsc which ias is the branch for Engineering students toh agar aapko basic strong hai agar btech mein apne regular liye padhai kiya hai dinank par aapne 1 se 2 saal tak apne coaching join kiya hai and you have toe focus on new study for the upsc ies toh you will become sabse because isme competition zyada hote hain vacancies bahut kam hoti hai aur kabhi kabhi toh aisa hota hai ki electrical mechanical mein swayam 28 seats hote hain toh a lots of competition in IAS exam date and duty difishiensi vacancy toh mushkil ho jaati hai aur isi wajah se hamein lagta hai ki yah zyada hi kathin hai aur zyada hi mushkil hogi hone mein thank you

क्वेश्चन है कि क्या आईएएस परीक्षा कठिन होती है तो जी हां मुश्किल तो होती है क्योंकि है इंड

Romanized Version
Likes  48  Dislikes    views  538
WhatsApp_icon
user
0:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा आईएएस की परीक्षा कठिन होते हैं देखिए रिचा हर कठिन होता है जिस व्यक्ति को उस चीज के बारे में नॉलेज नहीं है जानकारी नहीं आई इसके परीक्षा में भी बच्चे निकालते हैं यूपीएससी के परीक्षा में निकालते हैं ठीक है जीपीएस सिम निकालते हैं दुनिया के कोई भी परीक्षा जिनको उस चीज के बारे में नॉलेज है उस परीक्षा में उत्तर के बारे में नॉलेज है उसके लिए वह एग्जाम कठिन नहीं होगा जिस व्यक्ति को उस चीज के बारे में उस प्रश्न के बारे में नॉलेज नहीं है उस व्यक्ति को परीक्षा कठिन होगा जय हो यूपीएससी लेवल का हो या सबसे लोअर लेवल का थैंक्यू

aapne poocha IAS ki pariksha kathin hote hain dekhiye richa har kathin hota hai jis vyakti ko us cheez ke bare mein knowledge nahi hai jaankari nahi I iske pariksha mein bhi bacche nikalate hain upsc ke pariksha mein nikalate hain theek hai GPS sim nikalate hain duniya ke koi bhi pariksha jinako us cheez ke bare mein knowledge hai us pariksha mein uttar ke bare mein knowledge hai uske liye vaah exam kathin nahi hoga jis vyakti ko us cheez ke bare mein us prashna ke bare mein knowledge nahi hai us vyakti ko pariksha kathin hoga jai ho upsc level ka ho ya sabse lower level ka thainkyu

आपने पूछा आईएएस की परीक्षा कठिन होते हैं देखिए रिचा हर कठिन होता है जिस व्यक्ति को उस चीज

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  77
WhatsApp_icon
user
0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आईएस जो परीक्षा वह कठिन होती है कठिन मानना या ना मानना अपने मन के ऊपर डिपेंड होता है अगर मान ले कर किसको कि यह सरल है तो वह चीज में ज्यादा जल्दी कवर कर पाएंगे कि चाय किए ज्यादा कठिन हो तो हम उसको देख कर ही मरी मरी थी उसे कि हम कठिन काम करने में दिमाग दिमाग कुछ काम को करने के लिए बस मिलता है वह सब काम करना चाहता है तो अपना फोटो भेजो अपने कर रहे हैं और अच्छे से प्रकाशन कर रहे तो मुश्किल कुशा नहीं है उसको अप्लाई कर सकते हैं तो आप अगर अच्छे से अपनी मेहनत करें तो आज की परीक्षा कितनी मुश्किल नहीं करते हैं वह हमें कोई अलग नहीं होते हैं उनके लिए कोई ऑपरेशन नहीं होती अलग स्टार्ट हो सकता है

dekhiye ias jo pariksha vaah kathin hoti hai kathin manana ya na manana apne man ke upar depend hota hai agar maan le kar kisko ki yah saral hai toh vaah cheez mein zyada jaldi cover kar payenge ki chai kiye zyada kathin ho toh hum usko dekh kar hi mari mari thi use ki hum kathin kaam karne mein dimag dimag kuch kaam ko karne ke liye bus milta hai vaah sab kaam karna chahta hai toh apna photo bhejo apne kar rahe hain aur acche se prakashan kar rahe toh mushkil kusha nahi hai usko apply kar sakte hain toh aap agar acche se apni mehnat karen toh aaj ki pariksha kitni mushkil nahi karte hain vaah hamein koi alag nahi hote hain unke liye koi operation nahi hoti alag start ho sakta hai

देखिए आईएस जो परीक्षा वह कठिन होती है कठिन मानना या ना मानना अपने मन के ऊपर डिपेंड होता है

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  130
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!