#Tezgam: पाकिस्तान ट्रेन में विस्फोट से 65 की मौत, गैस सिलेंडर पर खाना बना रहे थे दो यात्री, आपकी राय?...


user

Mehnaz Amjad

Mindset Coach

2:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तेज काम में हुए हादसे में जितने लोग शिकार हुए पाकिस्तान में मेरी राय इसमें यही होगी जो मैंने थोड़े दिन पहले शायद एक या दो दिन पहले ही हमने देखा के कैसे इंडिया में एक छोटा बच्चा बोरवेल में फंसकर चेन्नई में सुधीर जो है मौत के हवाले हो क्या तो इसमें हो या पाकिस्तान के ट्रेन के अंदर सिलेंडर पर खाना बना रहे लोगों की गलत हरकत जिसके कारण आग लग गई और लोग झुलस के मार्केट दोनों चीजों में अगर आप देखो या फिर कहीं और भी ऐसा कोई हादसा हो तो यही बात सामने आती है कि सेफ्टी स्टैंडर्ड्स कोई नहीं फॉलो कर रहा हम जहां एक शाम तक जा रहे हैं लेकिन एक बच्चे को बोरवेल से बचाकर नहीं ला सकते ना ही ऐसा कोई इंतजाम कर सकते हैं कि एक बच्चा इस तरह की घटना काश करना हो इसी तरह पाकिस्तान तो इंडिया से वैसे भी कई दर्जे बैकवर्ड है तो उनके यहां भी सेफ्टी स्टैंडर्ड्स में इस्तेमाल करने का नतीजा यह है कि इतना बड़ा हादसा ट्रेन के अंदर क्योंकि ट्रेन में आग लगना वैसे भी इतना मुमकिन नहीं है लेकिन अगर आप एक चलती हुई गाड़ी में ऐसी चीजों का इस्तेमाल करोगे जिससे सेफ्टी नहीं रहेगी और और चलती भी गाड़ी को रोककर लोगों को बचाना थोड़ा मुश्किल होता है और उसमें कि जब आग लगती है क्योंकि ट्रेन एक ही एक से एक लाख में जुड़ी होती है कि सारा कुछ उनके उनको उस कंट्री को सोचना चाहिए अपने लोगों की सेफ्टी के बारे में और स्पेशली ट्रेन के अंदर क्या अलार्म करें और क्या नहीं करें तो यही कि हम ही कह सकते हैं एक तो दुख होता है देख कर के किस हद तक लोग अपने मतलब के लिए हर चीज से कंप्रोमाइज करते हैं और ऐसी घटनाएं सामने आती है

tez kaam mein hue haadse mein jitne log shikaar hue pakistan mein meri rai isme yahi hogi jo maine thode din pehle shayad ek ya do din pehle hi humne dekha ke kaise india mein ek chota baccha borewell mein fansakar Chennai mein sudheer jo hai maut ke hawale ho kya toh isme ho ya pakistan ke train ke andar cylinder par khana bana rahe logon ki galat harkat jiske karan aag lag gayi aur log jhulas ke market dono chijon mein agar aap dekho ya phir kahin aur bhi aisa koi hadasaa ho toh yahi baat saamne aati hai ki safety Standards koi nahi follow kar raha hum jahan ek shaam tak ja rahe hain lekin ek bacche ko borewell se bachakar nahi la sakte na hi aisa koi intajam kar sakte hain ki ek baccha is tarah ki ghatna kash karna ho isi tarah pakistan toh india se waise bhi kai darje backward hai toh unke yahan bhi safety Standards mein istemal karne ka natija yah hai ki itna bada hadasaa train ke andar kyonki train mein aag lagna waise bhi itna mumkin nahi hai lekin agar aap ek chalti hui gaadi mein aisi chijon ka istemal karoge jisse safety nahi rahegi aur aur chalti bhi gaadi ko rokakar logon ko bachaana thoda mushkil hota hai aur usmein ki jab aag lagti hai kyonki train ek hi ek se ek lakh mein judi hoti hai ki saara kuch unke unko us country ko sochna chahiye apne logon ki safety ke bare mein aur speshli train ke andar kya alarm karen aur kya nahi karen toh yahi ki hum hi keh sakte hain ek toh dukh hota hai dekh kar ke kis had tak log apne matlab ke liye har cheez se compromise karte hain aur aisi ghatnayen saamne aati hai

तेज काम में हुए हादसे में जितने लोग शिकार हुए पाकिस्तान में मेरी राय इसमें यही होगी जो मैं

Romanized Version
Likes  261  Dislikes    views  3625
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!