इसका सवाल बताओ अमीर अमीर होता जा रहा गरीब गरीब होता जा रहा इसका क्या है?...


user

Dr. Shakeel Akhtar

Homeopathy Doctor

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए 100000 से 200000 कमाना आसान है लेकिन वह शुरू का एक लाख जो है वह बहुत मुश्किल है कमाना वह किला कहां पर है जिसके पास एक लाख होगा वह उसे एक लाख को इन्वेस्ट करके उससे ज्यादा पैसे कमा लेगा तो अमीर बन जाएगा और वह गरीब आदमी जिससे ₹1000 भी नहीं है वह क्या सर्च करें आगे बढ़ने के लिए कमाने के लिए रेस्ट करने के लिए उसके पास पैसा नहीं है तो वह कैसे अमीर बने तो यहीं हो जाएगी अमीर अमीर ज्यादा अमीर होता जा रहा है गरीब और गरीब होता जा रहा है थैंक यू

dekhiye 100000 se 200000 kamana aasaan hai lekin vaah shuru ka ek lakh jo hai vaah bahut mushkil hai kamana vaah kila kaha par hai jiske paas ek lakh hoga vaah use ek lakh ko invest karke usse zyada paise kama lega toh amir ban jaega aur vaah garib aadmi jisse Rs bhi nahi hai vaah kya search kare aage badhne ke liye kamane ke liye rest karne ke liye uske paas paisa nahi hai toh vaah kaise amir bane toh yahin ho jayegi amir amir zyada amir hota ja raha hai garib aur garib hota ja raha hai thank you

देखिए 100000 से 200000 कमाना आसान है लेकिन वह शुरू का एक लाख जो है वह बहुत मुश्किल है कमान

Romanized Version
Likes  188  Dislikes    views  1610
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Pankaj Kr(youtube -AJ PANKAJ MATHS GURU)

Motivational Speaker/YouTube-AJ PANKAJ MATHS GURU

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अमीर अमीर अमीर अमीर और अमीर होते जाने से इसका कारण है कुछ फासले कुंजी कुंजी के वजह से एक उद्योग धंधे एक्शन खोलते इंतजार गरीबों के पास अच्छे शिक्षक कमी होती है अच्छा इंसान नहीं होता है इसके वजह से उनके पास पैसे की कमी रहती है रिपीट पाना भी मुश्किल हो तेरी कितनी देख आते हैं और स्वास्थ्य ठीक से नहीं करें उस आफ इलाज नहीं हो पाता इस प्रकार कर सकते हैं का अमीर और अमीर होते जा रहे हैं गरीब और गरीब होती जा रही

amir amir amir amir aur amir hote jaane se iska karan hai kuch fasle kunji kunji ke wajah se ek udyog dhande action kholte intejar garibon ke paas acche shikshak kami hoti hai accha insaan nahi hota hai iske wajah se unke paas paise ki kami rehti hai repeat paana bhi mushkil ho teri kitni dekh aate hain aur swasthya theek se nahi kare us of ilaj nahi ho pata is prakar kar sakte hain ka amir aur amir hote ja rahe hain garib aur garib hoti ja rahi

अमीर अमीर अमीर अमीर और अमीर होते जाने से इसका कारण है कुछ फासले कुंजी कुंजी के वजह से एक उ

Romanized Version
Likes  327  Dislikes    views  3798
WhatsApp_icon
user

Loan Guru

Financial Expert

2:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्त आपने बहुत से सवाल पूछा है कि अमित दिन-ब-दिन उम्मीद क्यों होता जाएगा और गरीब क्यों गोरी हो तारा सिद्धांत है उदाहरण के तौर पर एक गरीब के पास दिल्ली खान पीन के लिए ही आवश्यकता पड़ती है वह इतने दिन का हो पाता है जितना कि वह से खर्चे के लायक होता है और उसके अलावा उसकी कहीं से कोई नहीं होती है और अमीर के पास आगे का भी स्रोत होते हैं जैसे कि उनका घर का राज चलता है वह चलाओ के बिल्डिंग खराब शांति ही उनके कई लोग कर्म काम करते हैं उन लोगों से मिलकर लेते ही लो या उनके पास चेयरमैन मस्त रहते हैं लोग वहां तक कमा लेते हैं या फिर यह लो कौशिक प्रॉपर्टी पर किस कर लेते हैं इनको बावड़ा देवास का मूल स्रोत होते हैं इनकम के खर्चे का जीवन यापन लेकिन हम लोगों के होते हैं यह मौका रहता है लोगों का और सबसे अच्छी बात क्या होती है इन लोगों के अंदर हमेशा पॉजिटिव थिंक होती है और निर्णय लेने की क्षमता बहुत अधिक होती है यह बहुत जल्द निर्णय लेते हैं उनको ब्लॉक होता है लेकिन यह डिस्प्ले लेते हैं और हम लोग इसमें ले पाते हैं तो घरेलू उपाय बहुत निश्चित होती है जो डरते हैं थोड़ा सा किए करें कि ना करें ऐसा हो जाता है लेकिन यह अक्षर का होता है कि 10 बार देख लेते हैं सातवारी विजय प्राप्त कर लेते हैं और बेटा क्या बोलते कॉल ले चल रहा है चलने कहां हो जाएंगी जहां रखते आटा खा जाती तो इन्हीं कॉपी इंसुलिन चलते रहते हैं इनमें ब्रश करते हैं इनॉक्स शेयर मार्केट लव प्रॉपरिया में हड़ताल के नुस्खे रखते हैं प्रेम को

dost aapne bahut se sawaal poocha hai ki amit din bsp din ummid kyon hota jaega aur garib kyon gori ho tara siddhant hai udaharan ke taur par ek garib ke paas delhi khan pin ke liye hi avashyakta padti hai vaah itne din ka ho pata hai jitna ki vaah se kharche ke layak hota hai aur uske alava uski kahin se koi nahi hoti hai aur amir ke paas aage ka bhi srot hote hain jaise ki unka ghar ka raj chalta hai vaah chalao ke building kharab shanti hi unke kai log karm kaam karte hain un logo se milkar lete hi lo ya unke paas chairman mast rehte hain log wahan tak kama lete hain ya phir yah lo kaushik property par kis kar lete hain inko bavada devas ka mul srot hote hain income ke kharche ka jeevan yaapan lekin hum logo ke hote hain yah mauka rehta hai logo ka aur sabse achi baat kya hoti hai in logo ke andar hamesha positive think hoti hai aur nirnay lene ki kshamta bahut adhik hoti hai yah bahut jald nirnay lete hain unko block hota hai lekin yah display lete hain aur hum log isme le paate hain toh gharelu upay bahut nishchit hoti hai jo darte hain thoda sa kiye kare ki na kare aisa ho jata hai lekin yah akshar ka hota hai ki 10 baar dekh lete hain satvari vijay prapt kar lete hain aur beta kya bolte call le chal raha hai chalne kaha ho jayegi jaha rakhte atta kha jaati toh inhin copy insulin chalte rehte hain inmein brush karte hain inaks share market love prapriya me hartal ke nuskhe rakhte hain prem ko

दोस्त आपने बहुत से सवाल पूछा है कि अमित दिन-ब-दिन उम्मीद क्यों होता जाएगा और गरीब क्यों गो

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  183
WhatsApp_icon
user

vedprakash singh

Psychologist

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि इसका सवाल बताओ अमीर अमीर होता जा रहा है और गरीब गरीब होता जा रहा है इसका कारण क्या है सबसे बड़ी बात है कि पैसे पैसे कमाती है तब अमीर लोग हो पैसे लगा देते हैं और लोगों को रखते हैं काम पर तो हम अकेला काम करेंगे और जो अमीर है उसके साथ दसवीं साथ में काम करे तो पैसा उसी का जवाब हम देंगे अपने से ज्यादा कमा कर फिर हमारे पास होगा तो जरूर आती है उनकी भी उतनी हमारी इतनी थोड़ी सी ज्यादा होगी इस कारण से वह तो अमीर होता जाएगा हम गरीब होते जाएंगे उनके और दौलत चालक हम आएंगे लेकिन हम सब आदमी मिलके कमाएंगे जितने सब आदमी मिलकर पांचला कमाएंगे जो कितनी भीड़ में फिर हमारी भी चार पांच बच्चे उसके घर के परिवार के लोग तो गरीब होते जाएंगे जलाते हैं तो अधूरी बातें हैं कि जो गरीब है वह गरीब नहीं है उसकी सोच विचार गरीब है सोच विचार को अमीर मानना होगा हमें खुल कर अपने बारे में सोचना होगा मैं क्या करना है और यदि जैसे पैसे ज्यादा हो जाए तो बांटने चाहिए वैसे ही हम लोग के अंदर जो प्रेम ज्यादा हो तो प्रेम बांटना चाहिए चलना चाहिए उसी तरीके से हम खुद ही गरीबी में जीने का सोच रखें यदि हमारे कुर्सी हमारे पास हो और उन कुर्सियों को सेवर नाचे नीचे नहीं क्योंकि हमारे लिया था में बैठना चाहिए हम गरीब होने का सोच रखे हम गरीब हैं हम गरीब होने का नहीं सोचेंगे तो अमीर हो जाएंगे

aapka sawaal hai ki iska sawaal batao amir amir hota ja raha hai aur garib garib hota ja raha hai iska karan kya hai sabse badi baat hai ki paise paise kamati hai tab amir log ho paise laga dete hain aur logo ko rakhte hain kaam par toh hum akela kaam karenge aur jo amir hai uske saath dasavi saath me kaam kare toh paisa usi ka jawab hum denge apne se zyada kama kar phir hamare paas hoga toh zaroor aati hai unki bhi utani hamari itni thodi si zyada hogi is karan se vaah toh amir hota jaega hum garib hote jaenge unke aur daulat chaalak hum aayenge lekin hum sab aadmi milke kamayenge jitne sab aadmi milkar panchala kamayenge jo kitni bheed me phir hamari bhi char paanch bacche uske ghar ke parivar ke log toh garib hote jaenge jalate hain toh adhuri batein hain ki jo garib hai vaah garib nahi hai uski soch vichar garib hai soch vichar ko amir manana hoga hamein khul kar apne bare me sochna hoga main kya karna hai aur yadi jaise paise zyada ho jaaye toh baantne chahiye waise hi hum log ke andar jo prem zyada ho toh prem bantana chahiye chalna chahiye usi tarike se hum khud hi garibi me jeene ka soch rakhen yadi hamare kursi hamare paas ho aur un kursiyo ko sevar nache niche nahi kyonki hamare liya tha me baithana chahiye hum garib hone ka soch rakhe hum garib hain hum garib hone ka nahi sochenge toh amir ho jaenge

आपका सवाल है कि इसका सवाल बताओ अमीर अमीर होता जा रहा है और गरीब गरीब होता जा रहा है इसका क

Romanized Version
Likes  48  Dislikes    views  714
WhatsApp_icon
play
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पिता हमारे यहां अमीर अमीर होता जा रहा है गरीब गरीब होता क्यों जा रहा है इसके कारण कुछ है हमारे देश में 80% पैसा 20 परसेंट अमीर लोगों की धनवान लोगों के पास और 20% पैसा अस्सी परसेंट कॉटन के लोग गरीब लोगों में जिन लोगों पर उसका कारण के 10 अमीर लोगों ने शुरु शुरु में हार्ड वर्क किए हैं बहुत अभावों को झेला है बहुत संघर्ष किया है तब यह लोग बिजनेस किया इन लोगों ने काफी देश की है और काफी दौर को देखने के बाद में अमेरिकी दौड़ तक पहुंचे हैं लेकिन कुछ हम लोगों में भी कमियां हैं नंबर 1 हम लोग नैतिक रुप से इतने गिर चुके इतने हरामखोर हो गए कि हमें फ्री का खाने का चाहिए बैंक सरकार उनको लोन किस बात के लिए देती काम अपना रोजगार विकसित करें लेकिन हम धोखा देकर के पैसा लेते हो कुछ खाते नहीं है नीरव मोदी जैसे 8,000 9,000 करोड़ों को ले जाते हैं राजनीतिक गंदगी इतनी ज्यादा है कि रोज के गबन घोटाले होते हैं तो यह सारा पैसा चोरी करके भाग जाते हैं किस पर आता है हम लोगों पर आता है उसका टेक्स्ट नुकसान होता है उसकी बसूली तो हम लोग लेते हैं उनको हम लोग नहीं चुकाते सरकार कुछ उन्नति के लिए रास्ता का बनाने का प्रयास करती है तो हम कितने चोर ले जाते हैं हम सीमेंट उठा ले जाते हैं नित रोज कि हम सड़क जाम करते हैं मित्र उसके पास और ट्रेनों में आग लगाते हैं अब तुम सोचोगे एक 10 करोड रुपए की आती है उसको में आग लगा दिया तो सरकार सुविधा तो बस आएगी जनता के लिए तो वह करोड़ों रुपए लगाने पड़ेंगे इस प्रकार से हम देश के विकास में बाधक है सरकार गरीबों के उठाने का प्रयास करती है लेकिन हमारे आलस के कारण हमारी मक्कारी के कारण उसमें पूरा सहयोग नहीं करते प्रणाम सर

pita hamare yahan amir amir hota ja raha hai garib garib hota kyon ja raha hai iske kaaran kuch hai hamare desh mein 80% paisa 20 percent amir logo ki dhanwan logo ke paas aur 20% paisa assi percent cotton ke log garib logo mein jin logo par uska kaaran ke 10 amir logo ne shuru shuru mein hard work kiye hain bahut abhavon ko jhela hai bahut sangharsh kiya hai tab yeh log business kiya in logo ne kaafi desh ki hai aur kaafi daur ko dekhne ke baad mein american daudh tak pahuche hain lekin kuch hum logo mein bhi kamiyan hain number 1 hum log naitik roop se itne gir chuke itne haramkhor ho gaye ki humein free ka khane ka chahiye bank sarkar unko loan kis baat ke liye deti kaam apna rojgar viksit karein lekin hum dhokha dekar ke paisa lete ho kuch khate nahi hai neerav modi jaise 8,000 9,000 karodo ko le jaate hain raajnitik gandagi itni zyada hai ki roj ke gaban ghotale hote hain toh yeh saara paisa chori karke bhag jaate hain kis par aata hai hum logo par aata hai uska text nuksan hota hai uski basuli toh hum log lete hain unko hum log nahi chukate sarkar kuch unnati ke liye rasta ka banane ka prayas karti hai toh hum kitne chor le jaate hain hum cement utha le jaate hain nit roj ki hum sadak jam karte hain mitra uske paas aur traino mein aag lagate hain ab tum sochoge ek 10 crore rupaye ki aati hai usko mein aag laga diya toh sarkar suvidha toh bus aayegi janta ke liye toh wah karodo rupaye lagane padenge is prakar se hum desh ke vikas mein badhak hai sarkar garibon ke uthane ka prayas karti hai lekin hamare aalas ke kaaran hamari makkari ke kaaran usme pura sahyog nahi karte pranam sar

पिता हमारे यहां अमीर अमीर होता जा रहा है गरीब गरीब होता क्यों जा रहा है इसके कारण कुछ है ह

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  365
WhatsApp_icon
user

Gulnaz

लेवल 1 (बिगिनर)

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जी बिल्कुल मैं आप की बात से सहमत हूं कि आप जो सवाल कर रहे हैं कि अमीर अमीर होता जा रहा है और गरीब गरीब होता जा रहा है हालांकि गरीब गरीब इसलिए होता जा रहा है कि उनके पास इतनी नॉलेज नहीं रहती है जितनी एजुकेटेड पर्सन के पास नहीं होती है उनको जो है लेकिन नॉलेज नहीं होती है व्हाट इस द रीज़न वह अपना जो भी नॉलेज है वह अपनी क्रिएटिविटी के साथ कोई भी लेकर कुछ काम कार्य या फिर बिजनेस स्टार्ट अप करने के लिए मैंने पता नहीं चलता है अमीर अमीर होते हैं इसलिए क्योंकि उनको ज्यादा नॉलेज होती है कि क्या करने से क्या सही है पैसे कैसे कमा सकते हैं और कैसे इंग्लिश में करने से कैसे उनको प्रॉफिट मिलेगा रेवेन्यू मिलेगा इसी के कारण अमीर अमीर होता जा रहा है और गरीब गरीब ही होते जा रहे हैं आज तो गरीब को जो है सहायता करने की अधिकतम हम कोई भी हेल्प अलेका पीछे से अलवर जाने का हेल्प करने की

haan ji bilkul main aap ki baat se sahmat hoon ki aap jo sawaal kar rahe hain ki amir amir hota ja raha hai aur garib garib hota ja raha hai halaki garib garib isliye hota ja raha hai ki unke paas itni knowledge nahi rehti hai jitni educated person ke paas nahi hoti hai unko jo hai lekin knowledge nahi hoti hai what is the region vaah apna jo bhi knowledge hai vaah apni creativity ke saath koi bhi lekar kuch kaam karya ya phir business start up karne ke liye maine pata nahi chalta hai amir amir hote hain isliye kyonki unko zyada knowledge hoti hai ki kya karne se kya sahi hai paise kaise kama sakte hain aur kaise english mein karne se kaise unko profit milega revenue milega isi ke karan amir amir hota ja raha hai aur garib garib hi hote ja rahe hain aaj toh garib ko jo hai sahayta karne ki adhiktam hum koi bhi help aleka peeche se alwar jaane ka help karne ki

हां जी बिल्कुल मैं आप की बात से सहमत हूं कि आप जो सवाल कर रहे हैं कि अमीर अमीर होता जा रहा

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
सवाल बताओ ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!