भारतीय पत्रकारिता के सबसे खराब उदाहरण क्या हैं?...


play
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:49

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय पत्रकारिता के सबसे खराब उदाहरण रवीश कुमार जी हैं बरखा जी हैं यह लोग बिकाऊ मीडिया हैं बिकाऊ पत्रकार हैं यह लोग कांग्रेस पार्टी से बिके हुए पत्रकार हैं मैंने तो मैं एनडीटीवी कभी नहीं देखता हूं क्योंकि एनडीटीवी हमेशा हमारे देश के विरोधी कार्यों को दिखाता है हमारे देश के आतंकवादियों का सपोर्ट करता है और रवीश कुमार जो पत्रकार हैं एनडीटीवी के जो पत्रकार हैं लेकिन यह लोग क्या है बिकाऊ हैं यह लोग आतंकवादियों से बिके हुए हैं कांग्रेस पार्टी ने ने खरीदा हुआ है हमेशा यह कांग्रेस की बढ़ाई दिखाते हैं मैं बोलना चाहता हूं कांग्रेस अगर इतना अच्छा काम की होती तो आज हमारा देश कितना शक्तिशाली होता आज हम शायद बहुत शक्तिशाली होते हमारे ₹1 का वैल्यू $1 के बराबर हुआ करता था आजादी के पहले उसके बाद तो कांग्रेस पार्टी रही 70 सालों में 55 साल राज किया अगर वह अच्छा कार्य किए होते तो आज हमारा हमारे रुपए का हमारे पैसे का वैल्यू अधिक रहता है हमारे देश में आतंकवादी हमले कभी नहीं होते हमारे देश में बड़ी बड़ी मिसाइल होती है अच्छी-अच्छी टेक्नोलॉजीज होती जिससे आतंकवादी भयभीत होते लेकिन इन लोगों ने काम नहीं किया और उस आज मोदी जी वह सारा काम पूरा कर रहे हैं 5 साल के कार्यकाल में उन्होंने कितना हथियार खरीदा है बुलेट प्रूफ जैकेट खरीदा है हमारे देश के फौजी आर्मी के लिए और हमारे पास बहुत सारी टेक्नोलॉजीज है जिसके माध्यम से आज पाकिस्तान नतमस्तक हो रहा है हमारे देश के आगे इसलिए अपना महत्वपूर्ण वोट भारतीय जनता पार्टी को दीजिए ताकि हमारा देश आने वाले 5 सालों में और शक्तिशाली हो सके और एक बार फिर से विश्व गुरु काला सके धन्यवाद

bharatiya patrakarita ke sabse kharab udaharan ravish kumar ji hain barkha ji hain yah log bikau media hain bikau patrakar hain yah log congress party se bikey hue patrakar hain maine toh main NDTV kabhi nahi dekhta hoon kyonki NDTV hamesha hamare desh ke virodhi karyo ko dikhaata hai hamare desh ke aatankwadion ka support karta hai aur ravish kumar jo patrakar hain NDTV ke jo patrakar hain lekin yah log kya hai bikau hain yah log aatankwadion se bikey hue hain congress party ne ne kharida hua hai hamesha yah congress ki badhai dikhate hain main bolna chahta hoon congress agar itna accha kaam ki hoti toh aaj hamara desh kitna shaktishali hota aaj hum shayad bahut shaktishali hote hamare Rs ka value 1 ke barabar hua karta tha azadi ke pehle uske baad toh congress party rahi 70 salon mein 55 saal raj kiya agar vaah accha karya kiye hote toh aaj hamara hamare rupaye ka hamare paise ka value adhik rehta hai hamare desh mein aatankwadi hamle kabhi nahi hote hamare desh mein badi badi missile hoti hai achi achi technologies hoti jisse aatankwadi bhayabhit hote lekin in logo ne kaam nahi kiya aur us aaj modi ji vaah saara kaam pura kar rahe hain 5 saal ke karyakal mein unhone kitna hathiyar kharida hai bullet proof jacket kharida hai hamare desh ke fauji army ke liye aur hamare paas bahut saree technologies hai jiske madhyam se aaj pakistan natamastak ho raha hai hamare desh ke aage isliye apna mahatvapurna vote bharatiya janta party ko dijiye taki hamara desh aane waale 5 salon mein aur shaktishali ho sake aur ek baar phir se vishwa guru kaala sake dhanyavad

भारतीय पत्रकारिता के सबसे खराब उदाहरण रवीश कुमार जी हैं बरखा जी हैं यह लोग बिकाऊ मीडिया है

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  452
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Mahjabeen Ali

RJ | Cook | TV Anchor | VO Artist

1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ई जी पी आर पी रेटिंग होती है ना इन्हें बढ़ाने के लिए जो हमारा इंडियन मीडिया है वह बहुत ज्यादा गिरता ही चला जा रहा है रिजल्ट एग्जाम है उसमें अगर हम देखें तो श्रीदेवी की डेट को इतना बढ़ा चढ़ाकर फॉलो किया जा रहा था टेलीविजन पर जबकि और भी बहुत ही इंपॉर्टेंट मुद्दे थे जो कि उस वक्त कम करने चाहिए थे इन लोगों को उस वक्त नीरव मोदी का जो केस था वह ताजा था वह उस पर ऑनलाइन लाइव स्कोर लाइमलाइट में डालने के बजाय उसकी रोशनी डालने के बजाय लोग श्रीदेवी की डेट को इतना बढ़ा-चढ़ा कर बता रहे थे उस मार्टिन गंज रिक्वायर्ड श्रीदेवी जो है बाकी सब वेरी गुड आफ्टर एंड यू आर वेरी इंपॉर्टेंट टू बॉलीवुड एंड एवरी बडी बडी लव साई ऑफ श्रीदेवी संजय पैलेस द फैमिली है और वह बहुत ही अजीब तरीके से पूजन किया गया था अगर इंटरनेशनल लेवल पर देखा जाए तो मेरे हिसाब से दूसरे लोग दूसरी कंट्री के लोग तो इस तरीके की पत्रकारिता को देख कर हंस रहे होंगे और मतलब दूसरी तरफ अगर हम देखें तो एक दफा एक तरफ श्रीदेवी की डेट हो रही तू हुई थी वह खबर कर रहे थे दूसरी तरफ सीरिया की सेवर है उसको तो भूल ही गए मतलब उसके बारे में तो कोई बात ही नहीं कर रहा था नीरव मोदी का केस था उसके बारे में कोई बात ही नहीं कर रहा था विश यू सो मच आने से शरीर और एक बहुत ही अजीब चीज हुई थी चांदनी खबर क्या था उन लोगों ने एक मौका बाथरुम बनाया जिसमें उन्होंने यह बताने की कोशिश करें कि किस तरीके से श्रीदेवी की मौत हुई होगी एवरीबॉडी वाचिंग टेलीविज़न टाइम आदि लोग हंस रहे थे और आधे लोग सर पकड़ कर बैठे हुए थे बहुत ज्यादा ही नॉनसेंस क्रिएट किया गया था टेलीविजन पर

ee ji p R p rating hoti hai na inhen badhane ke liye jo hamara indian media hai vaah bahut zyada girta hi chala ja raha hai result exam hai usme agar hum dekhen toh sridevi ki date ko itna badha chadhakar follow kiya ja raha tha television par jabki aur bhi bahut hi important mudde the jo ki us waqt kam karne chahiye the in logo ko us waqt neerav modi ka jo case tha vaah taaza tha vaah us par online live score limelight mein dalne ke bajay uski roshni dalne ke bajay log sridevi ki date ko itna badha chadha kar bata rahe the us martin ganj required sridevi jo hai baki sab very good after and you R very important to bollywood and every badi badi love sai of sridevi sanjay Palace the family hai aur vaah bahut hi ajib tarike se pujan kiya gaya tha agar international level par dekha jaaye toh mere hisab se dusre log dusri country ke log toh is tarike ki patrakarita ko dekh kar hans rahe honge aur matlab dusri taraf agar hum dekhen toh ek dafa ek taraf sridevi ki date ho rahi tu hui thi vaah khabar kar rahe the dusri taraf syria ki sevar hai usko toh bhool hi gaye matlab uske bare mein toh koi baat hi nahi kar raha tha neerav modi ka case tha uske bare mein koi baat hi nahi kar raha tha wish you so match aane se sharir aur ek bahut hi ajib cheez hui thi chandni khabar kya tha un logo ne ek mauka bathroom banaya jisme unhone yah batane ki koshish kare ki kis tarike se sridevi ki maut hui hogi everybody vaching Television time aadi log hans rahe the aur aadhe log sir pakad kar baithe hue the bahut zyada hi nonsense create kiya gaya tha television par

ई जी पी आर पी रेटिंग होती है ना इन्हें बढ़ाने के लिए जो हमारा इंडियन मीडिया है वह बहुत ज्य

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
user

Avi

Content Writer

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे हिसाब से बहुत सारे पत्रकार बहुत ही सेल्फिश होते हैं टीआरपी रेटिंग के लिए बहुत सारी घटनाओं के बारे में लिखते हैं और इतना उसे वर्णन करते हैं कि वह इफेक्ट होने वाले लोगों को भी बहुत तकलीफ पहुंचाई का एक उदाहरण देती हूं कि वह जो कोई रेप केस होगा उसके बारे में फोटोस के साथ बहुत सारे बात लिखते हैं और इसके कारण बहुत सुसाइड होते है और उनके लिंग भी होते हैं और यह बहुत ही बुरी बात है

mere hisab se bahut saare patrakar bahut hi selfish hote hain trp rating ke liye bahut saree ghatnaon ke bare mein likhte hain aur itna use varnan karte hain ki vaah effect hone waale logo ko bhi bahut takleef pahunchai ka ek udaharan deti hoon ki vaah jo koi rape case hoga uske bare mein photoss ke saath bahut saare baat likhte hain aur iske karan bahut suicide hote hai aur unke ling bhi hote hain aur yah bahut hi buri baat hai

मेरे हिसाब से बहुत सारे पत्रकार बहुत ही सेल्फिश होते हैं टीआरपी रेटिंग के लिए बहुत सारी घट

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  183
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय पत्रकार के सबसे खराब उदाहरण अभी देना ही है तो अभी हाल फिलहाल में जो एक्सीडेंट हुआ श्रीदेवी जी की मौत हुई और उनकी मौत के बाद जिस तरह से सारे न्यूज़ चैनल आज जिस तरह से फोकस कर रहे थे या फिर बिना कोई सबूत किया फिर बिना कोई प्रूफ के पुरुष में जांच पड़ताल करना कहां पर क्या हो रहा है कौन कहां जा रहा है उनकी हर न्यूज़ चैनल में देखेंगे सिर्फ एक ही बात जो है इसके बारे में बात की जा रही है इसमें कोई दो राय नहीं है कि श्री देवी जी इस देश की सबसे बड़ी कलाकार थे और अफसोस है कि हमने उन्हें खो दिया दुनिया में और भी बहुत सारी चीजें पूरी है जिनको जिनको की फोकस में लाना है और बाकी आप लोगों को उसके बारे में जानकारी होनी चाहिए तो एक इस टॉपिक की वजह से जितने भी मुद्दों से फोकस था वह बिल्कुल भी हट गया जैसे कि हाल फिलहाल में नीरव मोदी और राहुल चौकसी का केस चल रहा था वह जिस

bharatiya patrakar ke sabse kharab udaharan abhi dena hi hai toh abhi haal filhal mein jo accident hua sridevi ji ki maut hui aur unki maut ke baad jis tarah se saare news channel aaj jis tarah se focus kar rahe the ya phir bina koi sabut kiya phir bina koi proof ke purush mein jaanch padatal karna kahaan par kya ho raha hai kaun kahaan ja raha hai unki har news channel mein dekhenge sirf ek hi baat jo hai iske bare mein baat ki ja rahi hai isme koi do rai nahi hai ki shri devi ji is desh ki sabse badi kalakar the aur afasos hai ki humne unhe kho diya duniya mein aur bhi bahut saree cheezen puri hai jinako jinako ki focus mein lana hai aur baki aap logo ko uske bare mein jaankari honi chahiye toh ek is topic ki wajah se jitne bhi muddon se focus tha vaah bilkul bhi hut gaya jaise ki haal filhal mein neerav modi aur rahul chauksi ka case chal raha tha vaah jis

भारतीय पत्रकार के सबसे खराब उदाहरण अभी देना ही है तो अभी हाल फिलहाल में जो एक्सीडेंट हुआ श

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  178
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
एवरी बडी लव साई ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!