भगवान कहाँ पर है और कौन सी दुनिया में रहती है?...


user

Narendra Bhardwaj

Spirituality Reformer

2:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महोदय आपने पूछा भगवान कहां पर हो कौन सी दुनिया में रहती है भगवान सभी जगह है बहुत सारी दुनिया भगवान में रहती है भगवान किस दुनिया में नहीं रहता बल्कि सारी दुनिया भगवान रहती है क्योंकि भगवान बहुत विराट है विशाल है असीम है आज तक उसको कोई यह नहीं कह पाया है कितना बड़ा है कितना बड़ा स्वरूप इनका है कहते हैं कि मन ब्रह्मा विष्णु महेश जिनसे प्रगट हुए वह भी नहीं बता पाते कि भगवान कैसे हैं कितने विशाल है शास्त्र कहते हैं जिन्होंने अनुभव लिया वह कहते हैं कि भगवान इस समस्त सृष्टि जो दिख रही है सारा ब्रह्मांड भगवान के बाएं पैर की पिंडली के करोड़ों हिस्से से बना है अब उसका स्वरूप और उसके विराट उसकी अस्मिता समझ सकते हैं बुद्धि काम नहीं करेगी इतना विशाल तो प्रभु भगवान को जानने के लिए भगवान को समर्पित करें और कहां पर है वह सर्वत्र है सभी जगह है बस हमारी नजर देखने की क्षमता इसलिए नहीं है क्योंकि हम उसके लिए पात्र नहीं बनता पात्र बनना पड़ेगा तभी हम भगवान को जान पाएंगे पात्र बनने के लिए हमें साधना जब तक नियम संयम आचरण अपनाना पड़ेगा तब भगवान को हम देखते हैं किसी और के बताने से या मेरे कहने से आपका अनुभव नहीं होगा खुद के अनुभव से जब आप हो जाएंगे तब आप भगवान की वास्तविक छवि देख पाएंगे वास्तविक स्वरूप वास्तविक अनुभव कर पाएंगे क्योंकि भगवान शब्दों में नहीं है अब व्यक्त हमने आपको जो जवाब दिया है वह भी एक तरह से झूठा है क्योंकि खुद के अनुभव से प्राप्त किया होगा भगवान ही सत्य है हमने तो जो शास्त्रों के अनुसार सत्संग में संतों के द्वारा सुना है वह आपके साथ शेयर कर लिया लेकिन हर आदमी को मौलिक भगवान की जरूरत है और मौलिक भगवान तभी प्राप्त होगा जब हम अपनी मौलिक आराधना करें भगवान पूरी दुनिया भगवान में रहती है भगवान सर्वत्र धन्यवाद

mahoday aapne poocha bhagwan kaha par ho kaun si duniya me rehti hai bhagwan sabhi jagah hai bahut saari duniya bhagwan me rehti hai bhagwan kis duniya me nahi rehta balki saari duniya bhagwan rehti hai kyonki bhagwan bahut virat hai vishal hai asim hai aaj tak usko koi yah nahi keh paya hai kitna bada hai kitna bada swaroop inka hai kehte hain ki man brahma vishnu mahesh jinse pragat hue vaah bhi nahi bata paate ki bhagwan kaise hain kitne vishal hai shastra kehte hain jinhone anubhav liya vaah kehte hain ki bhagwan is samast shrishti jo dikh rahi hai saara brahmaand bhagwan ke baen pair ki pindali ke karodo hisse se bana hai ab uska swaroop aur uske virat uski asmita samajh sakte hain buddhi kaam nahi karegi itna vishal toh prabhu bhagwan ko jaanne ke liye bhagwan ko samarpit kare aur kaha par hai vaah sarvatra hai sabhi jagah hai bus hamari nazar dekhne ki kshamta isliye nahi hai kyonki hum uske liye patra nahi banta patra banna padega tabhi hum bhagwan ko jaan payenge patra banne ke liye hamein sadhna jab tak niyam sanyam aacharan apnana padega tab bhagwan ko hum dekhte hain kisi aur ke batane se ya mere kehne se aapka anubhav nahi hoga khud ke anubhav se jab aap ho jaenge tab aap bhagwan ki vastavik chhavi dekh payenge vastavik swaroop vastavik anubhav kar payenge kyonki bhagwan shabdon me nahi hai ab vyakt humne aapko jo jawab diya hai vaah bhi ek tarah se jhutha hai kyonki khud ke anubhav se prapt kiya hoga bhagwan hi satya hai humne toh jo shastron ke anusaar satsang me santo ke dwara suna hai vaah aapke saath share kar liya lekin har aadmi ko maulik bhagwan ki zarurat hai aur maulik bhagwan tabhi prapt hoga jab hum apni maulik aradhana kare bhagwan puri duniya bhagwan me rehti hai bhagwan sarvatra dhanyavad

महोदय आपने पूछा भगवान कहां पर हो कौन सी दुनिया में रहती है भगवान सभी जगह है बहुत सारी दु

Romanized Version
Likes  100  Dislikes    views  1566
WhatsApp_icon
12 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

8:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कहानी कब नहीं थे और क्यों नहीं होंगे हम तुम्हारे साथ ही हर क्षण तुम्हारे साथ हैं और भी हर समय तुम्हारे साथ रहेंगे यह दीगर बात है कि हम ने उन्हें कभी जानने का प्रयास नहीं किया ना कभी हमने अनुभव के साथ में खून आना कभी अंतरात्मा से हम सभी के प्रति समर्पित भाव रखते हैं और यदि बातचीत पैदा कर देता है जीत उसी के हैं जब 2 मांगों के संबंध एक-दूसरे को एक दूसरा एक दूसरा मंत्र के जप करते हैं संबंध सुबह होते हैं अपने आप जैसी मैंने किसी को मान लिया कि कष्ट दूर करें हैं वह भगवान है मैं भक्त हूं तो वहां

bhagwan kahani kab nahi the aur kyon nahi honge hum tumhare saath hi har kshan tumhare saath hain aur bhi har samay tumhare saath rahenge yah digar baat hai ki hum ne unhe kabhi jaanne ka prayas nahi kiya na kabhi humne anubhav ke saath mein khoon aana kabhi antaraatma se hum sabhi ke prati samarpit bhav rakhte hain aur yadi batchit paida kar deta hai jeet usi ke hain jab 2 maangon ke sambandh ek dusre ko ek doosra ek doosra mantra ke jap karte hain sambandh subah hote hain apne aap jaisi maine kisi ko maan liya ki kasht dur kare hain vaah bhagwan hai bhakt hoon toh wahan

भगवान कहानी कब नहीं थे और क्यों नहीं होंगे हम तुम्हारे साथ ही हर क्षण तुम्हारे साथ हैं और

Romanized Version
Likes  69  Dislikes    views  1384
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि भगवान कहां पर है और कौन सी दुनिया में रहती है देखिए भगवान यहां पर ही है अपने आसपास भगवान कण-कण में है हर जगह पर है हर मनुष्य में है हर पशु पक्षी प्राणी में है ठीक है भगवान हमारी तरफ 24 घंटे हेल्प करते रहते हैं ठीक है तो भगवान को कहीं दूर दूर जाकर ढूंढने की जरूरत नहीं अपने अंदर की ठीक है अपने मन के अंदर है भगवान सुन लीजिए यह धर्म के हिसाब से फोटो अध्यात्मिक के तरफ से नहीं बोल रही नहीं लेकिन तकनीकी सबसे भगवान है तो वह अपने अंदर रहते हैं ठीक है अपनी लाइफ इंजॉय आगे बढ़ते रहो आपकी फैमिली के साथ है ठीक है

aapka prashna hai ki bhagwan kahaan par hai aur kaun si duniya mein rehti hai dekhiye bhagwan yahan par hi hai apne aaspass bhagwan kan kan mein hai har jagah par hai har manushya mein hai har pashu pakshi prani mein hai theek hai bhagwan hamari taraf 24 ghante help karte rehte hain theek hai toh bhagwan ko kahin dur dur jaakar dhundhne ki zarurat nahi apne andar ki theek hai apne man ke andar hai bhagwan sun lijiye yah dharm ke hisab se photo adhyatmik ke taraf se nahi bol rahi nahi lekin takniki sabse bhagwan hai toh vaah apne andar rehte hain theek hai apni life enjoy aage badhte raho aapki family ke saath hai theek hai

आपका प्रश्न है कि भगवान कहां पर है और कौन सी दुनिया में रहती है देखिए भगवान यहां पर ही है

Romanized Version
Likes  326  Dislikes    views  4475
WhatsApp_icon
user
0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान सर्वत्र भगवान मनुष्य के अंदर भी है मनुष्य के बाल भी है वायुमंडल में दिए वातावरण में भी है आकाश से पाताल तक जगे भगवान भगवान की दुनिया एक नहीं भगवान की सारी सृष्टि सब जगह जितनी दी जाएगी सभी भगवान की बनाई हुई है और भगवान वापस निवास करते हैं आपके रजाई के अंदर भी मनुष्य के रजाई के अंदर भी भगवान का वास होता है इसीलिए कहा गया है कि मन चंगा तो कठौती में गंगा कंकर में शंकर का वास है आवश्यकता है भावना जी अगर आपकी भावना भक्ति सच्ची है तो आपको आरती भगवान प्राप्त हो सकते हैं

bhagwan sarvatra bhagwan manushya ke andar bhi hai manushya ke baal bhi hai vayumandal mein diye vatavaran mein bhi hai akash se paatal tak jage bhagwan bhagwan ki duniya ek nahi bhagwan ki saree shrishti sab jagah jitni di jayegi sabhi bhagwan ki banai hui hai aur bhagwan wapas niwas karte hain aapke rajaai ke andar bhi manushya ke rajaai ke andar bhi bhagwan ka was hota hai isliye kaha gaya hai ki man changa toh kathauti mein ganga kankar mein shankar ka was hai avashyakta hai bhavna ji agar aapki bhavna bhakti sachi hai toh aapko aarti bhagwan prapt ho sakte hain

भगवान सर्वत्र भगवान मनुष्य के अंदर भी है मनुष्य के बाल भी है वायुमंडल में दिए वातावरण में

Romanized Version
Likes  95  Dislikes    views  1857
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कहां पर है और कौन सी दुनिया में धरती लिखिए जैसे हमें पानी का कोई रंग नहीं होता सुगंध हम नहीं देख सकते हैं यह महसूस करने की चीज है कि हम भगवान को महसूस कर सकते हैं क्योंकि हमारी सांसे चल रही हैं आत्मक स्वरुप में हमारे शरीर में इस्तेमाल हम मंदिर में या मस्जिद में जाकर और मत्था टेकते और पूजा करते हैं अपनी और आत्म कल्याण के लिए हम प्रार्थना करें इसलिए हम यह सोचे भगवान मंदिर में या भगवान मंदिर से बाहर हैं तो हमें जरूर समझना चाहिए भगवान मंदिर में भी है मंदिर के बाहर में है भगवान इस पृथ्वी पर ब्रह्मांड में या अंतरिक्ष हर जगह इसीलिए चल रही है हम इस बात को मानना चाहिए कोई इंसान गलत कार्य करता है और वह तो हम कोई नहीं यह भूल जाता है कि गलत तारीफ नहीं कर रहा हूं और मेरे अंदर ही आत्मा के रूप में भगवान है आत्मा से अपने आप से कभी बोलना हमारा अंतर है अंतरात्मा को जरूर हमने रोकते हैं बुरे काम करने फिर भी हम करते हैं और यही साक्षी होता है कि भगवान हमारे अंदर है हर जगह भगवान

bhagwan kahaan par hai aur kaun si duniya mein dharti likhiye jaise hamein paani ka koi rang nahi hota sugandh hum nahi dekh sakte hain yah mehsus karne ki cheez hai ki hum bhagwan ko mehsus kar sakte hain kyonki hamari sanse chal rahi hain aatmkatha swarup mein hamare sharir mein istemal hum mandir mein ya masjid mein jaakar aur mattha tekte aur puja karte hain apni aur aatm kalyan ke liye hum prarthna kare isliye hum yah soche bhagwan mandir mein ya bhagwan mandir se bahar hain toh hamein zaroor samajhna chahiye bhagwan mandir mein bhi hai mandir ke bahar mein hai bhagwan is prithvi par brahmaand mein ya antariksh har jagah isliye chal rahi hai hum is baat ko manana chahiye koi insaan galat karya karta hai aur vaah toh hum koi nahi yah bhool jata hai ki galat tareef nahi kar raha hoon aur mere andar hi aatma ke roop mein bhagwan hai aatma se apne aap se kabhi bolna hamara antar hai antaraatma ko zaroor humne rokte hain bure kaam karne phir bhi hum karte hain aur yahi sakshi hota hai ki bhagwan hamare andar hai har jagah bhagwan

भगवान कहां पर है और कौन सी दुनिया में धरती लिखिए जैसे हमें पानी का कोई रंग नहीं होता सुगं

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1185
WhatsApp_icon
user

Ghanshyamvan

मंदिर सेवा

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओके भगवान कहां पर नहीं है भगवान सर्वत्र व्याप्त है अपने मन की आंखों से देखें तो आपको साक्षात भगवान की कसम होंगे बिना भगवान के संक्रिया नहीं हो सकती देना भगवान के प्रकृति सुनने हैं इसलिए भगवान हमारे हृदय रूपी दुनिया में रहते हैं अपने हाथों में ध्यान कीजिए आपको भगवान के दर्शन अवश्य होंगे मेरी शुभकामनाएं आपके साथ

ok bhagwan kahaan par nahi hai bhagwan sarvatra vyapt hai apne man ki aankho se dekhen toh aapko sakshat bhagwan ki kasam honge bina bhagwan ke sankriya nahi ho sakti dena bhagwan ke prakriti sunne hain isliye bhagwan hamare hriday rupee duniya mein rehte hain apne hathon mein dhyan kijiye aapko bhagwan ke darshan avashya honge meri subhkamnaayain aapke saath

ओके भगवान कहां पर नहीं है भगवान सर्वत्र व्याप्त है अपने मन की आंखों से देखें तो आपको साक्ष

Romanized Version
Likes  49  Dislikes    views  1232
WhatsApp_icon
user

Abhi

Counsellor, Loveguru, Beautician, Astrologer

2:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्वेश्चन में भगवान कहां पर है और कौन सी दुनिया में रहते हैं देखिए भगवान तो घर-घर में बसे हैं हिलते में बसे हैं घर में कौन भगवान है घर में मां बाप ही तो भगवान है मां-बाप का स्वरूप तू ही भगवान का रूप है एक बार क्या है एक बार क्या हुआ कि शंकर जी ने बोला कि दोनों अपने पुत्र कार्तिकेय जी और गणेश जी को बोला कि पूरे ब्रह्मांड का चक्कर लगाओ ठीक है तो और जो जीतेगा उसको इनाम मिलेगा कार्तिकेय जी अपने स्माल किस पर सवार होकर पूरे ब्रह्मांड का चक्कर लगा रहे थे और गणेश जी क्या किए क्या अपने मां-बाप आपको महादेव जी को और मां पार्वती जी को तीन बार चक्कर लगाया क्योंकि उन्होंने बोला था 3:00 बाद रहमान का चक्कर लगाना है तो भगवान खुद अपने मां बाप को भगवान मानते हैं तो हम लोग तो इंसान है ना तो फिर जब भगवान ही खुद ही बोल रही हैं कि मां-बाप की हनुमान बाबा की भगवान है हम लोग को मामा को ही पूजा करना चाहिए उनकी सेवा करो उनको रिश्ता है तो उनकी जरूरतों को पूरा कर उनको अच्छे से बात करो उनसे प्यार से बात करो बहुत है ऐसे जिसके मां बाप से बात करना कोई दूसरा है नहीं सोचेंगे कि बचपन में जो उनका तकलीफ हुआ होगा हमको यह चाहिए वह चाहिए तूने सोचा कि मामा के पास पैसा है या नहीं है सारी जरूरतों को पूरा किया आज उसको इंसान अच्छा इंसान बनाया वही वही बेटा या बेटी अपने मां-बाप को अच्छे से बात नहीं करता जैसे भी गेम नहीं करता हूं खुशी के लिए कुछ देता नहीं है मतलब उनको अनाथालय भी भेज देता है यह बताइए और क्या करेगा बर्थडे में चाय से हर जगह हर नगर मंदिर जाएगा घर में पूजा करें पूजा का क्या फायदा जब अपने मां बाप को ही नहीं सामान दे रहा मां बाप को ही जितनी दे रहे हो मां बाप को ही प्यार नहीं दे रहे हो तो माफ करो वही भगवान है हम लोग को मंदिर मस्जिद गुरुद्वारे गिरजाघर में ढूंढने से नहीं मिलेंगे भगवान तो मां-बाप ही है पता भगवान मां बाप उनकी सेवा करो उनको प्यार करो तभी जो ऊपर वाले हैं ना तब भी आपको आशीर्वाद देंगे और बहुत सारा आशीर्वाद देंगे कि आप ऊपर उठाओगे हर किसी को हर किसी को मीठा में कितना करना चाहिए मां बाप को रिस्पेक्ट करना चाहिए कि मैं आपका क्वेश्चन का आंसर दे दी हूं थैंक यू और गुड लक

question mein bhagwan kahaan par hai aur kaun si duniya mein rehte hain dekhiye bhagwan toh ghar ghar mein base hain hilte mein base hain ghar mein kaun bhagwan hai ghar mein maa baap hi toh bhagwan hai maa baap ka swaroop tu hi bhagwan ka roop hai ek baar kya hai ek baar kya hua ki shankar ji ne bola ki dono apne putra kartikey ji aur ganesh ji ko bola ki poore brahmaand ka chakkar lagao theek hai toh aur jo jitega usko inam milega kartikey ji apne small kis par savar hokar poore brahmaand ka chakkar laga rahe the aur ganesh ji kya kiye kya apne maa baap aapko mahadev ji ko aur maa parvati ji ko teen baar chakkar lagaya kyonki unhone bola tha 3 00 baad rahman ka chakkar lagana hai toh bhagwan khud apne maa baap ko bhagwan maante hain toh hum log toh insaan hai na toh phir jab bhagwan hi khud hi bol rahi hain ki maa baap ki hanuman baba ki bhagwan hai hum log ko mama ko hi puja karna chahiye unki seva karo unko rishta hai toh unki jaruraton ko pura kar unko acche se baat karo unse pyar se baat karo bahut hai aise jiske maa baap se baat karna koi doosra hai nahi sochenge ki bachpan mein jo unka takleef hua hoga hamko yah chahiye vaah chahiye tune socha ki mama ke paas paisa hai ya nahi hai saree jaruraton ko pura kiya aaj usko insaan accha insaan banaya wahi wahi beta ya beti apne maa baap ko acche se baat nahi karta jaise bhi game nahi karta hoon khushi ke liye kuch deta nahi hai matlab unko anathalay bhi bhej deta hai yah bataye aur kya karega birthday mein chai se har jagah har nagar mandir jaega ghar mein puja kare puja ka kya fayda jab apne maa baap ko hi nahi saamaan de raha maa baap ko hi jitni de rahe ho maa baap ko hi pyar nahi de rahe ho toh maaf karo wahi bhagwan hai hum log ko mandir masjid gurudware girjaghar mein dhundhne se nahi milenge bhagwan toh maa baap hi hai pata bhagwan maa baap unki seva karo unko pyar karo tabhi jo upar waale hain na tab bhi aapko ashirvaad denge aur bahut saara ashirvaad denge ki aap upar uthaoge har kisi ko har kisi ko meetha mein kitna karna chahiye maa baap ko respect karna chahiye ki main aapka question ka answer de di hoon thank you aur good luck

क्वेश्चन में भगवान कहां पर है और कौन सी दुनिया में रहते हैं देखिए भगवान तो घर-घर में बसे ह

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  326
WhatsApp_icon
user

Raghuveer Singh

👤Teacher & Advisor🙏

2:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कहां पर है और कौन सी दुनिया में रहते हैं देखिए भगवान के लिए अलग दुनिया नहीं हैं भगवान यहीं पर रहते हैं आप कुछ विचार करें क्या आप खाली स्थान यानी अंतरिक्ष को मानते हैं या नहीं मानते हैं आप शायद जरूर मानते होंगे मानव कि हमने एक कमरा बनाया उस कमरे के भीतर क्या है उस कमरे के भीतर हम प्रवेश करेंगे तो वह कमरा भीतर से खाली है लेकिन विचार करो वह कमरा खाली नहीं है उस कमरे के भीतर है जो खालीपन है वह आकाश का है अर्थात अंतरिक्ष का है अच्छा तो क्या वह आकाश हमारे पेट में भी मौजूद है जी हां हमारा पेट खाली है इसका मतलब उसके भीतर जो खाली स्थान है वह आकाश का है अच्छा तो क्या हमारे मस्तिष्क में कोई भी खालीपन हैं खाली स्थान है क्या उसमें आकाश है जी हां बिल्कुल है क्या हम मन में जो सोच रहे हैं वह भी आकाश मौजूद हैं जी हां आकाश सब जगह मौजूद है यह पूरी पृथ्वी आकाश के भीतर ही स्थित है इसके कण-कण में आकाश पिरोया हुआ है यह नष्ट होगी तो भी आकाश रहेगा या नष्ट नहीं होगी तो भी इसके भीतर आकाश रहेगा और आकाश एक ऐसी ऐसी चीज है इसमें सूर्य पैदा होते रहते हैं नष्ट होते रहते हैं प्रतियां पैदा होती रहती हैं नष्ट होती रहती हैं लेकिन इस आकाश के तनक भी बिल्कुल भी फर्क नहीं पड़ता इस खाली स्थान के कोई फर्क नहीं पड़ता उसी प्रकार से ही परमात्मा है वह हमारे एकदम से नजदीक से भी नजदीक अवस्थित है इस आकाश के सदृश हमारे मन बुद्धि अहंकार सब में परमात्मा है यानी हमारे भीतर तक पर हमसे दूर से भी दूर तक अंतरिक्ष में अथवा सूर्य और ग्रहों के पास में भी अंतरिक्ष की तरह ही परमात्मा मौजूद है तो परमात्मा के लिए अलग दुनिया नहीं है परमात्मा सब जगह विद्यमान है

bhagwan kahaan par hai aur kaun si duniya mein rehte hain dekhiye bhagwan ke liye alag duniya nahi hain bhagwan yahin par rehte hain aap kuch vichar kare kya aap khaali sthan yani antariksh ko maante hain ya nahi maante hain aap shayad zaroor maante honge manav ki humne ek kamra banaya us kamre ke bheetar kya hai us kamre ke bheetar hum pravesh karenge toh vaah kamra bheetar se khaali hai lekin vichar karo vaah kamra khaali nahi hai us kamre ke bheetar hai jo khalipan hai vaah akash ka hai arthat antariksh ka hai accha toh kya vaah akash hamare pet mein bhi maujud hai ji haan hamara pet khaali hai iska matlab uske bheetar jo khaali sthan hai vaah akash ka hai accha toh kya hamare mastishk mein koi bhi khalipan hain khaali sthan hai kya usme akash hai ji haan bilkul hai kya hum man mein jo soch rahe hain vaah bhi akash maujud hain ji haan akash sab jagah maujud hai yah puri prithvi akash ke bheetar hi sthit hai iske kan kan mein akash piroya hua hai yah nasht hogi toh bhi akash rahega ya nasht nahi hogi toh bhi iske bheetar akash rahega aur akash ek aisi aisi cheez hai isme surya paida hote rehte hain nasht hote rehte hain pratiyan paida hoti rehti hain nasht hoti rehti hain lekin is akash ke tanak bhi bilkul bhi fark nahi padta is khaali sthan ke koi fark nahi padta usi prakar se hi paramatma hai vaah hamare ekdam se nazdeek se bhi nazdeek avasthit hai is akash ke sadrish hamare man buddhi ahankar sab mein paramatma hai yani hamare bheetar tak par humse dur se bhi dur tak antariksh mein athva surya aur grahon ke paas mein bhi antariksh ki tarah hi paramatma maujud hai toh paramatma ke liye alag duniya nahi hai paramatma sab jagah vidyaman hai

भगवान कहां पर है और कौन सी दुनिया में रहते हैं देखिए भगवान के लिए अलग दुनिया नहीं हैं भगवा

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

Abhishek

Student

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है भगवान कहां पर और कौन सी दुनिया में हर एक दुनिया में है हर जगह है जहां आप नहीं देख सकता वहां पर भी है आपको हर जगह भगवान दिख तो नहीं है लेकिन हर जगह है आपके अंदर भी है आपकी जो सांसे चल रही हैं भगवान के कारण नहीं है हर जगह कण-कण में है पशु-पक्षी में हर एक जगह पर है ऊपर है आसमान में बादल में हर जगह अगर भगवान ना होते तो बारिश होती अगर भगवान ना होते तो खेती होती हम होते कोई ना होता हर जगह जहां अपना देख सको जहां देख सको वहां पर भी भगवान है तभी तो हम सांस ले पाते हैं हर जगह भगवान है सृष्टि के हर एक कण कण में तन में मन में हर एक जगह में

aapka question hai bhagwan kahaan par aur kaun si duniya mein har ek duniya mein hai har jagah hai jaha aap nahi dekh sakta wahan par bhi hai aapko har jagah bhagwan dikh toh nahi hai lekin har jagah hai aapke andar bhi hai aapki jo sanse chal rahi hain bhagwan ke karan nahi hai har jagah kan kan mein hai pashu pakshi mein har ek jagah par hai upar hai aasman mein badal mein har jagah agar bhagwan na hote toh barish hoti agar bhagwan na hote toh kheti hoti hum hote koi na hota har jagah jaha apna dekh Sako jaha dekh Sako wahan par bhi bhagwan hai tabhi toh hum saans le paate hain har jagah bhagwan hai shrishti ke har ek kan kan mein tan mein man mein har ek jagah mein

आपका क्वेश्चन है भगवान कहां पर और कौन सी दुनिया में हर एक दुनिया में है हर जगह है जहां आप

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  138
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कहां है और कौन सी दुनिया में आपकी है कुछ समय बीके भगवान हम सभी के अंदर है हर चीज में भगवान हर जगह भगवान हैं हमारे अंदर भी भगवान बसते हैं हम जहां जाते हैं वहां भगवान है और यह दुनिया भगवान की बनाई हुई है तो यह दिन इसी दुनिया में भगवान रहते हैं

bhagwan kahaan hai aur kaun si duniya mein aapki hai kuch samay BK bhagwan hum sabhi ke andar hai har cheez mein bhagwan har jagah bhagwan hain hamare andar bhi bhagwan baste hain hum jaha jaate hain wahan bhagwan hai aur yah duniya bhagwan ki banai hui hai toh yah din isi duniya mein bhagwan rehte hain

भगवान कहां है और कौन सी दुनिया में आपकी है कुछ समय बीके भगवान हम सभी के अंदर है हर चीज में

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  111
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान और अल्लाह हमारे दिल में रहते हैं मानो तो ठीक हो ना कोई नहीं है

bhagwan aur allah hamare dil mein rehte hain maano toh theek ho na koi nahi hai

भगवान और अल्लाह हमारे दिल में रहते हैं मानो तो ठीक हो ना कोई नहीं है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user

Rohit Singh

Junior Volunteer

1:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

और इसी दुनिया में हैं जैसे कि आप जैसे भगवान की आप समझे कि क्या होता है जिसे श्री राम को नहीं मानते थे और इस तरीके के काम किए हैं अच्छे-अच्छे और मर्यादा पुरुषोत्तम राम को कहां जाता है कि उन्होंने बहुत ही अच्छे काम के लिए हमेशा दूसरों के बारे में बताया इसके लिए जो है उनको भगवान जो है श्री राम जी इधर ही है अगर आप उनके बताए हुए और उन चीजों का आचरण करते हैं तो फिर अगर कोई भगवान किसी दुनिया में आकाश में बैठे कहीं और कहीं बैठे हैं

aur isi duniya mein hain jaise ki aap jaise bhagwan ki aap samjhe ki kya hota hai jise shri ram ko nahi maante the aur is tarike ke kaam kiye hain acche acche aur maryada purushottam ram ko kahaan jata hai ki unhone bahut hi acche kaam ke liye hamesha dusro ke bare mein bataya iske liye jo hai unko bhagwan jo hai shri ram ji idhar hi hai agar aap unke bataye hue aur un chijon ka aacharan karte hain toh phir agar koi bhagwan kisi duniya mein akash mein baithe kahin aur kahin baithe hain

और इसी दुनिया में हैं जैसे कि आप जैसे भगवान की आप समझे कि क्या होता है जिसे श्री राम को नह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!