मनोवैज्ञानिक की पढ़ाई कैसे करें?...


user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

2:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोदी छपरा से मनोवैज्ञानिक की पढ़ाई कैसे करें मनोवैज्ञानिक की जगह को पढ़ाई करनी है तो पहले आपको इंटरेस्ट होना चाहिए अगर रियल में आपको मनोवैज्ञानिक है ऑटोमेटिक पड़ेगी गर्मी बारे में साइकोलॉजी आता है फिर बीएसए कॉलेज करेगी या तो फिर out-of-state बीएससी साइकोलॉजी भी होता है बीए साइकोलॉजी बीच बीएससी बैचलर ऑफ साइंस में भी साइकोलॉजी होता है ठीक है मेन सब्जेक्ट लेकर तो आपको ग्रेजुएशन करिए साइकोलॉजी में उसके बाद पोस्ट ग्रेजुएशन कॉलेज में m.a. साइकोलॉजी साइकोलॉजी उसके बाद आप पिछड़ी जाति करिए या तो फिर ठीक है अभी की अभी की स्टडी में पीजीडीआरपी करके भी अकाउंट बन सकते हैं ठीक है और फिर आगे के आगे भी पढ़ने की इच्छा है तो आप एमफिल कंप्लीट हो जाए तो भेज दी कर लीजिए कैंसिल नहीं कर सकते हो ताकि आपके नाम रिसर्च भी कर सकते हो आप और आगे एक पोस्ट भी बढ़ जाएगी साइकोलॉजिस्ट हो लेकिन अनुभव ज्यादा बढ़ जाएगा ठीक है तुमसे अच्छे से मन लगाके पढ़ाई करोगे मेहनत परिश्रम है तो ज्यादा आगे बढ़े और अच्छे से बड़े ठीक है बाकी पढ़ाई साइकोलॉजी पूरे लाइफ में हर टाइम आएगा ठीक है जब से हमारा जन्म मृत्यु तक साइकोलॉजी आएगी आएगी अपनी लाइफ में एक फैमिली फ्रेंड्स में रिलेटिव में हर जगह साइकोलॉजी का यूज़ होता ही होता है ठीक है हर रोज तो मनोविज्ञान की पढ़ाई कैसे करें आपका इंटरेस्ट ऑफ ऑटोमेटिक पढ़ाई कर सकते हो ठीक है एक क्वेश्चन का आंसर 30 * लिखिए लिखकर चाहिए बोलते जाइए बोला हो कुछ तो करना चाहिए तो ऑटोमेटिक किया जाएगा कि कैसे भी मनोवैज्ञानिक किस सब्जेक्ट की पढ़ाई कर सकते हो ठीक है आपका दिन शुभ हो धन्यवाद गुड लक फॉर लाइफ एंजॉय आगे भी अगर कुछ तो मुझे डायरेक्ट साइकोलॉजी के बारे में मैं दारू संतुष्ट करें आंसर जो कि ठीक है गुड लक

modi chapra se manovaigyanik ki padhai kaise kare manovaigyanik ki jagah ko padhai karni hai toh pehle aapko interest hona chahiye agar real mein aapko manovaigyanik hai Automatic padegi garmi bare mein psychology aata hai phir BSA college karegi ya toh phir out of state bsc psychology bhi hota hai BA psychology beech bsc bachelor of science mein bhi psychology hota hai theek hai subject lekar toh aapko graduation kariye psychology mein uske baad post graduation college mein m a psychology psychology uske baad aap pichhadi jati kariye ya toh phir theek hai abhi ki abhi ki study mein PGDRP karke bhi account ban sakte hain theek hai aur phir aage ke aage bhi padhne ki iccha hai toh aap Mphil complete ho jaaye toh bhej di kar lijiye cancel nahi kar sakte ho taki aapke naam research bhi kar sakte ho aap aur aage ek post bhi badh jayegi psychologist ho lekin anubhav zyada badh jaega theek hai tumse acche se man lagake padhai karoge mehnat parishram hai toh zyada aage badhe aur acche se bade theek hai baki padhai psychology poore life mein har time aayega theek hai jab se hamara janam mrityu tak psychology aayegi aaegi apni life mein ek family friends mein relative mein har jagah psychology ka use hota hi hota hai theek hai har roj toh manovigyan ki padhai kaise kare aapka interest of Automatic padhai kar sakte ho theek hai ek question ka answer 30 likhiye likhkar chahiye bolte jaiye bola ho kuch toh karna chahiye toh Automatic kiya jaega ki kaise bhi manovaigyanik kis subject ki padhai kar sakte ho theek hai aapka din shubha ho dhanyavad good luck for life enjoy aage bhi agar kuch toh mujhe direct psychology ke bare mein main daaru santusht kare answer jo ki theek hai good luck

मोदी छपरा से मनोवैज्ञानिक की पढ़ाई कैसे करें मनोवैज्ञानिक की जगह को पढ़ाई करनी है तो पहले

Romanized Version
Likes  347  Dislikes    views  4361
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

2:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मनोवैज्ञानिक की कोई पढ़ाई नहीं होती मनोविज्ञान की पढ़ाई होती मनोविज्ञान को पढ़ने वाले मनोवैज्ञानिक काला अर्थात मन को पढ़ना हमारे सामने बैठे की बेटी की मन और मस्तिष्क में क्या विचार चलने क्या उधार नहीं क्या वह करके आया क्या करने की संभावना क्या हो सकता है यह सब उसको ऑब्जर्वेशन करने से उसके निकट रहने से उसकी हर गतिविधि की स्टडी करने से हाउ को समझने से हम उसके जीवन की बहुत सी स्त्रियां परिस्थितियों को सम्मान देते हैं और उसको मुसीबत से निकालने के लिए हम क्रियाएं प्रतिक्रियाएं करते हैं जब कोई इंसान स्टंट तारीख तनाव भरी जिंदगी से चिंता मुक्त होता है चिंतन करने लगता है और अच्छे बुरे का उसको अंदर निर्णय लेने की शक्ति आ जाती है पहचान करने लगता है स्पष्ट कहा मनोविज्ञान कहते हैं और इस क्षेत्र में ने बताई थी आपको आज के पढ़ने वाले को मनोवैज्ञानिक डॉक्टर इलाज करता है मैंने आपकी मनुष्य को वह बदलने की कोशिश करता है कुछ नहीं थोड़ी सी ट्रीटमेंट देने से आप जल्दी ठीक हो जाएंगे आप को मोटिवेट करता है आपको विश्वास दिलाता है यह पिक बीमारी गंभीर है फिर भी आपको जीवन के कुछ पक्षियों को छोड़ देता है जिससे जीवन की सार लंबे समय तक के प्रति निराशा दूर हो सके आशा के दीप दिन सके और शायद जिंदगी में एक नया मोड़ आ सके यह मनोविज्ञान की पढ़ाई का ही परिणाम है

manovaigyanik ki koi padhai nahi hoti manovigyan ki padhai hoti manovigyan ko padhne waale manovaigyanik kaala arthat man ko padhna hamare saamne baithe ki beti ki man aur mastishk mein kya vichar chalne kya udhaar nahi kya vaah karke aaya kya karne ki sambhavna kya ho sakta hai yah sab usko observation karne se uske nikat rehne se uski har gatividhi ki study karne se how ko samjhne se hum uske jeevan ki bahut si striyan paristhitiyon ko sammaan dete hain aur usko musibat se nikalne ke liye hum kriyaen pratikriyaen karte hain jab koi insaan stunt tarikh tanaav bhari zindagi se chinta mukt hota hai chintan karne lagta hai aur acche bure ka usko andar nirnay lene ki shakti aa jaati hai pehchaan karne lagta hai spasht kaha manovigyan kehte hain aur is kshetra mein ne batai thi aapko aaj ke padhne waale ko manovaigyanik doctor ilaj karta hai maine aapki manushya ko vaah badalne ki koshish karta hai kuch nahi thodi si treatment dene se aap jaldi theek ho jaenge aap ko motivate karta hai aapko vishwas dilata hai yah pic bimari gambhir hai phir bhi aapko jeevan ke kuch pakshiyo ko chod deta hai jisse jeevan ki saar lambe samay tak ke prati nirasha dur ho sake asha ke deep din sake aur shayad zindagi mein ek naya mod aa sake yah manovigyan ki padhai ka hi parinam hai

मनोवैज्ञानिक की कोई पढ़ाई नहीं होती मनोविज्ञान की पढ़ाई होती मनोविज्ञान को पढ़ने वाले मनोव

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  1337
WhatsApp_icon
user

Ruchi Garg

Counsellor and Psychologist(Gold MEDALIST)

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

साइकॉलजी जो मनोविज्ञान होता है वह बहुत ही लंबी है बहुत लंबे लंबे होते हैं इसके अलावा जो है जब इजी होता है बहुत ही लंबा चलता जाता है तू तो जाता है चलते-चलते बहुत सारे कंसेप्ट होते हैं पढ़ने के लिए याद रखने के लिए तो अपना यह जरूर रखें कि आप इंपॉर्टेंट पॉइंट्स ऑन द लाइन कर लीजिए जो मेन डेफिनिशन है जो पर्सनालिटी क्या ग्रेजुएशन में तो पर्सनैलिटी की डेफिनेशन इंटेलिजेंस नीचे से आनी चाहिए और इसके साथ इसके अलावा यह है कि उन्हें आप एक नोट चपने खुद बना लेता कि जब आप रिवाइज करने लगे तो उन छोटे-छोटे पॉइंट से ही आपको बाकी सारा एकदम से जो है याद आ जाए गुड लक

psychology jo manovigyan hota hai vaah bahut hi lambi hai bahut lambe lambe hote hain iske alava jo hai jab easy hota hai bahut hi lamba chalta jata hai tu toh jata hai chalte chalte bahut saare concept hote hain padhne ke liye yaad rakhne ke liye toh apna yah zaroor rakhen ki aap important points on the line kar lijiye jo main definition hai jo personality kya graduation mein toh personality ki definition intelligence niche se aani chahiye aur iske saath iske alava yah hai ki unhe aap ek note chapane khud bana leta ki jab aap revise karne lage toh un chote chhote point se hi aapko baki saara ekdam se jo hai yaad aa jaaye good luck

साइकॉलजी जो मनोविज्ञान होता है वह बहुत ही लंबी है बहुत लंबे लंबे होते हैं इसके अलावा जो है

Romanized Version
Likes  690  Dislikes    views  8574
WhatsApp_icon
user

Ashok Clinic

Sexologist

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे सिंपली मानव ज्ञानिक बनने के लिए आपको वस्तु के बाद से कॉलेज में b.a. करनी चाहिए फिर आपको से कॉलेज में ही अनेक आनी चाहिए फिर उसके बाद आपकी एचडी कर सकते हैं पीएचडी करके आप महान हो गया डॉक्टर की तरह ही बन सकते बन जाते हैं लेकिन कभी इतनी है कि आप किसी को कोई दवाई लिख कर नहीं भेज सकते उसको बातचीत से काउंसलिंग से बातचीत समझा सकते हैं और दूसरे डॉक्टर को ऐसा कर सकते हैं यह अच्छे स्टेटस की पोस्ट बन जाती है और प्रॉपर लिए आदमी असल में डॉक्टर की तरह काम करता है दूसरा बड़े-बड़े आदमियों को पिए की जरूरत होती है वह लोग भी अपने साथ में मना हुए लगाते

dekhe simply manav gyanik banne ke liye aapko vastu ke baad se college mein b a karni chahiye phir aapko se college mein hi anek aani chahiye phir uske baad aapki hd kar sakte hai phd karke aap mahaan ho gaya doctor ki tarah hi ban sakte ban jaate hai lekin kabhi itni hai ki aap kisi ko koi dawai likh kar nahi bhej sakte usko batchit se kaunsaling se batchit samjha sakte hai aur dusre doctor ko aisa kar sakte hai yah acche status ki post ban jaati hai aur proper liye aadmi asal mein doctor ki tarah kaam karta hai doosra bade bade adamiyo ko piye ki zarurat hoti hai vaah log bhi apne saath mein mana hue lagate

देखे सिंपली मानव ज्ञानिक बनने के लिए आपको वस्तु के बाद से कॉलेज में b.a. करनी चाहिए फिर आ

Romanized Version
Likes  320  Dislikes    views  5033
WhatsApp_icon
user
0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी आपकी एक चीज खाने जाऊंगा सब्जेक्ट की अपनी अलग है जो स्किन अलग पद्धति होती है मनोविज्ञान विषय है और यह मुख्य रूप से व्यक्ति की मनोदशा है तर्क तर्क करने की शक्ति धूम मचाए यही आप ऐसी चीज है तो क्यों हर चीज की तरफ से लगता है उसको गौर करिए और तभी आप इस विषय को आसानी से और कंचन कर पाएंगे

dekhi aapki ek cheez khane jaunga subject ki apni alag hai jo skin alag paddhatee hoti hai manovigyan vishay hai aur yah mukhya roop se vyakti ki manodasha hai tark tark karne ki shakti dhoom machaye yahi aap aisi cheez hai toh kyon har cheez ki taraf se lagta hai usko gaur kariye aur tabhi aap is vishay ko aasani se aur kanchan kar payenge

देखी आपकी एक चीज खाने जाऊंगा सब्जेक्ट की अपनी अलग है जो स्किन अलग पद्धति होती है मनोविज्ञा

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  419
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!